हम योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं?...


user
3:51
Play

Likes  16  Dislikes    views  225
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के माध्यम से डिप्रेशन ठीक नहीं हुआ योगा की शारीरिक क्रिया है आपके सभी को खुश रखे और डिप्रेशन आपकी मानसिक डिप्रेशन से निपटने के लिए आपको ध्यान करना चाहिए ध्यान करने के लिए आप हार्टफुलनेस मेडिटेशन दे सकते हैं जो कि आपको यूट्यूब पर उपलब्ध हो जाएगा आसानी से वीडियो को स्टेज की कोई राशि नहीं ली जाएगी बिल्कुल निशुल्क है सुबह 6:50 पर ध्यान करना सिखाया जा रहा है कैसे करना है डिप्रेशन से बाहर निकाला

yog ke madhyam se depression theek nahi hua yoga ki sharirik kriya hai aapke sabhi ko khush rakhe aur depression aapki mansik depression se nipatane ke liye aapko dhyan karna chahiye dhyan karne ke liye aap hartafulnes meditation de sakte hain jo ki aapko youtube par uplabdh ho jaega aasani se video ko stage ki koi rashi nahi li jayegi bilkul nishulk hai subah 6 50 par dhyan karna sikhaya ja raha hai kaise karna hai depression se bahar nikaala

योग के माध्यम से डिप्रेशन ठीक नहीं हुआ योगा की शारीरिक क्रिया है आपके सभी को खुश रखे और डि

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1224
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल एवं योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो बिल्कुल आप योग के माध्यम से डिप्रेशन से निपट सकते हैं उसमें सबसे पहले आपको कुछ योगासन से युवक ने मोटर उठते हैं गाना सुना गया तेरे थोड़ा समय क्या कटिचक्रासन हो गया सूर्य नमस्कार हो क्या भुजंगासन हो गया और ऐतिहासिक शासन कर सकते हैं सर्वांगासन कर सकते तो यह कुछ आसान है जिनके माध्यम से आप तो आपकी बॉडी का अंदर का एक्सएक्सएल रीजन रेट होता है और आपकी बॉडी के अंदर एक पॉजिटिव हारमोंस रिलीज होता है और इसके बाद कुछ प्राणायाम है जैसे कि वस्त्र का है कपालभाति और अनुलोम विलोम मात्र यह तीन प्राणायाम और उसके बाद आप भंवरी करते हैं तो आपको जरूर लाभ मिलेगा

aapka sawaal evam yog ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hain toh bilkul aap yog ke madhyam se depression se nipat sakte hain usme sabse pehle aapko kuch yogasan se yuvak ne motor uthte hain gaana suna gaya tere thoda samay kya katichakrasan ho gaya surya namaskar ho kya bhujangasan ho gaya aur etihasik shasan kar sakte hain sarvangasan kar sakte toh yah kuch aasaan hai jinke madhyam se aap toh aapki body ka andar ka XXL reason rate hota hai aur aapki body ke andar ek positive hormones release hota hai aur iske baad kuch pranayaam hai jaise ki vastra ka hai kapalbhati aur anulom vilom matra yah teen pranayaam aur uske baad aap bhanvari karte hain toh aapko zaroor labh milega

आपका सवाल एवं योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो बिल्कुल आप योग के माध्यम

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
user

Manmohan Bhutada

Founder & Director - Yog Prayog

0:50
Play

Likes  244  Dislikes    views  2513
WhatsApp_icon
user

Hemraj Gurjar

Yoga Trainer

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के माध्यम से डिप्रेशन से आप निपट सकते हैं योग केंद्र ध्यान के जो सोपान किए गए हैं उनका नियमित अभ्यास करें और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से निजात पाएं धन्यवाद

yog ke madhyam se depression se aap nipat sakte hain yog kendra dhyan ke jo sopan kiye gaye hain unka niyamit abhyas kare aur depression jaisi samasyaon se nijat paen dhanyavad

योग के माध्यम से डिप्रेशन से आप निपट सकते हैं योग केंद्र ध्यान के जो सोपान किए गए हैं उनका

Romanized Version
Likes  224  Dislikes    views  3628
WhatsApp_icon
user

Atul Kumar

Yoga Trainer

0:48
Play

Likes  15  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
user

Prince raj uppal 🥰🥰

त्याग तपस्या और सेवा 😊💞🙏हर हर महादेव 🙏 ॐ नमः शिवाय... 😊💞🙏

0:46
Play

Likes  349  Dislikes    views  1699
WhatsApp_icon
user

Vimal Rana

Yoga Teacher

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए होता क्या है जब भी हम डिप्रेशन में जाते हैं तो हम बाहर की चीजों को भूल कर अपने ही मायाजाल में या अपनों के जान उसी में फस जाते हैं तरह-तरह की बातें हमारे दिमाग में आने लगती हैं हम उन्हीं को सोचते सोचते हो और ज्यादा डिप्रेशन में हो जाते हैं उसके लिए सबसे बढ़िया है आप नियम से योगाभ्यास करें योगाभ्यास से क्या होता है हम शारीरिक और मानसिक रूप से स्टॉक बनते हैं जब हमारा मन स्ट्रांग होगा तो हमारे में शक्ति आती है किसी भी पत्नी से लिखने के लिए हमारा मन स्ट्रांग रहता है तो हम उसके परिसर में या दबाव में नहीं आते हैं और ध्यान ध्यान काव्या जरूर करें मेडिटेशन एक ऐसी चीज है कि आप जब चाहे अपना ध्यान किसी भी चीज से हटा सकते और जहां चाहे वहां लगा सकते हैं

dekhiye hota kya hai jab bhi hum depression me jaate hain toh hum bahar ki chijon ko bhool kar apne hi mayajal me ya apnon ke jaan usi me fas jaate hain tarah tarah ki batein hamare dimag me aane lagti hain hum unhi ko sochte sochte ho aur zyada depression me ho jaate hain uske liye sabse badhiya hai aap niyam se yogabhayas kare yogabhayas se kya hota hai hum sharirik aur mansik roop se stock bante hain jab hamara man strong hoga toh hamare me shakti aati hai kisi bhi patni se likhne ke liye hamara man strong rehta hai toh hum uske parisar me ya dabaav me nahi aate hain aur dhyan dhyan kavya zaroor kare meditation ek aisi cheez hai ki aap jab chahen apna dhyan kisi bhi cheez se hata sakte aur jaha chahen wahan laga sakte hain

