क्या चीनी राजदूत से मुलाकात के लिए मोदी का राहुल गांधी का निंदा करना सही है? समझाएँ।?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही सही कहा मोदी जी ने बहुत सही है मैं उनको समर्थन करता हूं और राहुल गांधी जी ने जो हरकत की है वह काफी निंदनीय है, बहुत ही निंदनीय हरकत हैं l वह इसलिए निंदनीय हरकत हैं क्योंकि मुझे लगता है कि जब आपका किसी देश के साथ डिस्प्यूट चल रहा है, डोकलाम का डिस्ट्रिक्ट चला था l डोकलाम ट्राई जंक्शन का किलोमीटर जंक्शन को समझाता हूं क्या है उस देश भूटान में एक एरिया आता है जिस जगह पर ट्राई जंक्शन का होता है कि 3 देशों जगह पर बहुत पास-पास हो l तो होता ही है कि आप अपनी स्वयं की रक्षा करने के लिए एग्रीमेंट करते हैं कंट्री से हैं उस जगह पर कोई भी अपनी आर्मी लेके नहीं जाएगा l तो चाइना ने आर्मी जाना शुरु कर दिया, सड़क बनाना शुरु कर दी l उसका भारत में विरोध किया कि हमारे संपर्क हुआ था पर उसका प्रभाव पड़ेगा क्योंकि हमारी जो सिक्किम है या चिकन नेक जिसे कहते हैं पतली से जो सिलीगुड़ी पास है l उससे वह केवल 70 किलोमीटर दूर रह जाएगा तो मुझे लगता है कि भारत को सही था l चीन अपने विरोध के लिए तो किसी को साउथ चाइना सी में जाने देता है l और हमारा हम जब हम इसका विरोध करते तो वैसे किस तरह से व्यवहार करने लगा, बोखला गया बुरी तरह से l तो प्राइम मिनिस्टर ने यह हमारी कंट्री में जो भी कूटनीतिक चीजें करें और मुझे लगता है बहुत ज्यादा अच्छी थी, बहुत ज्यादा समझदारी भरी थी l क्योंकि चीन को नाराज भी नहीं कर सकती, कुछ अच्छी चीज इंपोर्टेंट होती जैसे दवाइयां होती हैं कुछ बीमारी की दवाइयां कर केवल चाइना से ही मिलती हैं l तो उसको बंद नहीं कर सकते चाइना के इन्वेस्टमेंट भी है l हालाकि हर चीज को चाइनीस चीज़ यूज़ नहीं करनी चाहिए लेकिन कुछ चीज चाइनीस है l तो राहुल गांधी के इस समय मिलना मुझे लगता नहीं कि ऑफिशियल थी, उस समय ऑफिशियल तो वही होंगे जो इंडियन गवर्मेंट में काम करते हैं , इंडियन गवर्नमेंट में तो हमें तो राहुल गांधी थे नहीं l आप चाइना के राजदूत से मिलकर वहां पर आते हैं तो इतना निंदनीय कृत्य आपने किया अपने देश की बेईज़ती कराई है l इसलिए तो कांग्रेस मुझे लगता सजा मिलनी चाहिए लेकिन बात यह है कि समझ में नहीं आता कि पॉलिटिक्स में चलता क्या है बिल्कुल नहीं समझ में आता l लेकिन यह कृत्य निंदनीय है l अपने देश की बेइज्जती कराने के लिए सामने वाली पार्टी से मिलने जा रहे हैं l क्या जरूरत है उनसे मिलने कि जब कूटनीतिक तरीके से कार्य हो रहा है तो क्यों आप इस देश को आप और ज्यादा बांटने की कोशिश करेंl जम्मू कश्मीर और सियाचीन खोने के बाद और कुछ खोना चाहते हैं क्या सच में l

bahut hi sahi kaha modi ji ne bahut sahi hai unko samarthan karta hoon aur rahul gandhi ji ne jo harkat ki hai vaah kaafi nindaniya hai bahut hi nindaniya harkat hai l vaah isliye nindaniya harkat hai kyonki mujhe lagta hai ki jab aapka kisi desh ke saath dispute chal raha hai Doklam ka district chala tha l Doklam try junction ka kilometre junction ko samajhaata hoon kya hai us desh bhutan mein ek area aata hai jis jagah par try junction ka hota hai ki 3 deshon jagah par bahut paas paas ho l toh hota hi hai ki aap apni swayam ki raksha karne ke liye Agreement karte hai country se hai us jagah par koi bhi apni army leke nahi jaega l toh china ne army jana shuru kar diya sadak banana shuru kar di l uska bharat mein virodh kiya ki hamare sampark hua tha par uska prabhav padega kyonki hamari jo Sikkim hai ya chicken neck jise kehte hai patli se jo Siliguri paas hai l usse vaah keval 70 kilometre dur reh jaega toh mujhe lagta hai ki bharat ko sahi tha l china apne virodh ke liye toh kisi ko south china si mein jaane deta hai l aur hamara hum jab hum iska virodh karte toh waise kis tarah se vyavhar karne laga bokhla gaya buri tarah se l toh prime minister ne yah hamari country mein jo bhi kutanitik cheezen kare aur mujhe lagta hai bahut zyada achi thi bahut zyada samajhdari bhari thi l kyonki china ko naaraj bhi nahi kar sakti kuch achi cheez important hoti jaise davaiyan hoti hai kuch bimari ki davaiyan kar keval china se hi milti hai l toh usko band nahi kar sakte china ke investment bhi hai l halaki har cheez ko Chinese cheez use nahi karni chahiye lekin kuch cheez Chinese hai l toh rahul gandhi ke is samay milna mujhe lagta nahi ki official thi us samay official toh wahi honge jo indian government mein kaam karte hai indian government mein toh hamein toh rahul gandhi the nahi l aap china ke rajdut se milkar wahan par aate hai toh itna nindaniya kritya aapne kiya apne desh ki beizati karai hai l isliye toh congress mujhe lagta saza milani chahiye lekin baat yah hai ki samajh mein nahi aata ki politics mein chalta kya hai bilkul nahi samajh mein aata l lekin yah kritya nindaniya hai l apne desh ki beijjati karane ke liye saamne wali party se milne ja rahe hai l kya zarurat hai unse milne ki jab kutanitik tarike se karya ho raha hai toh kyon aap is desh ko aap aur zyada baantne ki koshish kare jammu kashmir aur siyachin khone ke baad aur kuch khona chahte hai kya sach mein l

