अमित शाह का मानना ​​है कि राहुल गांधी की शैली ग़ैर लोकतांत्रिक है।सहमत हैं? क्यों?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है मैं इस बात से बिल्कुल सहमत नहीं हूं कांग्रेस पार्टी के अंदर राहुल गांधी इलेक्ट्रो करके आए हैं और किसी भी और व्यक्ति ने उनके खिलाफ इलेक्शन नहीं लगा अगर कोई उनके खिलाफ इलेक्शन लड़ता और उसके बाद में वह जीते तो आओ तो भी उनको यह लक्षण माना जाता है और अगर किसी व्यक्ति ने उनके खिलाफ इलेक्शन नहीं लड़ना तो फिर उसमें मैं नहीं समझता हूं कि उसमें किसी तरीके का गैर तांत्रिक किया रुपया लोकतांत्रिक देश वासियों की बातें कर हमको भी ध्यान रखना चाहिए उनके खिलाफ में भी किसी ने लक्षण नहीं लगा था और इस वजह से मैं नहीं समझता कि यह कहना उचित है कि राहुल गांधी की शादी लोकतांत्रिक लोकतांत्रिक है यह बिल्कुल उचित नहीं है

theek hai is baat se bilkul sahmat nahi hoon congress party ke andar rahul gandhi electro karke aaye hain aur kisi bhi aur vyakti ne unke khilaf election nahi laga agar koi unke khilaf election ladata aur uske baad mein wah jeete to aao to bhi unko yeh lakshan mana jata hai aur agar kisi vyakti ne unke khilaf election nahi ladna to phir usamen chahiye main nahi samajhata hoon ki usamen chahiye kisi tarike ka gair tantrika kiya rupya loktantrik desh vasiyo ki batein kar hamko bhi dhyan rakhna chahiye unke khilaf mein bhi kisi ne lakshan nahi laga tha aur is wajah se main nahi samajhata ki yeh kehna uchit hai ki rahul gandhi ki shadi loktantrik loktantrik hai yeh bilkul uchit nahi hai

ठीक है मैं इस बात से बिल्कुल सहमत नहीं हूं कांग्रेस पार्टी के अंदर राहुल गांधी इलेक्ट्रो क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसा बिल्कुल नहीं है कि राहुल गांधी की पहली गैर लोकतांत्रिक है उनकी शैली थोड़ी भिंड जरूर है लेकिन वह ऐसा नहीं है कि वह लोकतंत्र की बात ना करती हो बिल्कुल लोकतंत्र की बात करती है मजबूत विपक्ष होना आवश्यक होता है किसी भी देश में जब आपके सामने पार्टी अच्छी वह तो एक प्रतिपक्ष के रूप में उभरकर आना भी आवश्यक होता है तो कांग्रेस ऑफिस में है अभी जब वह एक मजबूत विपक्ष बनने का कार्य कर रही हो मुझे लगता है कि राहुल गांधी समय के साथ परिपक्व होते जाएंगे हां यह बात आप जरूर है कि उनको उनके कमेंट पर काफी होता उनका मजाक उड़ाया जाता है उनकी बातों से उनको बिल्कुल सीरियस नहीं लिया जाता लेकिन यह बात भी सच है कि हमारे पास कोई ऑप्शन नहीं है अगर प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी जब तक अच्छा काम करेंगे तब तक जनता उनका सम्मान करेंगे तब उन्हें प्राइम मिनिस्टर देखेगी हो सकता है क्लियर प्राइम मिनिस्टर बन जाए लेकिन उसके बाद आप्शन क्या है अभी 2019 में तो केवल ऑप्शन प्राइम मिनिस्टर का एक ही दिख रहा है कोई ऑप्शन है ही नहीं लेकिन उसके बाद क्या उसके बाद कभी न कभी तो राहुल गांधी के नंबर आएगा और हमें यह बात थोड़ी सी माननी चाहिए शायद अगर अच्छा से नहीं आए तो राहुल गांधी भी मारे प्रेमी से हो सकते हैं तो उनकी शैली पर मुझे कोई सवाल नहीं है हां उन्हें अपने आप पर काम करने की बहुत ज्यादा जरूरत है क्योंकि वह क्या बोलते हैं क्या करते हैं यह थोड़ा सा सोशल मीडिया में कुछ उनकी नेगेटिव इंपेक्ट जाता है प्राइम मिनिस्टर मोदी अभी अच्छा काम कर रहे हो और मुझे लगता है कि अक्षय कंपटीशन दोनों में देखने को मिल सकता है 2019 में तो शायद नहीं दिखी मिलेगा क्योंकि इतना जल्दी कांग्रेस इंप्रूव नहीं कर पाई अपने आपको लेकिन हां अगर अभी 2018 में होने वाले चार पांच लोग विधानसभा चुनाव होने वाले राजस्थान मध्य प्रदेश कर्नाटक काफी बड़े बड़े विधानसभा चुनाव में कुछ बराबर की टक्कर होती है कहीं दो तीन जगह कांग्रेस जाती है तो काफी अच्छी टक्कर देखने को मिलेगी 2019 चुनाव में धन्यवाद