देखिए होता क्या है जब भी हम डिप्रेशन में जाते हैं तो हम बाहर की चीजों को भूल कर अपने ही मा

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  203
WhatsApp_icon
user

Swami Umesh Yogi

Peace-Guru (Global Peace Education)

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए आप प्राणायाम और मेडिटेशन करें इससे आपको बहुत ही लाभ मिलेगा ग्राउंडिंग मेडिटेशन भी कर सकते हैं ट्रांसलेट रजिस्ट्रेशन भी कर सकते हैं और यदि आप प्राणायाम के साथ में थोड़ा सा व्यायाम और सूर्य नमस्कार कर सकते हैं तो उसे भी बहुत लाभ

depression se mukt hone ke liye aap pranayaam aur meditation kare isse aapko bahut hi labh milega Grounding meditation bhi kar sakte hain translate registration bhi kar sakte hain aur yadi aap pranayaam ke saath me thoda sa vyayam aur surya namaskar kar sakte hain toh use bhi bahut labh

डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए आप प्राणायाम और मेडिटेशन करें इससे आपको बहुत ही लाभ मिलेगा ग

Romanized Version
Likes  380  Dislikes    views  3696
WhatsApp_icon
user

Akhil

Yoga Expert

1:00
Play

Likes  357  Dislikes    views  3617
WhatsApp_icon
play
user

Dr. R. K. Gupta

Yoga & Nature Care Health center

2:22

Likes  78  Dislikes    views  908
WhatsApp_icon
user

योगाचार्य S.S.Rawat🕉🔱🚩🙏

Lecturer Of Yog And Alternative Therapy

1:00
Play

Likes  68  Dislikes    views  1700
WhatsApp_icon
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या हम लोग से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं योग का मतलब होता है जब भी हम योग करते हैं शरीर के अंदर बैलेंस आता है तुम्हारी सोच के अंदर बैलेंस आने लगता है शरीर में मान लीजिए कि अगर ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है कोई भी कोई भी व्यक्ति नॉर्मल काम नहीं कर सकता माली जी उसका पिता बड़ा रहता है उसको डकारे आती हैं तो उसका हाइट जो होता है वह सही से काम नहीं करेगा उसके उसको हल कल की खांसी आने लगेगी और जब भी मौसम परिवर्तन होगा तो वह खांसी आने लगेगी उसको और उसको जुकाम खाती है बना रहेगा तो हमारे शरीर का जो पूरा मैकेनिज्म है वह डिस्टर्ब रहता है जब तक कि पूरे शरीर में हमारे जो शरीर में अगर तब तक बैलेंस नहीं रहेगा तब तक हमारे दिमाग के अंदर बैलेंस नहीं आएगा तो योग का मतलब होता है प्लस करना शरीर और दिमाग को प्लस कर देना दोनों को आत्मा रूपी परमात्मा से जोड़ देना और यह होता कैसे जब हमारा पूरा का पूरा शरीर एक अलार्म मैंट में आ जाता है उसे गाड़ी का नाम मैंट होता है उससे प्रमारा सोच अच्छी होती है सोच अच्छी होते होते हमारा जो हम पॉजिटिव ही रहने लगते हैं प्रसन्न रहें लगते हैं बात बात में मैं गुस्सा नहीं आता हमें चिड़चिड़ा हाट हमारी कम हो जाती है और हम किसी भी फील्ड में काम करते हैं तो हम बिल्कुल काम होकर काम करते हैं इसीलिए जो लोग वक्त खींचते हैं नेगेटिव रहते हैं गुस्सा होते हैं वही डिप्रेशन में आते हैं जो लोग जल्दबाजी में काम करते हैं बहुत ज्यादा एग्रेसिवली काम करते हैं वही लोग डिप्रेशन में आते हैं तो यह सारी चीजें योग के माध्यम से खत्म हो जाती है इसलिए हम डिप्रेशन से निपट सकते हैं योग के माध्यम से धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai kya hum log se depression se kaise nipat sakte hain yog ka matlab hota hai jab bhi hum yog karte hain sharir ke andar balance aata hai tumhari soch ke andar balance aane lagta hai sharir me maan lijiye ki agar blood pressure badha hua hai koi bhi koi bhi vyakti normal kaam nahi kar sakta maali ji uska pita bada rehta hai usko dakare aati hain toh uska height jo hota hai vaah sahi se kaam nahi karega uske usko hal kal ki khansi aane lagegi aur jab bhi mausam parivartan hoga toh vaah khansi aane lagegi usko aur usko zukam khati hai bana rahega toh hamare sharir ka jo pura maikenijm hai vaah disturb rehta hai jab tak ki poore sharir me hamare jo sharir me agar tab tak balance nahi rahega tab tak hamare dimag ke andar balance nahi aayega toh yog ka matlab hota hai plus karna sharir aur dimag ko plus kar dena dono ko aatma rupee paramatma se jod dena aur yah hota kaise jab hamara pura ka pura sharir ek alarm maint me aa jata hai use gaadi ka naam maint hota hai usse pramara soch achi hoti hai soch achi hote hote hamara jo hum positive hi rehne lagte hain prasann rahein lagte hain baat baat me main gussa nahi aata hamein chidchida haate hamari kam ho jaati hai aur hum kisi bhi field me kaam karte hain toh hum bilkul kaam hokar kaam karte hain isliye jo log waqt khichte hain Negative rehte hain gussa hote hain wahi depression me aate hain jo log jaldabaji me kaam karte hain bahut zyada egresivali kaam karte hain wahi log depression me aate hain toh yah saari cheezen yog ke madhyam se khatam ho jaati hai isliye hum depression se nipat sakte hain yog ke madhyam se dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या हम लोग से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं योग का मतलब होता है ज

Romanized Version
Likes  187  Dislikes    views  1837
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास क्वेश्चन सी दवाई देनी चाहिए

pranayaam aur dhyan ka abhyas question si dawai deni chahiye

प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास क्वेश्चन सी दवाई देनी चाहिए

Romanized Version
Likes  162  Dislikes    views  1091
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

