असिडिटी में मदद करने के लिए सबसे अच्छा योग की स्थिति क्या है?...


user

Kailash Babu

Yoga Trainer

4:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपको एसिडिटी होती है तो एसिडिटी के लिए आप योग 61 कर्मों का अभ्यास कर सकते आसनों का अभ्यास कर सकते आसनों का अभ्यास जितना इफेक्ट नहीं करेगा जब तक आप सेट कर्मों का ब्याज नहीं करेंगे प्लीज सेट कर्मों से क्या होता है कि हमारे शरीर में एसिड है वह पानी के द्वारा बाहर निकल जाता उसके बाद अगर आप अभ्यास करते आसनों का तो बहुत ज्यादा इफेक्ट डालता है अब सेट करो होते क्या है सटकर में छह के लिए आए होते हैं जो हमारे शरीर की शुद्धि के लिए होते हैं सिटी के लिए आप सभी सिंपल क्रिया कुंजल क्रिया जिसको बोलते हैं उसका अभ्यास कर सकते हैं कुंजल क्रिया करने के लिए क्या करते हैं और आपको एसिडिटी बहुत ज्यादा था पानी गुनगुना गर्म करें हल्का गर्म इसको अपने उल्टे हाथ पर डाल कर देख ले अगर वह जल रहा है हाथ में तो मतलब ज्यादा गर्म है अगर नॉर्मल है तो उसको पीने लायक है ऐसा आपको पानी दो से 3 लीटर धर्म करना है उसको पी जाना है कंठ तक पीना जबरदस्ती पीना है रुक रुक के नहीं पीना है एक ही घूंट में पी जाना है और ओक्कड़ु बैठकर के दोनों घुटनों को मोड़कर बैठ कर पीना है पानी और जब वह पाप का कंठ तक बढ़ जाए पूरा गला तो बीच वाली तीन उंगलियां अपने छोटे जीव को हिरानी है उसके बाद 90 डिग्री के एंगल पर बनाकर ऐसा आपको करना है सारा पानी आपका बाहर निकल जाएगा पूर्व में पानी थोड़ा निकलता है तो घबराने की बात नहीं है बाकी जो पानी है पेशाब में पसीने के रूप में बाहर निकल जाता है ऐसा करने से आपको यह सिडंबरम पानी के साथ बाहर निकल जाएगा उसके बाद खाने पीने में थोड़ा सा परहेज करना पड़ता है जिसमें आपको हल्का और सुपाच्य खाना खाना पड़ता है जिसमें आप दलिया खिचड़ी या अली की रोटियां भी खा सकते हैं कि सीएजी सब्जी के साथ जो छुपाते हो जो कभी ना करती हो उसके बाद आप अग्निसार क्रिया का अभ्यास करें अग्निसार क्रिया करने के लिए क्या करना पड़ता है आप 90 डिग्री से थोड़ा ऊपर एंगल बनाएंगे और दोनों हाथ घुटनों पर रखेंगे और तुम्हारा श्वास बाहर निकाल देंगे उसका पेट को अंदर बाहर अंदर बाहर ऐसे चलाएंगे जब आपका सांस उखड़ने लगे सांस लेते हुए वापस ऊपर आएंगे फिर दोबारा से ऐसा ही करेगा 8 से 10 बार ऐसा इस क्रिया का अभ्यास करें शुरू शुरू में दो-तीन बार करें अन्यथा आपके जो पेट की मसल से उठेंगे या आप ऐसा ना कर ना कर सके हैं या आपको समस्या हो सीखने में कोई योग चिकित्सा का पहुंचना मिल रहा हो तो आप सुबह-सुबह एक गुनगुना पानी करें उसमें नमक डालता है नमक जब डालें आपको किसी बीपी की शिकायत या हार्ट पेशेंट नहीं होना चाहिए आठ परसेंट हो जो बीपी का मरीज हाई बीपी का वह पानी में नमक ना डाले बिना पानी में नमक डाल लेते अभ्यास कर सकता है नमक डाल के पानी में स्कूटी है कंठ तक पानी पी ले पूरा भर ले तेरी से पानी पिया जल्दी-जल्दी घुट के घर का पानी ना करें जिससे कि पानी में लाल ना मिल पाए उसके बाद आपको ताड़ आसन का अभ्यास करना है ताड़ासन करने के लिए आपको क्या करना है दोनों हाथों को आपस में हूं या फसाके हथेलियां ऊपर करके ऊपर करना है और पंजे पर अपना बैलेंस बनाना है धीरे-धीरे शुरू शुरू में बैलेंस नहीं बनता है तो बैलेंस बनाने कोशिश करने पर आपको ताड़ासन में कम से कम 30 सेकंड और अधिक से अधिक 3 मिनट तक स्थिरता पूर्वक खड़े रहना है और कोशिश करनी है कि उसमें थोड़ा सा 10 कदम या पांच कदम आगे और पीछे चले ऐसा करेंगे तो 3 से 4 मिनट में आपको जो पेट का पानी है वह सरपंच चुका वह हल्का लगेगा पेट ऐसा करने से आधे घंटे में आपका प्रेशर बन जाएगा अगर कब्जे से एसिडिटी बहुत ज्यादा है तो उस वक्त अट्रैक्शन ना बने पुतिन 4 घंटे बाद वो असर दिखाएगा अगर फिर भी प्रेशर नहीं बनता है दो-चार दिन हफ्ते बारिश का अभ्यास करते रहे और देखेंगे थोड़े दिनों बाद आपको प्रेशर और पेट भी साफ हो गया है होता क्या है पानी के बिना नमक का पानी पीके हम ताड़ासन लगाते हैं तो वह जो पानी हमारे हाथों में नीचे चला जाता है और वह माल को निकाल कर जल्दी से निष्कासित कर देता है आप दवाइयां खाने से बचें आयुर्वेद और योग को अपने जीवन में अपनाएं प्राकृतिक चिकित्सा को अपने जीवन में अपनाएं किसी अच्छे योग चिकित्सक से इन क्रियाओं का अभ्यास आपसी केक मैंने तो ज्यादा अच्छा है

