क्या राहुल गांधी युवाओं को रोज़गार देने में मदद कर रहें हैं? आपकी राय?...


user

Dr J B Tiwari

Chairman and Managing Director

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं डॉक्टर जेबीटी और आपको प्रणाम करता हूं आपका सवाल है कि राहुल गांधी युवाओं को रोजगार दे मुझे नहीं लगता कि राहुल गांधी अपनी राजनीति में आते हैं उनके कुछ चीजें अच्छी है लेकिन मैं यह समझता हूं कि इसका कोई मतलब नहीं है कि राजीव गांधी क्या मदद कर सकते हैं

main doctor JBT aur aapko pranam karta hoon aapka sawaal hai ki rahul gandhi yuvaon ko rojgar de mujhe nahi lagta ki rahul gandhi apni raajneeti me aate hain unke kuch cheezen achi hai lekin main yah samajhata hoon ki iska koi matlab nahi hai ki rajeev gandhi kya madad kar sakte hain

मैं डॉक्टर जेबीटी और आपको प्रणाम करता हूं आपका सवाल है कि राहुल गांधी युवाओं को रोजगार दे

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  298
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pushpendra Rajput

Soft Skill Trainer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी के बारे में जो अब फूलने की युवाओं को रोजगार देने में मदद करते हैं तो इस पर किस मेरी गया किसी की भी राय है वह सिम ही हो सकती है कि जो कांग्रेस प्रशासन ने को देश में लगभग लगभग 70 साल रहा है और इतने लंबे समय रहने के बाद भी उसमें क्या किया उन लोगों ने कुछ भी नहीं किया है अगर आप देखो तो जब सरकार में थे तब उन्होंने रोजगार नहीं दे पाया तो विपक्ष में आकर रोजगार कैसे दे सकते हैं सिर्फ और सिर्फ देश को अब तक अंधेरे कुएं में ढकेल तेरे इसके अलावा इन लोगों ने कुछ नहीं किया है अब विपक्ष में जब आ गए थे दोबारा से हो सकता का जो नशा था वह दोबारा से इनको चाहिए बाकी यह काम कुछ नहीं करेंगे सिर्फ देश को भ्रमित करके और युवाओं को इधर-उधर भटकते हैं बस इसके अलावा कुछ

rahul gandhi ke bare me jo ab phulne ki yuvaon ko rojgar dene me madad karte hain toh is par kis meri gaya kisi ki bhi rai hai vaah sim hi ho sakti hai ki jo congress prashasan ne ko desh me lagbhag lagbhag 70 saal raha hai aur itne lambe samay rehne ke baad bhi usme kya kiya un logo ne kuch bhi nahi kiya hai agar aap dekho toh jab sarkar me the tab unhone rojgar nahi de paya toh vipaksh me aakar rojgar kaise de sakte hain sirf aur sirf desh ko ab tak andhere kuen me dhakel tere iske alava in logo ne kuch nahi kiya hai ab vipaksh me jab aa gaye the dobara se ho sakta ka jo nasha tha vaah dobara se inko chahiye baki yah kaam kuch nahi karenge sirf desh ko bharmit karke aur yuvaon ko idhar udhar bhatakte hain bus iske alava kuch

राहुल गांधी के बारे में जो अब फूलने की युवाओं को रोजगार देने में मदद करते हैं तो इस पर किस

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

2:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या राहुल गांधी राहुल भाई मेरे राहुल गांधी को तो इसके बारे में जानकारी है उनकी मैनेजमेंट के लिए देते हैं उसका शताब्दी चल हाथ उठा रहे हैं मनमोहन सिंह के समय में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री की नई लड़की सरकारी अमेरिका में मंदी का मतलब कि सवाल है इंडिया में मंदी का मतलब पूछा सरकारी नौकरी का सवाल है सरकारी नौकरी सरकारी नौकरी सरकारी नौकरी प्राइवेट आईटी सेक्टर में बिहारी का मतलब यह है आया इंडिया पर इसलिए राहुल गांधी ना तो रोजगार देने की मदद की स्थिति में है उनके पास इतना डीप नॉलेज है कि हां उनकी समस्या के बारे में गंभीर जानकारी

kya rahul gandhi rahul bhai mere rahul gandhi ko toh iske bare mein jaankari hai unki management ke liye dete hain uska shatabdi chal hath utha rahe hain manmohan Singh ke samay mein rahul gandhi ne pradhanmantri ki nayi ladki sarkari america mein mandi ka matlab ki sawaal hai india mein mandi ka matlab poocha sarkari naukri ka sawaal hai sarkari naukri sarkari naukri sarkari naukri private it sector mein bihari ka matlab yah hai aaya india par isliye rahul gandhi na toh rojgar dene ki madad ki sthiti mein hai unke paas itna deep knowledge hai ki haan unki samasya ke bare mein gambhir jaankari