0:16

Likes  251  Dislikes    views  2851
WhatsApp_icon
user

xyz

nothing

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर संसार में डिप्रेशन से डिप्रेशन को ठीक करना है संसार में एक ही चीज है और वह है योग अगर योगा ढंग से करेंगे और किसी अच्छे टीचर के सामने थे में करेंगे तो आपका डिप्रेशन पूरी तरह से खत्म हो जाएगा डिप्रेशन योग करने से क्या होता है हमारे ब्रेन में गामा लेवल जो है बढ़ जाता है और डिप्रेशन में क्या होता है कि गामा लेवल कम हो जाता है मुझे कम योग करते हैं तो का मानदेय बढ़ बढ़ जाता है तो डिप्रेशन आपसे आपसे ठीक हो जाता है यह रिसर्च में भी पाया गया है कई रिसर्च पिक्चर योगा पर जो का मानदेय बढ़ा है योगा करने से और डिप्रेशन वालों का जो काम आने पर हमेशा कम हो जाता है और जब योगा करेंगे तो काम वाले दिन भर जाएगा जयवीर भाटी के मध्य प्रदेश खत्म थैंक यू धन्यवाद

agar sansar mein depression se depression ko theek karna hai sansar mein ek hi cheez hai aur vaah hai yog agar yoga dhang se karenge aur kisi acche teacher ke saamne the mein karenge toh aapka depression puri tarah se khatam ho jaega depression yog karne se kya hota hai hamare brain mein gama level jo hai badh jata hai aur depression mein kya hota hai ki gama level kam ho jata hai mujhe kam yog karte hain toh ka manday badh badh jata hai toh depression aapse aapse theek ho jata hai yah research mein bhi paya gaya hai kai research picture yoga par jo ka manday badha hai yoga karne se aur depression walon ka jo kaam aane par hamesha kam ho jata hai aur jab yoga karenge toh kaam waale din bhar jaega jayvir bhati ke madhya pradesh khatam thank you dhanyavad

अगर संसार में डिप्रेशन से डिप्रेशन को ठीक करना है संसार में एक ही चीज है और वह है योग अगर

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1757
WhatsApp_icon
user

Aparesh

Yoga Instructor

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि आपको योग के सहारे डिप्रेशन से निपटना है तो उसके लिए आपको अच्छे टीचर का चुनना अत्यंत आवश्यक है ऐसा टीचर चुनें जो आपको पॉजिटिव रहा पर लेकर जाएं और आपके सायकोलॉजी की हिसाब से आपको योगा सिखाएं

yadi aapko yog ke sahare depression se nipatna hai toh uske liye aapko acche teacher ka chunana atyant aavashyak hai aisa teacher chune jo aapko positive raha par lekar jayen aur aapke saykolaji ki hisab se aapko yoga sikhayen

यदि आपको योग के सहारे डिप्रेशन से निपटना है तो उसके लिए आपको अच्छे टीचर का चुनना अत्यंत आव

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  445
WhatsApp_icon
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योगासनों का एक अंग प्राणायाम है प्राणायाम के माध्यम से स्वास्थ्य को नियंत्रित किया जाता है जिससे तन और मन को शांति प्राप्त होती है तो योगासन और प्राणायाम डिप्रेशन के लिए बहुत अच्छी चीजें हैं उसे जरूर करना चाहिए

yogasanon ka ek ang pranayaam hai pranayaam ke madhyam se swasthya ko niyantrit kiya jata hai jisse tan aur man ko shanti prapt hoti hai toh yogasan aur pranayaam depression ke liye bahut achi cheezen hain use zaroor karna chahiye

योगासनों का एक अंग प्राणायाम है प्राणायाम के माध्यम से स्वास्थ्य को नियंत्रित किया जाता है

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1436
WhatsApp_icon
user

Dhananjay Janardan Suryavanshi

Founder & Director - Yogeej Meditation

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के माध्यम से डिप्रेशन आराम से निकाल सकते हैं क्योंकि डिप्रेशन की एक अवस्था है और योग और प्राणायाम के बाद जो धारणा ध्यान समाधि करते तो ध्यान में डिप्रेशन चला जाता जो भी कुछ नेगेटिविटी है वह पूरे बदन से मन से चली जाती और अपना भाई अमन और अंतर्मन से एक हो जाता है तो डिप्रेशन नाम की कोई चीज रहती ही नहीं पूरे सकारात्मक जीवन यापन कर सकते हैं

yog ke madhyam se depression aaram se nikaal sakte hain kyonki depression ki ek avastha hai aur yog aur pranayaam ke baad jo dharana dhyan samadhi karte toh dhyan mein depression chala jata jo bhi kuch negativity hai vaah poore badan se man se chali jaati aur apna bhai aman aur antarman se ek ho jata hai toh depression naam ki koi cheez rehti hi nahi poore sakaratmak jeevan yaapan kar sakte hain

योग के माध्यम से डिप्रेशन आराम से निकाल सकते हैं क्योंकि डिप्रेशन की एक अवस्था है और योग औ

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1310
WhatsApp_icon
user

Dharminder Kumar

Yoga Trainer

2:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि हम जो के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निकल सकते हैं जॉब ही एक ऐसा माध्यम है जो डिप्रेशन को बहुत आराम से ठीक कर देता है आप प्राणायाम करेंगे सुबह उठकर प्राणायाम के बाद आधा घंटा आसन करें मुख्य 80 सिंहासन बावरी मस्जिद का ओम शब्द का उच्चारण यह ज्यादा से ज्यादा करेंगे और जब आदमी को पता चल जाए कि मैंने डिप्रेशन से निकलना है डिप्रेशन कोई बड़ी बीमारी नहीं है अगर उसको मन को देख आपने सभी लिया कैसे निकलना है और जोगा स्टार्ट कर देते हैं ग्रुप में जाकर करेंगे तो बहुत ही अच्छा होगा जगह जहां पर 40 50 लोग करते हैं वहां पर एक आदत सी बन जाती है योगा करने की क्लास में जाकर जोगा करें वहां का माहौल अलग होता है अकेला आदमी योगा भी करता है तो उसका मरने पर नैतिकता खासकर डिप्रेशन के पेशेंट को अगर एक रूटीन बन जाए उसका एक घर का ही एक साथी उसको साथ लेकर जाए किसी बड़ी क्लास में जहां पर पांच-पांच मिनट तक कम से कम हथियों कराया जाए सिंहासन के अलग-अलग तीन तरह से कराया जाए जोर से रामफल का फिर और शुद्धि उसको कराई जाए जल क्रिया रबड़ नेति सूत्र नेती फिर इसी प्रकार डिप्रेशन से निकलना कोई मुश्किल काम नहीं है एक अपने मन का विचार है वह इटिविटी मन में आ जाएगी तो डिप्रेशन अपने आप निकल जाएगा आप जोगा स्टार्ट करें डिप्रेशन से ठीक हो जाएगा ठीक है धन्यवाद

