एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है?...


user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आप का सवाल है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम है योग क्या है तो एकाग्रता के लिए संपूर्ण योगाभ्यासी हमारी मदद करता है वह हमारी बॉडी पर ही नहीं माइंड पर भी वर्क करता है क्योंकि योगाभ्यास से पूरी बॉडी में ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है और बदमाश तक भी अच्छा संचार करता है जिसके वजह से हमारा दिमाग शांत रहता है और यानी कि हमारा एकाग्रता को बढ़ाता है और उसके कार्य क्षमता को बढ़ाता है और यदि मन की बात करूं तो ब्राह्मणी प्राणायाम एकाग्रता के लिए बहुत ही अच्छा है और क्रिया में त्राटक क्रिया माइंस को एकाग्र करने के लिए बहुत ज्यादा हेल्प सिद्ध हुई है और इसके लिए आप इन योगाभ्यास करते हैं तो आपको बेशक एक आफताब की बढ़ेगी और आप उसका लाभ उठा सकते हैं धन्यवाद रहिए मस्त रहिए व्यस्त रहिए धन्यवाद

namaste aap ka sawaal hai ekagrata ke liye sabse accha vyayam hai yog kya hai toh ekagrata ke liye sampurna yogabhyasi hamari madad karta hai vaah hamari body par hi nahi mind par bhi work karta hai kyonki yogabhayas se puri body me oxygen level badhta hai aur badamash tak bhi accha sanchar karta hai jiske wajah se hamara dimag shaant rehta hai aur yani ki hamara ekagrata ko badhata hai aur uske karya kshamta ko badhata hai aur yadi man ki baat karu toh brahmani pranayaam ekagrata ke liye bahut hi accha hai aur kriya me tratak kriya mines ko ekagra karne ke liye bahut zyada help siddh hui hai aur iske liye aap in yogabhayas karte hain toh aapko beshak ek aaftab ki badhegi aur aap uska labh utha sakte hain dhanyavad rahiye mast rahiye vyast rahiye dhanyavad

नमस्ते आप का सवाल है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम है योग क्या है तो एकाग्रता के लिए

Romanized Version
Likes  105  Dislikes    views  3520
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

dipti choudhary

Yoga Trainer

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवाल है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है तो एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा मेडिटेशन है मेडिटेशन करने से एकाग्रता बढ़ जाती है मेडिटेशन करने से ही हमारी चित्त की वृत्तियां ना सो जाती हैं और चंकी मंकी जो भर्तियां होती है ना उसी के वजह से हम एकाग्र नहीं हो पाते हैं एकाग्रता के लिए बहुत सारे ध्यान पद्धति हैं जैसे योगनिद्रा प्रेक्षा ध्यान विपश्यना यह सारे मेडिटेशन है और इसके रेगुलर प्रैक्टिस से एकाग्रता बढ़ जाती है

sawaal hai ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai toh ekagrata ke liye sabse accha meditation hai meditation karne se ekagrata badh jaati hai meditation karne se hi hamari chitt ki vrittiyan na so jaati hain aur chinki monkey jo bhartiyan hoti hai na usi ke wajah se hum ekagra nahi ho paate hain ekagrata ke liye bahut saare dhyan paddhatee hain jaise yognidra preksha dhyan vipashyana yah saare meditation hai aur iske regular practice se ekagrata badh jaati hai

सवाल है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है तो एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा म

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  702
WhatsApp_icon
user

योगाचार्य S.S.Rawat🕉🔱🚩🙏

Lecturer Of Yog And Alternative Therapy

0:20
Play

Likes  63  Dislikes    views  1605
WhatsApp_icon
user

Pardeep

Naturopath

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा क्या है मैं मानता अनुलोम विलोम है भ्रामरी है भस्त्रिका है और इसमें आवासन है यह प्रणाम बहुत जबरदस्त आपको लाभ देते हैं एक बार आप अपने को करके देखिए और उनका परिणाम आपको बहुत अच्छा मिलेगा कब तक मिलेगा धन्यवाद

ekagrata badhane ke liye sabse accha kya hai main maanta anulom vilom hai bhramari hai bhastrika hai aur isme avasan hai yah pranam bahut jabardast aapko labh dete hain ek baar aap apne ko karke dekhiye aur unka parinam aapko bahut accha milega kab tak milega dhanyavad

एकाग्रता बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा क्या है मैं मानता अनुलोम विलोम है भ्रामरी है भस्त्रिका ह

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  560
WhatsApp_icon
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज कार्यकर्ता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम और योग क्या है एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको सबसे पहले चाहिए कि आप थोड़ा सा आसन लगाएं कोई भी आशा लगाने 24 जिससे कि आपका शरीर थोड़ा सा व्यस्त तो उसके साथ में सिर्फ आप अपनी दोनों साथ में जो है नाक जो है वहां पर सांस आने और जाने दोनों को देखना है आंखें बंद करके स्पाइन सीधी होनी चाहिए और आसान स्कोर आ रही है तो आ रही है और जा रही है तो जा रही है आप इसको देखें आपको एकाग्रता का अंदाजा 15 दिन के अंदर हो जाएगा धन्यवाद

aaj karyakarta ke liye sabse accha vyayam aur yog kya hai ekagrata badhane ke liye aapko sabse pehle chahiye ki aap thoda sa aasan lagaye koi bhi asha lagane 24 jisse ki aapka sharir thoda sa vyast toh uske saath me sirf aap apni dono saath me jo hai nak jo hai wahan par saans aane aur jaane dono ko dekhna hai aankhen band karke spine seedhi honi chahiye aur aasaan score aa rahi hai toh aa rahi hai aur ja rahi hai toh ja rahi hai aap isko dekhen aapko ekagrata ka andaja 15 din ke andar ho jaega dhanyavad

आज कार्यकर्ता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम और योग क्या है एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको सबसे पह

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  2444
WhatsApp_icon
user

V.hema

Yoga Teacher

1:04
Play

Likes  12  Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए डिक्षाटन गरुड़ ताड़ आसन प्राणायाम आदि अभ्यास बहुत अधिक लक्ष्मण शक्ति बढ़ाने का बढ़ाने का और जाता है

ekagrata ke liye dikshatan garuda taad aasan pranayaam aadi abhyas bahut adhik lakshman shakti badhane ka badhane ka aur jata hai

एकाग्रता के लिए डिक्षाटन गरुड़ ताड़ आसन प्राणायाम आदि अभ्यास बहुत अधिक लक्ष्मण शक्ति बढ़ान

Romanized Version
Likes  187  Dislikes    views  2115
WhatsApp_icon
user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है इसका उत्तर है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा प्राणायाम है प्राणायाम में कपालभाति प्राणायाम अनुलोम विलोम प्राणायाम भ्रामरी प्राणायाम उदगीठ प्राणायाम भ्रामरी भस्त्रिका प्राणायाम इतना करने के बाद उसके बाद ध्यान प्राणायाम कीजिए ध्यान प्राणायाम एकाग्रता के लिए बहुत आवश्यक है पूरे प्राणायाम का चरमोत्कर्ष है ध्यान लगाना उचित नहीं होगा ध्यान नहीं पूरा प्राणायाम करते समय अब महसूस करें कि हमारे आराध्य देव मंदिर जी आपकी आराध्य देव हनुमानजी हनुमानजी ललाट पर विराजमान है और उनका दर्शन करते हुए प्रणब कीजिए बहुत लाभ होगा

ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai iska uttar hai ekagrata ke liye sabse accha pranayaam hai pranayaam me kapalbhati pranayaam anulom vilom pranayaam bhramari pranayaam udagith pranayaam bhramari bhastrika pranayaam itna karne ke baad uske baad dhyan pranayaam kijiye dhyan pranayaam ekagrata ke liye bahut aavashyak hai poore pranayaam ka charamotkarsh hai dhyan lagana uchit nahi hoga dhyan nahi pura pranayaam karte samay ab mehsus kare ki hamare aradhya dev mandir ji aapki aradhya dev hanumanji hanumanji lalaat par viraajamaan hai aur unka darshan karte hue pranab kijiye bahut labh hoga

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है इसका उत्तर है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  2038
WhatsApp_icon
user

