क्या भारत से भ्रष्टाचार कभी पूरी तरह ख़त्म हो पाएगा?...


user

N. K. SINGH 'Nitesh'

Educator, Life Coach, Writer and Expert in British English Language, Author of Book/Fiction Lucky Girl (Love vs Marriage)

4:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो पाएगा क्योंकि भारत के लोगों के संस्कृति में धीरे-धीरे समाहित होता है याद आ रहा है और बहुत हद तक वर्तमान सरकारों ने इस पर काम करना भी शुरू किया है और मुझे लगता है कि कुछ लेवल पर भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में सफलता प्राप्त हुई है लेकिन फिर भी यह रुका नहीं है तरीके बदल गए हैं और जब हंड्रेड परसेंट पैसे का डिस्टेबलाइजेशन हो जाए तब जाकर के इसमें 8% कमी आ सकती है हंड्रेड परसेंट फिर भी नहीं आए क्योंकि दूसरे तरीके बहुत सारे हैं अवैध मैं तो देखता हूं कि लोग भी चाहते हैं कि उनका काम जल्द से जल्द हो जाए और इसके लिए रिप्लाई देने में संकोच नहीं करते कहीं ना कहीं हम भी बढ़ावा दे रहे हैं इसको हम भी इसके लिए जिम्मेदार हैं सिर्फ लेने वाले ही जिम्मेदार नहीं है भ्रष्टाचार भ्रष्टाचार यदि आप अपने हिस्से की जिम्मेदारी अपने ऑफिस में नहीं पूरी कर रहे हैं बिल्कुल खत्म नहीं कर सकता और भारत में क्या कहीं भी नहीं खत्म किया जा सकता पैसों से संबंधित जब हंड्रेड परसेंट लीगलाइजेशन होगा तब मालूम चल जाएगा कि कौन मुद्रा या पैसा किस के अकाउंट में गया और किस के अकाउंट से आधार पर छानबीन बहुत ही प्रभावी तरीके से की जा सकती है लेकिन बिल्कुल खत्म तो नहीं हो सकता और मुझे लगता है कि आदि काल के आगे काल में भी लोग सामंतों के पास भी ले जाते थे छोटे जानवर ले जाते थे गिफ्ट देते थे यह क्या है राजाओं के पास जो राजा हमके पिया समझते थे या प्रांतों के जो अधिपति होते थे वह ले जाते तो मेरे ख्याल से भारत में क्या किसी भी देश में इसके पूर्ण समाप्ति कंफर्म नहीं है लेकिन आप इसको कट इस करके कंट्रोल जरूर कर सकते हैं और उसके किसी एक हिस्से पर कंट्रोल कर सके जैसा कि मैंने पैसे से संबंधित भ्रष्टाचार पर कहा कि आपका सर दूसरी चीजें जो छोटे कार्यालय हैं उनमें जिम्मेदारियां फिक्स करके ऐसा काम किया जा सकता है और देने वाला कभी आमने-सामने उसके भ्रष्टाचार कम हो जाएगा उस लेवल पर संभव नहीं हो पाएगा यदि आप कोई फॉर्म भरते हैं तो उसका कॉल लेटर आता है एडमिट कार्ड आता है क्योंकि अब पैसा जमा करते हैं और उसको होता है बीच में कोई में बिचौलिया नहीं है तो दिख जाता है यदि मान लीजिए कि आप कोई और फॉर्म भरते हैं जिसमें अपना आईडी प्रूफ लगाते हैं कमी होगी उधर से जवाब आएगी या फिर उसको पूरा करेंगे और आपका काम हो जाएगा क्योंकि इन दोनों में ऑफिस में जाना ना कम होगा कहीं न कहीं यह जो हमारी ऑनलाइन पद्धति है या भ्रष्टाचार को रोकने में मददगार साबित हो रही है और आगे भी साबित हो सकती है लेकिन हंड्रेड परसेंट खात्मा नहीं होगा फिर भी विश्वास है किसी भी चीज के बारे में पंडित क्वेश्चन वह भी नहीं सकते तो विश्वास रखिए कोशिश हो रही है और ईश्वर करें कि भारत से भ्रष्टाचार का खात्मा हो जाए तो यह भारत के नागरिकों के लिए सबसे सुख में दिन होगा धन्यवाद