बहुत ही सही कहा मोदी जी ने बहुत सही है मैं उनको समर्थन करता हूं और राहुल गांधी जी ने जो हर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

BP पिछले साल राहुल गांधी चीनी राजदूत से मिले थे और इस पर अगर मोदी जी उनकी निंदा कर रहे हैं तो मेरे साथ से यह चीज गलत है मैं राहुल गांधी इस बात से बिल्कुल अभी करती हूं जो सुनो ने ट्वीट करके कहा कि यह मेरी जॉब है कि मुझे क्रिटिकल और उसके बारे में जानने को मिलेगा मैं चाइनीस अंबेसडर से मिला था तो इसमें गलत बात क्या है और बल्कि राहुल गांधी ने यह ट्वीट किया था कि पर गवर्नमेंट से ज्यादा कन्फर्म है कि मैं किसी चीनी राजदूत से मिला तो उन्हें एक्सप्लेन करना चाहिए कि क्यों तीन मिनिस्टर्स चाइनीस हॉस्पिटैलिटी को अवैध कर रहे हैं उन्होंने बोला कि एक पिक्चर में चाइना के प्राइम मिनिस्टर और मोदी जी झूले पर बैठी हुई दिख रहे हैं तो और इस पर जोशी SIM पर ज्ञान के साथ आज चली चाइनीस प्रेसिडेंट के साथ तो राहुल गांधी ने बोला कि झूले पर मैं नहीं बैठा हुआ कोई और बैठा हुआ है तो आप खुद के बारे में सोचते तो यह बिल्कुल सही बात है लेकिन अब रास्ता एक नेशनल पार्टी के के अध्यक्ष है और अगर किसी दूर देश के अन्य सदस्य मिले तो उसमें कोई गलत बात नहीं है ऐसा तो नहीं है कि पीएम मोदी ने सारे रिश्ते काट ली हैं वह चाइना से या उनसे बिल्कुल बात नहीं की जा रही हो अगर ऐसे और मुझे लगता नहीं कि राहुल गांधी ने कोई देश के खिलाफ कोई बात क्यों की देश के बारे में शायद कोई बात की होगी तो वह मिल रहा है तो उस पर मुझे लगता नहीं कि मोदी जी को उनके निंदा करनी चाहिए

BP pichle saal rahul gandhi chini rajdut se mile the aur is par agar modi ji unki ninda kar rahe hain toh mere saath se yah cheez galat hai rahul gandhi is baat se bilkul abhi karti hoon jo suno ne tweet karke kaha ki yah meri job hai ki mujhe critical aur uske bare mein jaanne ko milega main Chinese ambassador se mila tha toh isme galat baat kya hai aur balki rahul gandhi ne yah tweet kiya tha ki par government se zyada confirm hai ki main kisi chini rajdut se mila toh unhe explain karna chahiye ki kyon teen ministers Chinese haspitailiti ko awaidh kar rahe hain unhone bola ki ek picture mein china ke prime minister aur modi ji jhule par baithi hui dikh rahe hain toh aur is par joshi SIM par gyaan ke saath aaj chali Chinese president ke saath toh rahul gandhi ne bola ki jhule par main nahi baitha hua koi aur baitha hua hai toh aap khud ke bare mein sochte toh yah bilkul sahi baat hai lekin ab rasta ek national party ke ke adhyaksh hai aur agar kisi dur desh ke anya sadasya mile toh usme koi galat baat nahi hai aisa toh nahi hai ki pm modi ne saare rishte kaat li hain vaah china se ya unse bilkul baat nahi ki ja rahi ho agar aise aur mujhe lagta nahi ki rahul gandhi ne koi desh ke khilaf koi baat kyon ki desh ke bare mein shayad koi baat ki hogi toh vaah mil raha hai toh us par mujhe lagta nahi ki modi ji ko unke ninda karni chahiye

BP पिछले साल राहुल गांधी चीनी राजदूत से मिले थे और इस पर अगर मोदी जी उनकी निंदा कर रहे हैं

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!