Manmohan Bhutada

Founder & Director - Yog Prayog

0:28
Play

Likes  227  Dislikes    views  2564
WhatsApp_icon
user
4:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको सबसे पहले आप किसी भी आसन में पद्मासन सिद्धासन वज्रासन या आप बेड के ऊपर बैठ सकते हैं शेयर क्यों पर भी बैठ सकते हैं स्कूल के ऊपर भी बैठ सकते हैं जैसी आपकी मर्जी है आप बैठ सकते हैं इसमें कोई जोर जबरदस्ती नहीं है और अपनी आंखों को आराम से बंद कर ले और पहले अपने माइंड को विचार सुनने कर ले इधर-उधर से हटाने की कोशिश करें और उसमें जो विचार आते हैं थोड़ा सोच सकते हैं फिर उसको छोड़ दे उसके बाद आप आप अपने स्वास्थ्य पर ध्यान को लगाएं जो आपके साथ अंदर आती है बाहर जाती है तो आप उसको देखते रहे हैं थोड़ी देर 10 सेकंड 15 सेकंड 20 सेकंड जैसे आपके पास समय हो उसके हिसाब से उसके बाद जवाब उसको देखें तो थोड़ी देर आप इसी पर ध्यान लगाएं और आप माइंड है अगर दूसरे चीजों पर जाता है तो उसको वहां से हटाकर अपने पास लाए तो ऐसे छह-सात दिन लगते हैं और सब का माइन पहले भागता है इधर-उधर भागता है मन और धीरे-धीरे जब हम उसका अभ्यास करते हैं अपने बाल आते हैं बार-बार तो फिर हमारा एक दिन लगने लग जाता था 5 दिनों के बाद उसके बाद आपने ध्यान को सीखने के लिए सबसे सरल क्रिया है कि अपनी सांसों को ऊपर आते हुए और नीचे जाते हुए देखना आप इसमें समझ रहे होंगे कि मैं क्या कह रहा हूं जब आप बैठे रहेंगे आपका मुंह बंद रहेगा और नाक से आपके साथ आएगी और जाएगी तो आपकी चेस्ट एक बार खुलती है और एक बार सुकृति है तो उसको देखना आपने चेस्ट के पास ध्यान को लगते मन की आंखों से और अन्य चित्र कहते हैं उसको सूर्य चक्कर का निवास स्थान होता है कि चेस्ट के पास उसके बाद जब छोड़ दे रहा आप इसको ऐसे देखने फिर आप ब्राह्मण उदगीर भी कर सकते आपको नाक से लंबा 11 साल बनना है और जब आपका लंबा साथ आपने पढ़ लिया फिर मुंह खोलकर आपने ओम का उच्चारण करना तो यह आठ-दस बार आप यह कर सकते हैं उसके बाद फिर आप इस उम्र के उच्चारण में आपने क्या करना है जब आप फोन करते हैं तो पहले मुंह पर रखना है आपने ध्यान और जब इसमें मुंह बंद हो जाता हूं मां पर आपने अपने आज्ञा चक्र पर जहां पर तिलक रखता है तो इस आवाज पर आपने अपने माइंड को कंसंट्रेट करना है याद जोड़ना है तो दूसरा तो यह हो गया आपका तीसरा फिर आपका भ्रामरी आपदाएं अंगूठे से दाएं कान को बंद करेंगे तीन उंगली आपके बाय हैंड कि आपकी आंखों पर दाएं आंखों के ऊपर रखेंगे अंगूठा ऊपर और पहली उंगली को आप ऊपर रखेंगे फिर उल्टे हाथ का अंगूठा उल्टे काम पर और तीन उंगलियों को आप आपके ऊपर रखेंगे और ऊपर वाली पहली उंगली आपके माथे पर इसमें आप पहले लंबा 11 साल भरेंगे नाक से और मुंह बंद रहेगा आपने लंबा सातबारा यह आप किसका कम से कम 10 बार अभ्यास इसका भी करें आपने अपने माइंड को कहां पर कंसंट्रेट करना मां की आवाज था वही आज्ञा चक्र के पास जहां पर तिलक लगता है इसमें आपका मुंह भी बंद रहता है और जैसे उदगीर पर नाम जहां पर आप उनका उच्चारण करते हैं वहां आपको भी बोलते हो यहां पर क्यों ना बोला जाएगा ओमा मुंह बंद रहेगा इतने अच्छे हैं आपके माइंड को शार्प भी करते हैं माइंड की नस नाड़ियों को यीशु को और ऑर्गन को सबको मजबूत भी करते हैं और जो कंसंट्रेशन पावर है उसको रिमूव करते हैं बढ़ाते हैं तो आप ही परिणाम कर सकते हैं और अगर आप समझती हो कर सकते हैं कपालभाति है बस तरीका है अनुलोम-विलोम में सूर्य नमस्कार है कुछ आसन है तो आपकी यह चीजें तो ठीक होंगी ही उसके साथ-साथ आपके शरीर के अन्य समस्त रोग भी ठीक होंगे और आपका शरीर हमेशा निरोगी रहेगा तो आप पूरा योग भी कर सकते हैं

ekagrata badhane ke liye aapko sabse pehle aap kisi bhi aasan me padmasana siddhasan vajrasan ya aap bed ke upar baith sakte hain share kyon par bhi baith sakte hain school ke upar bhi baith sakte hain jaisi aapki marji hai aap baith sakte hain isme koi jor jabardasti nahi hai aur apni aakhon ko aaram se band kar le aur pehle apne mind ko vichar sunne kar le idhar udhar se hatane ki koshish kare aur usme jo vichar aate hain thoda soch sakte hain phir usko chhod de uske baad aap aap apne swasthya par dhyan ko lagaye jo aapke saath andar aati hai bahar jaati hai toh aap usko dekhte rahe hain thodi der 10 second 15 second 20 second jaise aapke paas samay ho uske hisab se uske baad jawab usko dekhen toh thodi der aap isi par dhyan lagaye aur aap mind hai agar dusre chijon par jata hai toh usko wahan se hatakar apne paas laye toh aise cheh saat din lagte hain aur sab ka mine pehle bhagta hai idhar udhar bhagta hai man aur dhire dhire jab hum uska abhyas karte hain apne baal aate hain baar baar toh phir hamara ek din lagne lag jata tha 5 dino ke baad uske baad aapne dhyan ko sikhne ke liye sabse saral kriya hai ki apni shanson ko upar aate hue aur niche jaate hue dekhna aap isme samajh rahe honge ki main kya keh raha hoon jab aap baithe rahenge aapka mooh band rahega aur nak se aapke saath aayegi aur jayegi toh aapki chest ek baar khulti hai aur ek baar sukriti hai toh usko dekhna aapne chest ke paas dhyan ko lagte man ki aakhon se aur anya chitra kehte hain usko surya chakkar ka niwas sthan hota hai ki chest ke paas uske baad jab chhod de raha aap isko aise dekhne phir aap brahman udgir bhi kar sakte aapko nak se lamba 11 saal banna hai aur jab aapka lamba saath aapne padh liya phir mooh kholakar aapne om ka ucharan karna toh yah aath das baar aap yah kar sakte hain uske baad phir aap is umar ke ucharan me aapne kya karna hai jab aap phone karte hain toh pehle mooh par rakhna hai aapne dhyan aur jab isme mooh band ho jata hoon maa par aapne apne aagya chakra par jaha par tilak rakhta hai toh is awaaz par aapne apne mind ko concentrate karna hai yaad jodna hai toh doosra toh yah ho gaya aapka teesra phir aapka bhramari apadaen anguthe se dayen kaan ko band karenge teen ungli aapke bye hand ki aapki aakhon par dayen aakhon ke upar rakhenge angootha upar aur pehli ungli ko aap upar rakhenge phir ulte hath ka angootha ulte kaam par aur teen ungaliyon ko aap aapke upar rakhenge aur upar wali pehli ungli aapke mathe par isme aap pehle lamba 11 saal bharenge nak se aur mooh band rahega aapne lamba satbara yah aap kiska kam se kam 10 baar abhyas iska bhi kare aapne apne mind ko kaha par concentrate karna maa ki awaaz tha wahi aagya chakra ke paas jaha par tilak lagta hai isme aapka mooh bhi band rehta hai aur jaise udgir par naam jaha par aap unka ucharan karte hain wahan aapko bhi bolte ho yahan par kyon na bola jaega oma mooh band rahega itne acche hain aapke mind ko sharp bhi karte hain mind ki nas nadiyon ko yeshu ko aur organ ko sabko majboot bhi karte hain aur jo kansantreshan power hai usko remove karte hain badhate hain toh aap hi parinam kar sakte hain aur agar aap samajhti ho kar sakte hain kapalbhati hai bus tarika hai anulom vilom me surya namaskar hai kuch aasan hai toh aapki yah cheezen toh theek hongi hi uske saath saath aapke sharir ke anya samast rog bhi theek honge aur aapka sharir hamesha nirogee rahega toh aap pura yog bhi kar sakte hain

एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको सबसे पहले आप किसी भी आसन में पद्मासन सिद्धासन वज्रासन या आप बे

Romanized Version
Likes  203  Dislikes    views  1430
WhatsApp_icon
user

Luckypandey

Yoga Trainer

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको ध्यान बिंदु का अभ्यास करना पड़ेगा दो सेपरेट 2 फीट के अंतर में उस काले सफेद जगह पर काला घेरा बनाकर उसे लगातार देखना है तो उससे आपको जो अच्छा रिजल्ट मिलेगा एकाग्रता आपकी बहुत अच्छी बनेगी मजबूत बनेगा दिन विश्वासी आप होंगे और प्राणायाम का अभ्यास करें मानसिक रूप से शांत हो जाए पत्रिका लोम विलोम भ्रामरी और आपको कपालभाति का अभ्यास जरूर करना है तो आपको अच्छा एवं उपयोगी एवं लाभकारी आपको जरूर रिजल्ट मिलेगा अच्छा अच्छा पर्सेंट रिजल्ट मिलेगा

ekagrata badhane ke liye aapko dhyan bindu ka abhyas karna padega do separate 2 feet ke antar me us kaale safed jagah par kaala ghera banakar use lagatar dekhna hai toh usse aapko jo accha result milega ekagrata aapki bahut achi banegi majboot banega din vishwasi aap honge aur pranayaam ka abhyas kare mansik roop se shaant ho jaaye patrika lom vilom bhramari aur aapko kapalbhati ka abhyas zaroor karna hai toh aapko accha evam upyogi evam labhakari aapko zaroor result milega accha accha percent result milega

एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको ध्यान बिंदु का अभ्यास करना पड़ेगा दो सेपरेट 2 फीट के अंतर में

Romanized Version
Likes  466  Dislikes    views  3641
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

0:25

Likes  162  Dislikes    views  1512
WhatsApp_icon
user
3:15
Play

Likes  17  Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
user

Hemraj Gurjar

Yoga Trainer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए योग में वक्षासन आसन करें नियमित रूप से जानकी पद्धतियों को अपनाएं और नियमित रूप से उनका अभ्यास करें प्रतिदिन और ओमकार प्रणव ग्राम विपणन का व्यास करें धन्यवाद

ekagrata ke liye yog me vakshasan aasan kare niyamit roop se janki paddhatiyon ko apanaen aur niyamit roop se unka abhyas kare pratidin aur omkar pranav gram vipnan ka vyas kare dhanyavad

एकाग्रता के लिए योग में वक्षासन आसन करें नियमित रूप से जानकी पद्धतियों को अपनाएं और नियमि

Romanized Version
Likes  226  Dislikes    views  3115
WhatsApp_icon
user

Shyam Vispute

Yoga Instructor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय गुरुदेवा एकाग्रता के लिए आप सबसे पहले अनुलोम विलोम प्राणायाम कीजिए अनुलोम विलोम प्राणायाम करने के बाद में परिणाम कर सकते हैं जो तू प्राण है यह आपकी जिंदगी में बहुत ज्यादा शांतिलाल और एकाग्रता को पढ़ाते हैं और दिमाग को चूसते चूसते चूसते रखते हैं तो आप किसी नजदीकी हुआ सेंटर पर जाकर 22 प्रणब सीख लीजिए देख लीजिए अगर आप करते हो तो आपको बहुत ही लाभ होगा और उसके बाद में कुछ योगासन ए हट योग आप सीखिए और योग में बहुत सारे लोग हैं योगासन है वापसी की हड्डियों करते हैं तो उसे बीघा करता पड़ती है जय गुरुदेव

jai gurudeva ekagrata ke liye aap sabse pehle anulom vilom pranayaam kijiye anulom vilom pranayaam karne ke baad me parinam kar sakte hain jo tu praan hai yah aapki zindagi me bahut zyada shantilal aur ekagrata ko padhate hain aur dimag ko chuste chuste chuste rakhte hain toh aap kisi najdiki hua center par jaakar 22 pranab seekh lijiye dekh lijiye agar aap karte ho toh aapko bahut hi labh hoga aur uske baad me kuch yogasan a hut yog aap sikhiye aur yog me bahut saare log hain yogasan hai wapsi ki haddiyon karte hain toh use bigha karta padti hai jai gurudev

जय गुरुदेवा एकाग्रता के लिए आप सबसे पहले अनुलोम विलोम प्राणायाम कीजिए अनुलोम विलोम प्राणाय

Romanized Version
Likes  447  Dislikes    views  5588
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए मेडिटेशन का में नियमित रूप से अभ्यास करते रहना चाहिए मेडिटेशन से ही कतार मिलती है और प्राणायाम और मेडिटेक प्रणाम सभी खूब मित्रों आपका दिन शुभ

ekagrata ke liye meditation ka me niyamit roop se abhyas karte rehna chahiye meditation se hi katar milti hai aur pranayaam aur meditek pranam sabhi khoob mitron aapka din shubha

एकाग्रता के लिए मेडिटेशन का में नियमित रूप से अभ्यास करते रहना चाहिए मेडिटेशन से ही कतार म

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1318
WhatsApp_icon
user

Kshama dutt

Yoga Trainer

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यंग्य योग क्या है इसका उत्तर यह है एकाग्रता के सबसे अच्छा योग आसन प्राणायाम ध्यान मुद्रा जमीन का अभ्यास करते हैं सब में एकाग्रता का विशेष महत्व रहता है एवं विशेष ध्यान से इनको करते हैं तो हमारे मन और मस्तिष्क में एकाग्रता का विकास होता है धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai ekagrata ke liye sabse accha vyangya yog kya hai iska uttar yah hai ekagrata ke sabse accha yog aasan pranayaam dhyan mudra jameen ka abhyas karte hain sab me ekagrata ka vishesh mahatva rehta hai evam vishesh dhyan se inko karte hain toh hamare man aur mastishk me ekagrata ka vikas hota hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यंग्य योग क्या है इसका उत्तर यह है एका

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1867
WhatsApp_icon
user
1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या गलत है के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या जोगा क्या है लिखिए एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा तो होगा ही है तो उसके लिए आप जैसे कुछ आसान है जो वजन है जितना सामने झुके करने वाला आसन है वाह सर आप कर सकते हैं और आपको आप सिर नीचे करके पैरों पर करने वाला जैसे ने फुल इनवर्टेड पोस्टर जैसे सिरसासन है वह सर्वांगासन है आप इंटर तक पहुंचे जिससे हलासन हुआ मुर्दा से महाभूमी पादहस्तासन हुआ इस राशन है जिसमें आपका सिर जा नीचे की तरफ रहती है तो आपका ब्लड सरकुलेशन शेर के तरफ आता है जो भी ब्लड सरकुलेशन होता है उसी दिन ब्लड सरकुलेशन होता है जिस वजह से आपका सोचने विचारने कर सकती और आपका कंसंट्रेशन पावर बढ़ जाती है तो इस तरह का भाषण चल सकते हैं और इस आयोजन में किस तरह का सन ऑफ कर पाए उसे शमशाद का शारीरिक क्षमता के हिसाब से करें और किसी जोगा गुरु यह जगह चलेंगे चलाना चाहिए आपके लिए अच्छा रहेगा उसके साथ साथ निर्देशन पवार एकाग्रता बढ़ाने के लिए आपको जोगा के साथ प्रणब भी बहुत जरूरी पड़ता है जिस तरह पर अनुलोम-विलोम भ्रामरी मुझे जी प्रणाम करते हैं यह आपको का जाता है कविता बढ़ाने के लिए उसके साथ साथ आपको यह भी करना पड़ेगा मेडिटेशन है जिसको ध्यान कहते हैं वह भी करना पड़ेगा ध्यान से आपका काफी है तब से अगर कोई साबित होता है आज के समय में तो यह ध्यान करना आपके लिए सबसे अच्छा साबित होगा अगर आप 15 मिनट से 20 मिनट आधा घंटा तक अगर मेडिटेशन करते हैं ध्यान करते हैं तो यह आपको काफी हद तक पहुंचाते फिल्म पूजा देवव्रत बढ़ाने के लिए धन्यवाद

