IAS परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक छापने लगा नकली नोट: क्या भारतीय युवा UPSC के प्रेशर में पिसता जा रहा है?...


user

Prateek

Engineer, IAS Aspirant

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं पहले इस सवाल को सपोर्ट ठीक करना चाहूंगा आप ने कहा कि भारतीय युवा यूपीएससी के प्रश्न पूछता जा रहा है मैं कल नहीं कोई यूपीएससी परिश्रमी नहीं बल्कि सोसाइटी प्रश्न पर चला जा रहा है यूपी ऐसी कभी भी आपसे यह नहीं कहता कि आप हमारे लिए बनोगे यह कहता है मुझे यह रिक्वायरमेंट ऑफिस को फुल फुल करते हो तो आप आइए नहीं कर सकते तो कोई बात नहीं नहीं पहली बात तो यह कि आपको अपने आप को प्ले स्टेशन से पहले आपको यह देखना है क्या क्या इसमें जरूर चुनौतियां मांगता है जो भी चीज में रिक्वायरमेंट है कि आप की क्वालिटी होनी चाहिए आपको डिपेंडेंस को देखने का नजरिया होना चाहिए पोस्टिव नेगेटिव और चित्र दोनों देख सकते क्या पहले शतक सकते हैं क्या सोसाइटी की तरफ आपकी क्या जिम्मेदारी आप निभा सकते हो या की सब चीजों को ऑन करिए और क्या इस प्रश्न के साथ आप लाइफटाइम क्या अपनी सर्विस को कंप्लीट कर सकते हैं या फिर अपना हंड्रेड परसेंट सकते अगर दे सकते हैं तो उसको चाहिए सिलेक्ट हो ना तो है लेकिन द पेस्टिंग में इसके बाद से बड़ी टट्टी करती आपको लता सिलेक्ट्रॉनिक कुछ नहीं कहते हैं कि उनके ऊपर ऐसे कई बार ऐसे कजरी बन सिचुएशन आ जाती है जिसके कारण वह उसमें क्या करें क्या ना करें उनको वह हमें कई बार ऐसा होता है कि उनको अपनी इच्छा के विरुद्ध भी ऐसा काम करने पड़ जाते हैं जो उनको नहीं करने चाहिए थे तो क्या उस पे शेयर कर सकते हो क्या आप उस लायक हो तो इस चीज को आप आकलन करिए उसके बाद आप देखे आप कर सकते हो ना होना चाहिए गलत है क्या भारतीय युवा यूपीएससी के विशेषता है पलाना धमकाना बहुत कुछ होता है तो नहीं पता नहीं है बस वही सोच पर निर्भर करता है कि वह स्पेशल कैसे लेता है ठीक है अगर यूपीए से नहीं मिल पाए तो क्या हुआ तैयारी भी की 2 साल थी उसके बाद बिजी हो क्या अभी हजार एक ऑप्शन यूपीएससी भले आपको एक आईएएस अधिकारी ना बना पाए आईपीएस अधिकारी ने उसको उसको आसानी से हैंडल कर सकता है

main pehle is sawaal ko support theek karna chahunga aap ne kaha ki bharatiya yuva upsc ke prashna poochta ja raha hai main kal nahi koi upsc parishrami nahi balki society prashna par chala ja raha hai up aisi kabhi bhi aapse yah nahi kahata ki aap hamare liye banogey yah kahata hai mujhe yah requirement office ko full full karte ho toh aap aaiye nahi kar sakte toh koi baat nahi nahi pehli baat toh yah ki aapko apne aap ko play station se pehle aapko yah dekhna hai kya kya isme zaroor chunautiyaan mangta hai jo bhi cheez me requirement hai ki aap ki quality honi chahiye aapko dipendens ko dekhne ka najariya hona chahiye Positive Negative aur chitra dono dekh sakte kya pehle shatak sakte hain kya society ki taraf aapki kya jimmedari aap nibha sakte ho ya ki sab chijon ko on kariye aur kya is prashna ke saath aap lifetime kya apni service ko complete kar sakte hain ya phir apna hundred percent sakte agar de sakte hain toh usko chahiye select ho na toh hai lekin the pasting me iske baad se badi tatti karti aapko lata silektranik kuch nahi kehte hain ki unke upar aise kai baar aise kajri ban situation aa jaati hai jiske karan vaah usme kya kare kya na kare unko vaah hamein kai baar aisa hota hai ki unko apni iccha ke viruddh bhi aisa kaam karne pad jaate hain jo unko nahi karne chahiye the toh kya us pe share kar sakte ho kya aap us layak ho toh is cheez ko aap aakalan kariye uske baad aap dekhe aap kar sakte ho na hona chahiye galat hai kya bharatiya yuva upsc ke visheshata hai palana dhamakaana bahut kuch hota hai toh nahi pata nahi hai bus wahi soch par nirbhar karta hai ki vaah special kaise leta hai theek hai agar UPA se nahi mil paye toh kya hua taiyari bhi ki 2 saal thi uske baad busy ho kya abhi hazaar ek option upsc bhale aapko ek IAS adhikari na bana paye ips adhikari ne usko usko aasani se handle kar sakta hai