aapne poocha hai ki hum jo ke madhyam se depression se kaise nikal sakte hain job hi ek aisa madhyam hai jo depression ko bahut aaram se theek kar deta hai aap pranayaam karenge subah uthakar pranayaam ke baad aadha ghanta aasan kare mukhya 80 sinhaasan babri masjid ka om shabd ka ucharan yah zyada se zyada karenge aur jab aadmi ko pata chal jaaye ki maine depression se nikalna hai depression koi badi bimari nahi hai agar usko man ko dekh aapne sabhi liya kaise nikalna hai aur joga start kar dete hain group mein jaakar karenge toh bahut hi accha hoga jagah jaha par 40 50 log karte hain wahan par ek aadat si ban jaati hai yoga karne ki class mein jaakar joga kare wahan ka maahaul alag hota hai akela aadmi yoga bhi karta hai toh uska marne par naitikta khaskar depression ke patient ko agar ek routine ban jaaye uska ek ghar ka hi ek sathi usko saath lekar jaaye kisi badi class mein jaha par paanch paanch minute tak kam se kam hathiyon karaya jaaye sinhaasan ke alag alag teen tarah se karaya jaaye jor se ramafal ka phir aur shudhi usko karai jaaye jal kriya rubber neti sutra neti phir isi prakar depression se nikalna koi mushkil kaam nahi hai ek apne man ka vichar hai vaah ETVT man mein aa jayegi toh depression apne aap nikal jaega aap joga start kare depression se theek ho jaega theek hai dhanyavad

आपने पूछा है कि हम जो के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निकल सकते हैं जॉब ही एक ऐसा माध्यम है

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  423
WhatsApp_icon
user

Yogacharya Bindu Rani

Yoga Instructor Yog Teacher Yogacharya=yogdham Yog Center In Meerut, 19 Years Experience,yoga Classes At Home Yoga, Mediation Classes, Aerobic Classes ,yoga Classes For Ladies, Power Yoga Classes, Pilates Yoga Classes, Yoga Classes For Children's, Yoga Classes For Pregnant Women, आयुर्वेदाचार्य, नैचुरोपैथी

2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम सुप्रभात प्रति व्यक्तियों के माध्यम से अपने मानसिक तनाव को समाप्त कर सकता है मानसिक अवसाद को समाप्त कर सकता है परंतु ने सोचा तो मैं स्वच्छ स्थान पर बैठकर सोचते मतदान करते योगाभ्यास गाना चाहिए एक सही होगा चाहे सहयोग करने के सानिध्य में लड़कियों का प्यार करें जिसमें सबसे उत्तम है प्राणायाम प्राणायाम करने का ध्यान करने से मनुष्य के मस्तिष्क की दो करो नस नाड़ियों पर रहती है और अब प्रकाश ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है जिसकी वजह से सकारात्मक ऊर्जा मस्तिष्क में रहते हैं मस्तिष्क को कोई रोग उत्पन्न नहीं होते आश्रय पूर्ण स्वस्थ रहता है और अपना दूर हो जाता है डिप्रेशन को दूर करने के लिए सर्वोत्तम प्रणाम है उसके प्रणाम प्रणाम साधना ब्राह्मणी प्राणायाम अनुलोम विलोम प्राणायाम सिद्धार्थन पर ध्यान होते हुए साथियों के साथ लंबी जाने सांसों के साथ सांसो पर ध्यान केंद्रित करते हुए ओम का उच्चारण करें कम से कम 11 से किस बात के बाद फ्री सहज समाधि में जाने से समाधि के बाद फिर लंबी गहरी सांस लेते हुए प्रणाम प्रार्थना करें सांसो पर ध्यान केंद्रित करें 5 मिनट तक इसका अभ्यास करें फीट लंबे चेहरे सांसों के साथ वापस लाएं अनुलोम विलोम का प्यार करें निकला पिंगला सुषुम्ना नाड़ी के साथ उसका प्रभाव से रक्त का संचार होता है और उसे सकारात्मकता बनी रहती है हमारा पूरा मस्तिक सानिया स्वस्थ रहती है अभ्यास करें सिर्फ 5 मिनट पर लंबित राम जी का प्यार करें भोले की तरह गुंजन करें बुरे की तरह गुंजन करने से नहीं माचिस की मांसपेशियों में उर्जा का प्रभाव रहता है और रक्त संचार किसे कहता है मनुष्य तुम सकारात्मक ऊर्जा से भरा रहता है कम से कम 11 से किस मात्रा में प्रणाम का प्रयास करें प्रशांत होते हुए प्राण साधना करें सांसों पर ध्यान केंद्रित करते हुए शहर समाधि में शांति से प्यार चलाएं

