वित्त मंत्रालय का कहना है कि माल्या को दिए गए ऋण के बारे में कोई जानकारी नहीं है!अब क्या किया जाए?...


user

MD HAROON

Teacher

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके द्वारा किया गया सवाल है वित्त मंत्रालय का कहना है कि माल्या को दिए गए शर्म के बारे में कोई जानकारी नहीं है अब क्या किया जाए देखिए चोर चोर मौसेरा भाई सब तो चोरिया मंत्रालय से लेकर ऊपर जितने बैठे हैं सब चोरी है और अगर चोर चोरी करके चला गया है तो फिर चोर उसको साथ ही कहेगा उसको खराब नहीं कर सकता

aapke dwara kiya gaya sawaal hai vitt mantralay ka kehna hai ki malya ko diye gaye sharm ke bare me koi jaankari nahi hai ab kya kiya jaaye dekhiye chor chor mausera bhai sab toh choriya mantralay se lekar upar jitne baithe hain sab chori hai aur agar chor chori karke chala gaya hai toh phir chor usko saath hi kahega usko kharab nahi kar sakta

आपके द्वारा किया गया सवाल है वित्त मंत्रालय का कहना है कि माल्या को दिए गए शर्म के बारे मे

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  839
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी फाइनेंस मिनिस्ट्री ने सेंट्रल इन्फॉर्मेशन कमीशन को भी बताया कि उनके पास कोई प्रॉपर डाटा नहीं है कि कितना लोन दिया गया है विजय माल्या को चीफ इन्फॉर्मेशन कमिश्नर आर के माथुर जब वह इस बात को सुन रिंग के दौरान उन्होंने बोला फाइनेंस मिनिस्टर ऑफ योर स्कूल राइट टू इनफार्मेशन एप्लीकेशन शायर की गई है यह आप प्रॉपर पब्लिक अथॉरिटी को ट्रांसफर किया क्योंकि उनके पास कोई डिटेल्स नहीं है हालांकि ऐसा बहुत देर पहले हुआ है कि जो मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस मिनिस्ट्री ऑफिशियल्स उन्होंने पास्ट में कई बार डिटेल्स दी है जैसे कि यह कहा गया है कि 2017 में मार्च 2017 को यूनियन मिनिस्टर ऑफ स्टेट फॉर फाइनेंस संतोष गंगवार ने कहा था कि 2004 में 17 सितंबर 2004 में मार्च लोन दिया गया और फरवरी 2008 में से रिमूव किया गया 8400 करोड का जो लोन है इसे नॉन परफॉर्मिंग एसेट डिक्लेयर कर देगा 2009 में और करीब 155 करोड रुपए रिकवरी किए गए माला की प्रॉपर्टी को भेजकर ऐसा नहीं है कि उन्हें नॉलेज नहीं है तो मुझे लगता है क्योंकि कोई लोनी जाऊंगा तो कोई ना कोई प्रूफ तो होंगे ना उसके और जब वह प्रॉपर्टी बेचकर इकट्ठा कर रहे हैं वैसे तो उसका लोगों ने पता है तो उस सरकार को या जो भी प्रॉब्लम है स्टॉक नहीं है उन्हें सामने आकर यह सारी इनफार्मेशन कहीं ना कहीं से निकलवा नहीं चाहिए और माया को पकड़कर ले कर आया फिल्म को मैसेज छोड़िए माला कोई पढ़ कर ले कर आइए और उन्हीं को पूछे कि क्या कितना लोन लिया और पैसे उसे वापस लीजिए सिर्फ यही कर सकते हो और कुछ किया नहीं जा सकता

vicky finance ministry ne central information commision ko bhi bataya ki unke paas koi proper data nahi hai ki kitna loan diya gaya hai vijay malya ko chief information commissioner R ke mathur jab vaah is baat ko sun ring ke dauran unhone bola finance minister of your school right to information application shayar ki gayi hai yah aap proper public authority ko transfer kiya kyonki unke paas koi details nahi hai halaki aisa bahut der pehle hua hai ki jo ministry of finance ministry afishiyals unhone past mein kai baar details di hai jaise ki yah kaha gaya hai ki 2017 mein march 2017 ko union minister of state for finance santosh gangwar ne kaha tha ki 2004 mein 17 september 2004 mein march loan diya gaya aur february 2008 mein se remove kiya gaya 8400 crore ka jo loan hai ise non parafarming asset declare kar dega 2009 mein aur kareeb 155 crore rupaye recovery kiye gaye mala ki property ko bhejkar aisa nahi hai ki unhe knowledge nahi hai toh mujhe lagta hai kyonki koi loni jaunga toh koi na koi proof toh honge na uske aur jab vaah property bechkar ikattha kar rahe hain waise toh uska logo ne pata hai toh us sarkar ko ya jo bhi problem hai stock nahi hai unhe saamne aakar yah saree information kahin na kahin se nikalava nahi chahiye aur maya ko pakadakar le kar aaya film ko massage chodiye mala koi padh kar le kar aaiye aur unhi ko pooche ki kya kitna loan liya aur paise use wapas lijiye sirf yahi kar sakte ho aur kuch kiya nahi ja sakta