मैं पहले इस सवाल को सपोर्ट ठीक करना चाहूंगा आप ने कहा कि भारतीय युवा यूपीएससी के प्रश्न पू

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो यूं अपने लगाना पड़ेगा क्या भारतीय युवा यूपी से डिप्रेशन में किसका जा रहा है उनको सफलता नहीं मिली मतलब के स्टेज के द्वार पर आ चुके हैं तभी जान के सभी जातियों उन्होंने पॉजिटिव और नेगेटिव सोच का इस्तेमाल करके ही नकली नोट का कारोबार शुरू किया और पकड़े गए उनका भविष्य क्या हुआ है थोड़ा खराब हो चुका है कि उनका एक साइकोलॉजिकल काउंसलिंग करवाकर थेरेपी करवाकर उनकी फिर से राधिका कर उनका ब्रेन वॉश करके अच्छी शुरुआत करवाई तो काफी फर्क पड़ेगा आईएएस की परीक्षा में प्लीज वह सफल ना हो लेकिन उनको नॉलेज काफी बढ़ चुका है लेकिन दोबारा कि नहीं होगी उसे

IAS pariksha mein safalta nahi mili toh yun apne lagana padega kya bharatiya yuva up se depression mein kiska ja raha hai unko safalta nahi mili matlab ke stage ke dwar par aa chuke hain tabhi jaan ke sabhi jaatiyo unhone positive aur Negative soch ka istemal karke hi nakli note ka karobaar shuru kiya aur pakde gaye unka bhavishya kya hua hai thoda kharaab ho chuka hai ki unka ek saikolajikal kaunsaling karvakar therapy karvakar unki phir se radhika kar unka brain wash karke achi shuruaat karwai toh kafi fark padega IAS ki pariksha mein please vaah safal na ho lekin unko knowledge kafi badh chuka hai lekin dobara ki nahi hogi use

आईएएस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो यूं अपने लगाना पड़ेगा क्या भारतीय युवा यूपी से डिप्रे

Romanized Version
Likes  305  Dislikes    views  4392
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा इस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक छाप पर लगा नकली नोट तथा भारतीय युवा यूपी के प्रश्न में पूछा जा रहा है इस समय घर कितने ही घंटों का आपको वह कल मैसेज भेजो वह भी कम होगा मैं सिर्फ इतना कहना चाहूंगा जिस बंदे ने हरकत की उसकी क्या गारंटी की व्हो आईएस की परीक्षा सफल होने पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा नहीं देता यह कहना गलत है कि आईएएस की परीक्षा में वह असफल रहा इसलिए वह नकली नोट छापने लगा मैट्रिक कहूंगा कि असफलता हमारी समाज भविष्य के लिए अच्छी थी क्योंकि जो इंसान इतनी जल्दी टूट सकता है इतनी अधिक विश्वास हो सकता है इतनी जल्दी अपने रंग बदल सकता है तो वह इंसान एक अच्छे पति पाकर भ्रष्टाचार का बोलबाला क्यों नहीं करेगा दूसरी बार यह कहना कि भारतीय वायु पर्ची के पेपर में पैसा है मैं नहीं मानता हूं आपको जबरदस्ती थोड़ी यूपीएससी में चुना जाना यह आपसे किसने कहा कि आप की तैयारी कर लो आपकी इच्छा हो आपके अंदर स्टेमिना हो आपके अंदर एबिलिटी हो आपके अंदर स्थिति जिओ करने की कुछ कर दिखाने की इच्छा हो साथ में जोर से जोर और आप एक्टिवा तो फिर ट्रैक्टर किस बात का है इन सारी फीचर्स को छोड़कर अगर आप यूपीएससी में घुसते हैं तो निश्चित रूप से मैं कहूंगा आप पिक्चर के दबाव में पिच नहीं लेकिन नहीं ऐसे लोग कभी सफल नहीं होते सफल वही लोग जो निश्चिंत होकर उचित होकर अपने लक्ष्य का पीछा करते हुए लक्ष्य को प्राप्त कर