om suprabhat prati vyaktiyon ke madhyam se apne mansik tanaav ko samapt kar sakta hai mansik avsad ko samapt kar sakta hai parantu ne socha toh main swachh sthan par baithkar sochte matdan karte yogabhayas gaana chahiye ek sahi hoga chahen sahyog karne ke sanidhya mein ladkiyon ka pyar kare jisme sabse uttam hai pranayaam pranayaam karne ka dhyan karne se manushya ke mastishk ki do karo nas nadiyon par rehti hai aur ab prakash urja ka pravah bana rehta hai jiski wajah se sakaratmak urja mastishk mein rehte hain mastishk ko koi rog utpann nahi hote asray purn swasthya rehta hai aur apna dur ho jata hai depression ko dur karne ke liye sarvottam pranam hai uske pranam pranam sadhna brahmani pranayaam anulom vilom pranayaam siddharthan par dhyan hote hue sathiyo ke saath lambi jaane shanson ke saath saanso par dhyan kendrit karte hue om ka ucharan kare kam se kam 11 se kis baat ke baad free sehaz samadhi mein jaane se samadhi ke baad phir lambi gehri saans lete hue pranam prarthna kare saanso par dhyan kendrit kare 5 minute tak iska abhyas kare feet lambe chehre shanson ke saath wapas laye anulom vilom ka pyar kare nikala pingla sushumna naadi ke saath uska prabhav se rakt ka sanchar hota hai aur use sakaraatmakata bani rehti hai hamara pura mastisk saniya swasthya rehti hai abhyas kare sirf 5 minute par lambit ram ji ka pyar kare bhole ki tarah gunjan kare bure ki tarah gunjan karne se nahi machis ki mansapeshiyon mein urja ka prabhav rehta hai aur rakt sanchar kise kahata hai manushya tum sakaratmak urja se bhara rehta hai kam se kam 11 se kis matra mein pranam ka prayas kare prashant hote hue praan sadhna kare shanson par dhyan kendrit karte hue shehar samadhi mein shanti se pyar chalaye

ओम सुप्रभात प्रति व्यक्तियों के माध्यम से अपने मानसिक तनाव को समाप्त कर सकता है मानसिक अवस

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  497
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Soni

Yoga Instructor & Software Developer

2:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं अभिजीत सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है हम जो के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं मैं यहां पर तीन चीजों पर बात करूंगा प्राणायाम योगासन और ध्यान की मेडिटेशन की तो चलिए पहले आते हैं प्राणायाम पर आप प्रणब दिल्ली कीजिए उसमें पांच प्रणाम कीजिए कृतिका प्राणायाम कपालभाती प्राणायाम वही कुंभक प्राणायाम अनुलोम विलोम प्राणायाम और भ्रमरी प्राणायाम 10 मिनट से लेकर आप 30 मिनट तक टोटल इन पांचों का मिलाकर 10 मिनट से 30 मिनट तक कर सकते हैं दूसरा योगासन में मैं बोलूंगा सूर्य नमस्कार आप कीजिए दिल्ली दो साइकिल कीजिए एक साइकिल में 12 योगासन आते हैं तो दूसरे बढ़ाते हुए आप तो 10 या फिर 25 तक भी ले जा सकते हैं आप देखेंगे ब्लड सरकुलेशन बॉडी में जबरदस्त होगा और शरीर में थोड़ी सी थकावट आएगी तो इससे आप देखेंगे मन में कुछ चैलेंजिंग टास्क आने की एनर्जी प्रवाह होती आपको दिखाई देगी या ने आपकी बॉडी एनर्जी ठीक होगी डिप्रेशन आखिर क्यों आते हैं कहीं ना कहीं जीवन निर्देश से हो गया है कोई गोल नहीं है तो जीवन में कोई गोल भी बनाई है उस पर आपको एनर्जी भी मिलेगी एनर्जी योगासन प्राणायाम से मिलेगी और अंतिम बाद में बोलना चाहूंगा आप मेडिटेशन भी करें अब मेडिटेशन करने से क्या होगा आप दिमाग को शांत करके रीड की हड्डी सीधी करते हुए बैठे कम से कम 2 मिनट से लेकर आप 20 मिनट तक बढ़ा सकते हैं अब इसमें होता क्या है हमारे कुछ बैलेंस है जैसे कि हाइपोथैलेमस जो कंट्रोल करता है बहुत सारी चीजें जैसे की बॉडी का टेंपरेचर भूख लगना हमारा थकना सोना और मूड भी तो इन सब चीजों पर कंट्रोल आएगा जब तक आप करेंगे नहीं तब तक इन चीजों का फायदा नहीं होगा तो 2 मिनट से बात कीजिए लेकिन मेडिटेशन करें 30 मिनट तक आप बढ़ा सकते हैं शांति से बैठे हुए ज्यादा को सोचते हुए ने शुरुआत में कुछ थॉट्स आएंगे लेकिन आप पाएंगे कि धीरे-धीरे थॉट्स भी जाने लगे हैं तो कुछ बैलेंस है जैसे कि पिट्यूटरी ग्लैंड हाइपोथैलेमस और फ्रंटल लोगो जो कि दिमाग का फ्रंट भाग है जहां से इमोशंस न्यू लर्निंग की चीजें कंट्रोल होती है तो यह सब में सुधार आता है तो इसको सनराइज करना चाहूंगा प्रणाम योगासन और मेडिटेशन ऑफ करें सुधार दिखेगा धन्यवाद

namaskar main abhijeet sony baat kar raha hoon aapka sawaal hai hum jo ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hain main yahan par teen chijon par baat karunga pranayaam yogasan aur dhyan ki meditation ki toh chaliye pehle aate hain pranayaam par aap pranab delhi kijiye usme paanch pranam kijiye kritika pranayaam kapalbhati pranayaam wahi kumbhak pranayaam anulom vilom pranayaam aur bhramari pranayaam 10 minute se lekar aap 30 minute tak total in panchon ka milakar 10 minute se 30 minute tak kar sakte hain doosra yogasan mein main boloonga surya namaskar aap kijiye delhi do cycle kijiye ek cycle mein 12 yogasan aate hain toh dusre badhate hue aap toh 10 ya phir 25 tak bhi le ja sakte hain aap dekhenge blood sarakuleshan body mein jabardast hoga aur sharir mein thodi si thakawat aayegi toh isse aap dekhenge man mein kuch chailenjing task aane ki energy pravah hoti aapko dikhai degi ya ne aapki body energy theek hogi depression aakhir kyon aate hain kahin na kahin jeevan nirdesh se ho gaya hai koi gol nahi hai toh jeevan mein koi gol bhi banai hai us par aapko energy bhi milegi energy yogasan pranayaam se milegi aur antim baad mein bolna chahunga aap meditation bhi kare ab meditation karne se kya hoga aap dimag ko shaant karke read ki haddi seedhi karte hue baithe kam se kam 2 minute se lekar aap 20 minute tak badha sakte hain ab isme hota kya hai hamare kuch balance hai jaise ki haipothailemas jo control karta hai bahut saree cheezen jaise ki body ka temperature bhukh lagna hamara thakana sona aur mood bhi toh in sab chijon par control aayega jab tak aap karenge nahi tab tak in chijon ka fayda nahi hoga toh 2 minute se baat kijiye lekin meditation kare 30 minute tak aap badha sakte hain shanti se baithe hue zyada ko sochte hue ne shuruat mein kuch thoughts aayenge lekin aap payenge ki dhire dhire thoughts bhi jaane lage hain toh kuch balance hai jaise ki pituitary gland haipothailemas aur frontal logo jo ki dimag ka front bhag hai jaha se emotional new learning ki cheezen control hoti hai toh yah sab mein sudhaar aata hai toh isko Sunrise karna chahunga pranam yogasan aur meditation of kare sudhaar dikhega dhanyavad

