उत्तानासन में मेरा सिर मेरे पैरों तक क्यों नहीं पहुंचता है मैं यह कैसे कर सकता हूँ?...


user

inderjeet singh

Yoga Trainer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि मेरा सिर पैरों तक क्योंकि हमारा शरीर जैसे-जैसे जब हम बच्चे थे तो हमारा शरीर ज्यादा फ्लैक्सिबल था ऐसे से बड़े होते गए हमारे शरीर में अकड़न आती गई जकर्ता आती गई क्योंकि हमने योगा किया नहीं अगर हम शुरू से बच्चे करते आते छोटी उम्र से तो कोई बात नहीं आप ट्राई करते हैं एक दिन जरूर लगेगा सर आपका और जितना जहां तक पहुंचता है तो थोड़ा सा ज्यादा करते जाएं इस समय के अनुसार सब ठीक हो जाए उसको बढ़ाते जाएं तो आपको जरूर लगेगा इसमें कोई घबराने वाली बात नहीं और जितना भी हो रहा है वह भी आपके जैसा ही है तो कोशिश करते रहे जरूर लगेगा

aapne poocha hai ki mera sir pairon tak kyonki hamara sharir jaise jaise jab hum bacche the toh hamara sharir zyada flaiksibal tha aise se bade hote gaye hamare sharir me akadan aati gayi jakarta aati gayi kyonki humne yoga kiya nahi agar hum shuru se bacche karte aate choti umar se toh koi baat nahi aap try karte hain ek din zaroor lagega sir aapka aur jitna jaha tak pahuchta hai toh thoda sa zyada karte jayen is samay ke anusaar sab theek ho jaaye usko badhate jayen toh aapko zaroor lagega isme koi ghabrane wali baat nahi aur jitna bhi ho raha hai vaah bhi aapke jaisa hi hai toh koshish karte rahe zaroor lagega

आपने पूछा है कि मेरा सिर पैरों तक क्योंकि हमारा शरीर जैसे-जैसे जब हम बच्चे थे तो हमारा शरी

Romanized Version
Likes  111  Dislikes    views  910
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

0:29

Likes  233  Dislikes    views  2696
WhatsApp_icon
user

Kailash Babu

Yoga Trainer

2:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उठाना संन्यास को पादहस्तासन भी बोलते हैं मैं आपके जो सारे घुटनों तक यह पैरों तक नहीं पहुंचता है कोई बड़ी समस्या नहीं है किसी का भी नहीं पहुंचे फर्स्ट टाइम लगाएगा तो आपको करने का सबसे पहले से बहुत अच्छे से बाहर निकलने थोड़ा पैरों का स्ट्रेचिंग कर लें और कमर की 12 एक्सरसाइज कर ले बाद में बच्चा होने के बाद आपको क्या करने बैठना है और बैठने के बाद जानू शीर्षासन लगाना है जानू शीर्षासन लगाने के लिए एक पैर को फोल्ड करें 90 डिग्री पर और दूसरे पैर को सीधा करके उसको पकड़ने पकड़ने का जितना आपसे हो इतना को होल्ड रखना है ज्यादा से ज्यादा समय के लिए कम से कम 30 सेकंड तक होल्ड रखना है और 1 मिनट तक उसको ले जाना है अगर कोशिश करें 3:00 मिनट तक हो जाए तो बहुत अच्छा है उसके बाद उसको दूसरी पैसा आपको दो से तीन बार करना है उसके बाद आपको पश्चिमोत्तानासन लगाना हो पश्चिमोत्तानासन लगाने के बाद होल्ड करना है उसको और कम से कम 8 मिनट तक होल्ड करना है अगर नहीं होता है तो जितना संभव हो उतना करना लेकिन ज्यादा से ज्यादा होल्ड करना है 3:00 से 5:00 मिनट तक होल्ड करने की कोशिश कीजिए अगर पहले दिन नहीं होता है तो एक दो आप से बात होने लगेगा उसके बाद आप छोड़कर बैकबेंडिंग करें भुजंगासन लगा ले और खड़े हो जाए तो उसके बाद थाना सन लगाएं उठाने के लिए आपको फिर प्रयास करना है तो आप देखेंगे कि आप पहले पादहस्तासन लगाते थे उससे ज्यादा आपका जो अमर है वह आपके पैरों तक पहुंच रहा है लेकिन एक बात का ध्यान रखें गर्दन को हमेशा कमर किस चीज में रखते हैं या गर्दन को थोड़ा उठाकर रखें कभी आप नीचे हो चुके हैं तो जो कुत्ते समय आप अपने सर को पैरों में लगाने की कोशिश ना करें सर को बिल्कुल सीधा रखें कमर की सीध में गर्दन कमर बिल्कुल सीधी रहे उत्तर क्या है कि हम सर को झुका लेते इसलिए हमारी रीढ़ की हड्डी होती है वह आपको नुकसान और उसको खोल रखे हैं आप 1 मिनट तक को होल्ड रखना ऐसा दो से तीन बार करें आप देखेंगे 1 से 2 हफ्ते में आपके जो कमर है आपका सारा जो घुटनों में पैरों में लगने लगेगा धन्यवाद

