योग के कुछ उन्नत पद क्या हैं?...


play
user

Dr. Kartik Kumar

Yoga Instructor

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजर्षि ब्रह्मर्षि और देवर्षि आयोग के उच्च पद है जो सद्गुरु के द्वारा प्रदान किया जाता है इसके लिए आपको जानना होगा स्वर्वेद करना होगा विहंगम योग का अभ्यास विहंगम योग का अभ्यास आपके जीवन में इंद्रियों में शक्ति मन में शांति और आत्मा में आनंद लाता है उसे युग की कई डिग्रियां बांटी जाती है जिसमें हमें युवक का शाश्वत ज्ञान प्रदान नहीं होता वह पाता अतः सद्गुरु की शरण में रखकर किया गया अभ्यास और उस पद को प्राप्त करना ही जीवन की सार्थकता है जिसे सोता हूं लोग उस स्तर के सम्मान देते हैं योग की नई और नूतन जानकारी के लिए प्राप्त संपर्क कर सकते हैं डॉक्टर कार्तिक कुमार से संपर्क नंबर है 700 431121 तब तक के लिए वह कल स्टूडियो से डॉक्टर कार्तिक और कविता दीजिए नमस्कार

rajarshi brahmarshi aur devarshi aayog ke ucch pad hai jo sadguru ke dwara pradan kiya jata hai iske liye aapko janana hoga swarved karna hoga vihangam yog ka abhyas vihangam yog ka abhyas aapke jeevan mein indriyon mein shakti man mein shanti aur aatma mein anand lata hai use yug ki kai digriyan banti jaati hai jisme hamein yuvak ka shashvat gyaan pradan nahi hota vaah pata atah sadguru ki sharan mein rakhakar kiya gaya abhyas aur us pad ko prapt karna hi jeevan ki sarthakta hai jise sota hoon log us sthar ke sammaan dete hain yog ki nayi aur nutan jaankari ke liye prapt sampark kar sakte hain doctor kartik kumar se sampark number hai 700 431121 tab tak ke liye vaah kal studio se doctor kartik aur kavita dijiye namaskar

राजर्षि ब्रह्मर्षि और देवर्षि आयोग के उच्च पद है जो सद्गुरु के द्वारा प्रदान किया जाता है

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1839
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Manoj Kumar Gudsele

Yoga Instructor

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के कुछ उन्नत पद क्या है तो इस सवाल का जवाब देते हुए मैं सिर्फ आप लोगों से यह कहना चाहूंगा कि पूरा योग ही उन्नत है और उसका प्रत्येक पद उन्नत है बस आप अपनी आवश्यकता एवं क्षमता अनुसार उस पद का चुनाव करें और किसी अच्छे प्रशिक्षक के अंडर में उद्योग के पद का अभ्यास करें और उस पद से लाभ प्राप्त करें तो आप किसी अच्छे गुरु से प्रशिक्षण लीजिए और योग के पद का लाभ प्राप्त कीजिए और मैं आपसे कहूंगा कि आप इन टेक्निक्स को अपनाकर योग के लाभ प्राप्त कर सकते हैं धन्यवाद

yog ke kuch unnat pad kya hai toh is sawaal ka jawab dete hue main sirf aap logo se yah kehna chahunga ki pura yog hi unnat hai aur uska pratyek pad unnat hai bus aap apni avashyakta evam kshamta anusaar us pad ka chunav kare aur kisi acche parshikshak ke under mein udyog ke pad ka abhyas kare aur us pad se labh prapt kare toh aap kisi acche guru se prashikshan lijiye aur yog ke pad ka labh prapt kijiye aur main aapse kahunga ki aap in techniques ko apnakar yog ke labh prapt kar sakte hain dhanyavad

योग के कुछ उन्नत पद क्या है तो इस सवाल का जवाब देते हुए मैं सिर्फ आप लोगों से यह कहना चाहू

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  347
WhatsApp_icon
user

Surya Regmi

Yoga Instructor

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है युवक की कुछ पद क्या है क्यों करने के बाद हर एक व्यक्ति की अलग अलग थी उसी पर व्यक्ति की इच्छा पर निर्भर करता है कोई मोक्ष जाते हैं कोई आसन सिद्धि चाहते हैं कोई प्राणायाम करके पृथ्वी से उठना चाहता है करते-करते पृथ्वी से उठ जाए क्या होती है परंतु यह आप सही गुरु के मार्कस मार्गदर्शन में करते हैं तो आपको मौका मिलेगा पृथ्वी से प्रेम करते करते उठी भी जाएंगे आसन खुर्शीद भी करेंगे सिद्धि भी आपको प्राप्त करने से जो आप चाहे वह भी प्राप्त कर सकते हैं धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai yuvak ki kuch pad kya hai kyon karne ke baad har ek vyakti ki alag alag thi usi par vyakti ki iccha par nirbhar karta hai koi moksha jaate hai koi aasan siddhi chahte hai koi pranayaam karke prithvi se uthna chahta hai karte karte prithvi se uth jaaye kya hoti hai parantu yah aap sahi guru ke marks margdarshan mein karte hai toh aapko mauka milega prithvi se prem karte karte uthi bhi jaenge aasan khurshid bhi karenge siddhi bhi aapko prapt karne se jo aap chahen vaah bhi prapt kar sakte hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है युवक की कुछ पद क्या है क्यों करने के बाद हर एक व्यक्ति की अलग अलग थ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Sandeep Yogi

Yoga Instructor

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो आदमी योग करता है उसको पद की कभी भी अभिलाषा नहीं होती है योग सबसे पहले आदमी की अभिलाषा को ही खत्म करता है अगर आप निरंतर योग्य करते हैं तो आप बकरा पहुंच जाते हैं तो आपके अंदर की सारी अभिलाषा ही खत्म हो जाते हैं

jo aadmi yog karta hai usko pad ki kabhi bhi abhilasha nahi hoti hai yog sabse pehle aadmi ki abhilasha ko hi khatam karta hai agar aap nirantar yogya karte hain toh aap bakara pohch jaate hain toh aapke andar ki saree abhilasha hi khatam ho jaate hain

जो आदमी योग करता है उसको पद की कभी भी अभिलाषा नहीं होती है योग सबसे पहले आदमी की अभिलाषा क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!