नमस्कार मैं अभिजीत सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है हम जो के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे नि

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  386
WhatsApp_icon
user

Saroj Kumar Ksheti

Yoga Instructor/Practitioner

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं देखिए इधर-उधर के विचारों के चक्कर में मत पढ़िए आप अगर यह सवाल किसी को करेंगे तो 10 आदमी 10 प्रकार के विचार आपको देंगे तो इन चक्कर में मत पढ़िए उल्टा आप डिप्रेशन में और चले जाएंगे उसका विपरीत प्रभाव आपके में दिमाग पर पड़ सकता है तो सबसे पहले एक अच्छे साधक युवा को जानने वाले के पास चाहिए या फिर किसी से कोई उसके पास आप ठीक से चाहिए और उनसे अपनी स्थिति के बारे में ठीक से बताइए

hum yog ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hain dekhiye idhar udhar ke vicharon ke chakkar mein mat padhiye aap agar yah sawaal kisi ko karenge toh 10 aadmi 10 prakar ke vichar aapko denge toh in chakkar mein mat padhiye ulta aap depression mein aur chale jaenge uska viprit prabhav aapke mein dimag par pad sakta hai toh sabse pehle ek acche sadhak yuva ko jaanne waale ke paas chahiye ya phir kisi se koi uske paas aap theek se chahiye aur unse apni sthiti ke bare mein theek se bataiye

हम योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं देखिए इधर-उधर के विचारों के चक्कर में म

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar Gupta

Psychologist

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन कैन बे ट्रीटेड बाय फॉर्म को थेरेपी एस वेल एस साइकोलॉजिकल थेरेपी यू वांट टू डू मेडिटेशन इन दिस इज द राइटर काइंड ऑफ थर्ड मॉडल फॉर डिप्रेशन एवं फार्म को थेरेपी एंड साइकोलॉजिकल थेरेपी यू कैन मेडिटेशन मेडिटेशन

depression can be treated bye form ko therapy s well s saikolajikal therapy you want to do meditation in this is the writer chahinde of third model for depression evam form ko therapy and saikolajikal therapy you can meditation meditation

डिप्रेशन कैन बे ट्रीटेड बाय फॉर्म को थेरेपी एस वेल एस साइकोलॉजिकल थेरेपी यू वांट टू डू मेड

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

Kumar Ajit

Yoga Trainer (पतंजलि योग समिति योग शिक्षक)

2:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन हम योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो इसके लिए सबसे पहले तो आप जो है इसमें आपको तमोगुण बढ़ गया है इससे ज्यादा हो जाता है तो आपसे रजोगुण को बढ़ाएंगे खुश तो इसमें ठीक हो सकता है और ठीक होने में सहयोगी बन सकता है और जितना आप सकारात्मक लोगों के साथ रहे आप अपना उत्साह बनाने की चेष्टा करें नहीं है कभी भी गुस्सा वाली मोटिवेशनल उसे इस तरह के पुस्तकें पढ़ सकते हैं और उनके सानिध्य में रह सकते हैं इससे भी आप डिप्रेशन से बहुत हद तक ठीक कर सकते हैं आप पूछ रहे हैं कि योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं हम कुछ भी करते हैं वह योग से बाहर नहीं है वह योग्य केवी सात्विक है जो भी हम रूप से करते हैं अपने लिए हो या समस्ती के लिए वह पूरी तरह से योग है तो योगी के लिए योग का जो पैकेज है सामान्यतः लोगों ने जो बनाया है उसमें भ्रामरी प्राणायाम नाड़ी शोधन प्राणायाम अनुलोम-विलोम ध्यान और ओम का उच्चारण जिसको उद्गीथ बोलते हैं ना बोलते हैं ओम का उच्चारण आप करेंगे मतलब 5 मिनट ओम का उच्चारण करें और 10 बार आप बराबरी करें और 10 से 15 मिनट अनुलोम-विलोम करें 10 मिनट नाड़ी शोधन प्राणायाम करें तो निश्चय ही आपका डिप्रेशन आप जिस दिन करेंगे उसी दिन अंतर आ जाएगा उस दिन में समाप्त हो जाएगा

depression hum yog ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hai toh iske liye sabse pehle toh aap jo hai isme aapko tamogun badh gaya hai isse zyada ho jata hai toh aapse rajogun ko badhaenge khush toh isme theek ho sakta hai aur theek hone mein sahyogi ban sakta hai aur jitna aap sakaratmak logo ke saath rahe aap apna utsaah banane ki cheshta kare nahi hai kabhi bhi gussa wali Motivational use is tarah ke pustakein padh sakte hai aur unke sanidhya mein reh sakte hai isse bhi aap depression se bahut had tak theek kar sakte hai aap puch rahe hai ki yog ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hai hum kuch bhi karte hai vaah yog se bahar nahi hai vaah yogya kv Satvik hai jo bhi hum roop se karte hai apne liye ho ya samasti ke liye vaah puri tarah se yog hai toh yogi ke liye yog ka jo package hai samanyatah logo ne jo banaya hai usme bhramari pranayaam naadi sodhan pranayaam anulom vilom dhyan aur om ka ucharan jisko udgith bolte hai na bolte hai om ka ucharan aap karenge matlab 5 minute om ka ucharan kare aur 10 baar aap barabari kare aur 10 se 15 minute anulom vilom kare 10 minute naadi sodhan pranayaam kare toh nishchay hi aapka depression aap jis din karenge usi din antar aa jaega us din mein samapt ho jaega

डिप्रेशन हम योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो इसके लिए सबसे पहले तो आप जो

