कौन-सी स्थिति अधिवृक्क थकान और पुराने तनाव का इलाज करती है?...


user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है कौन सी थी अधिक थकान और पुराने तनाव का इलाज है करती है तो देखिए मेरा मानना है कि थकान वाली बात जो बोल रहे हैं और पुराने तनाव खिलाता बोल रहे हैं इसमें 22 क्वेश्चन है तो इसके लिए आपको दो चीजों का प्रयोग करें पहले तो आप अपने सोने और जागने का समय निर्धारित करें तदुपरांत आप दैनिक क्रियाओं से निवृत्त होने के बाद स्थान आदि करके और आपका पहले बज रहा सनम बैठकर 15 से 20 मिनट प्राणायाम करने का प्रयास करें तदुपरांत बिजासन की स्थिति में बैठकर आप ध्यान मुद्रा में ध्यान करने का प्रयास करें क्योंकि ध्यान से बढ़िया तनाव के लिए कुछ भी नहीं है आप उसे पर कि मैं कम से कम 40 से 45 मिनट या तनाव के लिए आप बहुत ध्यान कीजिए और थकान को मिटाने के लिए आपको प्रणाम करना ही पड़ेगा बहुत ज्यादा थकान है तो आपको बीच-बीच में श्वास को अंदर रोकने का प्रयास करें यथासंभव जितना हो सके उतना ही रोकने का प्रयास करें जोर जबरदस्ती करने की जरूरत नहीं है धन्यवाद

aapka question hai kaun si thi adhik thakan aur purane tanaav ka ilaj hai karti hai toh dekhiye mera manana hai ki thakan wali baat jo bol rahe hain aur purane tanaav khilata bol rahe hain isme 22 question hai toh iske liye aapko do chijon ka prayog kare pehle toh aap apne sone aur jagne ka samay nirdharit kare taduprant aap dainik kriyaon se sevanervit hone ke baad sthan aadi karke aur aapka pehle baj raha sanam baithkar 15 se 20 minute pranayaam karne ka prayas kare taduprant bijasan ki sthiti mein baithkar aap dhyan mudra mein dhyan karne ka prayas kare kyonki dhyan se badhiya tanaav ke liye kuch bhi nahi hai aap use par ki main kam se kam 40 se 45 minute ya tanaav ke liye aap bahut dhyan kijiye aur thakan ko mitne ke liye aapko pranam karna hi padega bahut zyada thakan hai toh aapko beech beech mein swas ko andar rokne ka prayas kare yathasambhav jitna ho sake utana hi rokne ka prayas kare jor jabardasti karne ki zarurat nahi hai dhanyavad

आपका क्वेश्चन है कौन सी थी अधिक थकान और पुराने तनाव का इलाज है करती है तो देखिए मेरा मानना

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  857
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

656 Mangal Singh Thakur

Teacher/Operator

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छा उपाय नवजात शिशुओं के साथ सीटों के लगाके हंसना बोलना धन्यवाद

