कौन-सी स्थिति अधिवृक्क थकान और पुराने तनाव का इलाज करती है?...


user

Ankit Bhardwaj

Yoga Instructor

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादा थकान और पुराने तनाव में आप आसन से ज्यादा प्राणायाम अभ्यास करें किसी की निगरानी में हो सके तो कहीं कोई क्लास ज्वाइन कर लो या फिर किसी के सुपरविजन में आप यह करें प्रणब आपको मानसिक तनाव डिप्रेशन में किसी भी मानसिक अवसाद से बाहर आने में पूरी तरह से मदद करेगा हां यह टाइम जरूर लेगा लेकिन कंपलीटली ठीक करेगा

zyada thakan aur purane tanaav mein aap aasan se zyada pranayaam abhyas kare kisi ki nigrani mein ho sake toh kahin koi class join kar lo ya phir kisi ke suparavijan mein aap yah kare pranab aapko mansik tanaav depression mein kisi bhi mansik avsad se bahar aane mein puri tarah se madad karega haan yah time zaroor lega lekin kampalitli theek karega

ज्यादा थकान और पुराने तनाव में आप आसन से ज्यादा प्राणायाम अभ्यास करें किसी की निगरानी में

Romanized Version
Likes  111  Dislikes    views  1388
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Bera

Yoga Instructor

0:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसके लिए आपको मेडिटेशन करना जरूरी है थोड़ा सा ध्यान अभ्यास और मेडिटेशन पहले आप कुछ प्रणब कर लीजिए जैसा कपालभाती अलोम विलोम वाह प्राणायाम उसका बाद 15 मिनट ऑफ मैडिटेशन कीजिए जिससे आपको राहत मिलेगा

iske liye aapko meditation karna zaroori hai thoda sa dhyan abhyas aur meditation pehle aap kuch pranab kar lijiye jaisa kapalbhati alom vilom wah pranayaam uska baad 15 minute of meditation kijiye jisse aapko rahat milega

इसके लिए आपको मेडिटेशन करना जरूरी है थोड़ा सा ध्यान अभ्यास और मेडिटेशन पहले आप कुछ प्रणब क

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  409
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी आपका क्वेश्चन है कौन सी स्थिति अधिक थकान और पुराने तनाव का इलाज करती है तो देखिए तनाव की स्थिति जिस भी कारण से निर्मित होती है एक तनाव शरीर का होता है दूसरा तनाव मस्तिष्क का होता है अगर आपके शरीर और मस्तिष्क दोनों में तनाव है तो उसके लिए आपको थोड़ा सा संयमित यह जीवन जीना पड़ेगा क्योंकि आप का मानना है कि पुराना तनाव का इलाज करती है तो बिल्कुल तनाव पुराने तनाव का इलाज तो करती है इसमें नॉट आउट उसमें आपको प्रक्रिया थोड़ा सा चेंज करना ही पड़ेगा और आपको सुबह ब्रह्म मुहूर्त में जागने के बाद नित्य क्रियाओं से निवृत्त होने के बाद स्नान आदि करके आपको बिल्कुल जमीन पर कंबल हो गया बिछाके वज्रासन की स्थिति में बैठ जाएं और तत्पश्चात कम से कम 15 से 20 मिनट अनुलोम-विलोम की स्थिति में आए अनुलोम विलोम प्राणायाम करें मन धीरे-धीरे शांत होगा उसके बाद आप खड़े हो जाएं और राशन कम से कम पांच से सात राउंड करें तो आप जानते ही होंगे कैसे किया जाता है तो तराज़न करें तत्पश्चात फिर पुनः आप बजा संकेत कि मैं बैठ जाए जान की प्रक्रिया को आरंभ करें बिल्कुल लुधियाना अवस्था में आ जाएं बिजासन की स्थिति में आंखें कोमलता से बंद करें और आते जाते हैं प्रत्येक श्वास को कम से कम 15 से 20 मिनट देखें तत्पश्चात अपने ध्यान को आज्ञा चक्र पर लगाए आज्ञा चक्र जगह है जहां दोनों फिर कोठी ओके मत जिस जगह पर पुरुष तिलक करते हैं महिलाएं बंदी लगाती है उस जगह को कम से कम 40 से 45 मिनट तक बिल्कुल देखें और देखते चले जाएं इससे हमें उम्मीद है कि आपके पुराने तनाव दूर हो जाएंगे धन्यवाद

likhi aapka question hai kaun si sthiti adhik thakan aur purane tanaav ka ilaj karti hai toh dekhiye tanaav ki sthiti jis bhi karan se nirmit hoti hai ek tanaav sharir ka hota hai doosra tanaav mastishk ka hota hai agar aapke sharir aur mastishk dono mein tanaav hai toh uske liye aapko thoda sa sanyamit yah jeevan jeena padega kyonki aap ka manana hai ki purana tanaav ka ilaj karti hai toh bilkul tanaav purane tanaav ka ilaj toh karti hai isme not out usme aapko prakriya thoda sa change karna hi padega aur aapko subah Brahma muhurt mein jagne ke baad nitya kriyaon se sevanervit hone ke baad snan aadi karke aapko bilkul jameen par kambal ho gaya bichake vajrasan ki sthiti mein baith jayen aur tatpashchat kam se kam 15 se 20 minute anulom vilom ki sthiti mein aaye anulom vilom pranayaam kare man dhire dhire shaant hoga uske baad aap khade ho jayen aur raashan kam se kam paanch se saat round kare toh aap jante hi honge kaise kiya jata hai toh tarazan kare tatpashchat phir punh aap baja sanket ki main baith jaaye jaan ki prakriya ko aarambh kare bilkul ludhiyana avastha mein aa jayen bijasan ki sthiti mein aankhen komalta se band kare aur aate jaate hain pratyek swas ko kam se kam 15 se 20 minute dekhen tatpashchat apne dhyan ko aagya chakra par lagaye aagya chakra jagah hai jaha dono phir kothi ok mat jis jagah par purush tilak karte hain mahilaye bandi lagati hai us jagah ko kam se kam 40 se 45 minute tak bilkul dekhen aur dekhte chale jayen isse hamein ummid hai ki aapke purane tanaav dur ho jaenge dhanyavad

लिखी आपका क्वेश्चन है कौन सी स्थिति अधिक थकान और पुराने तनाव का इलाज करती है तो देखिए तनाव

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  975
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!