मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं?...


user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के दौरान अगर आपको चक्कर आते हैं तो आप अपने फैमिली डॉक्टर से संपर्क की ही उनको बताइए आपकी प्रॉब्लम है और उसका इलाज नहीं जी धन्यवाद आपका दिन शुभ रहे

yog ke dauran agar aapko chakkar aate hain toh aap apne family doctor se sampark ki hi unko bataiye aapki problem hai aur uska ilaj nahi ji dhanyavad aapka din shubha rahe

योग के दौरान अगर आपको चक्कर आते हैं तो आप अपने फैमिली डॉक्टर से संपर्क की ही उनको बताइए आप

Romanized Version
Likes  220  Dislikes    views  2776
WhatsApp_icon
20 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

1:51

Likes  253  Dislikes    views  2533
WhatsApp_icon
user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

0:51
Play

Likes  462  Dislikes    views  5461
WhatsApp_icon
user

loveena bhatt

Yoga Trainer,fashion Designer & social Worker

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आप ने सवाल किया है कि मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं तो चक्कर आने का एक कारण यह है कि आप कोई भी आसन लगातार करते हैं जिस वजह से आपको चक्कर आते हैं कोई भी आसन करने के बाद आपको रिलैक्स करना है फिर आपको दूसरा साले स्टार्ट करना है इससे आपको चक्कर नहीं आएंगे आप बीच-बीच में ब्रेक लेकर ही योगासन करें धन्यवाद

namaskar aap ne sawaal kiya hai ki mujhe yog ke dauran chakkar kyon aate hain toh chakkar aane ka ek karan yah hai ki aap koi bhi aasan lagatar karte hain jis wajah se aapko chakkar aate hain koi bhi aasan karne ke baad aapko relax karna hai phir aapko doosra saale start karna hai isse aapko chakkar nahi aayenge aap beech beech me break lekar hi yogasan kare dhanyavad

नमस्कार आप ने सवाल किया है कि मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं तो चक्कर आने का एक कार

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  231
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको कुछ नहीं कि मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं या तो आपको जरूरत से ज्यादा कमजोर है या बिना नॉलेज की आपको योगासन पड़ा में गिरा कर रहे हैं इसके इस कारण आप को चक्कर आते हैं या फिर आपको कोई अंदर प्रॉब्लम आपको प्रणाम गिरा करते हैं तो आओ जी प्रणाम अगर करेंगे तो अगर मस्तिष्क में कोई प्रॉब्लम है तो तुरंत वहां एक्टिव होगी वह ना सारी नसें होती है तब कोई दिक्कत हो सकती है बहुत ज्यादा गर्मी आराम कर रहे हैं तब आपको दिक्कत हो सकती है चक्कर आने के संभव हो जाता हम करेंगे तब ऐसा हो सकता है तो आप यहां पहले नोटिस करें कि आपको कोई प्रॉब्लम तो नहीं है अगर प्रॉब्लम नहीं है तो कपासन प्रणाम कर सकते हैं और आराम से करिए उसमें थोड़ा सा अगर कठिन आसन करें तो उसमें थोड़ा सा रिलैक्स जरूर लें जल्दबाजी नहीं होनी चाहिए जो है आपकी लगातार सुचारू रूप चल रही हो उपवास नहीं होनी चाहिए या आपको ध्यान रखना है तो आशा करते समझ में आ गया होगा धन्यवाद

aapko kuch nahi ki mujhe yog ke dauran chakkar kyon aate hain ya toh aapko zarurat se zyada kamjor hai ya bina knowledge ki aapko yogasan pada me gira kar rahe hain iske is karan aap ko chakkar aate hain ya phir aapko koi andar problem aapko pranam gira karte hain toh aao ji pranam agar karenge toh agar mastishk me koi problem hai toh turant wahan active hogi vaah na saari nase hoti hai tab koi dikkat ho sakti hai bahut zyada garmi aaram kar rahe hain tab aapko dikkat ho sakti hai chakkar aane ke sambhav ho jata hum karenge tab aisa ho sakta hai toh aap yahan pehle notice kare ki aapko koi problem toh nahi hai agar problem nahi hai toh kapasan pranam kar sakte hain aur aaram se kariye usme thoda sa agar kathin aasan kare toh usme thoda sa relax zaroor le jaldabaji nahi honi chahiye jo hai aapki lagatar sucharu roop chal rahi ho upvaas nahi honi chahiye ya aapko dhyan rakhna hai toh asha karte samajh me aa gaya hoga dhanyavad

आपको कुछ नहीं कि मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं या तो आपको जरूरत से ज्यादा कमजोर है

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  3623
WhatsApp_icon
user
1:11
Play

Likes  208  Dislikes    views  2330
WhatsApp_icon
user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं इसका उत्तर है कमजोरी की वजह से चक्कर आता है और दूसरा कारण है कि स्प्लेंडर लाइट इसके वजह से भी चक्कर आ सकता है इसलिए आप किसी चिकित्सक से अपना चेकअप करा दीजिए उसके बाद नियमित रूप से योग करने से चक्कर नहीं आएगा बसंती आप अपने शक्ति सामर्थ के अनुसार योग करें करें योग रहें निरोग

mujhe yug ke dauran chakkar kyon aate hain iska uttar hai kamzori ki wajah se chakkar aata hai aur doosra karan hai ki splendor light iske wajah se bhi chakkar aa sakta hai isliye aap kisi chikitsak se apna checkup kara dijiye uske baad niyamit roop se yog karne se chakkar nahi aayega basanti aap apne shakti samarth ke anusaar yog kare kare yog rahein nirog

मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं इसका उत्तर है कमजोरी की वजह से चक्कर आता है और दूसरा