aapka sawaal hai kya galat hai ke liye sabse accha vyayam ya joga kya hai likhiye ekagrata ke liye sabse accha toh hoga hi hai toh uske liye aap jaise kuch aasaan hai jo wajan hai jitna saamne jhuke karne vala aasan hai wah sir aap kar sakte hain aur aapko aap sir niche karke pairon par karne vala jaise ne full inverted poster jaise sirsasan hai vaah sarvangasan hai aap inter tak pahuche jisse halasan hua murda se mahabhumi padahastasan hua is raashan hai jisme aapka sir ja niche ki taraf rehti hai toh aapka blood sarakuleshan sher ke taraf aata hai jo bhi blood sarakuleshan hota hai usi din blood sarakuleshan hota hai jis wajah se aapka sochne vicharane kar sakti aur aapka kansantreshan power badh jaati hai toh is tarah ka bhashan chal sakte hain aur is aayojan me kis tarah ka san of kar paye use shamshad ka sharirik kshamta ke hisab se kare aur kisi joga guru yah jagah chalenge chalana chahiye aapke liye accha rahega uske saath saath nirdeshan power ekagrata badhane ke liye aapko joga ke saath pranab bhi bahut zaroori padta hai jis tarah par anulom vilom bhramari mujhe ji pranam karte hain yah aapko ka jata hai kavita badhane ke liye uske saath saath aapko yah bhi karna padega meditation hai jisko dhyan kehte hain vaah bhi karna padega dhyan se aapka kaafi hai tab se agar koi saabit hota hai aaj ke samay me toh yah dhyan karna aapke liye sabse accha saabit hoga agar aap 15 minute se 20 minute aadha ghanta tak agar meditation karte hain dhyan karte hain toh yah aapko kaafi had tak pahunchate film puja devvrat badhane ke liye dhanyavad

आपका सवाल है क्या गलत है के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या जोगा क्या है लिखिए एकाग्रता के लिए स

Romanized Version
Likes  134  Dislikes    views  2231
WhatsApp_icon
user

Jyoti Agrawal

Founder & Director - Shree Yoga Classes

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा आसन या योग वृक्षासन है जिससे हमें शारीरिक मानसिक और आध्यात्मिक तीनों लाभ प्राप्त होते हैं धीरे-धीरे मन एकाग्र चित्त होता जाता है

ekagrata ke liye sabse accha aasan ya yog vrikshasan hai jisse hamein sharirik mansik aur aadhyatmik tatvo labh prapt hote hain dhire dhire man ekagra chitt hota jata hai

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा आसन या योग वृक्षासन है जिससे हमें शारीरिक मानसिक और आध्यात्मिक

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  490
WhatsApp_icon
user

xyz

nothing

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए योग में आसन है कई खास तौर पर जितने भी बैलेंस इंक्वारी ऑप्शन है चाहे वह घर पर खड़े होना चाहिए दोनों हाथों पर कुक्कुट आसन बनाना चाहे सर के बाद में अपने शरीर को खड़ा करना सिरसासन जितने भी गाने हैं पूरे हैं उनसे एकाग्रता बढ़ती है इसके अलावा जिसमें हम सिर्फ ब्लड का फ्यूचर की तरह करता है उससे भी एकाग्रता बढ़ती है प्राणायाम से बहुत ज्यादा निकालकर का बढ़ती है बहुत ही सकते हैं फर्जी नाम से किया जाए और योग में श्री आए हैं खेत रहे हैं उसमें त्राटक से त्राटक करने से एकाग्रता बहुत ज्यादा पड़ती है तो चाहे वह त्राटक आप मोमबत्ती के ऊपर करें चाहे किसी बिंदु के ऊपर करें उससे एकाग्रता बढ़ाने में बहुत ज्यादा मदद मिलती है धन्यवाद

ekagrata ke liye yog mein aasan hai kai khaas taur par jitne bhi balance inkwari option hai chahen vaah ghar par khade hona chahiye dono hathon par kukkut aasan banana chahen sir ke baad mein apne sharir ko khada karna sirsasan jitne bhi gaane hain poore hain unse ekagrata badhti hai iske alava jisme hum sirf blood ka future ki tarah karta hai usse bhi ekagrata badhti hai pranayaam se bahut zyada nikalakar ka badhti hai bahut hi sakte hain farji naam se kiya jaaye aur yog mein shri aaye hain khet rahe hain usme tratak se tratak karne se ekagrata bahut zyada padti hai toh chahen vaah tratak aap mombatti ke upar kare chahen kisi bindu ke upar kare usse ekagrata badhane mein bahut zyada madad milti hai dhanyavad

एकाग्रता के लिए योग में आसन है कई खास तौर पर जितने भी बैलेंस इंक्वारी ऑप्शन है चाहे वह घर

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1762
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है तो आपको पता ही होगा मेडिटेशन की जो कला है योग मैंने स्टेशन मियानी ध्यान ध्यान की जो अल्लाह और क्या करता के लिए ही तो है आप बिल्कुल पद्मासन में बैठकर आंखें बंद करके और बिल्कुल अपने आते-जाते श्वास पर ध्यान दें और अपने आप को देखने का प्रयास करें बिल्कुल आपकी एकाग्रता बढ़ जाएगी धन्यवाद

aapka question hai ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai toh aapko pata hi hoga meditation ki jo kala hai yog maine station miyani dhyan dhyan ki jo allah aur kya karta ke liye hi toh hai aap bilkul padmasana mein baithkar aankhen band karke aur bilkul apne aate jaate swas par dhyan de aur apne aap ko dekhne ka prayas kare bilkul aapki ekagrata badh jayegi dhanyavad

आपका क्वेश्चन है एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है तो आपको पता ही होगा मेड

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  1199
WhatsApp_icon
play
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:07

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है एकाग्रता जितनी भी आप योगासन और प्राणायाम करते हैं ध्यान करते हैं सभी से आपका मन नियंत्रण होता है मन में उठने वाले विचारों की उथल-पुथल को रोकता है आपका लगातार कंसंट्रेशन इंप्रूव होता है प्राणायाम में आप लगातार सांस के साथ जुड़ते हैं योगासन जो विश्वास के साथ किए जाते हैं उनसे भी आपका जुड़ाव पैदा होता है आपका धीरे-धीरे एकाग्रता बढ़ती है स्पेशल इसके लिए आप अनुलोम-विलोम डीप ब्रीथिंग ब्राह्मणी प्राणायाम इनको आप प्रतिदिन कर सकते हैं एकाग्रता कैसे इंप्रूव करें इसके लिए आप मेरे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं प्रोफाइल पर लिंक दिया हुआ है योगगुरु अमित अग्रवाल रिसीव वहां पर जाकर आप योगाभ्यास प्राणायाम सीख सकते हैं और एक बात सौ पर्सेंट सही है कि सिर्फ और सिर्फ योग के माध्यम से ही आप अपनी एकाग्रता को बढ़ा सकते हैं हरि ओम

aapka prashna ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai ekagrata jitni bhi aap yogasan aur pranayaam karte hain dhyan karte hain sabhi se aapka man niyantran hota hai man mein uthane waale vicharon ki uthal puthal ko rokta hai aapka lagatar kansantreshan improve hota hai pranayaam mein aap lagatar saans ke saath judte hain yogasan jo vishwas ke saath kiye jaate hain unse bhi aapka judav paida hota hai aapka dhire dhire ekagrata badhti hai special iske liye aap anulom vilom deep breathing brahmani pranayaam inko aap pratidin kar sakte hain ekagrata kaise improve kare iske liye aap mere youtube channel ko subscribe kar sakte hain profile par link diya hua hai yogguru amit agrawal receive wahan par jaakar aap yogabhayas pranayaam seekh sakte hain aur ek baat sau percent sahi hai ki sirf aur sirf yog ke madhyam se hi aap apni ekagrata ko badha sakte hain hari om

