क्यूँ हो रही है मल्लापुरम में हो रही पीएम मोदी-शी जिनपिंग मुलाकात?...


play
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

0:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो विदेशों की डिप्लोमेसी की बातें हैं जो इंटरनल होती सीक्रेट होती है तब तो पता चलेगा हमें पता चले किया जा सकता है गवर्नमेंट की पॉलिसी हमें उस पर ध्यान देते हुए अपने कार्य को आगे बढ़ाना है हमारे लिए कितनी चीजें सही है और कितनी किसी गलत है

do videshon ki diplomacy ki batein hain jo internal hoti secret hoti hai tab toh pata chalega hamein pata chale kiya ja sakta hai government ki policy hamein us par dhyan dete hue apne karya ko aage badhana hai hamare liye kitni cheezen sahi hai aur kitni kisi galat hai

दो विदेशों की डिप्लोमेसी की बातें हैं जो इंटरनल होती सीक्रेट होती है तब तो पता चलेगा हमें

Romanized Version
Likes  145  Dislikes    views  1814
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों हो रही है मल्लपुरम में हो रही पीएम मोदी जी जिनपिंग मुलाकात हो रही है मुलाकात आगे क्या करना है डाउनलोड डायलॉग क्या करनी है हर तरह के मामले में बातचीत हो रही है और अच्छी बात है

kyon ho rahi hai mallapuram mein ho rahi pm modi ji jinping mulakat ho rahi hai mulakat aage kya karna hai download dialogue kya karni hai har tarah ke mamle mein batchit ho rahi hai aur achi baat hai

क्यों हो रही है मल्लपुरम में हो रही पीएम मोदी जी जिनपिंग मुलाकात हो रही है मुलाकात आगे क्य

Romanized Version
Likes  263  Dislikes    views  5659
WhatsApp_icon
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केरल के महाबलेश्वर महाबलीपुरम में पीएम मोदी और से जिनपिंग की वित्तीय शिखर वार्ता हो रही है पहले भारत और चीन चीन चीन चीन की मुलाकात चाइना में हुई थी और अभी दूसरी बार इस वर्ष भारत के अंदर हो रही है समय-समय पर अपने आप को बढ़ाने के लिए इस प्रकार की सेवा करते रहते हैं उसी कड़ी में

kerala ke mahabaleshwar Mahabalipuram mein pm modi aur se jinping ki vittiy shikhar varta ho rahi hai pehle bharat aur china china china china ki mulakat china mein hui thi aur abhi dusri baar is varsh bharat ke andar ho rahi hai samay samay par apne aap ko badhane ke liye is prakar ki seva karte rehte hain usi kadi mein

केरल के महाबलेश्वर महाबलीपुरम में पीएम मोदी और से जिनपिंग की वित्तीय शिखर वार्ता हो रही है

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1568
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों हो रही है मल्लापुरम महाबलीपुरम में पीएम मोदी और से चलती थी मुलाकात मोदी जी मुकुल तोड़कर शी जिनपिंग को रिसीव करने दिए जाने वाले हैं और वे होंगे इसके बाद महाबलीपुरम में उनकी मुलाकात होने वाली इस बैठक के एजेंडे में परस्पर जो समझौता मुझे स्टर्लिंग क्योंकि दोनों देशों को एक दूसरे की जरूरत है क्योंकि अमेरिका टैगोर की वजह से चीन समय भारत की जरूरत है और भारत को कश्मीर समस्या की वजह से भी तरह से पूरे विश्व के देशों पर सरकार मिला उससे चिंता भी अगर सरकार मिले तो आतंकवाद को लगाम लगाया जा सकता इसके अलावा जो है वह चीन और भारत के बीच अगर होता है तो इससे दोनों देशों को काफी फायदा हो सकता है वैसे भारत आने के पहले क्लियर कर दिया था मिस्टेटमेंट कि वह कश्मीर समस्या के जो बात है वह भारत और पाकिस्तान को मिलकर आपस में बात तो करते हैं समझौता करके और वह समझने का सलूशन निकालना चाहिए क्योंकि अगर वह पाकिस्तान की तरफ से अगर वह बात सीजन 3 अगर करते तो हम भी हांगकांग की जो समझते हैं जिनकी जो वहां पर अत्याचार कर रहे हैं तो उसके बारे में भी हम आनंद मोदी साहब बोल सकते और मुसलमानों के ऊपर कोई अगर यह बात आती कि मुसलमानों के ऊपर कोई अत्याचार हो रहा है धार्मिक बातों को लेकर वर्तमान में सी जिनपिंग की चाइना में हुई कर मुसलमानों के ऊपर भी बहुत ही अत्याचार हो रहे हैं और उसके बारे में नवंबर पंच बोलता है नहीं वहां की सरकार किसी को जबरदस्ती इसलिए यह सब बातों को अनोखी शैली बात थी लोग हो सकता है लेकिन जो ऑफिशियल एजेंडा होगा वह परम पर व्यापार समझौता ही होगा समस्याएं तो काफी होती है और चीन के साथ भारत की को काफी समय से आते हैं सीमा विवाद हो या कभी-कभी मुझे सिर्फ तुम याद नहीं है लेकिन बार-बार सीमा पर चीनी सैनिक घुस आते हैं वॉलपेपर आदमी और बाद में वापस चले जाते हैं यह सब बातें होती है आप सही चीज की भी हो सकता है कि भविष्य में वह भी एक कला बने लेकिन फिलहाल महाबलीपुरम में दो एजेंडा होगा उनका व्यापार समझौते को मध्य नजर रखते हुए उसी पर विस्तृत चर्चा की है कि ऐसा मेरा विश्वास है धन्यवाद और बहुत सारी शुभकामनाएं