ji nahi mujhe nahi lagta ki bharat mein bhrashtachar puri tarah se khatam ho payega kyonki bharat ke logo ke sanskriti mein dhire dhire samahit hota hai yaad aa raha hai aur bahut had tak vartaman sarkaro ne is par kaam karna bhi shuru kiya hai aur mujhe lagta hai ki kuch level par bhrashtachar par ankush lagane mein safalta prapt hui hai lekin phir bhi yah ruka nahi hai tarike badal gaye hain aur jab hundred percent paise ka distebalaijeshan ho jaaye tab jaakar ke isme 8 kami aa sakti hai hundred percent phir bhi nahi aaye kyonki dusre tarike bahut saare hain awaidh main toh dekhta hoon ki log bhi chahte hain ki unka kaam jald se jald ho jaaye aur iske liye reply dene mein sankoch nahi karte kahin na kahin hum bhi badhawa de rahe hain isko hum bhi iske liye zimmedar hain sirf lene waale hi zimmedar nahi hai bhrashtachar bhrashtachar yadi aap apne hisse ki jimmedari apne office mein nahi puri kar rahe hain bilkul khatam nahi kar sakta aur bharat mein kya kahin bhi nahi khatam kiya ja sakta paison se sambandhit jab hundred percent liglaijeshan hoga tab maloom chal jaega ki kaun mudra ya paisa kis ke account mein gaya aur kis ke account se aadhaar par chanbin bahut hi prabhavi tarike se ki ja sakti hai lekin bilkul khatam toh nahi ho sakta aur mujhe lagta hai ki aadi kaal ke aage kaal mein bhi log samanton ke paas bhi le jaate the chote janwar le jaate the gift dete the yah kya hai rajaon ke paas jo raja hamake piya samajhte the ya praaton ke jo adhipati hote the vaah le jaate toh mere khayal se bharat mein kya kisi bhi desh mein iske purn samapti confirm nahi hai lekin aap isko cut is karke control zaroor kar sakte hain aur uske kisi ek hisse par control kar sake jaisa ki maine paise se sambandhit bhrashtachar par kaha ki aapka sir dusri cheezen jo chote karyalay hain unmen zimmedariyan fix karke aisa kaam kiya ja sakta hai aur dene vala kabhi aamane saamne uske bhrashtachar kam ho jaega us level par sambhav nahi ho payega yadi aap koi form bharte hain toh uska call letter aata hai admit card aata hai kyonki ab paisa jama karte hain aur usko hota hai beech mein koi mein bichaulia nahi hai toh dikh jata hai yadi maan lijiye ki aap koi aur form bharte hain jisme apna id proof lagate hain kami hogi udhar se jawab aayegi ya phir usko pura karenge aur aapka kaam ho jaega kyonki in dono mein office mein jana na kam hoga kahin na kahin yah jo hamari online paddhatee hai ya bhrashtachar ko rokne mein madadgaar saabit ho rahi hai aur aage bhi saabit ho sakti hai lekin hundred percent khatma nahi hoga phir bhi vishwas hai kisi bhi cheez ke bare mein pandit question vaah bhi nahi sakte toh vishwas rakhiye koshish ho rahi hai aur ishwar kare ki bharat se bhrashtachar ka khatma ho jaaye toh yah bharat ke nagriko ke liye sabse sukh mein din hoga dhanyavad

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो पाएगा क्योंकि भारत के लो

Romanized Version
Likes  99  Dislikes    views  1946
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न क्या भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म हो पाएगा नहीं भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म नहीं हो पाएगा हम अपने आप को बदल कर दूसरों को अगर पकड़वाने की कोशिश करेंगे लोग हमें ही उड़ा देंगे हिम्मत करते हैं कि भ्रष्टाचार ओके लेकिन क्या होता है जॉब से निकाल देगी यह लोग वह भी खतरा रहता है खतरा रहता है कभी भ्रष्टाचारी नहीं होना बाकी दूसरों को जो करना है सो करो ठीक है अब इसमें क्या कर सकते हैं खुद की जॉब चली जाएगी तो इमानदारी से अपना काम करते हैं उसी में हम संतुष्ट है भारत का तो पता नहीं क्या होगा कब खत्म होगा भ्रष्टाचार शिष्टाचार होता ही रहता है ऐसे भी आंसर मिलता है ठीक है तो फिर ओके जो चलता है वह देख रहे हो धन्यवाद

aapka prashna kya bharat mein bhrashtachar puri tarah khatam ho payega nahi bharat mein bhrashtachar puri tarah khatam nahi ho payega hum apne aap ko badal kar dusro ko agar pakadavane ki koshish karenge log hamein hi uda denge himmat karte hain ki bhrashtachar ok lekin kya hota hai job se nikaal degi yah log vaah bhi khatra rehta hai khatra rehta hai kabhi bhrashtachaari nahi hona baki dusro ko jo karna hai so karo theek hai ab isme kya kar sakte hain khud ki job chali jayegi toh imaandari se apna kaam karte hain usi mein hum santusht hai bharat ka toh pata nahi kya hoga kab khatam hoga bhrashtachar shishtachar hota hi rehta hai aise bhi answer milta hai theek hai toh phir ok jo chalta hai vaah dekh rahe ho dhanyavad