aapne kaha is pariksha mein safalta nahi mili toh yuvak chhaap par laga nakli note tatha bharatiya yuva up ke prashna mein poocha ja raha hai is samay ghar kitne hi ghanto ka aapko vaah kal massage bhejo vaah bhi kam hoga main sirf itna kehna chahunga jis bande ne harkat ki uski kya guarantee ki vo ias ki pariksha safal hone par bhrashtachar ko badhawa nahi deta yah kehna galat hai ki IAS ki pariksha mein vaah asafal raha isliye vaah nakli note chapne laga metric kahunga ki asafaltaa hamari samaaj bhavishya ke liye achi thi kyonki jo insaan itni jaldi toot sakta hai itni adhik vishwas ho sakta hai itni jaldi apne rang badal sakta hai toh vaah insaan ek acche pati pakar bhrashtachar ka bolbala kyon nahi karega dusri baar yah kehna ki bharatiya vayu parchi ke paper mein paisa hai main nahi manata hoon aapko jabardasti thodi upsc mein chuna jana yah aapse kisne kaha ki aap ki taiyari kar lo aapki iccha ho aapke andar stamina ho aapke andar ability ho aapke andar sthiti jio karne ki kuch kar dikhane ki iccha ho saath mein jor se jor aur aap activa toh phir tractor kis baat ka hai in saree features ko chhodkar agar aap upsc mein ghuste hain toh nishchit roop se main kahunga aap picture ke dabaav mein pitch nahi lekin nahi aise log kabhi safal nahi hote safal wahi log jo nishchint hokar uchit hokar apne lakshya ka picha karte hue lakshya ko prapt kar

आपने कहा इस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक छाप पर लगा नकली नोट तथा भारतीय युवा यूपी क

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1125
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संयुक्त परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक युवाओं के परीक्षा और बीजेपी की परीक्षा चाहे कितनी भी मेहनत की हो और तब भी परसेंटेज कम होता है लेकिन हमें प्रयास करने चाहिए ना कि हम नोट छापने का मशीन लेकर में छपने लगे बुद्धि का उपयोग करना और दुरुपयोग करना दोनों अलग-अलग बात पे बूटी का कर्ण 1 सदस्य आईएएस की परीक्षा पास कर सकते थे अगर नहीं किया तो दूसरे प्रयास में भी कर सकते थे और नहीं तो कुछ और भी क्षेत्र में वह आगे बढ़ सकते थे परीक्षा पास करके लेकिन इसका मतलब यह नहीं होता कि नोट छपने लगे या कोई ऐसा गैरकानूनी काम करने का समर्थन भी किया जा सकता हमारे युवाओं को हमें इतना जरूर बताना चाहिए कि आपको अगर कम सफलता मिलती है तो कोई बात नहीं आप प्रयास करते रहिए लेकिन एक ना एक दिन सफलता जरुर मिलेगी लेकिन गलत रास्ते करना चाहिए क्योंकि उसका ऐसे बहुत कम होता है और आप अपनी जिंदगी के साथ खिलवाड़ करते हैं आपकी इज्जत और आपकी जिंदगी और आपकी इज्जत सब कुछ आप को बिगाड़ देते हैं लगाते नीमच का समर्थन किसी

sanyukt pariksha mein safalta nahi mili toh yuvak yuvaon ke pariksha aur bjp ki pariksha chahen kitni bhi mehnat ki ho aur tab bhi percentage kam hota hai lekin hamein prayas karne chahiye na ki hum note chapne ka machine lekar mein chapane lage buddhi ka upyog karna aur durupyog karna dono alag alag baat pe bootee ka karn 1 sadasya IAS ki pariksha paas kar sakte the agar nahi kiya toh dusre prayas mein bhi kar sakte the aur nahi toh kuch aur bhi kshetra mein vaah aage badh sakte the pariksha paas karke lekin iska matlab yah nahi hota ki note chapane lage ya koi aisa gairkanuni kaam karne ka samarthan bhi kiya ja sakta hamare yuvaon ko hamein itna zaroor bataana chahiye ki aapko agar kam safalta milti hai toh koi baat nahi aap prayas karte rahiye lekin ek na ek din safalta zaroor milegi lekin galat raste karna chahiye kyonki uska aise bahut kam hota hai aur aap apni zindagi ke saath khilwad karte hain aapki izzat aur aapki zindagi aur aapki izzat sab kuch aap ko bigad dete hain lagate neemuch ka samarthan kisi