dekhie chahiye aisa bilkul nahi hai ki rahul gandhi ki pehli gair loktantrik hai unki shaili thodi bhind jarur hai lekin wah aisa nahi hai ki wah loktantra ki baat na karti ho bilkul loktantra ki baat karti hai majboot vipaksh hona aavashyak hota hai kisi bhi desh mein jab aapke samane party acchi wah to ek pratipaksh ke roop mein ubharakar aana bhi aavashyak hota hai to congress office mein hai abhi jab wah ek majboot vipaksh banane ka karya kar rahi ho mujhe lagta hai ki rahul gandhi samay ke saath paripakva hote jaenge haan yeh baat aap jarur hai ki unko unke comment par kaafi hota unka mazak udaya jata hai unki baaton se unko bilkul serious nahi liya jata lekin yeh baat bhi sach hai ki hamare paas koi option nahi hai agar prime minister narendra modi jab tak accha kaam karenge tab tak janta unka samman karenge tab unhen chahiye prime minister dekhegi ho sakta hai clear prime minister ban jaye lekin uske baad option kya hai abhi 2019 mein to kewal option prime minister ka ek hi dikh raha hai koi option hai hi nahi lekin uske baad kya uske baad kabhi n kabhi to rahul gandhi ke number aayega aur hume yeh baat thodi si maanani chahiye shayad agar accha se nahi aaye to rahul gandhi bhi maare premi se ho sakte hain to unki shaili par mujhe koi sawal nahi hai haan unhen chahiye apne aap par kaam karne ki bahut jyada zarurat hai kyonki wah kya bolte kya karte hain yeh thoda sa social media mein kuch unki Negative impekt jata hai prime minister modi abhi accha kaam kar rahe ho aur mujhe lagta hai ki akshay competition dono mein dekhne ko mil sakta hai 2019 mein to shayad nahi dikhi milega kyonki itna jaldi congress improve nahi kar payi apne aapko lekin haan agar abhi 2018 mein hone wale char paanch log vidhan sabha chunav hone wale rajasthan madhya pradesh karnataka kaafi bade bade vidhan sabha chunav mein kuch barabar ki takkar hoti hai kahin do teen jagah congress jati hai to kaafi acchi takkar dekhne ko milegi 2019 chunav mein dhanyavad

देखिए ऐसा बिल्कुल नहीं है कि राहुल गांधी की पहली गैर लोकतांत्रिक है उनकी शैली थोड़ी भिंड ज

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
user

Sagar सागर

Engineer ,Singer,Director

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं यह बात को मानता हूं अमित जाकर ही नहीं हम भी लोग टीवी देखते हैं और उनके भाषण को सुनते हैं राहुल गांधी को यह पता ही नहीं है तो उनके द्वारा बोला गया बाग के या बोली गई बात हमारे देश के हित में है या नहीं वह तो सिर्फ एक विशेष पार्टी और विशेष लोगों के खिलाफ बोलने का एक एजेंडा चलाते हैं जैसा कि राहुल गांधी के भाषण से पता चलता है कि उन्होंने तुझसे मोदी का विरोध करना है क्या उसका परिणाम कुछ भी हो राहुल गांधी कितनी बार ऐसी बातें कर जाते हैं जो हमारे देश के लिए हानिकारक है और इस बात का फायदा हमारे पड़ोसी ऐसे मुल्क उठाते हैं जो हमारे साथ दुश्मनी रखते हैं इससे भारत की छवि खराब होती है राहुल गांधी को यह पता ही नहीं है कि किस भाषा में और क्या बोलना चाहिए उन्हें सिर्फ अपनी राजनीति से मतलब है और उनकी बातों में आकर अनेकों लोग उनके पक्ष में खड़े हो जाते हैं क्योंकि मूर्खों की कमी हिंदुस्तान में भी नहीं है राहुल गांधी एक जिम्मेदार व्यक्ति नहीं है