आपका प्रश्न क्या भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म हो पाएगा नहीं भारत में भ्रष्टाचार पूरी

Romanized Version
Likes  356  Dislikes    views  4455
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे भारत से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा पूरी तरीके से लेकिन खत्म तभी हो पाएगा जब भारत के जो राजनेता हैं यह जो राजनीतिक पार्टियां हैं वह भ्रष्टाचार यह तो पाएंगे कि जिस तरीके से अरविंद केजरीवाल जी दिल्ली में काम कर रहे हैं भ्रष्टाचारी सरकार को लेकर आचार्य उनकी जो सरकार है पूरी तरीके से भ्रष्टाचार के खिलाफ है उनके उनकी सरकार में उनके राजपाट में एक भी भ्रष्टाचार नहीं हो पा रहा है अगर उस तरीके से ईमानदारी से सच्चाई से सभी राजनेता ईमानदारी से काम करती तो हकीकत में भारत में भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा अन्यथा यह बात सत्य है कि कभी भी भारत में भ्रष्टाचार नहीं खत्म होगा क्योंकि भारत में भ्रष्टाचार भारत की जड़ों में समय है क्या

mujhe bharat se bhrashtachar khatam ho jaega puri tarike se lekin khatam tabhi ho payega jab bharat ke jo raajneta hain yah jo raajnitik partyian hain vaah bhrashtachar yah toh payenge ki jis tarike se arvind kejriwal ji delhi mein kaam kar rahe hain bhrashtachaari sarkar ko lekar aacharya unki jo sarkar hai puri tarike se bhrashtachar ke khilaf hai unke unki sarkar mein unke rajpat mein ek bhi bhrashtachar nahi ho paa raha hai agar us tarike se imaandaari se sacchai se sabhi raajneta imaandaari se kaam karti toh haqiqat mein bharat mein bhrashtachar khatam ho jaega anyatha yah baat satya hai ki kabhi bhi bharat mein bhrashtachar nahi khatam hoga kyonki bharat mein bhrashtachar bharat ki jadon mein samay hai kya

मुझे भारत से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा पूरी तरीके से लेकिन खत्म तभी हो पाएगा जब भारत के जो

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1576
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

5:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की देश की जो राजनीतिक पार्टियों की हालत है जो आज के देशों में देश की अपील की कि राजनीतिज्ञों की मानसिकता है उसको देखकर कभी लगता है कि भारत स्वच्छ जीवन भर कभी भ्रष्टाचार समाप्त नहीं हो सकता है क्योंकि गवर्नर उठा ले रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार यीशु आपको कर्मचारियों पर बैठ जाएगी काम करने की मानसिकता नहीं है आप को निपटाने की पूरा करने की मानसिकता नहीं है और ना ही काम करते हैं तो पहले तो खीर करके जी करके रोते हुए काम करते हैं और प्रशासन स्तर के कर्मचारी भर्ती लिस्ट और रिश्वतखोरी भी है तो तुम प्रबंध घोटालों की बहुत ज्यादा को मिलेंगे आपको अच्छा फिर जनता भी कम नहीं जनता भ्रष्टाचार का मौका मिल रहा है बाबा श्री हरि है टैक्स पूरे नहीं देना चाहती है जाकर भी सरकारी कि हमको लावारिस दिया तो उठाकर ले जाते हैं तो मेरे विचार से इतनी गंदी मानसिकता हो सकता है कि नागरिकों में अपने देश के प्रति लगाव हो यह देश मेरा है इसका नुकसान नहीं होने देंगे इसकी हनी नहीं होने लगी आग जला सकता है कर्मचारी विस्ता पिला सकते हैं नजम तकरीर जैसे जापान देखिए जसीडीह जसीडीह से वहां के पति सर्वाधिक प्रेम लगन है पूछिए लिखता है और देश भक्ति देश भक्ति कहानी बहुत बढ़िया भाई लोगों का सफाया हो जाएगा तुमको लोग पुलिस लेकिन बसंत देशभक्ति का जज्बा जागी और जनता के नाम चर्चा करेंगे बैठक में पूरी करेंगे कंप्लीट गमन घोटाले जो लीटर करके उसकी कीमत तस्वीर की जान चली जाए तुम तो फिर आज एक बात ठीक है तू अरे हम आपकी परीक्षा सकता अलादीन के समय में अलाउद्दीन खिलजी ने देश में शासन किया दमन घोटाले रिश्वतखोरी 15057 देखने को मिलता था कर्मचारियों को मिलता जो कर्मचारी ऐसा करके उनको व्यापारी कौन थे उनका गद्दारी करते थे उनके हाथ उत्पादन किस देश की खोज अखबारों में घोटाले और विकसित सब आपको संडे को मिलेगा देखने को मिलेगा सबसे ज्यादा बहुत मुश्किल है मोदी जी क्या कर पाए नरेंद्र मोदी जी की बोसी के पास तो निजी संपत्ति क्या है यदि आप डॉक्टर कलाम से उनकी निजी संपत्ति है गंदगी तो इन नेताओं की है यह लोग अपने खून घोटाले करते हैं कि चाहते वाली औरतों को भी मेरे स्थान पर पोस्ट कर जाए मेरे नंबर निकाला जाए तुमको भी इसी प्रकार के चौकत राजा राजनीति में स्थापित कर जाए अपने पुत्र व पुत्रियों को यह तो सब बीकॉम के बाद जीवन का आदर्श पर 15 हो उस देश में भ्रष्टाचार के मामले की कोई आशा नहीं है