संयुक्त परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक युवाओं के परीक्षा और बीजेपी की परीक्षा चाहे कि

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1339
WhatsApp_icon
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आए दिन ऐसे मामले सुनते आ रहे हैं लेकिन आपका प्रश्न बहुत अच्छा है क्या यह परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक छापने लगे नकली नोट क्या भारतीय युवा यूपीएससी के प्रेशर में प्रस्तावित कहीं ना कहीं आपकी बात सच होती बिकती है कि जो युवा है जो आज का यूथ है जो सिविल सर्विस एक्टिवेशन करने जाता है और वह एक दबाव में दबाव होता है लेकिन में दिखी सब सर्वप्रथम भेजो दबाव में है मैं उसे कभी मानता ही नहीं कि वही करती है सिविल सर्विस ब्रांच दबाव से कभी भी किसी चीज को नहीं हटा सकते और दूसरा सबसे बड़ी चीज जो है आप अगर बिना दबाव के यूपीएससी के साथ लड़ते हैं तो आपको पोस्ट अवसर मिलता है देखिए एवरीथिंग इज टिप्पणी * मेंटालिटी अगर हमारी मेंटालिटी अच्छी हमारा नजरिया अच्छा हमारा दृष्टिकोण युवाओं को यह सोचना चाहिए कि देखिए आपको एक बात है कि जो सिविल सर्विसेज है वह आपकी प्रिपरेशन की तैयारी है ना कि आपकी जिंदगी कि आपकी लाइफ यूपीएससी की वजह से रुक कर चल नहीं करती है जैसे कि मैं बात कर लूंगा पर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के बारे में तो वह बचपन में पायलट बनना चाहते थे लेकिन देखिए बाद में हुआ ऐसा वह पायलट नहीं बन पाए और वह ऐसे एक विनय जिसके नीचे एयर मार्शल एयर फोर्स चीफ और तीनों सेनाओं के चीफ या पूरी तीनों सेना उनके नीचे रही जिंदगी कभी यूपीएससी परीक्षा से नहीं रुकती आपको सदैव कंटिन्यू निरंतर चलते रहना चाहिए भारतीय युवाओं को इस प्रेशर से मुक्ति पानी के ऑपरेशन होता है कहीं ना कहीं कुंती ने छात्रों में

dekhiye aaye din aise mamle sunte aa rahe hain lekin aapka prashna bahut accha hai kya yah pariksha mein safalta nahi mili toh yuvak chapne lage nakli note kya bharatiya yuva upsc ke pressure mein prastavit kahin na kahin aapki baat sach hoti bikti hai ki jo yuva hai jo aaj ka youth hai jo civil service activation karne jata hai aur vaah ek dabaav mein dabaav hota hai lekin mein dikhi sab sarvapratham bhejo dabaav mein hai main use kabhi manata hi nahi ki wahi karti hai civil service branch dabaav se kabhi bhi kisi cheez ko nahi hata sakte aur doosra sabse badi cheez jo hai aap agar bina dabaav ke upsc ke saath ladtey hain toh aapko post avsar milta hai dekhiye everything is tippani mentalaity agar hamari mentalaity achi hamara najariya accha hamara drishtikon yuvaon ko yah sochna chahiye ki dekhiye aapko ek baat hai ki jo civil services hai vaah aapki preparation ki taiyari hai na ki aapki zindagi ki aapki life upsc ki wajah se ruk kar chal nahi karti hai jaise ki main baat kar lunga par Dr. apj abdul kalam ke bare mein toh vaah bachpan mein pilot banna chahte the lekin dekhiye baad mein hua aisa vaah pilot nahi ban paye aur vaah aise ek vinay jiske neeche air marshall air force chief aur teenon senaoon ke chief ya puri teenon sena unke neeche rahi zindagi kabhi upsc pariksha se nahi rukti aapko sadaiv continue nirantar chalte rehna chahiye bharatiya yuvaon ko is pressure se mukti paani ke operation hota hai kahin na kahin kuntee ne chhatro mein