ji haan main yah baat ko maanta hoon amit jaakar hi nahi hum bhi log TV dekhte hain aur unke bhashan ko sunte hain rahul gandhi ko yah pata hi nahi hai toh unke dwara bola gaya bagh ke ya boli gayi baat hamare desh ke hit me hai ya nahi vaah toh sirf ek vishesh party aur vishesh logo ke khilaf bolne ka ek agenda chalte hain jaisa ki rahul gandhi ke bhashan se pata chalta hai ki unhone tujhse modi ka virodh karna hai kya uska parinam kuch bhi ho rahul gandhi kitni baar aisi batein kar jaate hain jo hamare desh ke liye haanikarak hai aur is baat ka fayda hamare padosi aise mulk uthate hain jo hamare saath dushmani rakhte hain isse bharat ki chhavi kharab hoti hai rahul gandhi ko yah pata hi nahi hai ki kis bhasha me aur kya bolna chahiye unhe sirf apni raajneeti se matlab hai aur unki baaton me aakar anekon log unke paksh me khade ho jaate hain kyonki murkhon ki kami Hindustan me bhi nahi hai rahul gandhi ek zimmedar vyakti nahi hai

जी हां मैं यह बात को मानता हूं अमित जाकर ही नहीं हम भी लोग टीवी देखते हैं और उनके भाषण को

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  214
WhatsApp_icon
user

BASHISHTHA KANNAUJIYA

Software Engineer as a student

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं इससे सहमत नहीं चाहते हैं कि आप अपने दूसरे पक्ष वाले का अर्थात अपने विपक्ष वाले का क्वालिटी को नहीं देखता है तो हमेशा ही मानते हैं कि राहुल गांधी की रैली

nahi main isse sahmat nahi chahte hain ki aap apne dusre paksh waale ka arthat apne vipaksh waale ka quality ko nahi dekhta hai toh hamesha hi maante hain ki rahul gandhi ki rally

नहीं मैं इससे सहमत नहीं चाहते हैं कि आप अपने दूसरे पक्ष वाले का अर्थात अपने विपक्ष वाले का

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी जिस से जिस पार्टी से बिलोंग करते हैं वह भारत की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक पार्टी है और उस कांग्रेस पार्टी ने सबसे ज्यादा भारत की सत्ता पर शासन किया है और वह पूरी तरह से लोकतांत्रिक है फिर आप इस तरह के व्यक्तिगत और गलत आक्षेप लगाते हैं तो यह गलत है जनता तक गलत मैसेज पहुंचता है आज आप की पार्टी सत्ता में है तो आप हो काम करिए जिसके लिए आप चुने गए हैं इस तरह से विपक्ष के नेताओं पर आक्षेप लगाना और उन्हें नीचा दिखाना गंदी राजनीति है जो जनता को भी गलत सोचने पर मजबूर करती है और इस लोकतंत्र की व्यवस्था को बिगाड़ने में सहायक होती है जनता चाहती है कि वह निष्पक्ष और अच्छा नेता चुने और वह उसके लिए विकास करें उसका साथ देश की भलाई के काम करें अगर आप लोग ऐसे ही एक दूसरे पर आक्षेप कर रहेंगे तो जनता क्या करेगी जनता का क्या होगा इसलिए यह चीज गलत है ठीक है कई बार राहुल गांधी के कई निर्णय ऊपर अक्षय को दे रहे हैं उन पर उंगलियां उठती रही है लेकिन उन्हें यह लोकतंत्र कहना मुझे सही नहीं लगता है नेताओं को आपस में अच्छे बंद करने चाहिए और जो कहां मनाने के लिए अपने हाथ में भारत के लिए भारत की जनता के लिए उन पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करके उनको पूरा करना चाहिए ताकि देश का विकास हो जनता की भलाई हो जिसके लिए उन्होंने उसे चुना है तो यह चीजें थोड़ी गलत हो रही है जो समाज में भी गलत संदेश दे रही है तो नेताओं को अपने पद का अपनी गरिमा का जो उन्होंने पद लिया है जनता से उसका ध्यान रखते हुए इन चीजों को छोड़कर दूसरी चीजों पर ध्यान देना चाहिए