आपका प्रश्न एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है एकाग्रता जितनी भी आप योगासन

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  1643
WhatsApp_icon
user

Dr Chandra Shekhar Jain

MBBS, Yoga Therapist Yoga Psychotherapist

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए सबसे साधारण और प्रभावी योगाभ्यास हैं एक पाठ प्रणाम आसन आप एक पाठ प्रणाम आसन को लंबे समय तक दोनों पैरों पर करने का अभ्यास करें और इसके साथ ही साथ यदि आप ध्यान करना शुरू करेंगे आप ध्यान के किसी भी आतंक में बैठ जाइए इसमें सुखासन या नेपाल की लगाकर माल बैठना अर्ध पद्मासन पद्मासन आता है बैठ जाइए आपने इसकी फोटो सामने रख लीजिए यदि आपका भगवान में विश्वास नहीं है तो कोई सी भी अच्छी फोटो सामने रख लीजिए और उस फोटो की वैसी की वैसी ही कल्पना अपने मन में करें अर्थात पहले उसको बाहर से ध्यान से देखिए और फिर आंखें बंद कर उसको वैसा का वैसा ही देखने शुरू करिए और फिर धीरे-धीरे उसकी बारीकियों को भी अपने कल्पना में देखने की कोशिश करिए इससे आपकी एकाग्रता और शक्ति दोनों बढ़ेगी और जो व्यायाम बताया मैंने वह बयान आपको इस आसन में बैठने में सहयोग करेगा

ekagrata ke liye sabse sadhaaran aur prabhavi yogabhayas hain ek path pranam aasan aap ek path pranam aasan ko lambe samay tak dono pairon par karne ka abhyas kare aur iske saath hi saath yadi aap dhyan karna shuru karenge aap dhyan ke kisi bhi aatank mein baith jaiye isme sukhasan ya nepal ki lagakar maal baithana ardh padmasana padmasana aata hai baith jaiye aapne iski photo saamne rakh lijiye yadi aapka bhagwan mein vishwas nahi hai toh koi si bhi achi photo saamne rakh lijiye aur us photo ki vaisi ki vaisi hi kalpana apne man mein kare arthat pehle usko bahar se dhyan se dekhiye aur phir aankhen band kar usko waisa ka waisa hi dekhne shuru kariye aur phir dhire dhire uski barikiyon ko bhi apne kalpana mein dekhne ki koshish kariye isse aapki ekagrata aur shakti dono badhegi aur jo vyayam bataya maine vaah bayan aapko is aasan mein baithne mein sahyog karega

एकाग्रता के लिए सबसे साधारण और प्रभावी योगाभ्यास हैं एक पाठ प्रणाम आसन आप एक पाठ प्रणाम आस

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1305
WhatsApp_icon
user

꧁༺Dℛ.LATA PATHAK༻꧂

Founder & Director - Real Lifetime Yoga Foundation

4:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम योग क्या है डिस्टेंस सबसे अच्छा व्यायाम या यू ताड़ासन वृक्षासन इन दोनों आश्रमों में आप पूरा ध्यान किसी एक पॉइंट पर कैंसिल चेक करें ताकि आप डिसबैलेंस हुआ इनके अलावा पर काफी आशना से लेकिन जी आसन हर एक बंदा कर सकता है आसानी से किए जाने वाला समय से यह दुआ सदा तू कंसंट्रेशंस देख सेंटर पॉइंट पर हम रखते हैं ताकि हम नीचे ना करें इनके साथ साथ आप सर्वांगासन शशांक आसन कि तुम हौसला स्पीक अप सर्व करें शीर्षासन उच्च श्रेणी के आंसुओं में आ जाता है सभी से नहीं हो पाता लेकिन जो कर सकते हैं वह जरूर करें इन सभी आसनों से उसी श्रेणी के आसपास मैंने बताइए इनसे सर्वांगासन शीशा सजना से आपके मस्तिष्क में रक्तस्राव अच्छा होता है मस्तिष्क की क्रियाशीलता बढ़ती है शशांक आसन आपके मस्तिष्क में ब्लड क्यों अच्छा होता है आसानी से किया जा सकता है शशांक आसन इन्हीं के साथ-साथ आप अपने जीवन में सूर्य नमस्कार कोई सर्व शामिल कीजिए क्योंकि पूरे हारमोंस को आपकी एक-एक ग्लैंड स्कोर दुरुस्त बनाए रखने के लिए श्री कृष्ण को सही रखने के लिए सूर्य नमस्कार बहुत अच्छा कार्य करता है आपकी जो अंतः स्रावी ग्रंथियां है सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं इनके साथ-साथ आप अनुलोम विलोम का प्रयास करें साथ में ब्राह्मणी प्राणायाम इन दोनों प्राणायाम की सहायता से आपके मस्तिष्क की क्रियाशीलता का फिक्स हो जाते हैं इसके साथ-साथ आप कपालभाती शुद्धि क्रिया का भी अभ्यास करें कपालभाती से आपके मस्तिष्क में 20 सदस्य होते हैं आपके एक्टिवेट हो जाते हैं एक एक्सएल अच्छे से कार्य करने लगते हैं एकाग्रता के लिए काफी अच्छा कार्य करते हैं यह प्राणायाम और आसन इनके साथ आप अपने आहार में भीगे हुए बादाम अखरोट अंकुरित अनाज आपकी पसंदीदा जो भी हो मोठ मूंग चना शामिल कीजिए सलाद दही निमित्त मात्रा में गुनगुने जल का भी इस्तेमाल कीजिए यह सब कुछ आप यदि नियम से करते हैं तो आप देखेंगे निश्चित रूप से आपके शरीर को आपके मन को काफी फायदा एक आदत अभी बढ़ेगी और आपको आशातीत लाभ भी मिलेगा हां इनके साथ-साथ यदि आप आंवले का सेवन कर पाते हैं किसी भी रूप में चटनी के रूप में आचार के रूप में वृद्धि के रूप में तो बहुत अच्छा होगा दोस्तों मेरी सलाह आपको कैसी लगी अच्छी लगी तो उसे फॉलो जरूर कीजिएगा खुद भी योग दीजिए दूसरों से भी करवाइए विश्वास रखिए

namaskar doston ekagrata ke liye sabse accha vyayam yog kya hai distance sabse accha vyayam ya you tadasan vrikshasan in dono aashramon mein aap pura dhyan kisi ek point par cancel check kare taki aap disbalance hua inke alava par kaafi aashna se lekin ji aasan har ek banda kar sakta hai aasani se kiye jaane vala samay se yah dua sada tu kansantreshans dekh center point par hum rakhte hain taki hum niche na kare inke saath saath aap sarvangasan shashank aasan ki tum hausla speak up surv kare Shirshasan ucch shreni ke ansuon mein aa jata hai sabhi se nahi ho pata lekin jo kar sakte hain vaah zaroor kare in sabhi aasanon se usi shreni ke aaspass maine bataye inse sarvangasan shisha sajna se aapke mastishk mein raktasrav accha hota hai mastishk ki kriyashilta badhti hai shashank aasan aapke mastishk mein blood kyon accha hota hai aasani se kiya ja sakta hai shashank aasan inhin ke saath saath aap apne jeevan mein surya namaskar koi surv shaamil kijiye kyonki poore hormones ko aapki ek ek gland score durast banaye rakhne ke liye shri krishna ko sahi rakhne ke liye surya namaskar bahut accha karya karta hai aapki jo antah srawi granthiyan hai sucharu roop se karya karne lagte hain inke saath saath aap anulom vilom ka prayas kare saath mein brahmani pranayaam in dono pranayaam ki sahayta se aapke mastishk ki kriyashilta ka fix ho jaate hain iske saath saath aap kapalbhati shudhi kriya ka bhi abhyas kare kapalbhati se aapke mastishk mein 20 sadasya hote hain aapke activate ho jaate hain ek XL acche se karya karne lagte hain ekagrata ke liye kaafi accha karya karte hain yah pranayaam aur aasan inke saath aap apne aahaar mein bhige hue badam akhrot ankurit anaaj aapki pasandida jo bhi ho motha moong chana shaamil kijiye salad dahi nimitt matra mein gungune jal ka bhi istemal kijiye yah sab kuch aap yadi niyam se karte hain toh aap dekhenge nishchit roop se aapke sharir ko aapke man ko kaafi fayda ek aadat abhi badhegi aur aapko ashatit labh bhi milega haan inke saath saath yadi aap aanvale ka seven kar paate hain kisi bhi roop mein chatni ke roop mein aachar ke roop mein vriddhi ke roop mein toh bahut accha hoga doston meri salah aapko kaisi lagi achi lagi toh use follow zaroor kijiega khud bhi yog dijiye dusro se bhi karavaiye vishwas rakhiye

