क्या कश्मीर पर सिर्फ़ मानवाधिकार की स्थिति पर चर्चा करने से सब ठीक हो जाएगा?...


user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां कश्मीर पर मानवाधिकार के विषय पर चर्चा करके या के बारे में चर्चा करके सारी स्थितियां परिस्थितियों ठीक हो जाएंगी क्योंकि इस समय कश्मीर में मानव अधिकार का हनन हो रहा है कश्मीर की जनता कश्मीर के लोगों पर जो उनके मानव अधिकार हैं उनको दबाया गया है अथवा के रखा गया है क्योंकि हर इंसान का हर इंसान का जो मानव अधिकार है उसको उसी मानव अधिकार के अनुसार जीने देना चाहिए अगर इस बात पर चर्चा की जाती है या सरकार के द्वारा की जाती है तो निश्चित रूप से जो है वहां की समस्याओं का हल निकल आएगा और वहां की जनता एक बार फिर से खुशहाल हो जाएगी थैंक यू

ji haan kashmir par manavadhikar ke vishay par charcha karke ya ke bare mein charcha karke saree sthitiyan paristhitiyon theek ho jaengi kyonki is samay kashmir mein manav adhikaar ka hanan ho raha hai kashmir ki janta kashmir ke logon par jo unke manav adhikaar hain unko dabaya gaya hai athva ke rakha gaya hai kyonki har insaan ka har insaan ka jo manav adhikaar hai usko usi manav adhikaar ke anusaar jeene dena chahiye agar is baat par charcha ki jaati hai ya sarkar ke dwara ki jaati hai toh nishchit roop se jo hai wahan ki samasyaon ka hal nikal aayega aur wahan ki janta ek baar phir se khushahal ho jayegi thank you

जी हां कश्मीर पर मानवाधिकार के विषय पर चर्चा करके या के बारे में चर्चा करके सारी स्थितियां

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1587
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या कश्मीर प्रशिक्षण मानव मानव अधिकार की स्थिति पर चर्चा करने से सब ठीक हो जाएगा कश्मीर पर मानवाधिकार की स्थिति पर चर्चा से सब ठीक होता तो सन उन्नीस सौ नवासी नब्बे के दशक नहीं ठीक हो गया होता कश्मीर से हिंदू कश्मीरी पंडितों को वहां से भागने के लिए मजबूर किया गया उनके प्रचार किए गए और उनको अपनी जान माल वहीं पर जैसे थे वैसे मान मिस्टर को छोड़कर और वहां से भागना पड़ा था इसलिए उस समय मानव अधिकार पंच कहां था अब इस बात पर रोना कि मानव अधिकार पंच और दो जागृत हुआ है समय उसको जागना चाहिए था उस समय की सरकारों को भी कुछ सोचना कोई भी देश के किस राज्य में इस तरह से ऐसा कदापि नहीं होना चाहिए लेकिन उस समय की प्रसिद्ध और आज की अलग आज की परिस्थिति में जो बिना अपना काम कर रही है और आज जो वहां की आतंकवादी गतिविधि उसको रोकने का भरपूर प्रयास करती है और इनका इस्तेमाल किया जा रहा है जो मानव यह कदापि नहीं लगना चाहिए कि मानव अधिकार का हनन हो रहा है क्योंकि अपने देश की रक्षा करने के लिए जो भी कदम उठाने पड़ते हैं जरूरी होते हैं और ऐसा उन्हें करने का हक है इसलिए हमें सेना पर उनके कार्यों पर हमें दिल नहीं करना चाहिए और मानव अधिकार पंच को समझना चाहिए कि जो देश हित के लिए होता है वही कार्य हो रहा है धन्यवाद