rahul gandhi jis se jis party se belong karte hai wah bharat ki sabse purani loktantrik party hai aur us congress party ne sabse jyada bharat ki satta par shasan kiya hai aur wah puri tarah se loktantrik hai phir aap is tarah ke vyaktigat aur galat aakshep lagate hai to yeh galat hai janta tak galat massage pahuchta hai aaj aap ki party satta mein hai to aap ho kaam kariye jiske liye aap chune gaye hai is tarah se vipaksh ke netaon par aakshep lagana aur unhen chahiye nicha chahiye dikhana gandi rajneeti hai jo janta ko bhi galat sochne par majboor karti hai aur is loktantra ki vyavastha ko bigadne mein sahayak chahiye hoti hai janta chahti hai ki wah nishpaksh aur accha neta chune aur wah uske liye vikash kare chahiye uska saath desh ki bhalai ke kaam kare chahiye agar aap log aise hi ek dusre chahiye par aakshep kar rahenge to janta kya karegi janta ka kya hoga isliye yeh cheez galat hai theek hai kai baar rahul gandhi ke kai nirnay upar chahiye akshay ko de rahe hai un par ungaliyan uthati chahiye rahi hai lekin unhen chahiye yeh loktantra kehna mujhe sahi nahi lagta hai netaon ko aapas mein acche band karne chahiye aur jo Kahan chahiye manane ke liye apne hath mein bharat ke liye bharat ki janta ke liye un par apna pura dhyan kendrit karke unko pura karna chahiye taki desh ka vikash ho janta ki bhalai ho jiske liye unhone use chuna hai to yeh cheezen thodi galat ho rahi hai jo samaj mein bhi galat sandesh de rahi hai to netaon ko apne pad ka apni garima ka jo unhone pad liya hai janta se uska dhyan rakhate hue in chijon ko chodkar dusri chijon par dhyan dena chahiye

राहुल गांधी जिस से जिस पार्टी से बिलोंग करते हैं वह भारत की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक पार्टी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  209
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से राहुल गांधी के लोकतांत्रिक है क्योंकि जब भी हो चुनाव आते हैं 5 वर्ष तक कुछ नहीं करते हैं उनकी सरकार एचडी वीडियो 70 वर्षों में आज तो उन्होंने देश को कुछ खास आगे नहीं उठाया लेकिन जब से मोदी जी आए 5 साल में तो देश विकसित करते हैं कि हर बार चुनाव में घोषणा कर देते हैं कि जनता को बेहतर हजार रुपए देंगे और कई तरह की घोषणा कर देते हैं लेकिन को बताना चाहूंगा कि जनता अनपढ़ नहीं है जनता पार्टी लिखी है जनता सब जानती है अब जनता खुद ही भलाई नहीं देखती अजंता देसी वाला देखने लगी है और यही कारण है कि मोदी जी एक बार मुझसे दोबारा प्रधानमंत्री बने धन्यवाद

mere hisab se rahul gandhi ke loktantrik hai kyonki jab bhi ho chunav aate hain 5 varsh tak kuch nahi karte hain unki sarkar hd video 70 varshon mein aaj toh unhone desh ko kuch khaas aage nahi uthaya lekin jab se modi ji aaye 5 saal mein toh desh viksit karte hain ki har baar chunav mein ghoshana kar dete hain ki janta ko behtar hazaar rupaye denge aur kai tarah ki ghoshana kar dete hain lekin ko batana chahunga ki janta anpad nahi hai janta party likhi hai janta sab jaanti hai ab janta khud hi bhalai nahi dekhti ajanta desi vala dekhne lagi hai aur yahi kaaran hai ki modi ji ek baar mujhse dobara Pradhanmantri bane dhanyavad

मेरे हिसाब से राहुल गांधी के लोकतांत्रिक है क्योंकि जब भी हो चुनाव आते हैं 5 वर्ष तक कुछ न

