सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है?...


play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

2:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार का उद्देश्य है कि शरीर को और मानसिक व शारीरिक 1765 में बताओगी जहां मैंने पहले पढ़ा था कि सूर्य नमस्कार क्या है ठीक है तो सूर्य नमस्कार योगासनों में सर्वश्रेष्ठ प्रक्रिया सूर्य नमस्कार का शाब्दिक अर्थ सूर्य को अर्पण या नमस्कार करना है यह योग आसन शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का उत्तम तरीका है ठीक है यह अकेला अभ्यासी सार्थक को संपूर्ण योग व्यायाम का लाभ पहुंचाने में समर्थ है ठीक है इसके अभ्यास से साधक का शरीर निरोग और स्वस्थ होकर तेजस्वी हो जाता है तभी तो शास्त्र में खा गया है आदित्य सर नमस्कार अंकुर बंसल देने देने जन्मांतर शास्त्री सुधारित रन इसका अर्थ है जो लोग सूर्य को प्रतिदिन नमस्कार करते हैं उन्हें शत्रु जन्मा दरिद्रता प्राप्त नहीं होती ओके ठीक है आप समझ गए होगे ठीक है असल में सूर्य नमस्कार कैसे करें तो सूर्य नमस्कार का उद्देश्य मुख्य रूप से आपके अंदर एक ऐसा आया निर्मित करना है जहां के भौतिक चक्र सूर्य सूर्य के चक्रों के ताल में होते हैं और यह चक्र लगभग 12 साल और 3 महीने का होता है ठीक है यह कोई संयोग नहीं है बल्कि जानबूझकर इसमें 12 मुद्राएं या 12 आसन बनाई गई अगर आपके तंत्र में सक्रियता और तैयारी का एक निश्चित स्तर है और वह ग्रहण शीलता की एक बेहतर अवस्था में है तो कुदरती तौर पर आपका चक्र और चक्र सितंबर में होगा ठीक है तो सूर्य नमस्कार शरीर को सही आकार देने और मन को शांत व स्वस्थ रखने का तरीका है मानसिक और शारीरिक तरीके स्वस्थ रहें और पेट्रो है ठीक है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

bahut accha prashna surya namaskar ka uddeshya kya hai surya namaskar ka uddeshya hai ki sharir ko aur mansik va sharirik 1765 mein bataogi jaha maine pehle padha tha ki surya namaskar kya hai theek hai toh surya namaskar yogasanon mein sarvashreshtha prakriya surya namaskar ka shabdik arth surya ko arpan ya namaskar karna hai yah yog aasan sharir ko sahi aakaar dene aur man ko shaant va swasthya rakhne ka uttam tarika hai theek hai yah akela abhyasi sarthak ko sampurna yog vyayam ka labh pahunchane mein samarth hai theek hai iske abhyas se sadhak ka sharir nirog aur swasthya hokar tejaswi ho jata hai tabhi toh shastra mein kha gaya hai aditya sir namaskar ankur bansal dene dene janmantar shastri sudharit run iska arth hai jo log surya ko pratidin namaskar karte hain unhe shatru janma daridrata prapt nahi hoti ok theek hai aap samajh gaye hoge theek hai asal mein surya namaskar kaise kare toh surya namaskar ka uddeshya mukhya roop se aapke andar ek aisa aaya nirmit karna hai jaha ke bhautik chakra surya surya ke chakron ke taal mein hote hain aur yah chakra lagbhag 12 saal aur 3 mahine ka hota hai theek hai yah koi sanyog nahi hai balki janbujhkar isme 12 mudraen ya 12 aasan banai gayi agar aapke tantra mein sakriyata aur taiyari ka ek nishchit sthar hai aur vaah grahan sheelta ki ek behtar avastha mein hai toh kudarati taur par aapka chakra aur chakra september mein hoga theek hai toh surya namaskar sharir ko sahi aakaar dene aur man ko shaant va swasthya rakhne ka tarika hai mansik aur sharirik tarike swasthya rahein aur petro hai theek hai aapka din shubha ho dhanyavad

बहुत अच्छा प्रश्न सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार का उद्देश्य है कि शरीर क

