मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए?...


user

Khetshi V Maithia

Yoga Instructor

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार योगा करेगा योगा रोज करता है जो आप करोगे होगा तोता बड़ी बॉडी में एबिलिटी सिस्टम देपालपुर नानी वर्किंग विद योगा इंपॉर्टेंट रंग समझोगे योगा को फायदा होगा फायदा हो जाएगा कभी बीमार नहीं पड़ेगी विशेष योगा

namaskar yoga karega yoga roj karta hai jo aap karoge hoga tota badi body mein ability system depalpur naani working with yoga important rang samjhoge yoga ko fayda hoga fayda ho jaega kabhi bimar nahi padegi vishesh yoga

नमस्कार योगा करेगा योगा रोज करता है जो आप करोगे होगा तोता बड़ी बॉडी में एबिलिटी सिस्टम दे

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Praveen Kumar

Yoga Instructor

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल तो बहुत ही अच्छा है मुझे योगा की सुंदरता चाहिए तो आइए आपको पता है आपको क्यों करना चाहिए और यह पूरी दुनिया जानती है कि योग क्यों करना चाहिए अगर आप मानसिक शांति चाहते हैं आध्यात्मिक शांति चाहते हैं और फिजिकल एक्टिवेट होना चाहते हैं तो आपको युग शुरू करना चाहिए और जब आप जैसा क्वेश्चन नहीं है कि कोई बड़ी बात है तो आपके अंदर ही छुपा हुआ है क्यों करना चाहिए आप बीमारी से दूर जाना है आप कोई बीमारी के पास आना है कि मत बताना तो आपको करना चाहिए थैंक यू

aapka sawaal toh bahut hi accha hai mujhe yoga ki sundarta chahiye toh aaiye aapko pata hai aapko kyon karna chahiye aur yah puri duniya jaanti hai ki yog kyon karna chahiye agar aap mansik shanti chahte hain aadhyatmik shanti chahte hain aur physical activate hona chahte hain toh aapko yug shuru karna chahiye aur jab aap jaisa question nahi hai ki koi badi baat hai toh aapke andar hi chupa hua hai kyon karna chahiye aap bimari se dur jana hai aap koi bimari ke paas aana hai ki mat bataana toh aapko karna chahiye thank you

आपका सवाल तो बहुत ही अच्छा है मुझे योगा की सुंदरता चाहिए तो आइए आपको पता है आपको क्यों करन

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  576
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने बहुत ही अच्छा प्रश्न किया है कि मुझे योग क्यों शुरू करना चाहिए तो सबसे पहले तो हम यह जानते हैं कि आज जो हमारा वातावरण है आज जो हमारा समाज है वह कितना दूषित हो चुका है चाहे हमारा आहार हो चाहे बायु हो चाय जल हो तो ऐसे में अपने आप को स्वस्थ रख पाना पूरी तरह से फिट रख पाना अपने आप में एक चुनौतीपूर्ण हो गया है और शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि मानसिक स्वास्थ्य पर भी हमारा बुरा प्रभाव पड़ रहा है जिसकी वजह से आज बहुत सारे अनैतिक कृत्य भी समाज में देखने को मिलते हैं ए लोग आत्महत्या कर रहे हैं सुसाइड कर रहे हैं अवसाद का शिकार हो रहे हैं और इसके अलावा दूसरे की बीमारियां हैं वह तो लगातार बढ़ी रही हैं चाहे वो हमारे खान-पान से हमारा खराब होने से यह हमारा जल दूषित होने से यह वायु दूषित होने से तो इन सब के लिए अगर आप इन सब से बचना चाहते हैं अगर आप अपने आप को फिट रखना चाहते हैं शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से तो आपको योग की शरण में जाना ही पड़ेगा आपको योग करना ही चाहिए तो अगर आप योग शुरू कर चुके हैं तो अच्छी बात है नहीं तो आप तुरंत यू को शुरू करें अपने आप को शारीरिक स्वस्थ रखने के लिए मानसिक स्वस्थ रखने के लिए और अपने आप को एकदम फिट रखने के लिए अपने भलाई के लिए अपने परिवार के लिए आप शुरू करें