accha upay navjat shishuon ke saath seaton ke lagake hansana bolna dhanyavad

अच्छा उपाय नवजात शिशुओं के साथ सीटों के लगाके हंसना बोलना धन्यवाद

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Soni

Yoga Instructor & Software Developer

2:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है कौन सी स्थिति अधिवृक्क टकानो पुराने तनाव का इलाज करती है तो इसमें में तीन चीजें बताना चाहूंगा पहला होगा उज्जाई प्राणायाम जिसमें ओम का उच्चारण किया जाता है तो इसे 2 मिनट से लेकर आप 10 मिनट तक बढ़ा सकते हैं इसे कीजिए आप एक अच्छा खासा सुधार देखेंगे अभी मैं तनाव की बात कर रहा हूं दूसरा में आता हूं मेडिटेशन मेडिटेशन ऑफ कीजिए इसमें क्या होता है जवाब मेडिटेशन करते लंबी गहरी सांस लें सुखासन में बैठें ज्ञान मुद्रा में और ध्यान को सांसो पर टिकाए लंबी गहरी सांस लें छोड़े यह 2 मिनट से लेकर आप मैक्सन 20 मिनट तक ले जा सकते हैं कोई दिक्कत नहीं है अब इसमें क्या होता है जब आप मेडिटेशन करते हैं तो हमारे ब्रेन के कुछ और होता है जिसमें हाइपरप्थाल्मस हो गया परंतु लोगों हो गया तो परफेक्ट होने का क्या मतलब है वह ऑर्गन फसल में रिस्पांसिबल होता है न्यूरो सेंट्रेशन रीजेनरेशन पिट्यूटरी ग्लैंड हमारे नर्वस सिस्टम को कंट्रोल करने के लिए चाहे वह दर्द महसूस करो चाहे हमारी इमोशनल सोचो तो सब चीजों को वह कंट्रोल करने पर काम करते हैं तो मेडिटेशन कीजिए आप बहुत बड़ा अंतर देखेंगे अपने जीवन में उसके बाद मैं तीसरा आता हूं थकान पर थकान का क्या करें तो उसके लिए आप स्वसन क्रिया कीजिए आप लेट जाइए हाथों खोल के चटाई या फिर बिस्तर में तकिया ना लगाए तो बेहतर है और लंबी गहरी सांस लें और स्वास्थ्य पर ही ध्यान टिकार है सोए नहीं जागरूक परिस्थिति में रहे लेकिन कुछ सोचे नहीं फिर भी आपको सोचना है तो अपने शरीर के अंगो का विश्लेषण कर ले लेकिन सोए नहीं और अगर गलती से आप सो भी जाते हैं तो कोई दिक्कत नहीं क्योंकि आपको नींद आएगी इस परिस्थिति में तो आप कहीं कहीं विश्राम की परिस्थिति में जाएंगे और थकान नहीं होगी तो इसे भी अपनाएं आप स्वसन क्रिया इसे भी आप कर सकते हैं 5 मिनट से लेकर 20 मिनट तक तो गलती से कोई दिक्कत नहीं लेकिन फिर भी जागरूक पर स्थित अमृत मैंने तीन चीजों की बात कि यहां पर उज्जाई प्राणायाम जिसमें उनका उच्चारण होता है मेडिटेशन और श्वसन क्रिया अब मैं आता हूं अब जब कुछ समय बाद आप यह तीनों कर लेंगे कुछ अच्छा महसूस करने लगे तो आप सूर्य नमस्कार कीजिए एक सूर्य नमस्कार 12 आसन होते हैं तो आप दो सूर्य नमस्कार से शुरुआत की जो धीरे-धीरे से बढ़ाते 25 तक ले जाइए आप देखेंगे काफी जबरदस्त एनर्जी फ्लो आपके शरीर में बना हुआ है और डिप्रेशन थकान यह तो कल की भूली बातें हो जाएंगे और पुरानी बातों को ज्यादा सोचा नहीं खुश रहें स्वस्थ रहें बाहर टहलने जाए पेड़-पौधों ग्रीनरी में पहले तो एक अच्छा सा टॉप के दिमाग में डालेगा धन्यवाद