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1928
WhatsApp_icon
user

Rekha Agarwal

Yoga Teacher

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड सब का फैसला मुझे युवा के जवान चक्कर क्यों आते हैं युवा पिक्चर राम चक्कर आने का मतलब है या तो आप कहीं न कहीं कोई न कोई गलती कर रहे कुछ गलती होने पर या फिर सकता है उसके साथ साथ भी हो सकते हैं कि आपको सर्वाइकल यस्पनप्लेज़ीकॉम जाते हैं आप कोई नहीं करना है और आगे भी हुआ करें तो किसी योगा अच्छी होगा टीचर के अंदर में रहकर करें आपकी गलती को पकड़ सकते हैं धन्यवाद

hello friend sab ka faisla mujhe yuva ke jawaan chakkar kyon aate hain yuva picture ram chakkar aane ka matlab hai ya toh aap kahin na kahin koi na koi galti kar rahe kuch galti hone par ya phir sakta hai uske saath saath bhi ho sakte hain ki aapko cervical yaspanaplezikam jaate hain aap koi nahi karna hai aur aage bhi hua kare toh kisi yoga achi hoga teacher ke andar me rahkar kare aapki galti ko pakad sakte hain dhanyavad

हेलो फ्रेंड सब का फैसला मुझे युवा के जवान चक्कर क्यों आते हैं युवा पिक्चर राम चक्कर आने का

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  275
WhatsApp_icon
user

Ashish Rawat

Yoga Teacher

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर मेरा नाम है आशीष रावत और मेरा यूट्यूब चैनल ने में स्वाध्याय योग्य आयोग ग्रुप एंड सवाल पूछा गया है मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं चक्कर आने के भाव से रिजल्ट हो सकते हैं जैसे कि आपको गैस बनती हो पेट में जिसके वैसा कुछ भी बैकबेंडिंग और बैठने के आसन करते हो तो आप के सर पर गैस करती होगी नंबर टू हो सकता आपको हिमोग्लोबिन की कमी हो नमस्ते हो सकता पर बीपी डाउन हो इसलिए डॉक्टर को एक बार चेक करवा लीजिए आपको कमी क्या है शरीर के अंदर है उसके वजह से आप को चक्कर आ रहे हो धन्यवाद

hello sir mera naam hai aashish rawat aur mera youtube channel ne mein swaadhyaay yogya aayog group and sawaal poocha gaya hai mujhe yog ke dauran chakkar kyon aate hain chakkar aane ke bhav se result ho sakte hain jaise ki aapko gas banti ho pet mein jiske waisa kuch bhi baikbending aur baithne ke aasan karte ho toh aap ke sir par gas karti hogi number to ho sakta aapko Hemoglobin ki kami ho namaste ho sakta par BP down ho isliye doctor ko ek baar check karva lijiye aapko kami kya hai sharir ke andar hai uske wajah se aap ko chakkar aa rahe ho dhanyavad

हेलो सर मेरा नाम है आशीष रावत और मेरा यूट्यूब चैनल ने में स्वाध्याय योग्य आयोग ग्रुप एंड स

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  277
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Soni

Yoga Instructor & Software Developer

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका प्रश्न है मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं देखिए इसके कुछ कारण हमें समझना होगा चक्कर आने का मतलब शुरू शुरू में जब मैंने भी शुरुआत की थी मेरे भी हाथ और ठीक से मोड़ते नहीं थे तो यहां क्या फोर्सफुली हल्का सा कोर्स करके नई चीजें सीखी जा रहे हैं योग में तो जब आपका ब्लड सरकुलेशन सही होता है तो अचानक उस हिस्से में खून दौड़ता है जहां पर पहले उतना बराबर से फ्लोर नहीं हो रहा था जितना कि होना चाहिए था तू जो सड़न चेंज होते हैं बॉडी में दिमाग पर तो वहां पर आप देखेंगे थोड़ा सा चक्कर आता है इससे बहुत नेगेटिव है में मत लीजिएगा ऐसा होगा कि आपको कई बार तारे चमकते हुए चीजें भी मिले या फिर आपको पता नहीं चलेगा कि मैं किस तरफ गिर रहे हो तो शांति से बैठे फ्री होगा करें ऐसा तब होता है जब आप सांस रोकने की कोशिश कर रहे हैं प्राणायाम में या फिर कोई ऐसा आसन सीख रहे हैं जिसमें इनवर्टर हुआ जा रहे हैं जैसे कि शासन सर्वांगासन हलासन तू अचानक से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है सिरके का तो यह एक कारण है चक्कर आने का इससे घबराए नहीं डरे नहीं लेकिन सावधानी रखते हुए धीरे-धीरे आसनों को सीखे आता है ठीक है जब तक आपको लगे नहीं कि हाथ सिर दर्द दे रहा है या फिर इस हिस्से में बहुत ज्यादा दर्द है ना तब तक कोई घबराने की जरूरत नहीं का दर्द महसूस होगा थोड़ी चक्कर आएगी तो सब चलता है कुछ समय बाद आप देखेंगे एक-दो हफ्ते या फिर 1 महीने बाद यह सब छोटी छोटी दिक्कतें सब खत्म हो गई है तो ज्यादा घबराने किसमें जरूरत नहीं कि आपको कंटिन्यू करते रहिए वह प्राणायाम करते समय भी कभी कबार ऐसा होता है जो शब्द रितिका प्रणब करेंगे परस्ती का प्रणाम में क्या होता है जल्दी सांस लेता है छोड़ते हैं लेते छोड़ते हैं तो उसमें भी वक्त हो रहा है बहुत जल्दी-जल्दी ऑक्सीजन मिल रहे हैं और दिमाग को भी ब्लड सरकुलेशन बहुत तेजी से जा रहे हैं तो कई बार ऐसा हो जाता है कि सबकुछ ब्लेंक हो जाएगा आपको दिखेगा नहीं तो वह शुरुआती दिनों में ही हो अच्छी बात है कि आप इस पर कुछ कदम बढ़ा रखे हैं और इन चीजों को रिसोल कर रहे हैं तो सीखिए कोई घबराने वाली बात नहीं है इसमें थोड़े बहुत आएंगे चलता है धन्यवाद