aapne bahut hi accha prashna kiya hai ki mujhe yog kyon shuru karna chahiye toh sabse pehle toh hum yah jante hain ki aaj jo hamara vatavaran hai aaj jo hamara samaj hai vaah kitna dushit ho chuka hai chahen hamara aahaar ho chahen vayu ho chai jal ho toh aise mein apne aap ko swasthya rakh paana puri tarah se fit rakh paana apne aap mein ek chunautipurn ho gaya hai aur sharirik swasthya hi nahi balki mansik swasthya par bhi hamara bura prabhav pad raha hai jiski wajah se aaj bahut saare anaitik kritya bhi samaj mein dekhne ko milte hain a log atmahatya kar rahe hain suicide kar rahe hain avsad ka shikaar ho rahe hain aur iske alava dusre ki bimariyan hain vaah toh lagatar badhi rahi hain chahen vo hamare khan pan se hamara kharab hone se yah hamara jal dushit hone se yah vayu dushit hone se toh in sab ke liye agar aap in sab se bachna chahte hain agar aap apne aap ko fit rakhna chahte hain sharirik roop se aur mansik roop se toh aapko yog ki sharan mein jana hi padega aapko yog karna hi chahiye toh agar aap yog shuru kar chuke hain toh achi baat hai nahi toh aap turant you ko shuru kare apne aap ko sharirik swasthya rakhne ke liye mansik swasthya rakhne ke liye aur apne aap ko ekdam fit rakhne ke liye apne bhalai ke liye apne parivar ke liye aap shuru karen

आपने बहुत ही अच्छा प्रश्न किया है कि मुझे योग क्यों शुरू करना चाहिए तो सबसे पहले तो हम यह

Romanized Version
Likes  170  Dislikes    views  2061
WhatsApp_icon
user

Saroj Kumar Ksheti

Yoga Instructor/Practitioner

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए देखिए यह तो आपको पता होना चाहिए कि आप अपने साथ क्या चाहते हैं इस जीवन से क्या चाहते हैं या इस प्रकृति से क्या चाहते हैं अगर आप अपने जीवन में संतुष्ट हैं कुछ और अपेक्षा नहीं रखते हैं तब तो आपको माथापच्ची करने की जरूरत ही नहीं है युवा करने की जरूरत नहीं जो जीवन जी रहे हैं वही एक योगा है यानी कि योग माया जी बना जी रहे हैं अगर आप संतुष्ट हैं या प्रकृति से कुछ नहीं चाहते पूर्णरूपेण आप अगर संपन्न लोग योगा में प्रवृत्त होने की कोशिश करते हैं या योगा में आते हैं गुंडों को कुछ और चाहिए होता है या इस प्रकृति कुछ और चाहते हैं या अपने जीवन से कुछ और जाते हैं जो उनके पास नहीं होता या फिर किसी प्रकार से किसी दुख से पीड़ित होते हैं या अपने जीवन से असंतुष्ट होते हैं अगर संतुष्ट हैं आपके पास अगर कोई दुख नहीं है तो आपको जरूरत नहीं होगा मैं करने कि आप संतुष्ट रहते हुए अपने जीवन को आराम से बेहतर कीजिए

mujhe yoga kyon shuru karna chahiye dekhiye yah toh aapko pata hona chahiye ki aap apne saath kya chahte hain is jeevan se kya chahte hain ya is prakriti se kya chahte hain agar aap apne jeevan mein santusht hain kuch aur apeksha nahi rakhte hain tab toh aapko mathapachchi karne ki zarurat hi nahi hai yuva karne ki zarurat nahi jo jeevan ji rahe hain wahi ek yoga hai yani ki yog maya ji bana ji rahe hain agar aap santusht hain ya prakriti se kuch nahi chahte poornroopen aap agar sampann log yoga mein parvirt hone ki koshish karte hain ya yoga mein aate hain gundo ko kuch aur chahiye hota hai ya is prakriti kuch aur chahte hain ya apne jeevan se kuch aur jaate hain jo unke paas nahi hota ya phir kisi prakar se kisi dukh se peedit hote hain ya apne jeevan se asantusht hote hain agar santusht hain aapke paas agar koi dukh nahi hai toh aapko zarurat nahi hoga main karne ki aap santusht rehte hue apne jeevan ko aaram se behtar kijiye

मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए देखिए यह तो आपको पता होना चाहिए कि आप अपने साथ क्या चाहते

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
user

Kumar Ajit

Yoga Trainer (पतंजलि योग समिति योग शिक्षक)

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए कि क्या है कि हमारा जो जीवन होता है वह अभ्यास ओं का एक समूह है आज हम जो भी है पहले जो जो जो भी हमने किया है वही उसी के आधार पर हमारा जीवन है चाहे अच्छा किया या बुरा किया हो वैसा ही हमारा कर्म के आधार पर उस शास्त्र के आधार पर हमारे जीवन है तो योगा क्यों शुरू करना चाहिए क्योंकि यह मेडिसिन योगा योगा एक संपूर्ण जीवन पद्धति है और यह समृद्धि का भूत और एक ऐसी समृद्धि जो आध्यात्मिकता और भौतिकता दोनों प्रदान करता है इसलिए हमें योग करना ही करना चाहिए और सबसे बड़ी बात है शुरुआत में जो कहा यह जीवन हमारे आंसुओं का एक सुकून है तो योग करने से हमारे अच्छा अभ्यास बनेंगे अच्छा संस्कार बनेंगे इसलिए योग हमें करना चाहिए और योग करने से हम हम कल्पना भी नहीं कर पाए होंगे जहां तक सोचा तक नहीं होगा वह हमें प्राप्ति होने लगता है इसलिए भी हमें योग करना चाहिए

mujhe yoga kyon shuru karna chahiye ki kya hai ki hamara jo jeevan hota hai vaah abhyas on ka ek samuh hai aaj hum jo bhi hai pehle jo jo jo bhi humne kiya hai wahi usi ke aadhaar par hamara jeevan hai chahen accha kiya ya bura kiya ho waisa hi hamara karm ke aadhaar par us shastra ke aadhaar par hamare jeevan hai toh yoga kyon shuru karna chahiye kyonki yah medicine yoga yoga ek sampurna jeevan paddhatee hai aur yah samridhi ka bhoot aur ek aisi samridhi jo aadhyatmikta aur bhautikata dono pradan karta hai isliye hamein yog karna hi karna chahiye aur sabse badi baat hai shuruat mein jo kaha yah jeevan hamare ansuon ka ek sukoon hai toh yog karne se hamare accha abhyas banenge accha sanskar banenge isliye yog hamein karna chahiye aur yog karne se hum hum kalpana bhi nahi kar paye honge jaha tak socha tak nahi hoga vaah hamein prapti hone lagta hai isliye bhi hamein yog karna chahiye

मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए कि क्या है कि हमारा जो जीवन होता है वह अभ्यास ओं का एक सम