uthana sanyas ko padahastasan bhi bolte hain main aapke jo saare ghutno tak yah pairon tak nahi pahuchta hai koi badi samasya nahi hai kisi ka bhi nahi pahuche first time lagaega toh aapko karne ka sabse pehle se bahut acche se bahar nikalne thoda pairon ka stretching kar le aur kamar ki 12 exercise kar le baad me baccha hone ke baad aapko kya karne baithana hai aur baithne ke baad janu Shirshasan lagana hai janu Shirshasan lagane ke liye ek pair ko fold kare 90 degree par aur dusre pair ko seedha karke usko pakadane pakadane ka jitna aapse ho itna ko hold rakhna hai zyada se zyada samay ke liye kam se kam 30 second tak hold rakhna hai aur 1 minute tak usko le jana hai agar koshish kare 3 00 minute tak ho jaaye toh bahut accha hai uske baad usko dusri paisa aapko do se teen baar karna hai uske baad aapko pashchimottanasan lagana ho pashchimottanasan lagane ke baad hold karna hai usko aur kam se kam 8 minute tak hold karna hai agar nahi hota hai toh jitna sambhav ho utana karna lekin zyada se zyada hold karna hai 3 00 se 5 00 minute tak hold karne ki koshish kijiye agar pehle din nahi hota hai toh ek do aap se baat hone lagega uske baad aap chhodkar baikbending kare bhujangasan laga le aur khade ho jaaye toh uske baad thana san lagaye uthane ke liye aapko phir prayas karna hai toh aap dekhenge ki aap pehle padahastasan lagate the usse zyada aapka jo amar hai vaah aapke pairon tak pohch raha hai lekin ek baat ka dhyan rakhen gardan ko hamesha kamar kis cheez me rakhte hain ya gardan ko thoda uthaakar rakhen kabhi aap niche ho chuke hain toh jo kutte samay aap apne sir ko pairon me lagane ki koshish na kare sir ko bilkul seedha rakhen kamar ki seedh me gardan kamar bilkul seedhi rahe uttar kya hai ki hum sir ko jhuka lete isliye hamari reedh ki haddi hoti hai vaah aapko nuksan aur usko khol rakhe hain aap 1 minute tak ko hold rakhna aisa do se teen baar kare aap dekhenge 1 se 2 hafte me aapke jo kamar hai aapka saara jo ghutno me pairon me lagne lagega dhanyavad

उठाना संन्यास को पादहस्तासन भी बोलते हैं मैं आपके जो सारे घुटनों तक यह पैरों तक नहीं पहुंच

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  416
WhatsApp_icon
user

Somit Yoga Varanasi

Yoga Trainer and Astrologer

0:20
Play

Likes  65  Dislikes    views  1259
WhatsApp_icon
play
user

Dr. R. K. Gupta

Yoga & Nature Care Health center

0:47

Likes  105  Dislikes    views  1496
WhatsApp_icon
user

Rakesh Kothiyal

Astrologer And Yoga Teacher

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरि ओम नमस्कार दोस्तों आप सभी को कल ग्रुप के मेंबर को मेरा नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है और सना सन में मेरा सिर्फ मेरे पैरों तक नहीं पहुंचता है मैं यह कैसे कर सकता हूं दोस्तों एकदम हर काम नहीं होते हैं टाइम लगता है 15 दिन 20 दिन एक महीना इसे कर आपको करना है तो पश्चिमोत्तानासन और हलासन की प्रैक्टिस करें तभी आपका शेर घुटने में लगेगा पैर में टच हो जाएगा हरि ओम

hari om namaskar doston aap sabhi ko kal group ke member ko mera namaskar doston aapka prashna hai aur sana san me mera sirf mere pairon tak nahi pahuchta hai main yah kaise kar sakta hoon doston ekdam har kaam nahi hote hain time lagta hai 15 din 20 din ek mahina ise kar aapko karna hai toh pashchimottanasan aur halasan ki practice kare tabhi aapka sher ghutne me lagega pair me touch ho jaega hari om