namaskar main busy sony baat kar raha hoon aapka prashna hai mujhe yug ke dauran chakkar kyon aate hain dekhiye iske kuch karan hamein samajhna hoga chakkar aane ka matlab shuru shuru mein jab maine bhi shuruat ki thi mere bhi hath aur theek se modte nahi the toh yahan kya forcefully halka sa course karke nayi cheezen sikhi ja rahe hain yog mein toh jab aapka blood sarakuleshan sahi hota hai toh achanak us hisse mein khoon daudata hai jaha par pehle utana barabar se floor nahi ho raha tha jitna ki hona chahiye tha tu jo sadan change hote hain body mein dimag par toh wahan par aap dekhenge thoda sa chakkar aata hai isse bahut Negative hai mein mat lijiega aisa hoga ki aapko kai baar taare chamakate hue cheezen bhi mile ya phir aapko pata nahi chalega ki main kis taraf gir rahe ho toh shanti se baithe free hoga kare aisa tab hota hai jab aap saans rokne ki koshish kar rahe hain pranayaam mein ya phir koi aisa aasan seekh rahe hain jisme inverter hua ja rahe hain jaise ki shasan sarvangasan halasan tu achanak se blood circulation badhta hai cirka ka toh yah ek karan hai chakkar aane ka isse ghabraye nahi dare nahi lekin savdhani rakhte hue dhire dhire aasanon ko sikhe aata hai theek hai jab tak aapko lage nahi ki hath sir dard de raha hai ya phir is hisse mein bahut zyada dard hai na tab tak koi ghabrane ki zarurat nahi ka dard mehsus hoga thodi chakkar aayegi toh sab chalta hai kuch samay baad aap dekhenge ek do hafte ya phir 1 mahine baad yah sab choti choti dikkaten sab khatam ho gayi hai toh zyada ghabrane kisme zarurat nahi ki aapko continue karte rahiye vaah pranayaam karte samay bhi kabhi kabar aisa hota hai jo shabd ritika pranab karenge parasti ka pranam mein kya hota hai jaldi saans leta hai chodte hain lete chodte hain toh usme bhi waqt ho raha hai bahut jaldi jaldi oxygen mil rahe hain aur dimag ko bhi blood sarakuleshan bahut teji se ja rahe hain toh kai baar aisa ho jata hai ki sabkuch blank ho jaega aapko dikhega nahi toh vaah shuruati dino mein hi ho achi baat hai ki aap is par kuch kadam badha rakhe hain aur in chijon ko risol kar rahe hain toh sikhiye koi ghabrane wali baat nahi hai isme thode bahut aayenge chalta hai dhanyavad

नमस्कार मैं बिजी सोनी बात कर रहा हूं आपका प्रश्न है मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  430
WhatsApp_icon
user
5:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जी देखिए योग के अनुसार सात चक्र होते हैं सात चक्रों को दो भाग में डिवाइड किया गया है एक शक्ति क्षेत्र दूसरा संभव क्षेत्र जो शक्ति क्षेत्र होता है इसमें मूलाधार चक्र स्वाधिष्ठान चक्र मणिपुर चक्र और अनाहत चक्र आता है यह पूरा एरिया आपके जो पूरा क्षेत्र है आपके पैर की उंगली से लेकर के आपके छाती हाथ तक होता है यह पूरे एरिया में खास करके आपके गोदाम मार्ग से लेकर के आपके छाती तक का जो एरिया है उसमें कुछ ऐसे ऑर्गन सोते हैं कि जिसके द्वारा शरीर में शक्ति का जो है संचय होता है वह चाहे आहार के रूप में हो चाहे रात के रूप में हो चाहे वाद शक्ति के रूप में हो चाहे अग्नि शक्ति पिक्चर शक्ति के रूप में हो चाहे जल शक्ति के रूप में हो चाहे ऊर्जा के सूचना शक्तियों के रूप में हो तो यह शक्ति का संचय का स्थान यदि आप भरपूर स्वास नहीं लेंगे भरपूर जल नहीं पिएंगे भरपूर आहार नहीं लेंगे तो आपके शरीर को चलाने के लिए शक्ति नहीं मिलेगी और दूसरी बात दूसरा क्षेत्र आता है संभव चेत्र संभव क्षेत्र जिसमें आप की खास करके ज्ञानेंद्रियां जहां पर होती हैं जहां पर आपका विचार जहां पर आपका मस्तिष्क होता है यह विशुद्धि चक्र आज्ञा चक्र और सहस्रार चक्र का पूरा एरिया होता है मुख्य भाग जो है इसमें आपका मस्तिष्क भी मरना चाहता है तू यह दोनों क्षेत्र अलग है और यह दोनों जो चित्र है वह सुषुम्ना नाड़ी से जुड़े हुए हैं जिसको आप स्पाइनल कॉर्ड चाहते हो तू जब यह आपके गर्दन के हिस्से से जो सुषुम्ना नाड़ी जा रही है तो वह आपकी स्पाइन में स्पाइनल कॉर्ड में सबसे ज्यादा सांप हिस्सा है तो साथ ही चाहे का मतलब कि यहां का जो प्रवाह है बहुत ही सूचना तरीके से सॉफ्ट तरीके से होता है कभी-कभी कुछ ऐसी क्रियाएं की जिसमे गर्दन बहुत पीछे कर देना या 11 गर्दन पर लग जाना तो सीधे चक्कर आ जाता है बेहोशी आती इसका तात्पर्य है कि शक्ति क्षेत्र और सांभर क्षेत्र का संपर्क टूट गया अब जो भी कार्य करते हैं जैसे आपको कोई सामान उठाना है तो सबसे पहले उसकी सूचना जो है मस्तिष्क के द्वारा आपके अंग को प्राप्त होगी उसके बाद आप का अंग फोन उठाने के लिए हाथ आपका सामान उठाने के लिए काम करेगा किंतु यदि आपको कभी करंट लगा हो यदि या किसी और व्यक्ति को कभी एक-दो मिनट लगातार करंट लगा हो उससे पूछिए तो उसकी स्थिति में क्या होता है कि वह विचार तो करता है कि वह करंट से छूटना चाहिए हाथ हटा ना तो चाहता है किंतु उसका हाथ काम नहीं करता और प्रयास तो करता है लेकिन वह प्रयास मस्त इसके तक धरा रह जाता है वह प्रयास हाथ तक नहीं पहुंच पाता अर्थात इंफॉर्मेशन हाथ नहीं पहुंच पाती है तो यदि योग के दौरान चक्कर आ रहा है तो इसका तात्पर्य है कि आपकी सुषुम्ना नाड़ी आपके स्पाइनल कॉर्ड में प्रवाह पर प्रभाव पड़ रहा है और यह प्रभाव जो है योग को लगातार करने से ही दूर होगा ध्यान रखिए कि जिन आसनों में विशेष करके आप को चक्कर आ रहा है तो उनकी उनके अकाउंट स्कोर आप कम कर दीजिए जैसे आप 10 बार कर रहे हैं तो उसकी जगह आपस को 5 बार 6 बार करिए अमित करिए और धीरे धीरे धीरे धीरे आपको लगे कि चक्कर नहीं आ रहा है इसमें तो धीरे-धीरे उसको 12 अकाउंट बड़ा करके अभ्यास में लाइए फिर आप देखेंगे कि कुछ दिनों में कि आपको जहां पर किसी आसन में 10 अकाउंट में ही चक्कर आ रहा था वह अब बाद में 10 अकाउंट में चक्कर नहीं आ रहा है और आप उसको ज्यादा भी कर सकते हैं तो आसनों को अवश्य कर लीजिए चक्कर आना यह आपके शरीर की कमजोरी का लक्षण है योगासन में कोई ऐसी समस्या नहीं है कि जिनके कारण चक्कर आ रहा हूं या आपके शरीर को नुकसान हो रहा हो योगासन प्राणायाम में 1 लक्षण बता रहा है योगासन करने से की योगासन करने के कारण आप जो है आपके शरीर में कुछ कमजोरी है जिस कारण से चक्कर आ रहा है और वह कमजोरी उसको करने से ही दूर होगा कि जैसे आप को अंधेरे में जाने से डर लग रहा किंतु जब धीरे-धीरे आप अंधेरे में जाने का प्रयास करिए तो वह डर आपका खत्म हो जाएगा तो इसी तरह से जो लक्षण आपको जिस भी प्रकार की योगिक पद्धति में कैसे दिखाई दे रहे हैं कि जिसमें आपको कुछ समस्या हो रही है तो वह उस योगिक पद्धति के बराबर अभ्यास से ही ठीक होगा समाप्त होगा धन्यवाद

