मुझे अपने अभ्यास में योग को कैसे अनुक्रमित करना चाहिए?...


user
1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सबसे पहले आप अपनी प्राणायाम पर ध्यान दें अपना जो बिल्डिंग प्रोसेस है उसको आप ध्यान से करें और सांसो को ठीक से लेना छोड़ना सांस लेने में पेट बाहर आना चाहिए सांस छोड़ने में पेट अंदर जाना चाहिए उसके बाद क्योंकि प्राणायाम और राशन को बंद और मुद्रा को जोड़कर हम आपको बता रहे हैं उसके बाद सबसे पहले आप पीठ के बल लेट जाने वाले आसन करें फिर आप पेट के बल लेट जाने वाले आसन करें फिर आप बैठने वाले आसन करें और उसके बाद आप खड़े होकर आसन करें लेकिन अगर आपको योगाभ्यास की तैयारी करनी है बिल्कुल ही शुरुआत करनी है तो आप धीरे-धीरे वज्रासन से शुरू करना बेहतर होगा वज्रासन में बैठना शुरू करें और शुक्रिया करें उसमें आप पद्मासन में भी बैठ सकते हैं उसके बाद दाएं और झुकने का और बाकी और झुकने का आसन करें और पश्चिमोत्तानासन वज्रासन सर्वांगासन और मत्स्यासन यह एक दूसरे के क्रम में आपको करनी चाहिए क्योंकि यह एक दूसरे के पूरक है पश्चिमोत्तानासन सुप्त वज्रासन सर्वांगासन मत्स्यासन हलासन और धनुरासन यह सब एक दूसरे के पूरक हैं और अंत में आप शवासन जरूर करें आपको जरूर लाभ हो धन्यवाद

namaskar sabse pehle aap apni pranayaam par dhyan de apna jo building process hai usko aap dhyan se kare aur saanso ko theek se lena chhodna saans lene me pet bahar aana chahiye saans chodne me pet andar jana chahiye uske baad kyonki pranayaam aur raashan ko band aur mudra ko jodkar hum aapko bata rahe hain uske baad sabse pehle aap peeth ke bal late jaane waale aasan kare phir aap pet ke bal late jaane waale aasan kare phir aap baithne waale aasan kare aur uske baad aap khade hokar aasan kare lekin agar aapko yogabhayas ki taiyari karni hai bilkul hi shuruat karni hai toh aap dhire dhire vajrasan se shuru karna behtar hoga vajrasan me baithana shuru kare aur shukriya kare usme aap padmasana me bhi baith sakte hain uske baad dayen aur jhukane ka aur baki aur jhukane ka aasan kare aur pashchimottanasan vajrasan sarvangasan aur matsyasan yah ek dusre ke kram me aapko karni chahiye kyonki yah ek dusre ke purak hai pashchimottanasan supt vajrasan sarvangasan matsyasan halasan aur dhanurasan yah sab ek dusre ke purak hain aur ant me aap shavasan zaroor kare aapko zaroor labh ho dhanyavad

नमस्कार सबसे पहले आप अपनी प्राणायाम पर ध्यान दें अपना जो बिल्डिंग प्रोसेस है उसको आप ध्यान

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  628
KooApp_icon
WhatsApp_icon
13 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!