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

PANKAJ SHARMA

Yoga Instructor

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग अपने आप में पूरा है ब्रह्मांड योग अपने आप में ही हर समस्याओं का समाधान है इसलिए हमें स्तरप्लस नहीं उठाना चाहिए बस इसे करना चाहिए

yog apne aap mein pura hai brahmaand yog apne aap mein hi har samasyaon ka samadhan hai isliye hamein staraplas nahi uthana chahiye bus ise karna chahiye

योग अपने आप में पूरा है ब्रह्मांड योग अपने आप में ही हर समस्याओं का समाधान है इसलिए हमें स

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  346
WhatsApp_icon
user

सूर्य नारायण

योग शिक्षक

2:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हमारा चित्त स्थिर रहता है तो कोई भी तनाव आकर घेर लेता है आप पहले डिप्रेशन को समझ गए यह आता कैसे हैं यह तो ज्यादातर दो कारणों से आता है एक तो पास्ट को सोचकर जो बीते हुए समय में आपके साथ बीते हैं उसको याद करके दुखी होते हैं या तो फिर फ्यूचर से संबंधित अब भविष्य में हमने किसी चीज को लेकर निर्धारित किए हैं कि हमें यह करना है या हमें यह चाहिए और उसके पीछे भागते हैं और हमारा मन उसी और भागते रहता है यदि चीजें मिल रहा है तो हम खुश होते हैं और नहीं मिल रहा है तो दुखी होते हैं तो उस तनाव को समझना है खुश रहने की प्रक्रिया जो है उसे ढूंढना है हमारा योग यही सिखाता है पहला है जो प्रत्यय योग किसे कहते हैं तो योगा सचित्र वृत्ति निरोधा योग क्या करता है चित्र के वृत्तियों का जो भी है उसे स्वस्थ कर देता है जो भी अवचित मन बुद्धि अहंकार मन अब आपको कौन सा स्माइल सबकॉन्शियस माइंड अनकॉन्शियस माइंड अब जो भी हमारे कौन से स्मेल सबकॉन्शियस माइंड में गड़बड़ियां हैं उन सब को स्वस्थ करना है बुद्धि सही और गलत के फर्क करके सही पर चले वही बुद्धि है अहंकार में मेरा मेरे बिना हो नहीं सकता मैंने किया मैंने वह किया अभी है जो मानव बुद्धि अहंकार में जो गड़बड़ियां होते हैं जो विकार होते हैं उनको स्वस्थ करना ही योग होता है तुमने पहले बताया योग किसे कहते हैं योगा स्टेप चित्ता वृत्ति निरोधा चित्र की सारी भर्तियों का नाश कर देता है योग तो आप योग करें और डिप्रेशन जो भी है वह आराम से चला जाएगा

jab hamara chitt sthir rehta hai toh koi bhi tanaav aakar gher leta hai aap pehle depression ko samajh gaye yah aata kaise hain yah toh jyadatar do karanon se aata hai ek toh past ko sochkar jo bite hue samay mein aapke saath bite hain usko yaad karke dukhi hote hain ya toh phir future se sambandhit ab bhavishya mein humne kisi cheez ko lekar nirdharit kiye hain ki hamein yah karna hai ya hamein yah chahiye aur uske peeche bhagte hain aur hamara man usi aur bhagte rehta hai yadi cheezen mil raha hai toh hum khush hote hain aur nahi mil raha hai toh dukhi hote hain toh us tanaav ko samajhna hai khush rehne ki prakriya jo hai use dhundhana hai hamara yog yahi sikhata hai pehla hai jo pratyay yog kise kehte hain toh yoga sachitr vriti nirodha yog kya karta hai chitra ke vrittiyon ka jo bhi hai use swasthya kar deta hai jo bhi avachita man buddhi ahankar man ab aapko kaun sa smile subconscious mind anakanshiyas mind ab jo bhi hamare kaunsi smell subconscious mind mein gadabdiyan hain un sab ko swasthya karna hai buddhi sahi aur galat ke fark karke sahi par chale wahi buddhi hai ahankar mein mera mere bina ho nahi sakta maine kiya maine vaah kiya abhi hai jo manav buddhi ahankar mein jo gadabdiyan hote hain jo vikar hote hain unko swasthya karna hi yog hota hai tumne pehle bataya yog kise kehte hain yoga step chitta vriti nirodha chitra ki saree bhartiyo ka naash kar deta hai yog toh aap yog kare aur depression jo bhi hai vaah aaram se chala jaega

जब हमारा चित्त स्थिर रहता है तो कोई भी तनाव आकर घेर लेता है आप पहले डिप्रेशन को समझ गए यह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

3:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है कि योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो बिल्कुल योग के माध्यम से डिप्रेशन से निपट सकते हैं उसके लिए आपको योग के लिए तैयार करना पड़ेगा या नहीं आप बिल्कुल नियत समय पर सोएं और नियत समय पर नियत का अर्थ आप तो समझ गया ना निर्धारित समय पर सोना और निर्धारित समय पर जितना योगनिद्रा का समय 9:00 बजे का निर्धारित किया गया है योग में आज सुबह 3:00 से 4:00 के बीच में जगने का उस समय बिल्कुल अपने आपको योग के लिए तैयार करें निप्पों से निवृत्त होने के बाद आसन आदि करके आप वज्रासन में बैठ जाएं एक बार गाड़ी लंबी सांस और अंगूठे और तर्जनी के अग्रभाग दोनों हाथ में मिला लें दोनों जगह पर हाथ रखे तदुपरांत अभी से 25 मिनट आधा घंटा भी कर सकते हैं उसको 30 मिनट भी कर सकते हैं अपने आते-जाते प्रत्येक श्वास को देखें और देख पर चले जाएं ऐसा लिपस्टिक करें लास्ट भाग गए इसका पोजीशन रहेगा अब आपको अपना ध्यान दें और जगह लगाने की जरूरत है जिस जगह में बैठा रहा हूं अपना अपने दोनों वृकुटी ओके मत जिस जगह पर पुरुष तिलक करते हैं महिलाएं बिंदी लगाती हैं जिसे आज्ञा चक्र कहा गया है उस जगह पर अपने ध्यान को ले जाए और उस जगह को देखते थे गहराइयों में देखें और देखने चलेगा ध्यान इधर-उधर ना भटका है अगर ध्यान भटकता है तो तर्जनी के अग्र भाग को अंगूठे के अग्रभाग से काफी दबाकर रखें ध्यान आपका नहीं पड़ेगा और आप तो उस जगह को काफी देर तक 30 से 40 मिनट देखने का प्रयास करें तदुपरांत घुमा तो करा करें चेहरे पर फिर आए हाथों से सरकने आंखों को गर्म क्षमा प्रदान करें धीरे-धीरे आंखों को खोलें उसके बाद आप अनुलोम विलोम का प्रयोग करें फिर उसके बाद आप तीन बार गहरी लंबी सांस लेकर आंखों को धीरे देने के देखते हुए खोलने का प्रयास करें धन्यवाद