aaj ki desh ki jo raajnitik partiyon ki halat hai jo aaj ke deshon mein desh ki appeal ki ki rajaneetigyon ki mansikta hai usko dekhkar kabhi lagta hai ki bharat swachh jeevan bhar kabhi bhrashtachar samapt nahi ho sakta hai kyonki governor utha le rishwat khori aur bhrashtachar yeshu aapko karmachariyon par baith jayegi kaam karne ki mansikta nahi hai aap ko niptane ki pura karne ki mansikta nahi hai aur na hi kaam karte hain toh pehle toh kheer karke ji karke rote hue kaam karte hain aur prashasan sthar ke karmchari bharti list aur rishwat khori bhi hai toh tum prabandh ghotalo ki bahut zyada ko milenge aapko accha phir janta bhi kam nahi janta bhrashtachar ka mauka mil raha hai baba shri hari hai tax poore nahi dena chahti hai jaakar bhi sarkari ki hamko lawaris diya toh uthaakar le jaate hain toh mere vichar se itni gandi mansikta ho sakta hai ki nagriko mein apne desh ke prati lagav ho yah desh mera hai iska nuksan nahi hone denge iski honey nahi hone lagi aag jala sakta hai karmchari vista pila sakte hain najam takrir jaise japan dekhiye jasidih jasidih se wahan ke pati sarvadhik prem lagan hai puchiye likhta hai aur desh bhakti desh bhakti kahani bahut badhiya bhai logo ka safaya ho jaega tumko log police lekin basant deshbhakti ka jajba jaagi aur janta ke naam charcha karenge baithak mein puri karenge complete gaman ghotale jo litre karke uski kimat tasveer ki jaan chali jaaye tum toh phir aaj ek baat theek hai tu are hum aapki pariksha sakta alladin ke samay mein alauddin khilji ne desh mein shasan kiya daman ghotale rishwat khori 15057 dekhne ko milta tha karmachariyon ko milta jo karmchari aisa karke unko vyapaari kaun the unka gaddari karte the unke hath utpadan kis desh ki khoj akhbaron mein ghotale aur viksit sab aapko sunday ko milega dekhne ko milega sabse zyada bahut mushkil hai modi ji kya kar paye narendra modi ji ki bosi ke paas toh niji sampatti kya hai yadi aap doctor kalam se unki niji sampatti hai gandagi toh in netaon ki hai yah log apne khoon ghotale karte hain ki chahte wali auraton ko bhi mere sthan par post kar jaaye mere number nikaala jaaye tumko bhi isi prakar ke chaukat raja raajneeti mein sthapit kar jaaye apne putra va putriyon ko yah toh sab B.COM ke baad jeevan ka adarsh par 15 ho us desh mein bhrashtachar ke mamle ki koi asha nahi hai

आज की देश की जो राजनीतिक पार्टियों की हालत है जो आज के देशों में देश की अपील की कि राजनीति

