सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है?...


play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

2:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार का उद्देश्य है कि शरीर को और मानसिक व शारीरिक 1765 में बताओगी जहां मैंने पहले पढ़ा था कि सूर्य नमस्कार क्या है ठीक है तो सूर्य नमस्कार योगासनों में सर्वश्रेष्ठ प्रक्रिया सूर्य नमस्कार का शाब्दिक अर्थ सूर्य को अर्पण या नमस्कार करना है यह योग आसन शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का उत्तम तरीका है ठीक है यह अकेला अभ्यासी सार्थक को संपूर्ण योग व्यायाम का लाभ पहुंचाने में समर्थ है ठीक है इसके अभ्यास से साधक का शरीर निरोग और स्वस्थ होकर तेजस्वी हो जाता है तभी तो शास्त्र में खा गया है आदित्य सर नमस्कार अंकुर बंसल देने देने जन्मांतर शास्त्री सुधारित रन इसका अर्थ है जो लोग सूर्य को प्रतिदिन नमस्कार करते हैं उन्हें शत्रु जन्मा दरिद्रता प्राप्त नहीं होती ओके ठीक है आप समझ गए होगे ठीक है असल में सूर्य नमस्कार कैसे करें तो सूर्य नमस्कार का उद्देश्य मुख्य रूप से आपके अंदर एक ऐसा आया निर्मित करना है जहां के भौतिक चक्र सूर्य सूर्य के चक्रों के ताल में होते हैं और यह चक्र लगभग 12 साल और 3 महीने का होता है ठीक है यह कोई संयोग नहीं है बल्कि जानबूझकर इसमें 12 मुद्राएं या 12 आसन बनाई गई अगर आपके तंत्र में सक्रियता और तैयारी का एक निश्चित स्तर है और वह ग्रहण शीलता की एक बेहतर अवस्था में है तो कुदरती तौर पर आपका चक्र और चक्र सितंबर में होगा ठीक है तो सूर्य नमस्कार शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का तरीका है मानसिक और शारीरिक तरीके स्वस्थ रहें और पेट्रो है ठीक है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

bahut accha prashna surya namaskar ka uddeshya kya hai surya namaskar ka uddeshya hai ki sharir ko aur mansik va sharirik 1765 mein bataogi jaha maine pehle padha tha ki surya namaskar kya hai theek hai toh surya namaskar yogasanon mein sarvashreshtha prakriya surya namaskar ka shabdik arth surya ko arpan ya namaskar karna hai yah yog aasan sharir ko sahi aakaar dene aur man ko shaant va swasthya rakhne ka uttam tarika hai theek hai yah akela abhyasi sarthak ko sampurna yog vyayam ka labh pahunchane mein samarth hai theek hai iske abhyas se sadhak ka sharir nirog aur swasthya hokar tejaswi ho jata hai tabhi toh shastra mein kha gaya hai aditya sir namaskar ankur bansal dene dene janmantar shastri sudharit run iska arth hai jo log surya ko pratidin namaskar karte hain unhe shatru janma daridrata prapt nahi hoti ok theek hai aap samajh gaye hoge theek hai asal mein surya namaskar kaise kare toh surya namaskar ka uddeshya mukhya roop se aapke andar ek aisa aaya nirmit karna hai jaha ke bhautik chakra surya surya ke chakron ke taal mein hote hain aur yah chakra lagbhag 12 saal aur 3 mahine ka hota hai theek hai yah koi sanyog nahi hai balki janbujhkar isme 12 mudraen ya 12 aasan banai gayi agar aapke tantra mein sakriyata aur taiyari ka ek nishchit sthar hai aur vaah grahan sheelta ki ek behtar avastha mein hai toh kudarati taur par aapka chakra aur chakra september mein hoga theek hai toh surya namaskar sharir ko sahi aakaar dene aur man ko shaant va swasthya rakhne ka tarika hai mansik aur sharirik tarike swasthya rahein aur petro hai theek hai aapka din shubha ho dhanyavad

बहुत अच्छा प्रश्न सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार का उद्देश्य है कि शरीर क

Romanized Version
Likes  366  Dislikes    views  4321
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!