क्या राहुल गांधी राहुल भाई मेरे राहुल गांधी को तो इसके बारे में जानकारी है उनकी मैनेजमेंट

Romanized Version
Likes  195  Dislikes    views  2816
WhatsApp_icon
play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या राहुल गांधी रीवा को रोजगार देने में मदद कर रहे हैं आपकी राय नहीं राहुल गांधी युवाओं को रोजगार देने में मदद नहीं कर रहे ठीक है ऊपर से बल्कि उनको प्रकार है जो अच्छा काम कर रहा है उनके प्रति आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद

kya rahul gandhi reeva ko rojgar dene mein madad kar rahe hain aapki rai nahi rahul gandhi yuvaon ko rojgar dene mein madad nahi kar rahe theek hai upar se balki unko prakar hai jo accha kaam kar raha hai unke prati aapka din shubha rahe dhanyavad

क्या राहुल गांधी रीवा को रोजगार देने में मदद कर रहे हैं आपकी राय नहीं राहुल गांधी युवाओं क

Romanized Version
Likes  215  Dislikes    views  5375
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां राहुल गांधी रोजगार देने में मदद कर रहे हैं और इनकी पार्टी ने किया भी है और भविष्य में अपनी फादर राजीव गांधी की तरह भी बहुत ही बेहतरीन मदद करेंगे भारत के युवाओं को रोजगार देने में भारत को विकसित देश बनाने

ji haan rahul gandhi rojgar dene mein madad kar rahe hain aur inki party ne kiya bhi hai aur bhavishya mein apni father rajeev gandhi ki tarah bhi bahut hi behtareen madad karenge bharat ke yuvaon ko rojgar dene mein bharat ko viksit desh banaane

जी हां राहुल गांधी रोजगार देने में मदद कर रहे हैं और इनकी पार्टी ने किया भी है और भविष्य म

Romanized Version
Likes  89  Dislikes    views  1782
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामधन की चिक्की युवाओं को रोजगार देने की मानसिकता होती तो उनके होटल इटली में क्यों होते हैं भारत में उत्तर भारत में कुल संख्या में डाले होती सच्चे डाली होती भारतीय युवाओं को रोजगार मिलता इतने लोगों की बातों के लिए करते हैं जो कुछ है बाकी आदरणीय राहुल गांधी जी कितने भारत के समर्थक के कितने बार तो चाहते हैं यह मैं और आप अच्छी तरह जानते हैं कोचिंग कब क्या है उनकी यह हमारा खूब समझते हैं उन पर इतना पैसा है कि दादा वंदनवार विद कारखाने डालकर के भारतीय युवाओं को रोजगार दे सकते मर के विकास में सहायता दे सकते हैं लेकिन कितने वर्ष में उनके पता है मुझे आप रोजगार उनके पोर्टल से जो भी है सब इटली करवा रहे हैं हमारे भारतीय युवाओं को रोजगार मिलेगा बताइए यह तो उनके केवल एक राजनीतिक करने हैं जो प्रत्येक व्यक्ति और कोई समझता है कि गांधी परिवार भारत पर कितना कार्य के कितनी उन्नति चाहता है भारत की यह मेरा 25 उसके इसलिए तुम को बोलना चाहिए बाकी आप जानते हैं कि हाथी के दांत दिखाने के और और खाने का कुछ और