namaskar ji dekhiye yog ke anusaar saat chakra hote hain saat chakron ko do bhag me divide kiya gaya hai ek shakti kshetra doosra sambhav kshetra jo shakti kshetra hota hai isme muladhar chakra swadhishthan chakra manipur chakra aur ANAHATA chakra aata hai yah pura area aapke jo pura kshetra hai aapke pair ki ungli se lekar ke aapke chhati hath tak hota hai yah poore area me khas karke aapke godaam marg se lekar ke aapke chhati tak ka jo area hai usme kuch aise organ sote hain ki jiske dwara sharir me shakti ka jo hai sanchaya hota hai vaah chahen aahaar ke roop me ho chahen raat ke roop me ho chahen vad shakti ke roop me ho chahen agni shakti picture shakti ke roop me ho chahen jal shakti ke roop me ho chahen urja ke soochna shaktiyon ke roop me ho toh yah shakti ka sanchaya ka sthan yadi aap bharpur swas nahi lenge bharpur jal nahi piyenge bharpur aahaar nahi lenge toh aapke sharir ko chalane ke liye shakti nahi milegi aur dusri baat doosra kshetra aata hai sambhav chetra sambhav kshetra jisme aap ki khas karke gyanendriyan jaha par hoti hain jaha par aapka vichar jaha par aapka mastishk hota hai yah vishuddhi chakra aagya chakra aur sahasrar chakra ka pura area hota hai mukhya bhag jo hai isme aapka mastishk bhi marna chahta hai tu yah dono kshetra alag hai aur yah dono jo chitra hai vaah sushumna naadi se jude hue hain jisko aap spinal card chahte ho tu jab yah aapke gardan ke hisse se jo sushumna naadi ja rahi hai toh vaah aapki spine me spinal card me sabse zyada saap hissa hai toh saath hi chahen ka matlab ki yahan ka jo pravah hai bahut hi soochna tarike se soft tarike se hota hai kabhi kabhi kuch aisi kriyaen ki jisme gardan bahut peeche kar dena ya 11 gardan par lag jana toh sidhe chakkar aa jata hai behoshi aati iska tatparya hai ki shakti kshetra aur saambhar kshetra ka sampark toot gaya ab jo bhi karya karte hain jaise aapko koi saamaan uthana hai toh sabse pehle uski soochna jo hai mastishk ke dwara aapke ang ko prapt hogi uske baad aap ka ang phone uthane ke liye hath aapka saamaan uthane ke liye kaam karega kintu yadi aapko kabhi current laga ho yadi ya kisi aur vyakti ko kabhi ek do minute lagatar current laga ho usse puchiye toh uski sthiti me kya hota hai ki vaah vichar toh karta hai ki vaah current se chutana chahiye hath hata na toh chahta hai kintu uska hath kaam nahi karta aur prayas toh karta hai lekin vaah prayas mast iske tak dhara reh jata hai vaah prayas hath tak nahi pohch pata arthat information hath nahi pohch pati hai toh yadi yog ke dauran chakkar aa raha hai toh iska tatparya hai ki aapki sushumna naadi aapke spinal card me pravah par prabhav pad raha hai aur yah prabhav jo hai yog ko lagatar karne se hi dur hoga dhyan rakhiye ki jin aasanon me vishesh karke aap ko chakkar aa raha hai toh unki unke account score aap kam kar dijiye jaise aap 10 baar kar rahe hain toh uski jagah aapas ko 5 baar 6 baar kariye amit kariye aur dhire dhire dhire dhire aapko lage ki chakkar nahi aa raha hai isme toh dhire dhire usko 12 account bada karke abhyas me laiye phir aap dekhenge ki kuch dino me ki aapko jaha par kisi aasan me 10 account me hi chakkar aa raha tha vaah ab baad me 10 account me chakkar nahi aa raha hai aur aap usko zyada bhi kar sakte hain toh aasanon ko avashya kar lijiye chakkar aana yah aapke sharir ki kamzori ka lakshan hai yogasan me koi aisi samasya nahi hai ki jinke karan chakkar aa raha hoon ya aapke sharir ko nuksan ho raha ho yogasan pranayaam me 1 lakshan bata raha hai yogasan karne se ki yogasan karne ke karan aap jo hai aapke sharir me kuch kamzori hai jis karan se chakkar aa raha hai aur vaah kamzori usko karne se hi dur hoga ki jaise aap ko andhere me jaane se dar lag raha kintu jab dhire dhire aap andhere me jaane ka prayas kariye toh vaah dar aapka khatam ho jaega toh isi tarah se jo lakshan aapko jis bhi prakar ki yogic paddhatee me kaise dikhai de rahe hain ki jisme aapko kuch samasya ho rahi hai toh vaah us yogic paddhatee ke barabar abhyas se hi theek hoga samapt hoga dhanyavad