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी जी कि यदि शैली की बात करें तो राहुल गांधी जिस परिवार को ब्लॉक करते हैं वह एक ऐसा परिवार है जो कि पूरा पॉलिटिकली है चाहे आप जवाहरलाल नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी राजीव गांधी सोनिया गांधी यह सब इनके ही खानदानी है यही मां पिता दादा दादी यह सब है तो यह सभी का पॉलिटिक्स तालुकात है उसके बावजूद राहुल गांधी की जो अभी तक की छवि थी उनकी जो सैलरी थी वह उनको पप्पू बोला जाता था यानी कि इतने में जोर नहीं हुए थे इतने अच्छे बैकग्राउंड के बावजूद इस उम्र में इतने एक्सपीरियंस के बावजूद मैं चोर नहीं हुए थे बचकानी हरकते बचकाने भाषण थे लेकिन अभी कुछ समय से आप देखिए राहुल गांधी की सैलरी में बहुत ही ज्यादा एक चेंज आया जस्ट अपोजिट हो गया है बहुत ही परिपक्व हो वह बिल्कुल बदल गई है उनकी भाषा उनकी जो भाषणबाजी करते हैं जो बोलने का ढंग है जो काम करने के लिए तरीका है वह सब बिल्कुल बदल गया है जहां तक बात हमेशा जी तो कहना काहे की राहुल गांधी की शैली गैर लोकतांत्रिक मुझे नहीं लगता कि राहुल गांधी की शादी गैर लोकतांत्रिक है इसलिए आपसे नहीं लगता बेशक हो सकती है अगर आप बिल्कुल अंडरग्राउंड चतुर्थ देखे तो बेशक हो सकती है लेकिन यदि आप किसी चीज को कंपेयर करें अमित शाह जी की या BJP के अन्य नेताओं के तो उनकी जो कार्य शैली है वह मुझे लगता है ज्यादा गैर लोकतांत्रिक है क्योंकि राहुल गांधी और पार्टी की कांग्रेस पार्टी जो है वह पोजीशन में अपोजीशन पार्टी का काम होता है भारतीय सरकार के लिए अच्छा तभी है जल्दी से स्ट्रांग और अपन पार्टी का काम ही है कि उनकी कमियां निकालना खामियां निकालना है तो हुई वह चीज कर क्योंकि BJP से व पोजीशन में थी तो उनके भी बयान किसी प्रकार थे जो कि अगर सरकार आने के बाद कंपेयर करें तो बिल्कुल अपॉजिट जब विपक्ष में कुछ कह दे सरकार आने के बाद कुछ

rahul gandhi ji ki yadi shaili ki baat kare chahiye to rahul gandhi jis parivar ko block karte hain wah ek aisa parivar hai jo ki pura politically hai chahe aap jawaharlal nehru se lekar indira gandhi rajeev gandhi sonia gandhi yeh sab inke hi khandani hai yahi maa pita dada dadi yeh sab hai to yeh sabhi ka politics talukat hai uske bawajud rahul gandhi ki jo abhi tak ki chawi thi unki jo salary thi wah unko pappu bola jata tha yani ki itne mein jor nahi hue the itne acche background ke bawajud is umar mein itne experience ke bawajud main chor nahi hue the bachakani harkate bachakane bhashan the lekin abhi kuch samay se aap dekhie chahiye rahul gandhi ki salary mein bahut hi jyada ek change aaya just opposite ho gaya hai bahut hi paripakva ho wah bilkul badal gayi hai unki bhasha unki jo bhashanabaji karte hain jo bolne ka dhang hai jo kaam karne ke liye tarika hai wah sab bilkul badal gaya hai jaha tak baat hamesha ji to kehna kaahe ki rahul gandhi ki shaili gair loktantrik mujhe nahi lagta ki rahul gandhi ki shadi gair loktantrik hai chahiye isliye aapse nahi lagta beshak ho sakti hai agar aap bilkul underground chaturth dekhe to beshak ho sakti hai lekin yadi aap kisi cheez ko kampeyar kare chahiye amit shah ji ki ya BJP ke anya netaon ke to unki jo karya shaili hai wah mujhe lagta hai jyada gair loktantrik hai kyonki rahul gandhi aur party ki congress party jo hai wah position mein apojishan party ka kaam hota hai bhartiya sarkar ke liye accha tabhi hai jaldi se strong aur apan party ka kaam hi hai ki unki kamiyan nikalna khamiyan chahiye nikalna hai to hui wah cheez kar kyonki BJP se va position mein thi to unke bhi bayan kisi prakar the jo ki agar sarkar aane ke baad kampeyar kare chahiye to bilkul apajit jab vipaksh mein kuch keh de sarkar aane ke baad kuch