विकी फाइनेंस मिनिस्ट्री ने सेंट्रल इन्फॉर्मेशन कमीशन को भी बताया कि उनके पास कोई प्रॉपर डा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय वित्त मंत्रालय ने केंद्रीय सूचना आयोग से कहा है कि उसके पास उद्योगपति विजय माल्या को दिए गए कर्ज के बारे में कोई भी सूचना नहीं है इस पर सूचना आयोग ने कहा कि मंत्रालय का जवाब स्पष्ट और कानून के अनुसार टिकने योग्य नहीं है और मुझे भी ऐसा ही लगता है क्योंकि पहले भी वित्त मंत्रालय और अरुण जेटली जो हमारे वित्त मंत्री हैं उन्होंने संसद में बयान दिया है जैसे कि 17 नवंबर 2016 को नोटबंदी पर उच्च सदन में चर्चा के दौरान माल्या के कर्ज मुद्दे को भयानक विरासत बताया उन्होंने और उन्होंने कहा कि यह जो भयानक विरासत है वह उनकी सरकार को यूपीए गवर्नमेंट से मिली है और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने भी कई बार संसद में विजय माल्या को जो लोन दिया गया उसके बारे में जिक्र किया है वित्त मंत्रालय के अधिकारी भले ही यह दावा कर रहे हैं कि उनके पास मालिया को विभिन्न बैंकों द्वारा दिए गए कर्ज या इनका आज के बदले माल्या द्वारा दी गई गारंटी के बारे में कोई भी सूचना नहीं है लेकिन मंत्रालय ने इस संबंध में पहले सवालों के जवाब दे चुके हैं वह संसद में तो इससे यह साफ पता चलता है कि यह लोग झूठ बोल रहे हैं और हमारे जो वित्त मंत्री या वित्त मंत्रालय हैं वह अपनी अपना है उसका गलत एक तरीके से इस्तेमाल करें और लोगों को भ्रमित कर रहे हैं क्योंकि जब बैंको से लोन दिया गया है और बैंक सरकारी हैं तो फिर सरकार को इस विषय में कैसे जानकारी नहीं हो सकती है यह काफी एक हास्यास्पद बात है कि वित्त मंत्रालय की तरफ से इस तरह की सूचना दी जा रही है तो मेरे मुताबिक तो और जो भी व्यक्ति हैं संबंधी तूने अपनी जो भी जिम्मेदारी है उसे समझना चाहिए और सही जानकारी लोगों तक पहुंचाना चाहिए आरटीआई एक्ट के मुताबिक और विजय माल्या को भारत लाने की कोशिश की जानी चाहिए और उनसे जो भी कर्ज है उसके पैसे वसूलने चाहिए

bharatiya vitt mantralay ne kendriya soochna aayog se kaha hai ki uske paas udyogpati vijay malya ko diye gaye karj ke bare mein koi bhi soochna nahi hai is par soochna aayog ne kaha ki mantralay ka jawab spasht aur kanoon ke anusaar tikne yogya nahi hai aur mujhe bhi aisa hi lagta hai kyonki pehle bhi vitt mantralay aur arun jaitley jo hamare vitt mantri hain unhone sansad mein bayan diya hai jaise ki 17 november 2016 ko notebandi par ucch sadan mein charcha ke dauran malya ke karj mudde ko bhayanak virasat bataya unhone aur unhone kaha ki yah jo bhayanak virasat hai vaah unki sarkar ko UPA government se mili hai aur kendriya vitt rajya mantri santosh gangwar ne bhi kai baar sansad mein vijay malya ko jo loan diya gaya uske bare mein jikarr kiya hai vitt mantralay ke adhikari bhale hi yah daawa kar rahe hain ki unke paas maliya ko vibhinn bankon dwara diye gaye karj ya inka aaj ke badle malya dwara di gayi guarantee ke bare mein koi bhi soochna nahi hai lekin mantralay ne is sambandh mein pehle sawalon ke jawab de chuke hain vaah sansad mein toh isse yah saaf pata chalta hai ki yah log jhuth bol rahe hain aur hamare jo vitt mantri ya vitt mantralay hain vaah apni apna hai uska galat ek tarike se istemal kare aur logo ko bharmit kar rahe hain kyonki jab banko se loan diya gaya hai aur bank sarkari hain toh phir sarkar ko is vishay mein kaise jaankari nahi ho sakti hai yah kaafi ek hasyaspad baat hai ki vitt mantralay ki taraf se is tarah ki soochna di ja rahi hai toh mere mutabik toh aur jo bhi vyakti hain sambandhi tune apni jo bhi jimmedari hai use samajhna chahiye aur sahi jaankari logo tak pahunchana chahiye rti act ke mutabik aur vijay malya ko bharat lane ki koshish ki jani chahiye aur unse jo bhi karj hai uske paise vasoolne chahiye

भारतीय वित्त मंत्रालय ने केंद्रीय सूचना आयोग से कहा है कि उसके पास उद्योगपति विजय माल्या क

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!