agar aapko acidity hoti hai toh acidity ke liye aap yog 61 karmon ka abhyas kar sakte aasanon ka abhyas kar sakte aasanon ka abhyas jitna effect nahi karega jab tak aap set karmon ka byaj nahi karenge please set karmon se kya hota hai ki hamare sharir me acid hai vaah paani ke dwara bahar nikal jata uske baad agar aap abhyas karte aasanon ka toh bahut zyada effect dalta hai ab set karo hote kya hai satkar me cheh ke liye aaye hote hain jo hamare sharir ki shudhi ke liye hote hain city ke liye aap sabhi simple kriya kunjal kriya jisko bolte hain uska abhyas kar sakte hain kunjal kriya karne ke liye kya karte hain aur aapko acidity bahut zyada tha paani gunguna garam kare halka garam isko apne ulte hath par daal kar dekh le agar vaah jal raha hai hath me toh matlab zyada garam hai agar normal hai toh usko peene layak hai aisa aapko paani do se 3 litre dharm karna hai usko p jana hai kanth tak peena jabardasti peena hai ruk ruk ke nahi peena hai ek hi ghunt me p jana hai aur okkadu baithkar ke dono ghutno ko modakar baith kar peena hai paani aur jab vaah paap ka kanth tak badh jaaye pura gala toh beech wali teen ungaliyan apne chote jeev ko hirani hai uske baad 90 degree ke Angle par banakar aisa aapko karna hai saara paani aapka bahar nikal jaega purv me paani thoda nikalta hai toh ghabrane ki baat nahi hai baki jo paani hai peshab me pasine ke roop me bahar nikal jata hai aisa karne se aapko yah sidambaram paani ke saath bahar nikal jaega uske baad khane peene me thoda sa parhej karna padta hai jisme aapko halka aur supachya khana khana padta hai jisme aap daliya khichdi ya ali ki rotiyan bhi kha sakte hain ki cag sabzi ke saath jo chhupaate ho jo kabhi na karti ho uske baad aap agnisar kriya ka abhyas kare agnisar kriya karne ke liye kya karna padta hai aap 90 degree se thoda upar Angle banayenge aur dono hath ghutno par rakhenge aur tumhara swas bahar nikaal denge uska pet ko andar bahar andar bahar aise chalayenge jab aapka saans ukhadane lage saans lete hue wapas upar aayenge phir dobara se aisa hi karega 8 se 10 baar aisa is kriya ka abhyas kare shuru shuru me do teen baar kare anyatha aapke jo pet ki masal se uthenge ya aap aisa na kar na kar sake hain ya aapko samasya ho sikhne me koi yog chikitsa ka pahunchana mil raha ho toh aap subah subah ek gunguna paani kare usme namak dalta hai namak jab Daalein aapko kisi BP ki shikayat ya heart patient nahi hona chahiye aath percent ho jo BP ka marij high BP ka vaah paani me namak na dale bina paani me namak daal lete abhyas kar sakta hai namak daal ke paani me scooty hai kanth tak paani p le pura bhar le teri se paani piya jaldi jaldi ghut ke ghar ka paani na kare jisse ki paani me laal na mil paye uske baad aapko taad aasan ka abhyas karna hai tadasan karne ke liye aapko kya karna hai dono hathon ko aapas me hoon ya fasake hatheliyaan upar karke upar karna hai aur panje par apna balance banana hai dhire dhire shuru shuru me balance nahi banta hai toh balance banane koshish karne par aapko tadasan me kam se kam 30 second aur adhik se adhik 3 minute tak sthirta purvak khade rehna hai aur koshish karni hai ki usme thoda sa 10 kadam ya paanch kadam aage aur peeche chale aisa karenge toh 3 se 4 minute me aapko jo pet ka paani hai vaah sarpanch chuka vaah halka lagega pet aisa karne se aadhe ghante me aapka pressure ban jaega agar kabje se acidity bahut zyada hai toh us waqt attraction na bane putin 4 ghante baad vo asar dikhaega agar phir bhi pressure nahi banta hai do char din hafte barish ka abhyas karte rahe aur dekhenge thode dino baad aapko pressure aur pet bhi saaf ho gaya hai hota kya hai paani ke bina namak ka paani pk hum tadasan lagate hain toh vaah jo paani hamare hathon me niche chala jata hai aur vaah maal ko nikaal kar jaldi se nishkasit kar deta hai aap davaiyan khane se bache ayurveda aur yog ko apne jeevan me apanaen prakirtik chikitsa ko apne jeevan me apanaen kisi acche yog chikitsak se in kriyaon ka abhyas aapasi cake maine toh zyada accha hai

अगर आपको एसिडिटी होती है तो एसिडिटी के लिए आप योग 61 कर्मों का अभ्यास कर सकते आसनों का अभ्

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  894
KooApp_icon
WhatsApp_icon
15 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!