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1246
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या भारत से भ्रष्टाचार कभी पूरी तरह खत्म हो पाएगा आशा बहुत बड़ी चीज है हमें आशा नहीं करनी चाहिए हमेशा आगे बढ़ाने का प्रयास करता है हमारी जो हमारी मानसिकता है भ्रष्टाचार में लिप्त और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाली है लोग जो सरकारी अधिकारी है जिनके पास पावर है वह जल्दी से ऐसे वाले बनना चाहते हैं सैलरी के उपरांत और जो आम जनता है वह जल्दी से अपना काम निकलवाना चाहते हैं किसी को राह नहीं देखनी है बस जल्दी से मेरा काम हो जाए प्ले देखे काम हो गया मैं सजा से बच्चा हूं मैं पेनल्टी से बच्चा हूं बस मैं थोड़ा सा दे केमिकल जाऊं ठीक जी जो मनोभाव हमारे देश में नहीं है कहीं कहीं यह है यह वैश्विक समस्या है लेकिन हम अपने से भारत देश के बात करते हैं तो भारत की आम जनता इतनी ज्यादा है और उसमें से पर्सेंट यानी कि कम से कम मोरधन 50% लोग भ्रष्टाचार को स्वीकार करते हैं और बढ़ा देते हैं पेंसिल से मतलब है कि लोग बस निकल जाना चाहते हैं थोड़ा सा ले देखे और जो जिसके पास पावर सेवर लेना चाहते हैं कि मेरी आर्थिक हालत अच्छी इसलिए बहुत जल्दी नजदीकी पुलिस में भ्रष्टाचार को खत्म नहीं कर पाएंगे पाकिस्तान में लेकिन इतने निकट निकल जाएंगे यह कहा नहीं जा सकता लेकिन ऐसा मत है हमें आशा कुर्सी करनी चाहिए

kya bharat se bhrashtachar kabhi puri tarah khatam ho payega asha bahut badi cheez hai hamein asha nahi karni chahiye hamesha aage badhane ka prayas karta hai hamari jo hamari mansikta hai bhrashtachar mein lipt aur bhrashtachar ko badhawa dene wali hai log jo sarkari adhikari hai jinke paas power hai vaah jaldi se aise waale bana chahte hain salary ke uprant aur jo aam janta hai vaah jaldi se apna kaam nikalwana chahte hain kisi ko raah nahi dekhni hai bus jaldi se mera kaam ho jaaye play dekhe kaam ho gaya main saza se baccha hoon main penalty se baccha hoon bus main thoda sa de chemical jaaun theek ji jo manobhaav hamare desh mein nahi hai kahin kahin yah hai yah vaishvik samasya hai lekin hum apne se bharat desh ke baat karte hain toh bharat ki aam janta itni zyada hai aur usme se percent yani ki kam se kam moradhan 50 log bhrashtachar ko sweekar karte hain aur badha dete hain pencil se matlab hai ki log bus nikal jana chahte hain thoda sa le dekhe aur jo jiske paas power sevar lena chahte hain ki meri aarthik halat achi isliye bahut jaldi najdiki police mein bhrashtachar ko khatam nahi kar payenge pakistan mein lekin itne nikat nikal jaenge yah kaha nahi ja sakta lekin aisa mat hai hamein asha kursi karni chahiye

क्या भारत से भ्रष्टाचार कभी पूरी तरह खत्म हो पाएगा आशा बहुत बड़ी चीज है हमें आशा नहीं करनी

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1406
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आपका पोस्टिंग है क्या भारत से भ्रष्टाचार कभी पूरी तरह खत्म पाएगा दोस्तों हमें नहीं लगता है कि भारत देश से पूरी तरह खत्म हो सकता है लेकिन हां अगर आज के युवा और व्यक्ति सोचें अपने घर से स्टार्ट करें हर एक आसपास गांव में कस्बे में सब जगह एक बड़े तौर पर भारत में भाषा जारी खत्म हो सकता है जनता आज की युवा खत्म करेंगे तभी जो और बड़े-बड़े लोग बैठे हैं सरकार में या कहीं प्राइवेट में तो वह भी खत्म हो सकता है थैंक यू

hello doston aapka posting hai kya bharat se bhrashtachar kabhi puri tarah khatam payega doston hamein nahi lagta hai ki bharat desh se puri tarah khatam ho sakta hai lekin haan agar aaj ke yuva aur vyakti sochen apne ghar se start kare har ek aaspass gaon mein kasbe mein sab jagah ek bade taur par bharat mein bhasha jaari khatam ho sakta hai janta aaj ki yuva khatam karenge tabhi jo aur bade bade log baithe hain sarkar mein ya kahin private mein toh vaah bhi khatam ho sakta hai thank you

हेलो दोस्तों आपका पोस्टिंग है क्या भारत से भ्रष्टाचार कभी पूरी तरह खत्म पाएगा दोस्तों हमें

