पढ़ने में मन क्यों नहीं लगता है?...


user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

3:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने प्रश्न किया कि पढ़ने में मन क्यों नहीं लगता है तो इसके जवाब में मैं यह कहना चाहूंगा कि व्यक्ति का पढ़ने में मन इसलिए नहीं लगता क्योंकि उसको पढ़ाई में कुछ मीनिंग फुलकारी नहीं दिखाई पड़ता है बच्चा जो है पढ़ाई इसलिए करता है कि उसे एग्जाम पास हो ना हो और करना होता है वह कभी भी पढ़ाई इसलिए नहीं करता कि उसे नॉलेज अगेन करना है उसे उस सब्जेक्ट की नॉलेज लेनी है जिस समय अगर आप नॉलेज लेने के लिए पढ़ाई करना शुरू कर देंगे तो आप यह पाएंगी कोई भी विषय पढ़ने में आप बोर नहीं हो रहे हैं और उसमें बिलकुल आपका मन लगने लगेगा तो इस चीज को थोड़ा सा नजरिया बदलने की जरूरत है दूसरी चीज अगर आप अपने self-study को बढ़ाना चाहते हैं तो 1 दिन में बहुत ज्यादा पढ़ने का प्रयास मत करिए उससे क्या होता है कि फिर बाद में बिल्कुल मन हट जाता है पढ़ाई से इसके लिए आप करिए कि पहले 1 घंटे से आप शुरुआत करिए एक टाइम फिक्स कर लीजिए उस समय आप पढ़ाई पर बैठ जाइए और उस समय जो पढ़ाई स्टार्ट करिए वह आपका अपना मनपसंद विषय हो जिस विषय में आपका बड़ा इंटरेस्ट हो उस सब्जेक्ट क्या पढ़ाई कर सकते हैं धीरे-धीरे करके 2 दिन 3 दिन के बाद आप उस समय को बढ़ा सकते हैं 1 घंटे से डेढ़ घंटे 2 घंटे कर सकते हैं इस तरीके से धीरे-धीरे आप यह निश्चित कर लें कि प्रतिदिन आपको उतने घंटे तो जरूर पढ़ाई करना है अगर उससे थोड़ा बहुत ज्यादा भी कर पा रहे हैं तो कर लीजिए लेकिन उतना घंटे तो आपको निश्चित तौर से करना है अगर आप यही कार्य 20 से 25 दिन अगर लगातार करेंगे तो आप पाएंगे कि आप कम से कम 5 से 6 घंटे की सेल्फ स्टडी कर पा रहे हैं और इस तरीके से अगर आप लंबी स्टडी करेंगे तो आप पाएंगे कि आपका मन जो है वह फोकस हो हो पा रहा है यानी कि जो आपके ब्रेन की कंडीशनिंग है पढ़ाई को लेकर पूरी तरह से हो चुकी है ऐसी दशा में आपका मन अपने आप फोकस हो जाएगा क्योंकि जब उस टाइम पर आप पढ़ने बैठेंगे तो अपने आप आपका ध्यान केंद्रित हो जाएगा अगर इस तरीके से टाइम मैनेजमेंट के साथ आप स्टडी करेंगे तो निश्चित तौर से आपका पढ़ाई में मन लगेगा और आप और भी सारे कार्य कर पाएंगे और जिस समय आपका पढ़ाई में मन लगने लगेगा और आप पढ़ाई मन लगाकर करेंगे तो निश्चित तौर से जानिए परीक्षा का परिणाम जो भी हो लेकिन कहीं ना कहीं आप हमेशा एक सकारात्मक बने रहेंगे और आपके अंदर एक बहुत खुशी रहेगी क्योंकि व्यक्ति को जीवन में सबसे बड़ी खुशी इससे मिलती है कि उसको जो कार्य दिया गया है जो कार्य करना है उसको इमानदारी से अगर कर रहा है तो उसको उस चीज में बहुत ज्यादा खुशी मिलती है और ध्यान रखिए जिस दिन जिस क्षण से आप अपनी नजर में अच्छी पढ़ाई करने लगेंगे आप अपने आप देखेंगे कि आप बहुत खुश महसूस कर रहे हैं और जब आप खुश होकर की कोई कार्य करेंगे तो निश्चित तौर से आप बहुत कामयाबी हासिल करेंगे आप जीवन में बहुत कामयाब हो मेरी बहुत सारी शुभकामनाएं आपके साथ बहुत धन्यवाद