नमस्कार दोस्तों एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम योग क्या है डिस्टेंस सबसे अच्छा व्याय

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1842
WhatsApp_icon
user

Saroj Kumar Ksheti

Yoga Instructor/Practitioner

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अग्रता के लिए सबसे अच्छा बयान या योग क्या है देखिए आपको पहले भी इस सवाल इस प्रकार के सवाल आए हुए में बता चुका हूं योग के अंतर्गत आने वाला एक हिस्सा है यानी कि योग का ही एक हिस्सा है वह योग योग प्रारंभ कर दिया जाता है टूट गया फिर इसके बाद प्राणायाम आसन किया जाता है

agrata ke liye sabse accha bayan ya yog kya hai dekhiye aapko pehle bhi is sawaal is prakar ke sawaal aaye hue mein bata chuka hoon yog ke antargat aane vala ek hissa hai yani ki yog ka hi ek hissa hai vaah yog yog prarambh kar diya jata hai toot gaya phir iske baad pranayaam aasan kiya jata hai

अग्रता के लिए सबसे अच्छा बयान या योग क्या है देखिए आपको पहले भी इस सवाल इस प्रकार के सवाल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Dr Asha B Jain

Dip in Naturopathy, Yoga therapist Pranic healer, Counselor

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता बढ़ाने के लिए योगा में कई चीजें हैं जैसे आसमान में होते हैं नटराज आसन एक पाठ प्रणाम आसन जितनी भी बैलेंस इन पोस्टर हैं यह हमें वह सब आपकी एकाग्रता को बढ़ाएंगे साथिया आपकी एकाग्रता के लिए बहुत बढ़िया है अनुलोम-विलोम प्राणायाम यदि आप 10 मिनट सुबह 10:00 मिनट शाम को अनुलोम विलोम प्राणायाम करें इंप्रूवमेंट आफ अब तो करेंगे इसके साथ या भ्रामरी प्राणायाम करें और फिर डीप रिलैक्सेशन करें योगनिद्रा का अभ्यास करें और साथ में ध्यान का अभ्यास करें मेडिटेशन आप किसी अच्छे योगा एक्सपर्ट के अंडर में लिखेंगे तो बहुत अच्छा जब मेडिटेशन आपका लगने लग जाएगा उससे आपको बहुत जल्दी फायदा होगा यह सब चीजें हम भी सिखाते हैं आप मुझसे भी कांटेक्ट कर सकते हैं इसके अलावा योग में त्राटक क्रिया होती है इसी में मैंने वह कल में त्राटक का अभ्यास कैसे किया जाता है बताया है आप उसको अच्छे से सुनी रिया को करी उससे आपको बहुत जल्दी फायदा हो जाएगा एकाग्रता बढ़ाने के लिए सबसे बेस्ट तो है त्राटक इसके अलावा जो मैंने बताया है आप अभी करें धन्यवाद

ekagrata badhane ke liye yoga mein kai cheezen hain jaise aasman mein hote hain natraj aasan ek path pranam aasan jitni bhi balance in poster hain yah hamein vaah sab aapki ekagrata ko badhaenge sathiya aapki ekagrata ke liye bahut badhiya hai anulom vilom pranayaam yadi aap 10 minute subah 10 00 minute shaam ko anulom vilom pranayaam kare improvement of ab toh karenge iske saath ya bhramari pranayaam kare aur phir deep Relaxation kare yognidra ka abhyas kare aur saath mein dhyan ka abhyas kare meditation aap kisi acche yoga expert ke under mein likhenge toh bahut accha jab meditation aapka lagne lag jaega usse aapko bahut jaldi fayda hoga yah sab cheezen hum bhi sikhaate hain aap mujhse bhi Contact kar sakte hain iske alava yog mein tratak kriya hoti hai isi mein maine vaah kal mein tratak ka abhyas kaise kiya jata hai bataya hai aap usko acche se suni riya ko kari usse aapko bahut jaldi fayda ho jaega ekagrata badhane ke liye sabse best toh hai tratak iske alava jo maine bataya hai aap abhi kare dhanyavad

एकाग्रता बढ़ाने के लिए योगा में कई चीजें हैं जैसे आसमान में होते हैं नटराज आसन एक पाठ प्रण

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1677
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Soni

Yoga Instructor & Software Developer

2:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है का ट्रिक एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है मैं इसमें योग के बारे में बात करूंगा क्योंकि इसमें काफी सारी चीजें दी गई है एकाग्रता को बढ़ाने के लिए सबसे पहले मैं यहां में तीन चीजों की बात करूंगा प्राणायाम योगासन और त्राटक क्रिया सबसे पहले प्रणब पर आते हैं आप प्रणब कीजिए कम से कम 10 मिनट से 30 मिनट तक उसमें ब्रश टीका प्राणायाम कपालभाती प्राणायाम वही कुंभक प्राणायाम अनुलोम विलोम प्राणायाम और भ्रमरी प्राणायाम के पास प्राणायाम और योगासन कीजिए जिसमें रहेगा शीर्षासन जो एकाग्रता के लिए काफी अच्छा माना जाता है आपकी स्मरण शक्ति भी बढ़ेगी अगर आप शीर्षासन जो कि योगासनों में राजा कहां जाते अगर आप भी है ना कर सके सर्वांगासन करें यह भी लगभग उतना ही लाभ दे सकता है और थोड़ा सूर्य नमस्कार के पेपर हिसाब डाले दो साइकिल से लेकर आप बच्चे साइकिल तक चले शक कर सकते हैं साइकिल की बात मैं यहां इसलिए कर रहा हूं क्योंकि सूर्य नमस्कार के एक साइकिल में 12 योगासन इंक्लूड होता है तो प्रणाम करने से आप इस चंचल मन के ऊपर एक कंट्रोल ला सकते हैं योगासन करने से आपका शरीर लचीला पर होगा और नसों में बराबर तरीके से खून का प्रवाह होगा तो यह भी उसमें काफी कारगर होगा तीसरा होगा त्राटक क्रिया त्राटक क्रिया में क्या करता है दीवाल में एक पेपर चिपका के उसमें एक छोटा सा काले रंग का बिंदु आप बना दे और लगभग 1 मीटर की दूरी में बैठी है और उसे देखते रहे देखने का मतलब यह है कहीं कहीं आप अपने ध्यान को उस पर केंद्रित करने की कोशिश कर रहे हैं अभी से होगा क्या आप धीरे-धीरे इस प्रेक्टिस को बढ़ाएं 2 मिनट से लेकर 15 मिनट 20 मिनट तक आप बढ़ा सकता है आप देखेंगे कि आप आंसू से आपके आंखों से धीरे-धीरे आंसू निकलना शुरू हो जाएगा इससे डरे नहीं यह शुरुआती दिनों में होता है उसके बाद आप लगातार प्रैक्टिस करेंगे चार-पांच दिनों में वह भी बंद हो जाएगा तो ध्यान रखें आंखों पर ज्यादा जोर ना पड़े आपकी आंख में लालिमा तो आएगी लेकिन उसके बाद भी वह रह नहीं इसलिए धीरे-धीरे चीजों को बढ़ाएं तो त्राटक क्रिया इसके लिए अच्छा साधन है एकाग्रता बढ़ाने के लिए अगर आपके में एकाग्रता आ गई तो पढ़ाई लिखाई आप अच्छे से कर पाएंगे एक जगह बैठकर सिलेबस को कंप्लीट करने में यह काफी हेल्प करेगा तो तीन चीजें होंगी प्रणाम योगासन और त्राटक क्रिया धरना