Romanized Version
Likes  144  Dislikes    views  894
WhatsApp_icon
user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि क्या भारत से भ्रष्टाचार कमी पूरी तरह खत्म हो जाएगा मित्र अच्छाई और बुराई धर्म और अधर्म सदाचरण और कदाचार के परस्पर पूरक है भ्रष्टाचार क्या है कमरे जो नियम बने हैं हमारे की मान्यताएं स्थापित है हमारी परंपराएं स्थापित किए उसके अनुसार हम चले तो सदाचार और उसकी अवहेलना करें तो भ्रष्टाचार और जिंदगी में सफलता प्राप्त करने के लिए आदमी दोनों का सहारा लेता है और एक बार कोई चीज स्थापित हो जाती है ना तो उसे जड़ से खत्म करना बहुत कठिन होता है तो हमारे देश में भ्रष्टाचार जो है वह इतने बुरे ढंग से स्थापित हो गया है कि हम अभिशेष सर्वथा मुक्त हो जाएगा ना कटे लरूप तो लगा सकते हैं पुराने समय को देखेंगे तो पुराने समय में भी भ्रष्टाचार था आज भी है और शायद कल भी रहेगा मर्यादा पुरुषोत्तम राम जैसे व्यक्ति ने सुग्रीव की मदद से बाली को जब मारा तो अनुचित तरीके से मारा ऐसा लिखा गया है तो इसलिए ध्यान रखेंगे भ्रष्टाचार जो है आदमी के जीवन संघर्ष का एक हिस्सा और मेरे विचार से इससे रूप तो भले लग जाए लेकिन अभिषेक खत्म करना तो बड़ा मुश्किल है और उसका पति की जगह कोई समस्या निरंतर बढ़ रही होगी कि बड़ा पल्लवित और पुष्पित हो रहा है तो लास्ट में ही देंगे आगे आगे देखिए होता है क्या

aapka prashna hai ki kya bharat se bhrashtachar kami puri tarah khatam ho jaega mitra acchai aur burayi dharm aur adharma sadacharan aur kadachar ke paraspar purak hai bhrashtachar kya hai kamre jo niyam bane hain hamare ki manyatae sthapit hai hamari paramparayen sthapit kiye uske anusaar hum chale toh sadachar aur uski avhelna kare toh bhrashtachar aur zindagi mein safalta prapt karne ke liye aadmi dono ka sahara leta hai aur ek baar koi cheez sthapit ho jaati hai na toh use jad se khatam karna bahut kathin hota hai toh hamare desh mein bhrashtachar jo hai vaah itne bure dhang se sthapit ho gaya hai ki hum abhishesh sarvatha mukt ho jaega na kate larup toh laga sakte hain purane samay ko dekhenge toh purane samay mein bhi bhrashtachar tha aaj bhi hai aur shayad kal bhi rahega maryada purushottam ram jaise vyakti ne sugreev ki madad se baali ko jab mara toh anuchit tarike se mara aisa likha gaya hai toh isliye dhyan rakhenge bhrashtachar jo hai aadmi ke jeevan sangharsh ka ek hissa aur mere vichar se isse roop toh bhale lag jaaye lekin abhishek khatam karna toh bada mushkil hai aur uska pati ki jagah koi samasya nirantar badh rahi hogi ki bada pallavit aur pushpit ho raha hai toh last mein hi denge aage aage dekhiye hota hai kya

आपका प्रश्न है कि क्या भारत से भ्रष्टाचार कमी पूरी तरह खत्म हो जाएगा मित्र अच्छाई और बुराई

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  264
WhatsApp_icon
user
0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह से कभी खत्म नहीं हो सकती है आए दिन हजार गुना होते हैं तुम किस हद तक कम कर सकते हैं इस पर रोक लगा सकते हैं कुछ हद तक

bharat mein bhrashtachar puri tarah se kabhi khatam nahi ho sakti hai aaye din hazaar guna hote hain tum kis had tak kam kar sakte hain is par rok laga sakte hain kuch had tak

भारत में भ्रष्टाचार पूरी तरह से कभी खत्म नहीं हो सकती है आए दिन हजार गुना होते हैं तुम किस