aap ne prashna kiya ki padhne mein man kyon nahi lagta hai toh iske jawab mein main yah kehna chahunga ki vyakti ka padhne mein man isliye nahi lagta kyonki usko padhai mein kuch meaning phulkari nahi dikhai padta hai baccha jo hai padhai isliye karta hai ki use exam paas ho na ho aur karna hota hai vaah kabhi bhi padhai isliye nahi karta ki use knowledge again karna hai use us subject ki knowledge leni hai jis samay agar aap knowledge lene ke liye padhai karna shuru kar denge toh aap yah paayengi koi bhi vishay padhne mein aap bore nahi ho rahe hain aur usme bilkul aapka man lagne lagega toh is cheez ko thoda sa najariya badalne ki zarurat hai dusri cheez agar aap apne self study ko badhana chahte hain toh 1 din mein bahut zyada padhne ka prayas mat kariye usse kya hota hai ki phir baad mein bilkul man hut jata hai padhai se iske liye aap kariye ki pehle 1 ghante se aap shuruat kariye ek time fix kar lijiye us samay aap padhai par baith jaiye aur us samay jo padhai start kariye vaah aapka apna manpasand vishay ho jis vishay mein aapka bada interest ho us subject kya padhai kar sakte hain dhire dhire karke 2 din 3 din ke baad aap us samay ko badha sakte hain 1 ghante se dedh ghante 2 ghante kar sakte hain is tarike se dhire dhire aap yah nishchit kar le ki pratidin aapko utne ghante toh zaroor padhai karna hai agar usse thoda bahut zyada bhi kar paa rahe hain toh kar lijiye lekin utana ghante toh aapko nishchit taur se karna hai agar aap yahi karya 20 se 25 din agar lagatar karenge toh aap payenge ki aap kam se kam 5 se 6 ghante ki self study kar paa rahe hain aur is tarike se agar aap lambi study karenge toh aap payenge ki aapka man jo hai vaah focus ho ho paa raha hai yani ki jo aapke brain ki Conditioning hai padhai ko lekar puri tarah se ho chuki hai aisi dasha mein aapka man apne aap focus ho jaega kyonki jab us time par aap padhne baitheange toh apne aap aapka dhyan kendrit ho jaega agar is tarike se time management ke saath aap study karenge toh nishchit taur se aapka padhai mein man lagega aur aap aur bhi saare karya kar payenge aur jis samay aapka padhai mein man lagne lagega aur aap padhai man lagakar karenge toh nishchit taur se janiye pariksha ka parinam jo bhi ho lekin kahin na kahin aap hamesha ek sakaratmak bane rahenge aur aapke andar ek bahut khushi rahegi kyonki vyakti ko jeevan mein sabse badi khushi isse milti hai ki usko jo karya diya gaya hai jo karya karna hai usko imaandari se agar kar raha hai toh usko us cheez mein bahut zyada khushi milti hai aur dhyan rakhiye jis din jis kshan se aap apni nazar mein achi padhai karne lagenge aap apne aap dekhenge ki aap bahut khush mehsus kar rahe hain aur jab aap khush hokar ki koi karya karenge toh nishchit taur se aap bahut kamyabi hasil karenge aap jeevan mein bahut kamyab ho meri bahut saree subhkamnaayain aapke saath bahut dhanyavad

आप ने प्रश्न किया कि पढ़ने में मन क्यों नहीं लगता है तो इसके जवाब में मैं यह कहना चाहूंगा

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  489
KooApp_icon
WhatsApp_icon
13 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!