हरि ओम नमस्कार दोस्तों आप सभी को कल ग्रुप के मेंबर को मेरा नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  1160
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तानपादासन के लिए आपका सिर्फ पैरों की तरफ नहीं पहुंचता है तो धीरे-धीरे आप अभ्यास कीजिए सब धीरे-धीरे ही संभव होता है एक दिन यह दुआ उस दिन में नहीं होता कुछ महीने भी लग सकते धन्यवाद आपका दिन शुभ

uttanapadasan ke liye aapka sirf pairon ki taraf nahi pahuchta hai toh dhire dhire aap abhyas kijiye sab dhire dhire hi sambhav hota hai ek din yah dua us din me nahi hota kuch mahine bhi lag sakte dhanyavad aapka din shubha

उत्तानपादासन के लिए आपका सिर्फ पैरों की तरफ नहीं पहुंचता है तो धीरे-धीरे आप अभ्यास कीजिए स

Romanized Version
Likes  228  Dislikes    views  2642
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आपका प्रश्न है कपासन में मेरा सर मेरे पैरों तक क्यों नहीं पहुंच पाता मैं कैसे कर सकता हूं आप बिल्कुल कर सकते हैं आप इसमें जो है किसी कुशल योग प्रशिक्षक के सानिध्य में आप इसका अभ्यास करें फॉरवर्ड बैग बैग बैग बेंडिंग जवाब करेंगे तो आपका शरीर लचीला होगा और यह आसानी से आएगा धन्यवाद

ji aapka prashna hai kapasan mein mera sir mere pairon tak kyon nahi pahunch pata main kaise kar sakta hoon aap bilkul kar sakte hain aap isme jo hai kisi kushal yog parshikshak ke sanidhya mein aap iska abhyas karen forward bag bag bag bending jawab karenge toh aapka sharir lachila hoga aur yah aasani se aayega dhanyavad

जी आपका प्रश्न है कपासन में मेरा सर मेरे पैरों तक क्यों नहीं पहुंच पाता मैं कैसे कर सकता ह

Romanized Version
Likes  140  Dislikes    views  1807
WhatsApp_icon
play
user

xyz

nothing

0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आक्रोष अभ्यास करते रहना है और थोड़ी दिन शुरुआत में अगर आपका यह नहीं हो पा रहा है तो मेरी डिवाइस रहेगी कि आप पैरों के बीच में एक 1 फीट का सांसद लिखी है थोड़े पैरों को खोल दीजिएगा और फिर देखेगा थोड़े दिन के बाद आप नीचे जा पाएंगे पैराशूट

akrosh abhyas karte rehna hai aur thodi din shuruaat mein agar aapka yah nahi ho paa raha hai toh meri device rahegi ki aap pairon ke beech mein ek 1 feet ka saansad likhi hai thode pairon ko khol dijiyega aur phir dekhega thode din ke baad aap neeche ja payenge parachute

आक्रोष अभ्यास करते रहना है और थोड़ी दिन शुरुआत में अगर आपका यह नहीं हो पा रहा है तो मेरी ड

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  1511
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मक्का पिसने उत्तानासन में मेरा सिर पैरों तक नहीं पहुंचता में कैसे कर सकता हूं बिल्कुल पहुंचेगा किसी भी आसन को किसी भी अभ्यास को आप करते हैं लगातार करते हैं तो वह धीरे-धीरे इंप्रूव होता है फ्लैक्सिबिलिटी धीरे-धीरे इंप्रूव होती है कई बार एक इसके बाद फ्लैक्सिबिलिटी कम इंप्रूव होती है उसके लिए आपको लगातार प्रयास करना है आप इसके लिए कुछ और आसन भी है साथ में जैसे कि सूर्य नमस्कार है आप प्रतिदिन सूर्य नमस्कार के 8 से 10 राउंड करिए आप देखेंगे और भी आसान जॉब से नहीं हो रहे हैं उनमें भी फ्लैक्सिबिलिटी ब्लू होगी उन आसनों में आप इंप्रूवमेंट कर पाएंगे कोई भी अभ्यास आपको इतनी जल्दी एकदम आप उसके लिए परिपक्व नहीं हो पाते समय लगता है किसी भी आसन को आप अपनी तरफ से एकदम जल्दी बाजी ना करें उससे आपको नुकसान भी इस पैनल कोर्ट को पहुंच सकता है इसलिए धीरे-धीरे प्रयास करिए कुछ समय में आप देखेंगे बहुत जल्दी आप लगा पाएंगे