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भौतिक दुनिया में किसी भी चीज को 100% करना असंभव है भ्रष्टाचार को 100% लाना असंभव है ईमानदारी को शपथ लाना संभव है तो मैं तो यह कहना चाहूंगा उसको कम किया जा सकता है काफी हद तक खत्म किया जा सकता है काफी हद तक पूरी तरह नहीं काफी हद तक भ्रष्टाचार की शुरुआत करते हैं तो प्रॉब्लम से शुरू होती हमें टिकट देना है और ट्रेन का ट्रेन आने वाली है तब किसी को ₹10 चुका कर टिकट ले लेते हैं यदि भ्रष्टाचार की श्रेणी में आता हम इस चीज को खत्म कर सके तू ही बता सकता इसके लिए हमें एक पंचर बनना पड़ेगा हमें डिस्प्रिन बनना पड़ेगा हम पंक्चुअलिटी इन बन जाएंगे जुगाड़ वाले जीजा छोड़ देंगे किसी को पैसे देकर ट्रांसफर कराना अपना या कोई आपसे पैसे ले रहा है आपकी जॉइनिंग करवाने के लिए एकदम से सफल नहीं होती तो धीरे-धीरे समाज में एकदम से नहीं आता धीरे-धीरे आता है तो जब वह परिवर्तन एक जगह से शुरू होगा तो मुझे लगता है कि काफी हद तक देश से भ्रष्टाचार कम हो जाएगा आपको क्या लगता है अपने कमेंट सेक्शन में जा बताइए धन्यवाद

dekhiye bhautik duniya mein kisi bhi cheez ko 100 karna asambhav hai bhrashtachar ko 100 lana asambhav hai imaandaari ko shapath lana sambhav hai toh main toh yah kehna chahunga usko kam kiya ja sakta hai kaafi had tak khatam kiya ja sakta hai kaafi had tak puri tarah nahi kaafi had tak bhrashtachar ki shuruat karte hain toh problem se shuru hoti hamein ticket dena hai aur train ka train aane wali hai tab kisi ko Rs chuka kar ticket le lete hain yadi bhrashtachar ki shreni mein aata hum is cheez ko khatam kar sake tu hi bata sakta iske liye hamein ek puncher banna padega hamein disprin banna padega hum pankchualiti in ban jaenge jugaad waale jija chod denge kisi ko paise dekar transfer krana apna ya koi aapse paise le raha hai aapki joining karwane ke liye ekdam se safal nahi hoti toh dhire dhire samaj mein ekdam se nahi aata dhire dhire aata hai toh jab vaah parivartan ek jagah se shuru hoga toh mujhe lagta hai ki kaafi had tak desh se bhrashtachar kam ho jaega aapko kya lagta hai apne comment section mein ja bataye dhanyavad

देखिए भौतिक दुनिया में किसी भी चीज को 100% करना असंभव है भ्रष्टाचार को 100% लाना असंभव है

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1032
WhatsApp_icon
user

Subash Jaiswal

Social Worker

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है क्या भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म हो पाएगा तो मैं यह कह सकता हूं मैं एक्सीडेंट हुए मेन कनफ्लिक्ट मैनेजमेंट एंड में क्या पूरी तरह कॉन्प्लेक्स को खत्म किया जा सकता है उसमें जवाब था मैं इसका भी जवाब पूरी तरह खत्म किया जा सकता है मैं बोलता हूं नहीं बस इसको केवल मैक्सिमाइज और निर्माण किया जा सकता है अगर एजुकेटेड पर्सन होंगे अगर शिक्षित परेशान होंगे लोग जागरूक होंगे इस को पूरी तरह तो नहीं कर सकते लेकिन बहुत हद तक काबू किया जा सकता है भ्रष्टाचार को चुनती है जनता की सरकार बनाती है तो वह अगर स्थित है वह भ्रष्टाचार को बहुत हद तक मिनिमाइज कर सकते हैं और शांति को ला सकते

aapka question hai kya bhrashtachar puri tarah khatam ho payega toh main yah keh sakta hoon main accident hue main kanaflikt management and mein kya puri tarah kanpleks ko khatam kiya ja sakta hai usme jawab tha main iska bhi jawab puri tarah khatam kiya ja sakta hai bolta hoon nahi bus isko keval maiksimaij aur nirmaan kiya ja sakta hai agar educated person honge agar shikshit pareshan honge log jagruk honge is ko puri tarah toh nahi kar sakte lekin bahut had tak kabu kiya ja sakta hai bhrashtachar ko chunati hai janta ki sarkar banati hai toh vaah agar sthit hai vaah bhrashtachar ko bahut had tak minimaij kar sakte hain aur shanti ko la sakte

आपका क्वेश्चन है क्या भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म हो पाएगा तो मैं यह कह सकता हूं मैं एक्सीडें