नमस्कार जी देखिए योग के अनुसार सात चक्र होते हैं सात चक्रों को दो भाग में डिवाइड किया गया

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1560
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरि ओम नारायण नारायण ओम ओम शांति दोस्तों आपका सवाल मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं क्या सवाल यू करते समय अगर आपको चक्कर आता है तो समझ लीजिए वात पित्त और कफ तीनों जो है इसे त्रिदोष के नाम से भी जाना जाता है कि दोष करती है 32 वात पित्त और कफ इन तीनों में बैलेंस होता है तो हमें चक्कर आता है चाय बात का है टाइप का चक्का बैलेंस तो होना बहुत जरूरी है अगर आप यू के दौरान चक्कर आते हैं तो तीन चीजें करें और प्रतिदिन करें धीरे-धीरे अभ्यास करते-करते यह सब जाएगा घबराए ना जब आप को चक्कर आते हैं तो आंखें बंद करके योग न करें बल्कि आंखें खोलकर करें और जिस भी मुद्रा में बैठ सके बैठ जाए और कौन-कौन से योग करें भस्त्रिका प्राणायाम सांस लेना और छोड़ना अगर यह काम नहीं कर पाते हैं तो आप ब्रीडिंग करें अर्थात विश्वास को लेना और छोड़ना कैसे इस तरह से आप कर सकते हैं जय कछुआ धीरे-धीरे लंबी गहरी सांस को 1 मिनट में धीरे-धीरे भरता है फिर छोड़ता है वही स्थिति आपको करनी धीरे धीरे पास को फेफड़ों में अधिक से अधिक भारी धीरे-धीरे विश्वास उतनी ही देर में छोड़े स्थिति हो गई पूरक और रेचक उसको लेने की स्थिति को कहते हैं और 5 को छोड़ने की स्थिति को कहते हैं वे चक दे चक का अर्थ विश्वास को छोड़ देना और पूरा श्वास को अंदर ले लेना यह स्थिति हो गई अगर बच्चे का कर सके तो करें नहीं तो रेचक और पूरक करें इसके बाद कपालभाति कपालभाति एक्सपेंड एक बार एक निर्मित 7 बार अपनी स्थिति के अनुसार के अनुसार टेबल है कि नहीं जी हां बहुत अच्छा प्रश्न आपका यह रहा अनुलोम-विलोम आंखें खोलकर आपको करना है 10 मिनट या 15 मिनट थोड़ा सा अगर करते हैं 2 मिनट 3:00 मिनट 4:00 मिनट 5 मिनट अगर चक्कर आता है तो थोड़ा सा आप उड़ जाए टहल कर ले फिर आप प्रारंभ करें ऐसी ऐसी स्थिति धीरे-धीरे बढ़ जाएगा और आपने लगाओ धीरे-धीरे बन जाएगा क्या है कि कहा गया अभ्यास और वैराग्य अंतर्विरोध अभ्यास और वैराग्य के द्वारा चित्त की वृत्तियों का निरोध हो न जाना ही योग है तो बिना अभ्यास अभ्यास मनी होता है सतत अभ्यास आप को चक्कर क्यों आता है प्रयास नहीं करते हैं 5 दिन लगातार करें एक प्रश्न आता है समाजवाद में सत दीर्घकाल निरंतर रहस्य सत्कार से भी तो दृढ़ भूमि अर्थ हाथों शब्द का लगातार अभ्यास और दीर्घकाल पर करें जब तक पृथ्वी पर रहे कार्य निरंतर सत्कार्य से विस्तार के लिए लोक कल्याण के लिए उत्थान के लिए अपने ही लिए नहीं बल्कि लोगों की भलाई के लिए भी ऐसा सोच होना चाहिए कोई भी चीज करे तो अपने ही लिए नहीं अपना तो मिलेगा ही मर गए क्योंकि भला का उल्टा लाभ होता है दया को उल्टा होता है आप यह बात जीवन में याद करेगा अगर आप किसी का भला अगर करते हैं तो वह पुण्य आपके अंदर जमा हो जाएगा और आपको लाभ किसी न किसी रूप में इसी प्रकार से आप अगर किसी पर दया करते हैं तो उसे यह किसी पर दिखाए कोई भी हो अगर दया करते हैं उसे तू भला कुलटा लाभदायक उल्टा याद इन बातों को ध्यान में रखें अगर आपको चक्कर आता है प्राणायाम करते तो आप थोड़ा सा अवतार लिया करें अगर आप चाहें तो हमारा तीन बातें याद कर लीजिए हल्दी 50 ग्राम मेथी 50 ग्राम और 50 ग्राम अगर हो सके तो अश्वगंधा 50 ग्राम यह चारों को 5050 ग्राम मात्रा में मिला लें अगर डबल बनाना है तो 100 ग्राम स्तर से बढ़ सकते हैं और किसी डिब्बे में रख लीजिए थोड़ा सा चूर्ण सुबह उठते ही लेकर मुख्य में डालकर पानी को पी लीजिए और शौच करने जाइए देखिए यह तीनों का इन बैलेंस जो है बैलेंस में आ जाएगा अगर आपको कुछ ऐसा लग रहा है तो आप थोड़ा सच होते समय आप चुटकी भर एक आधा या एक चम्मच के आसपास शुरुआती देश में आधी चम्मच से यूज करिएगा एक चम्मच भी कर सकते हैं अपनी बॉडी के अनुसार दूध में या गुनगुने पानी के साथ आप हल्दी को ले सकते हैं इससे लेने से क्या होता आपको ब्लड की जो सर्कुलेशन है सही तरीके से खून का दौरा पूरी बॉडी में संचरण सही तरीके से होता है यह चक्कर क्यों आता है हमारा जो है नालियों का जो प्रवाह है वह सही तरीके से नहीं हो पाता है हमारे शरीर में 72 करोड़ 7200000 10201 लाडिया बताई गई है श्रीमद्भागवत गीता के अनुसार 72000 नारियां बताई गई है तो जब आप यूं करते हैं तो सांसो का जब खेल के अनुसार करते हैं तो स्वाभाविक हैं कि आपकी जो नालियों में है कहीं अवरुद्ध हो रहा है इसी कारण से हो रहा है इन बैलेंस हो रहा है बॉडी में इन बैलेंस हो रहा हो रहा है वात पित्त और कफ तीनों की मात्रा है कभी बात बढ़ जाता है कभी पीते हो जाता कभी कम हो जाता है इसका बैलेंस होना बहुत जरूरी है अनुलोम-विलोम करेंगे तो लाइन पर आ जाएगा और आप चाहे तो उसको भी दे दिया चंद्रभेदी भी कर सकते हैं तो शुरुआती बेस में इतना ही करें सूर्य चंद्रभेदी अभी न करें बल्कि इसी को करें अनुलोम-विलोम की स्थिति को बढ़ा दीजिए और आंखें खोलकर ताकत नहीं आएगा नारायण नारायण नारायण ओम ओम ओम