ramadhan ki chikki yuvaon ko rojgar dene ki mansikta hoti toh unke hotel italy mein kyon hote hain bharat mein uttar bharat mein kul sankhya mein dale hoti sacche dali hoti bharatiya yuvaon ko rojgar milta itne logo ki baaton ke liye karte hain jo kuch hai baki adaraniya rahul gandhi ji kitne bharat ke samarthak ke kitne baar toh chahte hain yah main aur aap achi tarah jante hain coaching kab kya hai unki yah hamara khoob samajhte hain un par itna paisa hai ki dada vandanavar with karkhane dalkar ke bharatiya yuvaon ko rojgar de sakte mar ke vikas mein sahayta de sakte hain lekin kitne varsh mein unke pata hai mujhe aap rojgar unke portal se jo bhi hai sab italy karva rahe hain hamare bharatiya yuvaon ko rojgar milega bataye yah toh unke keval ek raajnitik karne hain jo pratyek vyakti aur koi samajhata hai ki gandhi parivar bharat par kitna karya ke kitni unnati chahta hai bharat ki yah mera 25 uske isliye tum ko bolna chahiye baki aap jante hain ki haathi ke dant dikhane ke aur aur khane ka kuch aur

रामधन की चिक्की युवाओं को रोजगार देने की मानसिकता होती तो उनके होटल इटली में क्यों होते है

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1408
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रोजगार देने के लिए मदद कोई व्यक्ति तब कर सकता है जब उसके अंदर कोई स्कीम चल रही हो या उसका खुद का कोई व्यापार हो उसका कोई बिजनेस हो या व्यक्ति को दिसावर में हूं कि दूसरों को आदेश दे सके किसी स्किल डे युवाओं को भर्ती करने का तो मुझे लगता नहीं कि राहुल गांधी भी इनमें से किस स्तर पर हैं जिसे किसी मुद्दे को जरूर एक भारतीय स्तर पर उठा रहे हैं के युवाओं को रोजगार क्यों नहीं मिल रहा था जवाब सरकार को देना चाहिए इतनी क्यों आ रही है लोग अपने बिस्किट शाम को पक्का जो खर्चा है वह नहीं पहन कर पा रहे हैं 30 30 से 35 का 10 परसेंट तक गिरावट आ रही है इतनी सारी परेशानी से बाहर ही है तो डेफिनेट कि विपक्ष को करना चाहिए और अच्छा प्रश्न कर रहे हैं लेकिन युवाओं को रोजगार देने में तो गांधीनगर कर पा रहे हैं ना पीएम मोदी बात कर पा रहे हैं मुझे लगता है कि युवाओं को खुद की मदद करनी चाहिए स्वरोजगार की कोशिश करनी चाहिए जो बीजेपी कहती आ रही है उन्होंने जब दो कर नौकरी का वादा किया था तो मुझे नहीं पता कि किस तरह से किया था अलक्योर डिवेलप नहीं कर पाए अब रोजगार बोल रहे हैं तो देखिए तो युवाओं के साथ थोड़ा संगर तो है लेकिन युवाओं को अपना मानसिक संतुलन बनाए रखते हुए मेहनत करनी चाहिए ताकि जहां पर भर्ती निकली वहां पर कोशिश कर सकें चाय प्राइवेट और सरकारी आवेदन करना चाहिए क्योंकि आवश्यक हो गया है जॉब करना

rojgar dene ke liye madad koi vyakti tab kar sakta hai jab uske andar koi scheme chal rahi ho ya uska khud ka koi vyapar ho uska koi business ho ya vyakti ko disavar mein hoon ki dusro ko aadesh de sake kisi skill day yuvaon ko bharti karne ka toh mujhe lagta nahi ki rahul gandhi bhi inme se kis sthar par hain jise kisi mudde ko zaroor ek bharatiya sthar par utha rahe hain ke yuvaon ko rojgar kyon nahi mil raha tha jawab sarkar ko dena chahiye itni kyon aa rahi hai log apne biscuit shaam ko pakka jo kharcha hai vaah nahi pahan kar paa rahe hain 30 30 se 35 ka 10 percent tak giraavat aa rahi hai itni saree pareshani se bahar hi hai toh definet ki vipaksh ko karna chahiye aur accha prashna kar rahe hain lekin yuvaon ko rojgar dene mein toh gandhinagar kar paa rahe hain na pm modi baat kar paa rahe hain mujhe lagta hai ki yuvaon ko khud ki madad karni chahiye swarojgar ki koshish karni chahiye jo bjp kehti aa rahi hai unhone jab do kar naukri ka vada kiya tha toh mujhe nahi pata ki kis tarah se kiya tha alakyor develop nahi kar paye ab rojgar bol rahe hain toh dekhiye toh yuvaon ke saath thoda sanger toh hai lekin yuvaon ko apna mansik santulan banaye rakhte hue mehnat karni chahiye taki jaha par bharti nikli wahan par koshish kar sake chai private aur sarkari avedan karna chahiye kyonki aavashyak ho gaya hai job karna