kyon ho rahi hai mallapuram Mahabalipuram mein pm modi aur se chalti thi mulakat modi ji mukul todkar shi jinping ko receive karne diye jaane waale hain aur ve honge iske baad Mahabalipuram mein unki mulakat hone wali is baithak ke agent mein paraspar jo samjhauta mujhe sterling kyonki dono deshon ko ek dusre ki zarurat hai kyonki america tagore ki wajah se china samay bharat ki zarurat hai aur bharat ko kashmir samasya ki wajah se bhi tarah se poore vishwa ke deshon par sarkar mila usse chinta bhi agar sarkar mile toh aatankwad ko lagaam lagaya ja sakta iske alava jo hai vaah china aur bharat ke beech agar hota hai toh isse dono deshon ko kaafi fayda ho sakta hai waise bharat aane ke pehle clear kar diya tha mistetament ki vaah kashmir samasya ke jo baat hai vaah bharat aur pakistan ko milkar aapas mein baat toh karte hain samjhauta karke aur vaah samjhne ka salution nikalna chahiye kyonki agar vaah pakistan ki taraf se agar vaah baat season 3 agar karte toh hum bhi hongkong ki jo samajhte hain jinki jo wahan par atyachar kar rahe hain toh uske bare mein bhi hum anand modi saheb bol sakte aur musalmanon ke upar koi agar yah baat aati ki musalmanon ke upar koi atyachar ho raha hai dharmik baaton ko lekar vartaman mein si jinping ki china mein hui kar musalmanon ke upar bhi bahut hi atyachar ho rahe hain aur uske bare mein november punch bolta hai nahi wahan ki sarkar kisi ko jabardasti isliye yah sab baaton ko anokhi shaili baat thi log ho sakta hai lekin jo official agenda hoga vaah param par vyapar samjhauta hi hoga samasyaen toh kaafi hoti hai aur china ke saath bharat ki ko kaafi samay se aate hain seema vivaad ho ya kabhi kabhi mujhe sirf tum yaad nahi hai lekin baar baar seema par chini sainik ghus aate hain wallpaper aadmi aur baad mein wapas chale jaate hain yah sab batein hoti hai aap sahi cheez ki bhi ho sakta hai ki bhavishya mein vaah bhi ek kala bane lekin filhal Mahabalipuram mein do agenda hoga unka vyapar samjhaute ko madhya nazar rakhte hue usi par vistrit charcha ki hai ki aisa mera vishwas hai dhanyavad aur bahut saree subhkamnaayain

क्यों हो रही है मल्लापुरम महाबलीपुरम में पीएम मोदी और से चलती थी मुलाकात मोदी जी मुकुल तोड

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1353
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात सालाना होने वाले मुलाकातों में एक है जो हर साल भारत और चीन के बीच में होती है जय एक बार भारत में और एक बार चीज में होती है इस बार भारत में हो रही है तो इस चर्चा में काफी सारी चीजें जोड़ी जाएंगी न सिर्फ व्यापार बल्कि क्षेत्रीय सुरक्षा तथा काफी सारे मुद्दे इसमें उठाए जाएंगे इसमें संसाधनों का प्रयोग स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम आदि विषयों पर भी काफी फोकस किया जाता है तो मुझे लगता है कि यह मीटिंग है वह भारत के एक करके डिप्लोमेसी के लिए काफी ऑर्डर दिए जब भी भारत चीन से मिलता है क्योंकि चीन पाकिस्तान का बहुत करीबी है तो डिप्लोमेटिक तरीके से इस मीटिंग को हमेशा एक कप पोजिटिव रूप से दुनिया के संग ले जाना बहुत आवश्यक है तो यह इस समय तो अभी सरकार जो काम कर रही है वह बेहतर रूप से काम कर रही है और अभी तक सभी नतीजे पॉजिटिव निकले हैं लेकिन क्षेत्रीय सुरक्षा पर भी फोकस करना होगा जो डोकलाम ट्राई जंक्शन पर जो विवाद हुआ था वैसा दोबारा ना हो इसकी भी उसकी करनी चाहिए धन्यवाद

modi aur shi jinping ki mulakat salana hone waale mulakaton mein ek hai jo har saal bharat aur china ke beech mein hoti hai jai ek baar bharat mein aur ek baar cheez mein hoti hai is baar bharat mein ho rahi hai toh is charcha mein kaafi saree cheezen jodi jayegi na sirf vyapar balki kshetriya suraksha tatha kaafi saare mudde isme uthye jaenge isme sansadhano ka prayog student exchange program aadi vishyon par bhi kaafi focus kiya jata hai toh mujhe lagta hai ki yah meeting hai vaah bharat ke ek karke diplomacy ke liye kaafi order diye jab bhi bharat china se milta hai kyonki china pakistan ka bahut karibi hai toh diplometik tarike se is meeting ko hamesha ek cup pojitiv roop se duniya ke sang le jana bahut aavashyak hai toh yah is samay toh abhi sarkar jo kaam kar rahi hai vaah behtar roop se kaam kar rahi hai aur abhi tak sabhi natije positive nikle hain lekin kshetriya suraksha par bhi focus karna hoga jo Doklam try junction par jo vivaad hua tha waisa dobara na ho iski bhi uski karni chahiye dhanyavad

मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात सालाना होने वाले मुलाकातों में एक है जो हर साल भारत और चीन क

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1054
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!