Romanized Version
Likes  366  Dislikes    views  4321
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पर्सनल सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार जो है वह योगासन है कंप्लीट योगासन है और योगासन और एक्सरसाइज दोनों के बीच की कड़ी भी है और जब हम लोग सफर करते हैं योगाभ्यास करते हैं तो हमको कुछ योग आसनों से पहले सूक्ष्म व्यायाम सिर्फ समीकरण रामवती कुछ एक्सरसाइज करनी पड़ती है ताकि हमारी मांसपेशियां जो है वह ढीली हो जाएं और शरीर दिखाई योगासन लगाने के लिए तैयार हो जाए तत्पश्चात हम अगले सत्र में सूर्य नमस्कार का अभ्यास करते हैं सूर्य नमस्कार के बाद हम योगासन करते हैं प्राणायाम और मेडिटेशन करते हैं तो इस प्रकार सूर्य नमस्कार योग आसन और एक्सरसाइज दोनों के बीच की कड़ी है और सूर्य नमस्कार अपने आप में स्वयं एक्सरसाइज भी है और योगासन भी है यदि हम सूर्य नमस्कार को फास्ट फॉर्मेट में करते हैं तो हमें एक्सरसाइज के लाभ मिलते हैं और अगर हम उसको स्लो प्रोसेस से करते हैं धीरे-धीरे गति से करते हैं तो हमको वह योगासन के लाभ प्रदान करता है इसीलिए सूर्य नमस्कार अति आवश्यक है धन्यवाद

aapka personal surya namaskar ka uddeshya kya hai surya namaskar jo hai vaah yogasan hai complete yogasan hai aur yogasan aur exercise dono ke beech ki kadi bhi hai aur jab hum log safar karte hain yogabhayas karte hain toh hamko kuch yog aasanon se pehle sukshm vyayam sirf samikaran ramvati kuch exercise karni padti hai taki hamari manspeshiya jo hai vaah dhili ho jaye aur sharir dikhai yogasan lagane ke liye taiyar ho jaaye tatpashchat hum agle satra mein surya namaskar ka abhyas karte hain surya namaskar ke baad hum yogasan karte hain pranayaam aur meditation karte hain toh is prakar surya namaskar yog aasan aur exercise dono ke beech ki kadi hai aur surya namaskar apne aap mein swayam exercise bhi hai aur yogasan bhi hai yadi hum surya namaskar ko fast format mein karte hain toh hamein exercise ke labh milte hain aur agar hum usko slow process se karte hain dhire dhire gati se karte hain toh hamko vaah yogasan ke labh pradan karta hai isliye surya namaskar ati aavashyak hai dhanyavad

आपका पर्सनल सूर्य नमस्कार का उद्देश्य क्या है सूर्य नमस्कार जो है वह योगासन है कंप्लीट योग

Romanized Version
Likes  164  Dislikes    views  2055
WhatsApp_icon
user

Jivananda Nitai Das

Yoga Instructor

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओशो जन्म उसका विच बेसिकली जो बॉडी में जो सूर्य ग्रंथि है जो सेट डाइजेस्टिव सिस्टम है इसमें जैसे बीमार हो गया पैंक्रियास हो गया स्टमक तो यह सब को सूर्य ग्रंथि बोला जाता है तो सूर्य ग्रंथि को एक्टिवेट करना तो इसकी वजह से बॉडी में डाइजेशन यार ब्लॉक से भी यह का नित्य थे तो यह सूर्य नमस्कार बोली को एक्टिवेट करता है डाइजेशन का एक्टिवेट करके इसको हर बॉडी फंक्शन का एक्टिवेट करते हैं तो इससे आपका मेटाबॉलिज्म अच्छा रहेगा फिर बॉडी में ब्लड का जो इम्यून सिस्टम इन सभी बढ़ जाएगा तो इससे क्या होता है फुल बॉडी फंक्शंस में इफेक्ट होता है

osho janam uska which basically jo body mein jo surya granthi hai jo set digestive system hai isme jaise bimar ho gaya pancreas ho gaya stomach toh yah sab ko surya granthi bola jata hai toh surya granthi ko activate karna toh iski wajah se body mein digestion yaar block se bhi yah ka nitya the toh yah surya namaskar boli ko activate karta hai digestion ka activate karke isko har body function ka activate karte hain toh isse aapka metabolism accha rahega phir body mein blood ka jo immune system in sabhi badh jaega toh isse kya hota hai full body fankshans mein effect hota hai

ओशो जन्म उसका विच बेसिकली जो बॉडी में जो सूर्य ग्रंथि है जो सेट डाइजेस्टिव सिस्टम है इसमें

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  338
WhatsApp_icon
user

Veena Gour

Yoga Instructor

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसमें क्या इतने 1209 जाते हैं अपने पूरे पर्वतासन दोबारा जाता उत्तानपादासन आ जाता भुजंगासन आ जाता चंद्र दर्शन आसन और उसमें एक साथ 12 पूरे आसन आते हैं इसलिए वह फायदेमंद रहता है और उससे क्या वजन बहुत जल्दी कम होता है उसको अगर आप शुरुआत में तीन बार स्टार्ट करेंगे फिर धीरे-धीरे 5 बार करेंगे फिर 7 बार 15 बार तो इससे क्या है प्रजेंट शुरू हो जाता है

usmein kya itne 1209 jaate hain apne poore parvatasan dobara jata uttanapadasan aa jata bhujangasan aa jata chandra darshan aasan aur usme ek saath 12 poore aasan aate hain isliye vaah faydemand rehta hai aur usse kya wajan bahut jaldi kam hota hai usko agar aap shuruat mein teen baar start karenge phir dhire dhire 5 baar karenge phir 7 baar 15 baar toh isse kya hai present shuru ho jata hai