hari om narayan narayan om om shanti doston aapka sawaal mujhe yog ke dauran chakkar kyon aate kya sawaal you karte samay agar aapko chakkar aata hai toh samajh lijiye vaat pitt aur cough tatvo jo hai ise tridosh ke naam se bhi jana jata hai ki dosh karti hai 32 vaat pitt aur cough in tatvo mein balance hota hai toh hamein chakkar aata hai chai baat ka hai type ka chakka balance toh hona bahut zaroori hai agar aap you ke dauran chakkar aate hain toh teen cheezen kare aur pratidin kare dhire dhire abhyas karte karte yah sab jaega ghabraye na jab aap ko chakkar aate hain toh aankhen band karke yog na kare balki aankhen kholakar kare aur jis bhi mudra mein baith sake baith jaaye aur kaun kaunsi yog kare bhastrika pranayaam saans lena aur chhodna agar yah kaam nahi kar paate hain toh aap Breeding kare arthat vishwas ko lena aur chhodna kaise is tarah se aap kar sakte hain jai kachua dhire dhire lambi gehri saans ko 1 minute mein dhire dhire bharta hai phir chodta hai wahi sthiti aapko karni dhire dhire paas ko phephadon mein adhik se adhik bhari dhire dhire vishwas utani hi der mein chode sthiti ho gayi purak aur rechak usko lene ki sthiti ko kehte hain aur 5 ko chodne ki sthiti ko kehte hain ve chak de chak ka arth vishwas ko chod dena aur pura swas ko andar le lena yah sthiti ho gayi agar bacche ka kar sake toh kare nahi toh rechak aur purak kare iske baad kapalbhati kapalbhati eksapend ek baar ek nirmit 7 baar apni sthiti ke anusaar ke anusaar table hai ki nahi ji haan bahut accha prashna aapka yah raha anulom vilom aankhen kholakar aapko karna hai 10 minute ya 15 minute thoda sa agar karte hain 2 minute 3 00 minute 4 00 minute 5 minute agar chakkar aata hai toh thoda sa aap ud jaaye tahal kar le phir aap prarambh kare aisi aisi sthiti dhire dhire badh jaega aur aapne lagao dhire dhire ban jaega kya hai ki kaha gaya abhyas aur varagya antarvirodh abhyas aur varagya ke dwara chitt ki vrittiyon ka nirodh ho na jana hi yog hai toh bina abhyas abhyas money hota hai satat abhyas aap ko chakkar kyon aata hai prayas nahi karte hain 5 din lagatar kare ek prashna aata hai samajavad mein sat dirghakal nirantar rahasya satkar se bhi toh dridh bhoomi arth hathon shabd ka lagatar abhyas aur dirghakal par kare jab tak prithvi par rahe karya nirantar satkarya se vistaar ke liye lok kalyan ke liye utthan ke liye apne hi liye nahi balki logo ki bhalai ke liye bhi aisa soch hona chahiye koi bhi cheez kare toh apne hi liye nahi apna toh milega hi mar gaye kyonki bhala ka ulta labh hota hai daya ko ulta hota hai aap yah baat jeevan mein yaad karega agar aap kisi ka bhala agar karte hain toh vaah punya aapke andar jama ho jaega aur aapko labh kisi na kisi roop mein isi prakar se aap agar kisi par daya karte hain toh use yah kisi par dekhiye koi bhi ho agar daya karte hain use tu bhala kulta labhdayak ulta yaad in baaton ko dhyan mein rakhen agar aapko chakkar aata hai pranayaam karte toh aap thoda sa avatar liya kare agar aap chahain toh hamara teen batein yaad kar lijiye haldi 50 gram methi 50 gram aur 50 gram agar ho sake toh ashawagandha 50 gram yah charo ko 5050 gram matra mein mila le agar double banana hai toh 100 gram sthar se badh sakte hain aur kisi dibbe mein rakh lijiye thoda sa churn subah uthte hi lekar mukhya mein dalkar paani ko p lijiye aur sauch karne jaiye dekhiye yah tatvo ka in balance jo hai balance mein aa jaega agar aapko kuch aisa lag raha hai toh aap thoda sach hote samay aap chutakee bhar ek aadha ya ek chammach ke aaspass shuruati desh mein aadhi chammach se use kariega ek chammach bhi kar sakte hain apni body ke anusaar doodh mein ya gungune paani ke saath aap haldi ko le sakte hain isse lene se kya hota aapko blood ki jo circulation hai sahi tarike se khoon ka daura puri body mein sancharan sahi tarike se hota hai yah chakkar kyon aata hai hamara jo hai naliyon ka jo pravah hai vaah sahi tarike se nahi ho pata hai hamare sharir mein 72 crore 7200000 10201 ladiya batai gayi hai shrimadbhagavat geeta ke anusaar 72000 nariyan batai gayi hai toh jab aap yun karte hain toh saanso ka jab khel ke anusaar karte hain toh swabhavik hain ki aapki jo naliyon mein hai kahin avaruddh ho raha hai isi karan se ho raha hai in balance ho raha hai body mein in balance ho raha ho raha hai vaat pitt aur cough tatvo ki matra hai kabhi baat badh jata hai kabhi peete ho jata kabhi kam ho jata hai iska balance hona bahut zaroori hai anulom vilom karenge toh line par aa jaega aur aap chahen toh usko bhi de diya chandrabhedi bhi kar sakte hain toh shuruati base mein itna hi kare surya chandrabhedi abhi na kare balki isi ko kare anulom vilom ki sthiti ko badha dijiye aur aankhen kholakar takat nahi aayega narayan narayan narayan om om om