makka pisne uttanasan mein mera sir pairon tak nahi pahunchta mein kaise kar sakta hoon bilkul pahunchaega kisi bhi aasan ko kisi bhi abhyas ko aap karte hain lagatar karte hain toh vaah dhire dhire improve hota hai flaiksibiliti dhire dhire improve hoti hai kai baar ek iske baad flaiksibiliti kam improve hoti hai uske liye aapko lagatar prayas karna hai aap iske liye kuch aur aasan bhi hai saath mein jaise ki surya namaskar hai aap pratidin surya namaskar ke 8 se 10 round kariye aap dekhenge aur bhi aasaan job se nahi ho rahe hain unmen bhi flaiksibiliti blue hogi un aasanon mein aap improvement kar payenge koi bhi abhyas aapko itni jaldi ekdam aap uske liye paripakva nahi ho paate samay lagta hai kisi bhi aasan ko aap apni taraf se ekdam jaldi baazi na karen usse aapko nuksan bhi is panel court ko pahunch sakta hai isliye dhire dhire prayas kariye kuch samay mein aap dekhenge bahut jaldi aap laga payenge

मक्का पिसने उत्तानासन में मेरा सिर पैरों तक नहीं पहुंचता में कैसे कर सकता हूं बिल्कुल पहुं

Romanized Version
Likes  188  Dislikes    views  2345
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है उत्तानासन में मेरा सिर मेरे पैरों तक क्यों नहीं पहुंचता मैं यह कैसे कर सकता हूं तो देखिए इसका अर्थ है कि आपका जो शरीर है काफी हार्ड टाइट हो चुका है उसके लिए आपको पहले अपने दैनिक क्रियाकलापों में गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है और अपने पेट को आप बिल्कुल साफ रखें इसका अर्थ है कि आपको निश्चित है कि आपके पेट में काफी गैस फॉर्म हो रहा है काफी गैस बन रहा है इसलिए अपने आहार पर भी आपको ध्यान देने की आवश्यकता है मिर्ची मसाला तैलीय पदार्थ के आगे से बना हुआ मक्खन और मेरा का प्रयोग बिल्कुल ना करें और योग में शंख प्रक्षालन की एक क्रिया बताइए जिससे पेट टाइम थोड़ा उससे साफ किया जाता है प्रक्रिया को अपने पेट को प्ले नीट एंड क्लीन करें और रात में और दिन में दोनों समय भोजन का समय गर्म पानी का ही प्रयोग करें बीच-बीच में भी गर्म पानी का प्रयोग कर सकते हैं जब तक कि आपका पेट पूरा बढ़िया से साफ नहीं होगा तब तक आपके शरीर में लचीलापन नहीं आएगा क्योंकि आपका शरीर फ्लैक्सिबल नहीं है इसलिए ऐसा होता है तो उसके बाद आपको बजा सन में बहुत देर तक बैठने का प्रयास करें क्योंकि प्रथम प्रक्रिया है और उसके बाद आप तो बिल्कुल आप उतान पादासन कर सकते हैं आराम कीजिए बीच-बीच में प्रणाम करने से क्या होता है कि सारे नस नाड़ी आंख खुलती हैं काफी गहरा लंबा सांस ले अंदर होते फिर बाहर कर दें ऐसी प्रक्रिया 15 से 20 मिनट करें बिल्कुल आपका जो बताना सुनना है वह बिल्कुल सरलता से होने लगेगा धन्यवाद