देखिए आए दिन ऐसे मामले सुनते आ रहे हैं लेकिन आपका प्रश्न बहुत अच्छा है क्या यह परीक्षा में

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  696
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जिस प्रकार से क्वेश्चन है कि आई इस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक था अपने लगा नकली नोट और आपका कुछ नहीं कि जैसे ही मतलब कि इसके आगे भी क्वेश्चन तभी बोला गया है कि एक क्या जब इंसान को आईएएस में सफलता नहीं मिलती है तो इस प्रकार से नकली नोट छापने से यूपीएससी के प्रेशर में पिस्ता जा रहा है भारतीय युवा देखिए मैं इसलिए मैं बताता हूं अगर कोई इंसान आईएएस परीक्षा में लॉन्च नहीं कर पाता नहीं पास हो पाता है तो उससे पहले पहले अपने अंदर पॉजिटिव फैसला कर देखें मतलब क्या इसके बाद में क्या आपके सामने कोई भी रास्ते नहीं देखे जाते जाते हैं क्या इसके बाद में आप आईएस नहीं कर पाए कोई बात नहीं है आप मीडिया एंकर में जा सकते थे आप तो टीचर से इतने सारे स्टेशन के लेबल है डिग्री कॉलेज टीचर इंटर कॉलेज टीचर और प्राइम मिनिस्टर दुनिया की सबसे अमेरिका प्रेशर कोई भी कोई भी पैसा नहीं करती कभी नहीं बोलता है कि प्रत्येक भारत का प्रत्येक युवा हमारे प्रेशर में आए उसको किसी प्रकार की कोई बाधा चाहती हूं लेकिन उसको पाने के लिए यह बचपन से ही सकते हैं कि मैं सुन लूंगा याद आऊंगा इस प्रकार से जो सपने रखते हैं तो इस बात से अगर आप चाहते हैं उस डिपार्टमेंट को आपसे बात नहीं कर पाते तीन बार चांस दिए गए हैं आप आइए एग्जाम देने गए फर्स्ट बाद में नहीं कर पाए तो तीन-तीन बार चांस आपके पास है अगर तीनों उसको उसको मतलब निकल पाया होगा तो उसके अंदर सबसे पहले अपने वार्ड में जो इतना बड़ा काम किया तो आपको कभी भी कोई काम करने की क्या कोई डिपार्टमेंट आपको अपने देश में नहीं करता है

dekhiye jis prakar se question hai ki I is pariksha mein safalta nahi mili toh yuvak tha apne laga nakli note aur aapka kuch nahi ki jaise hi matlab ki iske aage bhi question tabhi bola gaya hai ki ek kya jab insaan ko IAS mein safalta nahi milti hai toh is prakar se nakli note chapne se upsc ke pressure mein pista ja raha hai bharatiya yuva dekhiye main isliye main batata hoon agar koi insaan IAS pariksha mein launch nahi kar pata nahi paas ho pata hai toh usse pehle pehle apne andar positive faisla kar dekhen matlab kya iske baad mein kya aapke saamne koi bhi raste nahi dekhe jaate jaate hain kya iske baad mein aap ias nahi kar paye koi baat nahi hai aap media anchor mein ja sakte the aap toh teacher se itne saare station ke lebal hai degree college teacher inter college teacher aur prime minister duniya ki sabse america pressure koi bhi koi bhi paisa nahi karti kabhi nahi bolta hai ki pratyek bharat ka pratyek yuva hamare pressure mein aaye usko kisi prakar ki koi badha chahti hoon lekin usko paane ke liye yah bachpan se hi sakte hain ki main sun lunga yaad aaunga is prakar se jo sapne rakhte hain toh is baat se agar aap chahte hain us department ko aapse baat nahi kar paate teen baar chance diye gaye hain aap aaiye exam dene gaye first baad mein nahi kar paye toh teen teen baar chance aapke paas hai agar teenon usko usko matlab nikal paya hoga toh uske andar sabse pehle apne ward mein jo itna bada kaam kiya toh aapko kabhi bhi koi kaam karne ki kya koi department aapko apne desh mein nahi karta hai

देखिए जिस प्रकार से क्वेश्चन है कि आई इस परीक्षा में सफलता नहीं मिली तो युवक था अपने लगा न

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!