namaskar main busy sony baat kar raha hoon aapka sawaal hai ka trick ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai isme yog ke bare mein baat karunga kyonki isme kaafi saree cheezen di gayi hai ekagrata ko badhane ke liye sabse pehle main yahan mein teen chijon ki baat karunga pranayaam yogasan aur tratak kriya sabse pehle pranab par aate hain aap pranab kijiye kam se kam 10 minute se 30 minute tak usme brush tika pranayaam kapalbhati pranayaam wahi kumbhak pranayaam anulom vilom pranayaam aur bhramari pranayaam ke paas pranayaam aur yogasan kijiye jisme rahega Shirshasan jo ekagrata ke liye kaafi accha mana jata hai aapki smaran shakti bhi badhegi agar aap Shirshasan jo ki yogasanon mein raja kahaan jaate agar aap bhi hai na kar sake sarvangasan kare yah bhi lagbhag utana hi labh de sakta hai aur thoda surya namaskar ke paper hisab dale do cycle se lekar aap bacche cycle tak chale shak kar sakte hain cycle ki baat main yahan isliye kar raha hoon kyonki surya namaskar ke ek cycle mein 12 yogasan include hota hai toh pranam karne se aap is chanchal man ke upar ek control la sakte hain yogasan karne se aapka sharir lachila par hoga aur nason mein barabar tarike se khoon ka pravah hoga toh yah bhi usme kaafi kargar hoga teesra hoga tratak kriya tratak kriya mein kya karta hai diwal mein ek paper chipaka ke usme ek chota sa kaale rang ka bindu aap bana de aur lagbhag 1 meter ki doori mein baithi hai aur use dekhte rahe dekhne ka matlab yah hai kahin kahin aap apne dhyan ko us par kendrit karne ki koshish kar rahe hain abhi se hoga kya aap dhire dhire is practice ko badhaye 2 minute se lekar 15 minute 20 minute tak aap badha sakta hai aap dekhenge ki aap aasu se aapke aankho se dhire dhire aasu nikalna shuru ho jaega isse dare nahi yah shuruati dino mein hota hai uske baad aap lagatar practice karenge char paanch dino mein vaah bhi band ho jaega toh dhyan rakhen aankho par zyada jor na pade aapki aankh mein lalima toh aayegi lekin uske baad bhi vaah reh nahi isliye dhire dhire chijon ko badhaye toh tratak kriya iske liye accha sadhan hai ekagrata badhane ke liye agar aapke mein ekagrata aa gayi toh padhai likhai aap acche se kar payenge ek jagah baithkar syllabus ko complete karne mein yah kaafi help karega toh teen cheezen hongi pranam yogasan aur tratak kriya dharna

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका सवाल है का ट्रिक एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्या

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  369
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते जी आपने बहुत अच्छा सवाल पूछा है एकाग्रता के लिए मैं आपसे बोलना चाहूंगा एकाग्रता के लिए आप मेडिटेशन किया करें और मेडिटेशन में गायत्री मंत्र का सहारा लें और जब भी आपको पढ़ते हैं पढ़ते समय आपको गायत्री मंत्र का जाप किया करें पाठक का अभ्यास करें और अखरोट खाया करिए आपके लिए ज्यादा लाभकारी रहेगी

namaste ji aapne bahut accha sawaal poocha hai ekagrata ke liye main aapse bolna chahunga ekagrata ke liye aap meditation kiya kare aur meditation mein gayatri mantra ka sahara le aur jab bhi aapko padhte hain padhte samay aapko gayatri mantra ka jaap kiya kare pathak ka abhyas kare aur akhrot khaya kariye aapke liye zyada labhakari rahegi

नमस्ते जी आपने बहुत अच्छा सवाल पूछा है एकाग्रता के लिए मैं आपसे बोलना चाहूंगा एकाग्रता के

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user

Manisha Saikia

Counsellor

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा उपाय है मेडिटेशन आप कम से कम आधा घंटा से लेकर जितना आप ज्यादा मेडिकेशन कर सकते हैं उस ना चाहिए और साथ ही साथ योगा करें आप कोई आपकी समस्या दूर हो जाएगी

ekagrata ke liye sabse accha upay hai meditation aap kam se kam aadha ghanta se lekar jitna aap zyada medication kar sakte hain us na chahiye aur saath hi saath yoga kare aap koi aapki samasya dur ho jayegi

एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा उपाय है मेडिटेशन आप कम से कम आधा घंटा से लेकर जितना आप ज्यादा म

Romanized Version
Likes  138  Dislikes    views  1976
WhatsApp_icon
user

Kumar Ajit

Yoga Trainer (पतंजलि योग समिति योग शिक्षक)

7:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम जी नमस्ते जी आप पूछ रहे हैं कि एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है देखिए एकाग्रता एक तरह से एकाग्रता मतलब के ध्यान हो गया और महर्षि पतंजलि ने एक सूत्र बोला यम नियम आसन प्राणायाम प्रत्याहार धारणा ध्यान समाधि star1 जानी आठ अंगों का एक से उन्होंने योग्य के बारे में चर्चा किया है जिसमें यह सातवां प्राणायाम है जान अथवा अथवा से तत्व शिर्डी है साचा पायदान है तो हम सातवा पायदान की सीधे बात कर रहे हैं तो यह अचानक के कोई भी चीज नहीं होती है लेकिन फिर भी हम इसका लाभ ले सकते हैं आसन प्राणायाम प्रत्याहार धारणा यम नियम आसन प्राणायाम प्रत्याहार धारणा ध्यान ध्यान मतलब की एकाग्रता इन सब जो पीछे की जो अंग है उनको अगर हम पूरा करते हैं तो यह तो सहज सहज ही अपने आप हो तो हो जाएगा इसमें कोई कठिन ही नहीं है लेकिन हम हमें बात है कि इन सबको मतलब कभी करके ना करके या थोड़ा-बहुत करके सीधे में काफिर होना चाहते हैं तो इसके लिए उपाय हम यह बताना चाहेंगे कि दृष्टा बनकर या साक्षी होकर जब एक लाइक के साथ स्वास्थ्य पर मन को केंद्रित कर देते हैं तो प्राण स्वता सक्षम हो जाता है और यह 10 से 20 सेकंड में एक बार श्वास अंदर जाता है और 10 केजी सेकंड में स्वास्थ्य बाहर निकलता है तो इसको लंबे अभ्यास के अभ्यास से योगी जो लंबे अभ्यास कार्य करते हैं और इसके अभ्यासी बजे आते हैं तो योगी हो जाएंगे आप योगी 1 मिनट में एक ही स्वास्थ चलने लग जाता है योगी का तो चल जाता है तो इस प्रकार से जो पुराने नामों का भी एक पैकेज है स्वामी रामदेव जी महाराज ने बनाया है जिसमें भस्त्रिका कपालभाति अनुलोम-विलोम भ्रामरी उदगीर के बाद जो है विपश्यना या शिक्षा अभियान के रूप प्रणाम प्रणाम किया जाता है यह पूरी तरह ध्यानात्मक है आपने देखा कि मस्ती पतंजलि ने भी सातवा पायदान बताया है और इसमें जो स्वामी जी ने एक पैकेज बनाया है प्राणायाम का जो सबके लिए हितकारी कलाकारी और सरल हो उसमें आठवां इन्होंने परिणाम के रूप में पैकेज में नहीं है कि यहां विद्वानों ने एक पैकेज बनाया है जिसमें स्वामी रामदेव जी महाराज नहीं बनाया है इसको ध्यान को अथवा में रखा हुआ है तो 3 एकड़ एक ऐसे तो 3 से 5 मिनट प्रत्येक व्यक्ति को क्या ध्यानात्मक परिणाम अवश्य करना चाहिए जो समाधि के अभ्यासी योगी हैं ना कि ध्यान के साथ सांसों की साधना को समय की उपलब्धता के अनुसार घंटों तक भी कर सकते हैं या करते भी हैं इस प्रक्रिया में स्वास्थ्य किसी तरह की ध्वनि नहीं होती अर्थात यह ध्वनि रहित साधना साधक को भीतर के गहरे मॉल में ले जाते हैं जहां साधक के इंद्रियों का मन में मन का प्राण में प्राण का आत्मा में और आत्मा का विश्वात्मा अथवा इसको इस प्रकार से कहिए परमात्मा में लाए हो जाता है वह इसको ऐसे भी कह सकते हैं कि साधक को ब्रह्म का साक्षात्कार हो जाता है कितनी बड़ी बात है कितनी बड़ी बात है बहुत ऊंची बात है तो इतना तक मतलब भगवान की साक्षात्कार हो जाता है इस बार का यहां तक कहा है यह शुरू कैसे हुआ तो प्राणायाम से प्रारंभ हुई हम लोग बात कर रहे थे मैं बीच में एक फोन आ गया था तो उसको सुनना पड़ गया जब हम अभ्यासी हो जाते हैं तो इसको ध्यान के साथ सांसो की साधना अपने समय के अनुसार से घंटों तक इसको कर सकते हैं और यह जो समाज की साधना है कि ध्वनि रहित हो जाता है बाद में और वितर्क बहुत गहरे हम मौन में चले जाते हैं यहां की चादर हम साधुओं की इन की बात करें तो इंद्रियों का मन में मन का प्राण में प्राण का आत्मा में और आत्मा का विश्वात्मा कहिए या परमात्मा मिले हो जाता है इस प्रकार जो साधक को ब्रह्म का साक्षात्कार हो जाता है प्राणायाम से प्रारंभ हुई साधना से इसको ऐसे ही कह सकते हैं कि प्राणायाम की निरंतरता से प्रत्याहार प्रतिहार की निरंतरता से धरना धरना की निरंतरता व दृढ़ता से ध्यान व ध्यान की निरंतरता से समाधि की सहज प्राप्ति होती है इससे प्राण साधना से धारणा ध्यान और समाधि के संयोग से प्रेम एकत्र संयम संयम पर आ चुका है यह मस्ती पतंजलि का ही सूत्र है तरह मेकअप यह सैया में संयम से प्रजा प्रजा लोग से चालू फीलिंग योर सेल्फ रिलाइजेशन की अनुभूति को साधक प्राप्त कर लेता है क्या कितनी ऊंची बात किया तो सिर्फ ध्यान की बात पूछा है लेकिन यहां तो रिसीव ने हमारे पूर्वजों ने इसको जितना साइंटिफिक और इतनी ऊंची स्तर पर ले गया है जिसकी हम कल्पना ही नहीं कर सकते इसके चारों ओर एक प्रखर आभामंडल तैयार हो जाता जो एक अभेद्य सुरक्षा कवच बनकर साधक की सभी व्याधियों एवं विकारों से रक्षा करता है तो ध्यान कि यहां तक महिमा है तो आपने इतना ही पूछा था की एकाग्रता के सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है तो इसके लिए सबसे अच्छा अभ्यास यही है कि परिणामों की साधना करें अभ्यास करें और 3 से 5 मिनट स्वास्थ्य की ध्यान पर स्वास्थ्य पर ध्यान शुरू करके उसको अपनी उपलब्धि समय उपलब्धता के अनुसार सिस्को बढ़ाते जाएं

