एक वैज्ञानिक के लिए योग का क्या महत्व है क्या वैज्ञानिक को शारीरिक व्यायाम पर योग पसंद करना चाहिए?...


user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

4:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है एक वैज्ञानिक के लिए योग का क्या महत्व है क्या वैज्ञानिक को शारीरिक व्यायाम पर योग पसंद करना चाहिए इसका उत्तर है योग जो है यह किसी भी व्यक्ति के शरीर में जो भी कमियां हैं उसको दूर करने का कार्य करता है युग के लिए स्लोगन है करें योग रहें निरोग बात एक सामान्य व्यक्ति पर भी लागू होती है वही बात वैज्ञानिक पर भी लागू होती है वैज्ञानिक विचार से वैज्ञानिक है विज्ञान का अध्ययन करके वैज्ञानिक बना है जैसी हमारी शरीर है जैसी आपकी शरीर है और शरीर वैज्ञानिक की भी है और योग जो है वह वैज्ञानिक के और हमारे आपके शरीर को ही करता है यू करता क्या है जब हम नियमित योग करते हैं तो हमारे अंदर सकारात्मक सोच बढ़ती है नकारात्मक सोच समाप्त होती यही अच्छाइयां हमारे अंदर भर जाएंगी बुराई समाप्त हो जाएगी गुस्सा आ रहा है वह धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगा हमारे अंदर छोटी-बड़ी जो भी बीमारी कमी है योग करने से धीरे-धीरे दूर हो जाएगी अगर कोई बीमारी प्रारंभिक स्टेज में है तो हम समाप्त हो जाएगी नियमित योग करेंगे तो रोग प्रतिरोधी क्षमता आपकी इतनी बढ़ जाएगी कि किसी अन्य बीमारी का के ऊपर प्रभाव नहीं पड़ेगा अब यह जितनी बातें हम बताएं हैं वह एक सामान्य व्यक्ति पर भी लागू है और वैज्ञानिक पर भी लागू है तो वैज्ञानिक अपने कर्म से वैज्ञानिक हैं शरीर तो वैज्ञानिक की कि वही है उनको भी इन सब चीजों की जरूरत है आवश्यकता है हमारी दो प्रकार की शरीर है एक बार शरीर दूसरा आंतरिक शरीर आसन प्राणायाम कोई भी व्यायाम कोई भी सर साइज करने से जब आसन व्यायाम अन्य प्राणी सर्च करेंगे तो हमारी बाय शरीर से लेकिन हमारी दो प्रकार की शरीर हेतु आंतरिक शरीर है जो हमारा हृदय है पड़ा है किडनी है पैंक्रियाज है इन सब कोई मजबूत बनाने के लिए प्राणायाम करना जरूरी है यह बैग यानी के लिए भी उतना ही जरूरी है जितना एक सामान्य व्यक्ति के लिए तो आपको मानना ना मानना करना 9:00 करना लाभ लेना लाभ न देना यह आपके ऊपर निर्भर है बाकी योग करने से एक वैज्ञानिक को भी उतना ही लाभ होगा जितना एक सामान्य व्यक्ति को तो हमारी सोच से तो बिग बैग यानी को भी योग के महत्व को समझना चाहिए हमसे आप से अधिक वैज्ञानिक युग के महत्व को जानते होंगे इसलिए वैज्ञानिक को शारीरिक व्यायाम पर युग को अधिक पसंद करना चाहिए क्योंकि शारीरिक व्यायाम आपकी बाय शरीर को मजबूत बनाएगा और योग आपकी बाय शरीर और आंतरिक शरीर दोनों को सुदृढ़ बनाएगा स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क रहता है जब आप योग करेंगे तू करें योग रहें निरोग जवाब निरोग रहेंगे तो स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क रहता है इस प्रकार किसी के भी किसी के लिए चाय व सामान्य व्यक्ति चाहे वह वैज्ञानिक हो चाहे वह इंजीनियर हो चाहे कोई भी हो सब के लिए योग बहुत ही आवश्यक है इस तरह सिखा दीजिए योग अनिवार्य करें योग रहें निरोग

prashna hai ek vaigyanik ke liye yog ka kya mahatva hai kya vaigyanik ko sharirik vyayam par yog pasand karna chahiye iska uttar hai yog jo hai yah kisi bhi vyakti ke sharir me jo bhi kamiyan hain usko dur karne ka karya karta hai yug ke liye slogan hai kare yog rahein nirog baat ek samanya vyakti par bhi laagu hoti hai wahi baat vaigyanik par bhi laagu hoti hai vaigyanik vichar se vaigyanik hai vigyan ka adhyayan karke vaigyanik bana hai jaisi hamari sharir hai jaisi aapki sharir hai aur sharir vaigyanik ki bhi hai aur yog jo hai vaah vaigyanik ke aur hamare aapke sharir ko hi karta hai you karta kya hai jab hum niyamit yog karte hain toh hamare andar sakaratmak soch badhti hai nakaratmak soch samapt hoti yahi achaiya hamare andar bhar jayegi burayi samapt ho jayegi gussa aa raha hai vaah dhire dhire samapt ho jaega hamare andar choti badi jo bhi bimari kami hai yog karne se dhire dhire dur ho jayegi agar koi bimari prarambhik stage me hai toh hum samapt ho jayegi niyamit yog karenge toh rog pratirodhi kshamta aapki itni badh jayegi ki kisi anya bimari ka ke upar prabhav nahi padega ab yah jitni batein hum bataye hain vaah ek samanya vyakti par bhi laagu hai aur vaigyanik par bhi laagu hai toh vaigyanik apne karm se vaigyanik hain sharir toh vaigyanik ki ki wahi hai unko bhi in sab chijon ki zarurat hai avashyakta hai hamari do prakar ki sharir hai ek baar sharir doosra aantarik sharir aasan pranayaam koi bhi vyayam koi bhi sir size karne se jab aasan vyayam anya prani search karenge toh hamari bye sharir se lekin hamari do prakar ki sharir hetu aantarik sharir hai jo hamara hriday hai pada hai KIDNEY hai pancreas hai in sab koi majboot banane ke liye pranayaam karna zaroori hai yah bag yani ke liye bhi utana hi zaroori hai jitna ek samanya vyakti ke liye toh aapko manana na manana karna 9 00 karna labh lena labh na dena yah aapke upar nirbhar hai baki yog karne se ek vaigyanik ko bhi utana hi labh hoga jitna ek samanya vyakti ko toh hamari soch se toh big bag yani ko bhi yog ke mahatva ko samajhna chahiye humse aap se adhik vaigyanik yug ke mahatva ko jante honge isliye vaigyanik ko sharirik vyayam par yug ko adhik pasand karna chahiye kyonki sharirik vyayam aapki bye sharir ko majboot banayega aur yog aapki bye sharir aur aantarik sharir dono ko sudridh banayega swasth sharir me swasth mastishk rehta hai jab aap yog karenge tu kare yog rahein nirog jawab nirog rahenge toh swasth sharir me swasth mastishk rehta hai is prakar kisi ke bhi kisi ke liye chai va samanya vyakti chahen vaah vaigyanik ho chahen vaah engineer ho chahen koi bhi ho sab ke liye yog bahut hi aavashyak hai is tarah sikha dijiye yog anivarya kare yog rahein nirog

प्रश्न है एक वैज्ञानिक के लिए योग का क्या महत्व है क्या वैज्ञानिक को शारीरिक व्यायाम पर यो

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  2703
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!