kya kashmir prashikshan manav manav adhikaar ki sthiti par charcha karne se sab theek ho jaega kashmir par manavadhikar ki sthiti par charcha se sab theek hota toh san unnis sau navasi nabbe ke dashak nahi theek ho gaya hota kashmir se hindu kashmiri pandito ko wahan se bhagne ke liye majboor kiya gaya unke prachar kiye gaye aur unko apni jaan maal wahin par jaise the waise maan mister ko chhodkar aur wahan se bhaagna pada tha isliye us samay manav adhikaar punch kahaan tha ab is baat par rona ki manav adhikaar punch aur do jaagarrett hua hai samay usko jagana chahiye tha us samay ki sarkaro ko bhi kuch sochna koi bhi desh ke kis rajya mein is tarah se aisa kadapi nahi hona chahiye lekin us samay ki prasiddh aur aaj ki alag aaj ki paristhiti mein jo bina apna kaam kar rahi hai aur aaj jo wahan ki aatankwadi gatividhi usko rokne ka bharpur prayas karti hai aur inka istemal kiya ja raha hai jo manav yah kadapi nahi lagna chahiye ki manav adhikaar ka hanan ho raha hai kyonki apne desh ki raksha karne ke liye jo bhi kadam uthane padate hain zaroori hote hain aur aisa unhe karne ka haq hai isliye hamein sena par unke kaaryon par hamein dil nahi karna chahiye aur manav adhikaar punch ko samajhna chahiye ki jo desh hit ke liye hota hai wahi karya ho raha hai dhanyavad

क्या कश्मीर प्रशिक्षण मानव मानव अधिकार की स्थिति पर चर्चा करने से सब ठीक हो जाएगा कश्मीर प

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1275
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीके मानव अधिकार की बात अगर कश्मीर की जा रही है तो मानव अधिकार की बात पिछले 70 सालों से की जाती है लेकिन आज तक क्या कभी नापा स्थिति सुधरी क्या पिछले 30 सालों में जो आतंकवाद शुरू हुआ था क्या हुआ अभी जा कर सामान नहीं थमा और ऐसी स्थिति लगातार बनी आ रही है काफी समय से बनी आ रही है कश्मीर के ऊपर युद्ध भी हो चुका है इसके अलावा इसकी उपस्थिति हमेशा बहुत नेगेटिव रही है तो हमें मान लेना चाहिए कि इस तरह का जो भी कश्मीर का मुद्दा है वह मानव अधिकार की चर्चा तो ठीक नहीं होगा हां वहां पर सेटलमेंट के लिए सरकार को सामने आना चाहिए और मुझे लगता है कि अगर कोई मुद्दा शांति से हल हो सकता तो शांति से चालू होना बहुत आवश्यक है क्योंकि यह तो कोई भी नहीं चाहता कि अगर युद्ध होता है मान लीजिए कि भारत और पाकिस्तान के कोई भी डिस्प्यूट पैदा होता तो नुकसान होगा तो कश्मीर होगा और पड़ोसी देश तो यही चाहता कि कश्मीर को नुकसान होता कि उन्हें लगे कि हम भारतीय सताया जा रहा है मुझे लगता है कि इस पर थोड़ा आराम करना चाहिए और शांत इसके माध्यम से कोई भी बात या कोई भी चर्चा होनी चाहिए धन्यवाद

DK manav adhikaar ki baat agar kashmir ki ja rahi hai toh manav adhikaar ki baat pichhle 70 salon se ki jaati hai lekin aaj tak kya kabhi napa sthiti sudhari kya pichhle 30 salon mein jo aatankwad shuru hua tha kya hua abhi ja kar saamaan nahi thama aur aisi sthiti lagatar bani aa rahi hai kafi samay se bani aa rahi hai kashmir ke upar yudh bhi ho chuka hai iske alava iski upasthitee hamesha bahut Negative rahi hai toh hamein maan lena chahiye ki is tarah ka jo bhi kashmir ka mudda hai vaah manav adhikaar ki charcha toh theek nahi hoga haan wahan par settlement ke liye sarkar ko saamne aana chahiye aur mujhe lagta hai ki agar koi mudda shanti se hal ho sakta toh shanti se chaalu hona bahut aavashyak hai kyonki yah toh koi bhi nahi chahta ki agar yudh hota hai maan lijiye ki bharat aur pakistan ke koi bhi dispute paida hota toh nuksan hoga toh kashmir hoga aur padosi desh toh yahi chahta ki kashmir ko nuksan hota ki unhe lage ki hum bharatiya sataaya ja raha hai mujhe lagta hai ki is par thoda aaram karna chahiye aur shaant iske madhyam se koi bhi baat ya koi bhi charcha honi chahiye dhanyavad

डीके मानव अधिकार की बात अगर कश्मीर की जा रही है तो मानव अधिकार की बात पिछले 70 सालों से की

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!