रोजगार देने के लिए मदद कोई व्यक्ति तब कर सकता है जब उसके अंदर कोई स्कीम चल रही हो या उसका

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1146
WhatsApp_icon
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपका जो प्रश्न है कि राहुल गांधी युवाओं को रोजगार देने में मदद कर रहे हैं या नहीं ऐसा कुछ नहीं है कि भारतीय जनता पार्टी राहुल गांधी के विचारों का सुनकर रोजगार दे रही है या मौजूदा सरकार कर रही है ऐसा कुछ भी नहीं होता कि वो उनके विपक्ष के कटाक्ष होते हैं और सरकार अपना कार्य कर रही होती अपनी मैदान में अगर उसको रोजगार के प्रति कुछ कार्य करना है तो मैं कर रही होती में से जो परिस्थिति की है समय मौजूदा समय जो है वह रोजगार दूर-दूर तक बहादुर फैल गया यानी बेरोजगारी या बेरोजगारी बहुत बड़े लेवल पर फैल गई है लेकिन उसमें राहुल गांधी उस प्रकार का विपक्ष का रोल है वह नहीं निभा पा रहे हैं उनको वहां पर है सफल माताओं को एक अच्छा विपक्ष का रोल निभाना चाहिए जैसा कि एक विपक्ष का रोल होता है विपक्ष अपना आधार यादव करता है उनको रोजगार बेरोजगारी का युद्ध होता है यह उठाकर उसे रोजगार में परिवर्तित और देश को आजादी की तरफ ले जाना चाहिए देश एक बार दोबारा आजाद हो जो हम बेरोजगारी वाले जाल में फंसे हुए मिस बेरोजगारी के जाल को तोड़कर और तब तक रोजगार पहुंचा सके तब तक का मतलब जो भी लोग हैं जो जिन्हें अपने घर के खर्चे चलाने होते हैं और वह ब्रूम बेरोजगार घूम रहे उन तक रोजगार पहुंच सके राहुल गांधी की भूमिका निभा सकते हैं और मुझे नहीं लगता वह पूर्णता इस भूमिका को निभा रहे हैं

dekhiye aapka jo prashna hai ki rahul gandhi yuvaon ko rojgar dene mein madad kar rahe hain ya nahi aisa kuch nahi hai ki bharatiya janta party rahul gandhi ke vicharon ka sunkar rojgar de rahi hai ya maujuda sarkar kar rahi hai aisa kuch bhi nahi hota ki vo unke vipaksh ke kataksh hote hain aur sarkar apna karya kar rahi hoti apni maidan mein agar usko rojgar ke prati kuch karya karna hai toh main kar rahi hoti mein se jo paristithi ki hai samay maujuda samay jo hai vaah rojgar dur dur tak bahadur fail gaya yani berojgari ya berojgari bahut bade level par fail gayi hai lekin usme rahul gandhi us prakar ka vipaksh ka roll hai vaah nahi nibha paa rahe hain unko wahan par hai safal mataon ko ek accha vipaksh ka roll nibhana chahiye jaisa ki ek vipaksh ka roll hota hai vipaksh apna aadhaar yadav karta hai unko rojgar berojgari ka yudh hota hai yah uthaakar use rojgar mein parivartit aur desh ko azadi ki taraf le jana chahiye desh ek baar dobara azad ho jo hum berojgari waale jaal mein fanse hue miss berojgari ke jaal ko todkar aur tab tak rojgar pohcha sake tab tak ka matlab jo bhi log hain jo jinhen apne ghar ke kharche chalane hote hain aur vaah broom berozgaar ghum rahe un tak rojgar pohch sake rahul gandhi ki bhumika nibha sakte hain aur mujhe nahi lagta vaah purnata is bhumika ko nibha rahe hain