om ji namaste ji aap puch rahe hain ki ekagrata ke liye sabse accha vyayam ya yog kya hai dekhiye ekagrata ek tarah se ekagrata matlab ke dhyan ho gaya aur maharshi patanjali ne ek sutra bola yum niyam aasan pranayaam pratyahar dharana dhyan samadhi star1 jani aath angon ka ek se unhone yogya ke bare mein charcha kiya hai jisme yah satvaan pranayaam hai jaan athva athva se tatva shirdi hai sacha payadan hai toh hum satva payadan ki sidhe baat kar rahe hain toh yah achanak ke koi bhi cheez nahi hoti hai lekin phir bhi hum iska labh le sakte hain aasan pranayaam pratyahar dharana yum niyam aasan pranayaam pratyahar dharana dhyan dhyan matlab ki ekagrata in sab jo peeche ki jo ang hai unko agar hum pura karte hain toh yah toh sehaz sehaz hi apne aap ho toh ho jaega isme koi kathin hi nahi hai lekin hum hamein baat hai ki in sabko matlab kabhi karke na karke ya thoda bahut karke sidhe mein kafir hona chahte hain toh iske liye upay hum yah bataana chahenge ki drishta bankar ya sakshi hokar jab ek like ke saath swasthya par man ko kendrit kar dete hain toh praan swata saksham ho jata hai aur yah 10 se 20 second mein ek baar swas andar jata hai aur 10 KG second mein swasthya bahar nikalta hai toh isko lambe abhyas ke abhyas se yogi jo lambe abhyas karya karte hain aur iske abhyasi baje aate hain toh yogi ho jaenge aap yogi 1 minute mein ek hi swaasth chalne lag jata hai yogi ka toh chal jata hai toh is prakar se jo purane namon ka bhi ek package hai swami ramdev ji maharaj ne banaya hai jisme bhastrika kapalbhati anulom vilom bhramari udgir ke baad jo hai vipashyana ya shiksha abhiyan ke roop pranam pranam kiya jata hai yah puri tarah dhyanatmak hai aapne dekha ki masti patanjali ne bhi satva payadan bataya hai aur isme jo swami ji ne ek package banaya hai pranayaam ka jo sabke liye hitkari kalakari aur saral ho usme aathwan inhone parinam ke roop mein package mein nahi hai ki yahan vidvaano ne ek package banaya hai jisme swami ramdev ji maharaj nahi banaya hai isko dhyan ko athva mein rakha hua hai toh 3 acre ek aise toh 3 se 5 minute pratyek vyakti ko kya dhyanatmak parinam avashya karna chahiye jo samadhi ke abhyasi yogi hain na ki dhyan ke saath shanson ki sadhna ko samay ki upalabdhata ke anusaar ghanto tak bhi kar sakte hain ya karte bhi hain is prakriya mein swasthya kisi tarah ki dhwani nahi hoti arthat yah dhwani rahit sadhna sadhak ko bheetar ke gehre mall mein le jaate hain jaha sadhak ke indriyon ka man mein man ka praan mein praan ka aatma mein aur aatma ka vishwatma athva isko is prakar se kahiye paramatma mein laye ho jata hai vaah isko aise bhi keh sakte hain ki sadhak ko Brahma ka sakshatkar ho jata hai kitni badi baat hai kitni badi baat hai bahut uchi baat hai toh itna tak matlab bhagwan ki sakshatkar ho jata hai is baar ka yahan tak kaha hai yah shuru kaise hua toh pranayaam se prarambh hui hum log baat kar rahe the main beech mein ek phone aa gaya tha toh usko sunana pad gaya jab hum abhyasi ho jaate hain toh isko dhyan ke saath saanso ki sadhna apne samay ke anusaar se ghanto tak isko kar sakte hain aur yah jo samaj ki sadhna hai ki dhwani rahit ho jata hai baad mein aur vitark bahut gehre hum maun mein chale jaate hain yahan ki chadar hum sadhuon ki in ki baat kare toh indriyon ka man mein man ka praan mein praan ka aatma mein aur aatma ka vishwatma kahiye ya paramatma mile ho jata hai is prakar jo sadhak ko Brahma ka sakshatkar ho jata hai pranayaam se prarambh hui sadhna se isko aise hi keh sakte hain ki pranayaam ki nirantarata se pratyahar pratihar ki nirantarata se dharna dharna ki nirantarata va dridhta se dhyan va dhyan ki nirantarata se samadhi ki sehaz prapti hoti hai isse praan sadhna se dharana dhyan aur samadhi ke sanyog se prem ekatarr sanyam sanyam par aa chuka hai yah masti patanjali ka hi sutra hai tarah makeup yah saiya mein sanyam se praja praja log se chaalu feeling your self realisation ki anubhuti ko sadhak prapt kar leta hai kya kitni uchi baat kiya toh sirf dhyan ki baat poocha hai lekin yahan toh receive ne hamare purvajon ne isko jitna scientific aur itni uchi sthar par le gaya hai jiski hum kalpana hi nahi kar sakte iske charo aur ek prakhar abhamandal taiyar ho jata jo ek abhedya suraksha kavach bankar sadhak ki sabhi vyadhiyon evam vikaron se raksha karta hai toh dhyan ki yahan tak mahima hai toh aapne itna hi poocha tha ki ekagrata ke sabse accha vyayam ya yog kya hai toh iske liye sabse accha abhyas yahi hai ki parinamon ki sadhna kare abhyas kare aur 3 se 5 minute swasthya ki dhyan par swasthya par dhyan shuru karke usko apni upalabdhi samay upalabdhata ke anusaar Cisco badhate jayen

ओम जी नमस्ते जी आप पूछ रहे हैं कि एकाग्रता के लिए सबसे अच्छा व्यायाम या योग क्या है देखि

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!