हरि ओम नारायण नारायण ओम ओम शांति दोस्तों आपका सवाल मुझे योग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  584
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं तो देखिए यह मुझे आज पहली बार सुनने को आ रहा है कि योग के दौरान कभी आता है आपको चक्कर आने के बहुत सारे कारण आपको मैं देख तो नहीं रह पा रहा हूं कि आपका एज क्या है आपका वेट क्या है आप lin3 है या पार्टी तो आप थोड़ा मेरी सुला लें आप अपना शुगर लेवल बढ़ता वगैरह की जांच करा लें और दूसरी बात कि आप इस चीज को भी देखे आपका पेट बिल्कुल साफ है योग में शंख प्रक्षालन की क्रिया बताइए जिसके द्वारा आप पर पेट को पूर्णरूपेण साफ रख सकते हैं कर और ज्यादा यदा पानी का प्रयोग करें और प्रणाम शुरू करें वज्रासन में बैठकर शायद मेरा मानना है कि ऐसा आपको नहीं होगा धन्यवाद

aapka question hai mujhe yug ke dauran chakkar kyon aate hai toh dekhiye yah mujhe aaj pehli baar sunne ko aa raha hai ki yog ke dauran kabhi aata hai aapko chakkar aane ke bahut saare karan aapko main dekh toh nahi reh paa raha hoon ki aapka age kya hai aapka wait kya hai aap lin3 hai ya party toh aap thoda meri sula le aap apna sugar level badhta vagera ki jaanch kara le aur dusri baat ki aap is cheez ko bhi dekhe aapka pet bilkul saaf hai yog mein shankh prakshalan ki kriya bataye jiske dwara aap par pet ko poornroopen saaf rakh sakte hai kar aur zyada yada paani ka prayog kare aur pranam shuru kare vajrasan mein baithkar shayad mera manana hai ki aisa aapko nahi hoga dhanyavad

आपका क्वेश्चन है मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं तो देखिए यह मुझे आज पहली बार सुनने

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  993
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आपका प्रश्न है कि मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं आपको बहुत सावधान रहने की आवश्यकता है इसमें आप यह चेकअप कराइए कहीं आपका ब्लड प्रेशर तो नहीं बढ़ जाता या और कोई प्रॉब्लम तो नहीं है आपको जिसकी वजह से आप को चक्कर आते हैं और हाई बीपी की समस्या है तो हो सकता है से चक्कर आते हो और यदि समस्या नहीं है तो आप अपना ब्लड टेस्ट कराइए और डाक अच्छे डॉक्टर से भी सलाह लें और योगासन जब भी करें तो कुशल योग गुरु के निर्देशन में ही करना अन्यथा की स्थिति में आपको दिक्कत हो सकती है धन्यवाद

ji aapka prashna hai ki mujhe yug ke dauran chakkar kyon aate hain aapko bahut savdhaan rehne ki avashyakta hai isme aap yah checkup karaiye kahin aapka blood pressure toh nahi badh jata ya aur koi problem toh nahi hai aapko jiski wajah se aap ko chakkar aate hain aur high BP ki samasya hai toh ho sakta hai se chakkar aate ho aur yadi samasya nahi hai toh aap apna blood test karaiye aur dak acche doctor se bhi salah le aur yogasan jab bhi kare toh kushal yog guru ke nirdeshan mein hi karna anyatha ki sthiti mein aapko dikkat ho sakti hai dhanyavad

जी आपका प्रश्न है कि मुझे युग के दौरान चक्कर क्यों आते हैं आपको बहुत सावधान रहने की आवश्यक

Romanized Version
Likes  104  Dislikes    views  2089
WhatsApp_icon
play
user

Dr. R. K. Gupta

Yoga & Nature Care Health center

0:45

Likes  105  Dislikes    views  1182
WhatsApp_icon
play
user

Dr.Pavan Mishra

Naturopath Doctor | Physician

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपको युग के दौरान चक्कर आ रहे हैं तो आपको थोड़ा सा अपना बैटल चेक कराना चाहिए मेन से ब्लड प्रेशर टेंपरेचर एंड पल्स रेट के साथ में कुछ आपको अपनी ब्लड की जांच कराने की आवश्यकता है हो सकता है कि कहीं न कहीं कोई न कोई सरकुलेशन में रुकावट आ रही हो तो इसको जानने की जरूरत है और इन को जानने के बाद ही आपके साथ ऐसा ही होगा करें जिसकी वजह से कोई मिस हैपनिंग ना होने पाए आपको और जब आप यह सारी चीजों को जाने के बाद करेंगे किसी अच्छी सो योग्य योग्य चिकित्सक की देखरेख में आप यह सारा काम करेंगे तो बहुत ही अच्छा रहेगा आपके लिए लेकिन इसके लिए जो अभी चीजें अपने बताइए उसका इन्वेस्टिगेशन कराना बहुत ही पार्टी तो यह जरूरी धन्यवाद