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
play
user

Kumar

Social Worker

0:33

Likes  27  Dislikes    views  550
WhatsApp_icon
user

Yogendar. Singh

Shire,Ram,Haiyedro,6376439283

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भ्रष्टाचार यह बहुत है पड़ा ममता है भ्रष्टाचार कौन करता है भ्रष्टाचार हम और तुम लोग करते हैं जब तक हमारी और तुम्हारी भावना नहीं बदलेगी तब तक भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा जिस दिन तुम्हारी हमारी भावना यह बदल जाएगी कि कभी आपको कोई काम पड़ा किसी अफसर के पास गए और उसको बोला टाइम नहीं है तो आप बोलो सर ₹200 लो मेरा काम कर दो वो ले लिया काम कर दिया तो इसमें प्रस्ताव रख कौन रात दोनों रहा देने वाला भी और लेने वाला भी जब तक देने वाले की सोच नहीं बदलेगी जब तक यह भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा हम सबको अपनी सोच बदलनी चाहिए और अगर ऐसा होता है कहीं कोई रिश्वत मांगता है कुछ करता है तो तुरंत किसी हेड ऑफिस से कांटेक्ट करना चाहिए या फिर चले गांव शहरों के अंदर पुलिस लाइन होता है पुलिस से संबंध करना चाहिए और उनको बोलना चाहिए क्या भाई ऐसा क्या बात है भ्रष्टाचार को रोकने के लिए ऑन फारेस्ट करेगी भ्रष्टाचार सभी रोकेगा जब हम औरतों में ऐड हो जाएंगे हमारी तुम्हारी भावना अंदर की भावना को जगाना पड़ेगा तभी भ्रष्टाचार खत्म होगा

bhrashtachar yah bahut hai pada mamata hai bhrashtachar kaun karta hai bhrashtachar hum aur tum log karte hain jab tak hamari aur tumhari bhavna nahi badalegi tab tak bhrashtachar khatam nahi hoga jis din tumhari hamari bhavna yah badal jayegi ki kabhi aapko koi kaam pada kisi officer ke paas gaye aur usko bola time nahi hai toh aap bolo sir Rs lo mera kaam kar do vo le liya kaam kar diya toh isme prastaav rakh kaun raat dono raha dene vala bhi aur lene vala bhi jab tak dene waale ki soch nahi badalegi jab tak yah bhrashtachar khatam nahi hoga hum sabko apni soch badalni chahiye aur agar aisa hota hai kahin koi rishwat mangta hai kuch karta hai toh turant kisi head office se Contact karna chahiye ya phir chale gaon shaharon ke andar police line hota hai police se sambandh karna chahiye aur unko bolna chahiye kya bhai aisa kya baat hai bhrashtachar ko rokne ke liye on farest karegi bhrashtachar sabhi rokega jab hum auraton mein aid ho jaenge hamari tumhari bhavna andar ki bhavna ko jagaana padega tabhi bhrashtachar khatam hoga

भ्रष्टाचार यह बहुत है पड़ा ममता है भ्रष्टाचार कौन करता है भ्रष्टाचार हम और तुम लोग करते

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

mr. Uv

Photographer+Engineering Student

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए लोगों की सोच पर निर्भर करता है जिस दिन पर इंडिया के लोगों की सोच भ्रष्टाचार के खिलाफ हो जाएगी खत्म हो जाएगा

dekhiye logo ki soch par nirbhar karta hai jis din par india ke logo ki soch bhrashtachar ke khilaf ho jayegi khatam ho jaega

देखिए लोगों की सोच पर निर्भर करता है जिस दिन पर इंडिया के लोगों की सोच भ्रष्टाचार के खिला

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Captain_0

Social Worker

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि प्रश्न भारत में विश्व से कभी पूरी तरह खत्म हो सकता है ऐसा डिपार्टमेंट तरबूज में उसके छोटे-छोटे बीज होते हैं अगर मान कर चले हम पूरे सिस्टम लाइक जैसे अगर पूरा सिस्टम में पूरा सिस्टम में जो बीच भ्रष्टाचार ले लेते हैं और 20 नहीं होंगे बट हम चाहे कि तरबूज को बिना बीज के उपाय पर यह पॉसिबल मेरा कहने का जड़ से नहीं मिटाया जा सकता है भोजपुरी चिंटू जाएगी अगर हम धीरे-धीरे पूरी तरह तो नहीं कहूंगा कुछ खत्म किया जा सकता

jaisa ki prashna bharat mein vishwa se kabhi puri tarah khatam ho sakta hai aisa department tarabuj mein uske chhote chhote beej hote hain agar maan kar chale hum poore system like jaise agar pura system mein pura system mein jo beech bhrashtachar le lete hain aur 20 nahi honge but hum chahen ki tarabuj ko bina beej ke upay par yah possible mera kehne ka jad se nahi mitaya ja sakta hai bhojpuri chintu jayegi agar hum dhire dhire puri tarah toh nahi kahunga kuch khatam kiya ja sakta

जैसा कि प्रश्न भारत में विश्व से कभी पूरी तरह खत्म हो सकता है ऐसा डिपार्टमेंट तरबूज में उस

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!