उसमें क्या इतने 1209 जाते हैं अपने पूरे पर्वतासन दोबारा जाता उत्तानपादासन आ जाता भुजंगासन

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  322
WhatsApp_icon
user

Surendra Gurjar

Yoga Instructor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको मतलब एक ऐसी वो क्या है एक ऐसा वर्ड जिसमे आपको पूरी बॉडी की आपके सफेद हो जाती है सूर्य नमस्कार के 12 चरण होते हैं 12 चरण में हरे कमल हासन होती है एक्चुली आसन के नाम होते हैं इसमें तो अपन 12 शनि एक साथ करते हैं तो अगर कंटिन्यू अब यह 810 एस्ट्रेपिया 1520 जो भी अपने बॉडी की कैपेसिटी के अनुसार करते हैं तो आप और अगर कोई आसन करें या ना करें अगर इसको ही कर लेते हैं तो आपकी बॉडी मेकर एकदम फिट रहेगी

aapko matlab ek aisi vo kya hai ek aisa word jisme aapko puri body ki aapke safed ho jaati hai surya namaskar ke 12 charan hote hain 12 charan mein hare kamal hasan hoti hai ekchuli aasan ke naam hote hain isme toh apan 12 shani ek saath karte hain toh agar continue ab yah 810 estrepiya 1520 jo bhi apne body ki capacity ke anusaar karte hain toh aap aur agar koi aasan kare ya na kare agar isko hi kar lete hain toh aapki body maker ekdam fit rahegi

आपको मतलब एक ऐसी वो क्या है एक ऐसा वर्ड जिसमे आपको पूरी बॉडी की आपके सफेद हो जाती है सूर्य

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है सॉरी नमस्कार का उद्देश्य क्या है तो देखिए सर जी नमस्कार का उद्देश्य है बॉडी को शरीर को अलग जरूर करना दूसरा उसका कार्य शरीर की अतिरिक्त चर्बी को दूर करना यानी वेट लॉस वजन को कम करना पेट को कम करना और तीसरी चाहिए कि इस नमस्कार से बहुत सारे फायदे हैं जैसे एस्ट्रोलॉजिकल फायदा ही है क्योंकि सर नमस्कार मैं किसी की बुक में 12 वर्ष के 14 आसन को भी दर्शाया गया तो सॉरी नमस्कार उगते हुए सूरज के सामने स्नान आदि करने के बाद फ्रेश होने के बाद किया जाता है प्रत्येक आसनों के साथ 11 सर जी का मंत्र है जिसको बोलते हुए सूर्य नमस्कार को किया जाता है सर नमस्कार कम से कम तीन से चार राउंड करने से ज्यादा फायदा होता है सूर्य नमस्कार करने से सूर्य जो कुंडली में सूर्य की स्थिति होती है वह काफी मजबूत हो जाती है धन्यवाद

aapka question hai sorry namaskar ka uddeshya kya hai toh dekhiye sir ji namaskar ka uddeshya hai body ko sharir ko alag zaroor karna doosra uska karya sharir ki atirikt charbi ko dur karna yani wait loss wajan ko kam karna pet ko kam karna aur teesri chahiye ki is namaskar se bahut saare fayde jaise estrolajikal fayda hi hai kyonki sir namaskar main kisi ki book mein 12 varsh ke 14 aasan ko bhi darshaya gaya toh sorry namaskar ugate hue suraj ke saamne snan aadi karne ke baad fresh hone ke baad kiya jata hai pratyek aasanon ke saath 11 sir ji ka mantra hai jisko bolte hue surya namaskar ko kiya jata hai sir namaskar kam se kam teen se char round karne se zyada fayda hota hai surya namaskar karne se surya jo kundali mein surya ki sthiti hoti hai vaah kaafi majboot ho jaati hai dhanyavad

आपका क्वेश्चन है सॉरी नमस्कार का उद्देश्य क्या है तो देखिए सर जी नमस्कार का उद्देश्य है बॉ

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  978
WhatsApp_icon
user

Ajay Pal Singh

Yoga Instructor

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म स्टार में पैक्स पैक्स वीरा माता और जोक स्कूल वर्किंग वाला है ज्यादा सारे आदमी कर सकता है तो उसका पैसा भी कंप्लीट पैकेज

film star mein packs packs veera mata aur joke school working vala hai zyada saare aadmi kar sakta hai toh uska paisa bhi complete package

फिल्म स्टार में पैक्स पैक्स वीरा माता और जोक स्कूल वर्किंग वाला है ज्यादा सारे आदमी कर सकत

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!