namaskar main busy sony baat kar raha hoon aapka sawaal hai kaun si sthiti adhivrikk takano purane tanaav ka ilaj karti hai toh isme mein teen cheezen bataana chahunga pehla hoga ujjai pranayaam jisme om ka ucharan kiya jata hai toh ise 2 minute se lekar aap 10 minute tak badha sakte hain ise kijiye aap ek accha khasa sudhaar dekhenge abhi main tanaav ki baat kar raha hoon doosra mein aata hoon meditation meditation of kijiye isme kya hota hai jawab meditation karte lambi gehri saans le sukhasan mein baithen gyaan mudra mein aur dhyan ko saanso par tikaye lambi gehri saans le chode yah 2 minute se lekar aap maiksan 20 minute tak le ja sakte hain koi dikkat nahi hai ab isme kya hota hai jab aap meditation karte hain toh hamare brain ke kuch aur hota hai jisme haiparapthalmas ho gaya parantu logo ho gaya toh perfect hone ka kya matlab hai vaah organ fasal mein rispansibal hota hai neuro sentreshan rijenreshan pituitary gland hamare nervous system ko control karne ke liye chahen vaah dard mehsus karo chahen hamari emotional socho toh sab chijon ko vaah control karne par kaam karte hain toh meditation kijiye aap bahut bada antar dekhenge apne jeevan mein uske baad main teesra aata hoon thakan par thakan ka kya kare toh uske liye aap svasan kriya kijiye aap late jaiye hathon khol ke chatai ya phir bistar mein takiya na lagaye toh behtar hai aur lambi gehri saans le aur swasthya par hi dhyan tikar hai soye nahi jagruk paristithi mein rahe lekin kuch soche nahi phir bhi aapko sochna hai toh apne sharir ke angon ka vishleshan kar le lekin soye nahi aur agar galti se aap so bhi jaate hain toh koi dikkat nahi kyonki aapko neend aayegi is paristithi mein toh aap kahin kahin vishram ki paristithi mein jaenge aur thakan nahi hogi toh ise bhi apanaen aap svasan kriya ise bhi aap kar sakte hain 5 minute se lekar 20 minute tak toh galti se koi dikkat nahi lekin phir bhi jagruk par sthit amrit maine teen chijon ki baat ki yahan par ujjai pranayaam jisme unka ucharan hota hai meditation aur shwasan kriya ab main aata hoon ab jab kuch samay baad aap yah tatvo kar lenge kuch accha mehsus karne lage toh aap surya namaskar kijiye ek surya namaskar 12 aasan hote hain toh aap do surya namaskar se shuruat ki jo dhire dhire se badhate 25 tak le jaiye aap dekhenge kaafi jabardast energy flow aapke sharir mein bana hua hai aur depression thakan yah toh kal ki bhuli batein ho jaenge aur purani baaton ko zyada socha nahi khush rahein swasthya rahein bahar tahlane jaaye ped paudho greenery mein pehle toh ek accha sa top ke dimag mein dalega dhanyavad

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है कौन सी स्थिति अधिवृक्क टकानो पुराने तनाव

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  408
WhatsApp_icon
play
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

थकान और तनाव का इलाज केवल और केवल रिलैक्सेशन से होता है दवाइयों से होता है परंतु उसका साइड इफेक्ट होता है और अगर मनुष्य को अकल है तो वह बिना फालतू के तनाव लेता नहीं है क्योंकि भूतकाल का तनाव लेने में कोई मतलब नहीं होता क्यों जो बीत चुका है भविष्य अभी आया नहीं है तो उसका भी तनाव लेने का कोई मतलब नहीं है भविष्य में क्या होगा क्या नहीं होगा उसको तनाव लेने कोई मतलब नहीं है वर्तमान में तनाव होता नहीं है तो आपकी अपने आप ठीक होने लगेगी ठीक है धन्यवाद नमस्कार

thakan aur tanaav ka ilaj keval aur keval Relaxation se hota hai dawaiyo se hota hai parantu uska side effect hota hai aur agar manushya ko akal hai toh vaah bina faltu ke tanaav leta nahi hai kyonki bhootkaal ka tanaav lene mein koi matlab nahi hota kyon jo beet chuka hai bhavishya abhi aaya nahi hai toh uska bhi tanaav lene ka koi matlab nahi hai bhavishya mein kya hoga kya nahi hoga usko tanaav lene koi matlab nahi hai vartaman mein tanaav hota nahi hai toh aapki apne aap theek hone lagegi theek hai dhanyavad namaskar

थकान और तनाव का इलाज केवल और केवल रिलैक्सेशन से होता है दवाइयों से होता है परंतु उसका साइड

Romanized Version
Likes  149  Dislikes    views  2239
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!