agar aapko yug ke dauran chakkar aa rahe hain toh aapko thoda sa apna battle check krana chahiye main se blood pressure temperature and pulse rate ke saath mein kuch aapko apni blood ki jaanch karane ki avashyakta hai ho sakta hai ki kahin na kahin koi na koi sarakuleshan mein rukavat aa rahi ho toh isko jaanne ki zarurat hai aur in ko jaanne ke baad hi aapke saath aisa hi hoga kare jiski wajah se koi miss happening na hone paye aapko aur jab aap yah saree chijon ko jaane ke baad karenge kisi achi so yogya yogya chikitsak ki dekhrekh mein aap yah saara kaam karenge toh bahut hi accha rahega aapke liye lekin iske liye jo abhi cheezen apne bataye uska investigation krana bahut hi party toh yah zaroori dhanyavad

अगर आपको युग के दौरान चक्कर आ रहे हैं तो आपको थोड़ा सा अपना बैटल चेक कराना चाहिए मेन से ब्

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1803
WhatsApp_icon
user

Aparesh

Yoga Instructor

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि आपको योग करते वक्त चक्कर आते हैं तो इसके कहीं मेडिकल कारण भी हो सकते हैं जैसे केवल टाइको लो शुगर लो बीपी और भी कोई ऐसे कारण हो सकते हैं ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर की सलाह के बिना योगा की शुरुआत ना करें

ki aapko yog karte waqt chakkar aate hain toh iske kahin medical karan bhi ho sakte hain jaise keval taiko lo sugar lo BP aur bhi koi aise karan ho sakte hain aisi sthiti mein apne doctor ki salah ke bina yoga ki shuruat na karen

कि आपको योग करते वक्त चक्कर आते हैं तो इसके कहीं मेडिकल कारण भी हो सकते हैं जैसे केवल टाइक

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  505
WhatsApp_icon
user

KunwarJi Sunil Singh Rajput

Yoga Expert & Yoga Therapist & Director- Amaya The Yogic Fitness (The Yoga Studio )

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

युग के दौरान चक्कर आना यह दर्शाता है कि शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा की कमी है शरीर में कुछ तत्वों की कमी है तो पहले आप थोड़ा चेकअप कराने की सोच लेते रहे खाली करने कभी-कभी क्या होता है कि जब हम योगाभ्यास करते तो अपनी सांसो को रोक लेते हैं विश्वास रोक लेते हैं तो शरीर में प्रॉपर ऑक्सीजन की मात्रा नहीं पूछ पाती है इसलिए कभी-कभी चक्कर आ जाते हैं और विशेषकर गर्दन के जो एक्सरसाइज करते हैं हम गोल-गोल घुमाते तुमको बिल्कुल धीमे-धीमे अपनी क्षमता के अनुसार करें आपको चक्कर नहीं आएंगे

yug ke dauran chakkar aana yah darshata hai ki sharir mein oxygen ki matra ki kami hai sharir mein kuch tatvon ki kami hai toh pehle aap thoda checkup karane ki soch lete rahe khaali karne kabhi kabhi kya hota hai ki jab hum yogabhayas karte toh apni saanso ko rok lete hain vishwas rok lete hain toh sharir mein proper oxygen ki matra nahi puch pati hai isliye kabhi kabhi chakkar aa jaate hain aur visheshkar gardan ke jo exercise karte hain hum gol gol ghumate tumko bilkul dhime dhime apni kshamta ke anusaar kare aapko chakkar nahi aayenge

युग के दौरान चक्कर आना यह दर्शाता है कि शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा की कमी है शरीर में कुछ

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  1255
WhatsApp_icon
user

Sks

योग

0:20
Play

Likes  47  Dislikes    views  694
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के योग के धर्म चक्कर बिल्कुल नहीं आएगा अगर आता है तो आप उसको धीरे-धीरे कीजिए क्योंकि जो स्टार्टिंग डे में आप करते हो या पास कोई काम कर रहे हो तो आप का मतलब पागल फिलिंग्स होगा जब आप ब्रेक लाइट ही हो जाओगे तो मुझे लगता नहीं कि आपका ऐसा दर्द होगा क्योंकि योग एक ऐसी चीजें बहुत मन कर शांति लाता है तो आप उसे कॉन्फिडेंस पाओगे जिस दिन कहोगे तू ही होगा और जो कुछ भी आप आसान कर रहे हो या पुराने में करो धीरे धीरे कीजिए जितना अंदर से फीलिंग्स करोगे उतना ज्यादा आपका जो माता लेन दे नहीं होगा वह स्पेशल धीरे-धीरे फूल होगा तो आप ऑटोमेटिक लिए आपका फीलिंग चाहेगा साइकोलॉजी के लिए तो मुझे लगता है क्या कर रहे हो धीरे धीरे कीजिए तो वह ऑटो मेरे लिए आप सब से सो जाओगे थैंक यू

ke yog ke dharm chakkar bilkul nahi aayega agar aata hai toh aap usko dhire dhire kijiye kyonki jo starting day mein aap karte ho ya paas koi kaam kar rahe ho toh aap ka matlab Pagal feelings hoga jab aap break light hi ho jaoge toh mujhe lagta nahi ki aapka aisa dard hoga kyonki yog ek aisi cheezen bahut man kar shanti lata hai toh aap use confidence paoge jis din kahoge tu hi hoga aur jo kuch bhi aap aasaan kar rahe ho ya purane mein karo dhire dhire kijiye jitna andar se feelings karoge utana zyada aapka jo mata len de nahi hoga vaah special dhire dhire fool hoga toh aap Automatic liye aapka feeling chahega psychology ke liye toh mujhe lagta hai kya kar rahe ho dhire dhire kijiye toh vaah auto mere liye aap sab se so jaoge thank you

के योग के धर्म चक्कर बिल्कुल नहीं आएगा अगर आता है तो आप उसको धीरे-धीरे कीजिए क्योंकि जो स्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!