देखिए आपका जो प्रश्न है कि राहुल गांधी युवाओं को रोजगार देने में मदद कर रहे हैं या नहीं ऐस

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  721
WhatsApp_icon
user

Yogendar. Singh

Shire,Ram,Haiyedro,6376439283

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी हमारे देश के युवाओं को रोजगार नहीं बेरोजगार करने के वह ले जाने वाले थे यह हमारे देश के लिए क्या करेंगे जो अपने लिए कुछ नहीं कर सकते उन्होंने हमारे देश को लूटने के सिवाय कुछ भी नहीं किया है यह चाहते हैं कि जो भी और बचा हुआ है इसको भी लूट करके विदेश ले जाएं एड़ियों में विदेशों में इन्होंने धन जमा कर रखा है विदेशों में व्यापार कर रखे हैं हमारे देश को खोखला कर रखा है इन्होंने यह हमारे देश के लिए क्या करेंगे यह चाहते हैं कि हमारा देश करीबी रहे जैसे यह मनुष्य अगर यह सब गरीब रहेंगे तो हमारी सुनते रहेंगे यह कभी भी युवाओं को रोजगार नहीं दे सकते सिर्फ बेरोजगारी करने के सिवा कुछ भी नहीं कर सकते

rahul gandhi hamare desh ke yuvaon ko rojgar nahi berozgaar karne ke vaah le jaane waale the yah hamare desh ke liye kya karenge jo apne liye kuch nahi kar sakte unhone hamare desh ko lutane ke shivaay kuch bhi nahi kiya hai yah chahte hain ki jo bhi aur bacha hua hai isko bhi loot karke videsh le jayen ediyon mein videshon mein inhone dhan jama kar rakha hai videshon mein vyapar kar rakhe hain hamare desh ko khokhla kar rakha hai inhone yah hamare desh ke liye kya karenge yah chahte hain ki hamara desh karibi rahe jaise yah manushya agar yah sab garib rahenge toh hamari sunte rahenge yah kabhi bhi yuvaon ko rojgar nahi de sakte sirf berojgari karne ke siva kuch bhi nahi kar sakte

राहुल गांधी हमारे देश के युवाओं को रोजगार नहीं बेरोजगार करने के वह ले जाने वाले थे यह हमार

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल बिल्कुल नहीं इसके लिए राहुल गांधी के बोलने का हिसाब और बाकी जो उनके रणनीतियां है उनको देखकर सिर्फ यही लगता है कि वह बिना किसी तैयारी के जब जो आदमी बिना किसी तैयारी के बोल रहा है तू रोजगार देने में सक्षम कैसे हो सकता है जरा आप खुद सोचिए वह व्यक्ति जो सिर्फ अपनी जिम्मेदारियों से एक हार के बाद अपनी जिम्मेदारियों से मुकर गया और इस्तीफा देकर वह अगर आए आलू रोजगार देने का दावा कर रहा है और हमें उसको वोट दे दी है और वह अगर रोजगार देने में सक्षम हुआ तो फिर सरकार क्यों की तरह जाएगा तुम्हारे जैसे कितना पैसा बर्बाद होगा इसलिए राहुल गांधी युवाओं को रोजगार देने में सक्षम नहीं है

dil bilkul nahi iske liye rahul gandhi ke bolne ka hisab aur baki jo unke rananitiyan hai unko dekhkar sirf yahi lagta hai ki vaah bina kisi taiyari ke jab jo aadmi bina kisi taiyari ke bol raha hai tu rojgar dene mein saksham kaise ho sakta hai zara aap khud sochiye vaah vyakti jo sirf apni jimmedariyon se ek haar ke baad apni jimmedariyon se mukar gaya aur istifa dekar vaah agar aaye aalu rojgar dene ka daawa kar raha hai aur hamein usko vote de di hai aur vaah agar rojgar dene mein saksham hua toh phir sarkar kyon ki tarah jaega tumhare jaise kitna paisa barbad hoga isliye rahul gandhi yuvaon ko rojgar dene mein saksham nahi hai

दिल बिल्कुल नहीं इसके लिए राहुल गांधी के बोलने का हिसाब और बाकी जो उनके रणनीतियां है उनको

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मदद कर रहे हैं

ji haan madad kar rahe hain

जी हां मदद कर रहे हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!