aapka question hai ki yog ke madhyam se depression se kaise nipat sakte hain toh bilkul yog ke madhyam se depression se nipat sakte hain uske liye aapko yog ke liye taiyar karna padega ya nahi aap bilkul niyat samay par soen aur niyat samay par niyat ka arth aap toh samajh gaya na nirdharit samay par sona aur nirdharit samay par jitna yognidra ka samay 9 00 baje ka nirdharit kiya gaya hai yog mein aaj subah 3 00 se 4 00 ke beech mein jagane ka us samay bilkul apne aapko yog ke liye taiyar kare nippon se sevanervit hone ke baad aasan aadi karke aap vajrasan mein baith jaye ek baar gaadi lambi saans aur anguthe aur tarjani ke agrabhag dono hath mein mila le dono jagah par hath rakhe taduprant abhi se 25 minute aadha ghanta bhi kar sakte hain usko 30 minute bhi kar sakte hain apne aate jaate pratyek swas ko dekhen aur dekh par chale jaye aisa lipstick kare last bhag gaye iska position rahega ab aapko apna dhyan de aur jagah lagane ki zarurat hai jis jagah mein baitha raha hoon apna apne dono vrikuti ok mat jis jagah par purush tilak karte hain mahilaye bindi lagati hain jise aagya chakra kaha gaya hai us jagah par apne dhyan ko le jaaye aur us jagah ko dekhte the gaharaiyon mein dekhen aur dekhne chalega dhyan idhar udhar na bhataka hai agar dhyan bhatakta hai toh tarjani ke agra bhag ko anguthe ke agrabhag se kaafi dabakar rakhen dhyan aapka nahi padega aur aap toh us jagah ko kaafi der tak 30 se 40 minute dekhne ka prayas kare taduprant ghuma toh kara kare chehre par phir aaye hathon se sarkane aankho ko garam kshama pradan kare dhire dhire aankho ko kholen uske baad aap anulom vilom ka prayog kare phir uske baad aap teen baar gehri lambi saans lekar aankho ko dhire dene ke dekhte hue kholne ka prayas kare dhanyavad

आपका क्वेश्चन है कि योग के माध्यम से डिप्रेशन से कैसे निपट सकते हैं तो बिल्कुल योग के माध्

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  987
WhatsApp_icon
user

Rajkumar Koree

Founder & Director - Fitstop Fitness Studio

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जवाब देने कपालभाति करेंगे तो आपके मन में काफी उत्पन्न होने वाले विचारों से आपको नीचा से जवाब नहीं होगा और एक्सरसाइज करते हैं तो आपके दिमाग की भी संतुलन स्थिति बनती है जिसे आप डिप्रेशन से काफी बाहर निकल सकते हैं इसलिए आपको देने से योगा करना चाहिए

jawab dene kapalbhati karenge toh aapke man mein kaafi utpann hone waale vicharon se aapko nicha se jawab nahi hoga aur exercise karte hain toh aapke dimag ki bhi santulan sthiti banti hai jise aap depression se kaafi bahar nikal sakte hain isliye aapko dene se yoga karna chahiye

जवाब देने कपालभाति करेंगे तो आपके मन में काफी उत्पन्न होने वाले विचारों से आपको नीचा से जव

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  884
WhatsApp_icon
user

Yogacharya Aaditya

Yoga Instructor

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन का तात्पर्य होता है विचारों का अस्त-व्यस्त रूप में और अत्यधिक मात्रा में मस्तिष्क में उठना यदि मस्तिष्क में विचार अस्त व्यस्त हैं और अत्यधिक मात्रा में उठ रहे हैं तो हमारा मस्तिष्क ठीक से काम नहीं करता और वह दबाव सील करने लगता है जिससे आपको समस्या फील होती है महसूस होती है तो उस समस्या जो आपको अनुभव में आई है उसमें सब को सॉल्व करने का एक साधारण तरीका है कि पहले आपके मस्तिष्क के विचारों को कम कीजिए किया जाए और उसके बाद विचारों को व्यवस्थित किया जाए इसके लिए योगाभ्यास में विशेष रूप से प्राणायाम बहुत लाभकारी है और प्राणायाम के साथ-साथ आपको मेडिटेशन का ध्यान बहुत आवश्यक है तो अनुलोम-विलोम भ्रामरी उदगीर इत्यादि प्राणायाम के साथ-साथ ध्यान का अभ्यास के लिए विशेष लाभकारी रहेगा

depression ka tatparya hota hai vicharon ka ast vyast roop mein aur atyadhik matra mein mastishk mein uthna yadi mastishk mein vichar ast vyast hai aur atyadhik matra mein uth rahe hai toh hamara mastishk theek se kaam nahi karta aur vaah dabaav seal karne lagta hai jisse aapko samasya feel hoti hai mehsus hoti hai toh us samasya jo aapko anubhav mein I hai usme sab ko solve karne ka ek sadhaaran tarika hai ki pehle aapke mastishk ke vicharon ko kam kijiye kiya jaaye aur uske baad vicharon ko vyavasthit kiya jaaye iske liye yogabhayas mein vishesh roop se pranayaam bahut labhakari hai aur pranayaam ke saath saath aapko meditation ka dhyan bahut aavashyak hai toh anulom vilom bhramari udgir ityadi pranayaam ke saath saath dhyan ka abhyas ke liye vishesh labhakari rahega

डिप्रेशन का तात्पर्य होता है विचारों का अस्त-व्यस्त रूप में और अत्यधिक मात्रा में मस्तिष्क

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  1418
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!