राहुल गांधी जी कि यदि शैली की बात करें तो राहुल गांधी जिस परिवार को ब्लॉक करते हैं वह एक ऐ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सनी जी गैर लोकतांत्रिक कैसे उनकी पार्टी में तो डिसीजन भी लोकतांत्रिक तरीके से ही होते हैं मतलब कि अगर कांग्रेस की कर बात करो मुझे बखूबी आता जिससे समरांगण उसके हाथ में पूरा पूरी सत्ता थी उस वक्त जब बारी आई थी कि कौन PM बनेगा तो अवश्य ही वह सोनिया गांधी बनना भी नहीं चाहती थी बट सबको बता दे सोनिया गांधी बनेंगे बट नहीं उन्होंने मनमोहन सिंह को बनाया वहां पर भी सब ने वोटिंग किया कि अगर वह नहीं तो कौन हो सकते है कौन आ जा सकता है और राहुल गांधी को भी नहीं बनने दिया किसी और नेता को भी मौका नहीं मिला मनमोहन सिंह को मौका मिला कर कीबोर्ड जॉब करते थे उस पोस्ट को वहां पर आपस में ही उन लोगों ने जो वोट वगैरा किया था उनकी पार्टी के डिसीजन सब लोग कैसे होते हैं तो फिर वह गैर लोकतांत्रिक माना कि वह सहमति नहीं लेते हैं सब की और इस तरह से काम करते हैं वह कई मामलों में राहुल गांधी को देखा है उन पर हालांकि मजाक बहुत बनता है लेकिन वह थोड़े बोल्ड कभी-कभी बचकाने डिसीजन तो ले लेते हैं पर वह बोलें तो कभी कभी हो भी सकता है कि उनकी कुछ ऐसी चीजें सामने आए हो जो लोग जो गैर लोकतांत्रिक हूं लेकिन कंप्लीटली उन पर इस तरह के एलिवेशन लगाना मुझे नहीं लगता वह काफी काफी ठीक से इंसान है मतलब बेताब मुझे नहीं पता बट युवराज है कांग्रेस की ओर से तो इस वक्त अध्यक्ष बने हुए हैं तो मुझे बता गैर लोकतांत्रिक है वह अपनी जगह ठीक है अपनी तरह सही से काम करते बस थोड़ी सी और अगर वह बोल लेते हैं तो वह और अच्छा लगेगा हम पर

sunny ji gair loktantrik kaise unki party mein to decision bhi loktantrik tarike se hi hote hain matlab ki agar congress ki kar baat karo mujhe bakhubi aata jisse samarangan uske hath mein pura puri satta thi us waqt jab baari eye thi ki kaun PM banega to avashya hi wah sonia gandhi banana bhi nahi chahti thi but sabko bata de sonia gandhi banenge but nahi unhone manmohan singh ko banaya wahan par bhi sab ne voting kiya ki agar wah nahi to kaun ho sakte hai kaun aa ja sakta hai aur rahul gandhi ko bhi nahi banane diya kisi aur neta ko bhi mauka nahi mila manmohan singh ko mauka mila kar keyboard job karte the us post ko wahan par aapas mein hi un logo chahiye ne jo vote vagera kiya tha unki party ke decision sab log kaise hote hain to phir wah gair loktantrik mana ki wah sehmati nahi lete hain sab ki aur is tarah se kaam karte hain wah kai mamlon mein rahul gandhi ko dekha hai un par halaki mazak bahut baata hai lekin wah thode bold kabhi kabhi bachakane decision to le lete hain par wah bolen chahiye to kabhi kabhi ho bhi sakta hai ki unki kuch aisi cheezen samane aaye ho jo log jo gair loktantrik hoon lekin completely un par is tarah ke elevation lagana mujhe nahi lagta wah kaafi kafi theek se insaan hai matlab betaab mujhe nahi pata but yuvraj hai congress ki oar se to is waqt adhyaksh bane hue hain to mujhe bata gair loktantrik hai wah apni jagah theek hai apni tarah sahi se kaam karte bus thodi si aur agar wah bol lete hain to wah aur accha lagega hum par

सनी जी गैर लोकतांत्रिक कैसे उनकी पार्टी में तो डिसीजन भी लोकतांत्रिक तरीके से ही होते हैं

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  290
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!