aapka question hai uttanasan mein mera sir mere pairon tak kyon nahi pahunchta main yah kaise kar sakta hoon toh dekhiye iska arth hai ki aapka jo sharir hai kafi hard tight ho chuka hai uske liye aapko pehle apne dainik kriyaklapon mein garam paani peene ki salah di jaati hai aur apne pet ko aap bilkul saaf rakhen iska arth hai ki aapko nishchit hai ki aapke pet mein kafi gas form ho raha hai kafi gas ban raha hai isliye apne aahaar par bhi aapko dhyan dene ki avashyakta hai mirchi masala tailiya padarth ke aage se bana hua makhan aur mera ka prayog bilkul na karen aur yog mein shankh prakshalan ki ek kriya bataiye jisse pet time thoda usse saaf kiya jata hai prakriya ko apne pet ko play neet and clean karen aur raat mein aur din mein dono samay bhojan ka samay garam paani ka hi prayog karen beech beech mein bhi garam paani ka prayog kar sakte hain jab tak ki aapka pet pura badhiya se saaf nahi hoga tab tak aapke sharir mein lachilapan nahi aayega kyonki aapka sharir flaiksibal nahi hai isliye aisa hota hai toh uske baad aapko baja san mein bahut der tak baithne ka prayas karen kyonki pratham prakriya hai aur uske baad aap toh bilkul aap utan padasan kar sakte hain aaram kijiye beech beech mein pranam karne se kya hota hai ki saare nas naadi aankh khulti hain kafi gehra lamba saans le andar hote phir bahar kar dein aisi prakriya 15 se 20 minute karen bilkul aapka jo bataana sunana hai vaah bilkul saralata se hone lagega dhanyavad

आपका क्वेश्चन है उत्तानासन में मेरा सिर मेरे पैरों तक क्यों नहीं पहुंचता मैं यह कैसे कर सक

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  1093
WhatsApp_icon
user

Rohit kumar

Yoga Trainer

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सब के शरीर का अपना-अपना स्ट्रक्चर होता अपना अपना फ्लैक्सिबिलिटी होती है आपका पैर अगर सिर तक नहीं पहुंच पा रहा हूं टनाटन आप नहीं कर पाते तो कोई बात नहीं है धीरे-धीरे उसका प्रैक्टिस करें ऑफिस के लिए ऐसे आसनों का अभ्यास करें जिसमें आपका मणिपुर आफ फ्लैक्सिबल बन सके एरो और हाथ की नसों में खिंचाव आर्डर कैसे करें और उसका भी अभ्यास में कुल कितने का नशा पश्चिमोत्तानासन का अभ्यास करें पादहस्तासन का ढेर में अभ्यास पर चक्र आसन का अभ्यास करने से हाथ पैर से सिर तक के सभी नसों में खिंचाव आता है कि चावल का मतलब है धीरे-धीरे उन्नाव स्टेशन स्टेशन किताब उत्तानासन जो करना चाहते हो बिल्कुल परफेक्ट से आराम से कर पाएंगे एक बैग सोचा कि अगर हम उससे कर ले वह संभव नहीं है मानव जबरदस्ती कर भी लेते हैं तो दूसरे दिन आपका हाथ पैर में खिंचाव अटारी के नस में बिल्कुल दर्द आ जाएगा जितना समर्थ है उसको उतना करें धीरे-धीरे अभ्यास को बढ़ाएं

dekhiye sab ke sharir ka apna apna structure hota apna apna flaiksibiliti hoti hai aapka pair agar sir tak nahi pahunch paa raha hoon tanatan aap nahi kar paate toh koi baat nahi hai dhire dhire uska practice karen office ke liye aise aasanon ka abhyas karen jisme aapka manipur of flaiksibal ban sake arrow aur hath ki nason mein khinchav order kaise karen aur uska bhi abhyas mein kul kitne ka nasha pashchimottanasan ka abhyas karen padahastasan ka dher mein abhyas par chakra aasan ka abhyas karne se hath pair se sir tak ke sabhi nason mein khinchav aata hai ki chawal ka matlab hai dhire dhire unnaav station station kitab uttanasan jo karna chahte ho bilkul perfect se aaram se kar payenge ek bag socha ki agar hum usse kar le vaah sambhav nahi hai manav jabardasti kar bhi lete hain toh dusre din aapka hath pair mein khinchav atari ke nas mein bilkul dard aa jaega jitna samarth hai usko utana karen dhire dhire abhyas ko badhayen

देखिए सब के शरीर का अपना-अपना स्ट्रक्चर होता अपना अपना फ्लैक्सिबिलिटी होती है आपका पैर अगर

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  407
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!