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
user
2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह क्या आपके प्रश्न पूछा है कि मुझे वाक्यों को शुरू करना चाहिए तो आपकी जो भी उम्र हो 10 20 30 50 40 की उम्र हो लेकिन मुझे तो नहीं जानकारी लेकिन आप इस उम्र को अगर बकरा देखना चाहते हैं जो आपका इसमें एनर्जी लेवल है जो आपका उत्साह है जो आप का जोश है जो आपके सोचने की क्षमता है जो आपकी कॉल करने की क्षमता है जो आपका सामाजिक तरह अगर इसको बना रखना चाहते हैं बनाकर रखना चाहते हैं तो आपको जो करना है अगर आप चाहते हैं कि 80 साल की उम्र में भी आपको एक ग्लास पानी के लिए किसी के से कहना ना पड़े कि बेटा पानी का प्रयोग करना है अगर आप चाहते हैं कि आपको 80 साल की उम्र में 17 साल की उम्र में डंडा लेकर सहारे चलना ना पड़े तो आपको करना है अगर आप चाहते हैं कि जो 60 साल की उम्र में आपके पास अच्छा स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन हो सकता मस्तिष्क हो और ढेर सारा पैसा भी हो तभी आपको करना है कि उसे लोग पैसा कमाना स्टार्ट करते हैं पैसे कमाते 40 वर्ष के बाद 80 वर्ष तक इनकी 20 वर्ष में कितना पैसा कमाया होता है सारा खर्च होते हैं उस को बचाना चाहते तो भी आपको ही हो करना है आप 80 वर्ष में यानी कि 70 वर्ष में आगे आने वाले 10 साल में 10 साल बाद क्या आप अपने आप को ऐसा ही ऊर्जावान महसूस कर पाएंगे अगर नहीं तो आपको ही हो करना है योग आपको आगे आने वाले जीवन में आपको स्वस्थ रखेगा मानसिक रूप से आध्यात्मिक रूप से आर्थिक रूप से सामाजिक रुप से सभी प्रकार से आपको स्वस्थ रहता है कि योगा कर्मसु कौशलम् योग करने से कार्यक्षमता बढ़ती जब कार की क्षमता बढ़ जाएगी तो योग आपको आर्थिक आजादी भी आपको धन कमाने का अवसर मिलेगा मन की चंचलता की जनता को तो आप एक चरित्रवान व्यक्ति बन पाएंगे आपका चरित्र भी उन्नत होगा जिससे आप बस सामाजिक में सुख है वह भी आपको मिलेगा समाज में जहां भी जाएंगे आपको इज्जत और मान सम्मान मिलता रहेगा और अधिक मिलेगा पहले भी मिल रहा होगा मैं नहीं कहता और अधिक मिलेगा धीरे-धीरे आप लोग करते जाएंगे तो हम प्रसन्न मुद्रा में आपके चेहरे पर तेज रहेगा

yah kya aapke prashna poocha hai ki mujhe vaakyon ko shuru karna chahiye toh aapki jo bhi umr ho 10 20 30 50 40 ki umr ho lekin mujhe toh nahi jaankari lekin aap is umr ko agar bakara dekhna chahte hain jo aapka isme energy level hai jo aapka utsaah hai jo aap ka josh hai jo aapke sochne ki kshamta hai jo aapki call karne ki kshamta hai jo aapka samajik tarah agar isko bana rakhna chahte hain banakar rakhna chahte hain toh aapko jo karna hai agar aap chahte hain ki 80 saal ki umr mein bhi aapko ek glass paani ke liye kisi ke se kehna na pade ki beta paani ka prayog karna hai agar aap chahte hain ki aapko 80 saal ki umr mein 17 saal ki umr mein danda lekar sahare chalna na pade toh aapko karna hai agar aap chahte hain ki jo 60 saal ki umr mein aapke paas accha swasthya sharir mein swasthya man ho sakta mastishk ho aur dher saara paisa bhi ho tabhi aapko karna hai ki use log paisa kamana start karte hain paise kamate 40 varsh ke baad 80 varsh tak inki 20 varsh mein kitna paisa kamaya hota hai saara kharch hote hain us ko bachaana chahte toh bhi aapko hi ho karna hai aap 80 varsh mein yani ki 70 varsh mein aage aane waale 10 saal mein 10 saal baad kya aap apne aap ko aisa hi urjavan mehsus kar payenge agar nahi toh aapko hi ho karna hai yog aapko aage aane waale jeevan mein aapko swasthya rakhega mansik roop se aadhyatmik roop se aarthik roop se samajik roop se sabhi prakar se aapko swasthya rehta hai ki yoga karmasu kaushalam yog karne se karyakshamata badhti jab car ki kshamta badh jayegi toh yog aapko aarthik azadi bhi aapko dhan kamane ka avsar milega man ki chanchalata ki janta ko toh aap ek charitravan vyakti ban payenge aapka charitra bhi unnat hoga jisse aap bus samajik mein sukh hai vaah bhi aapko milega samaj mein jaha bhi jaenge aapko izzat aur maan sammaan milta rahega aur adhik milega pehle bhi mil raha hoga main nahi kahata aur adhik milega dhire dhire aap log karte jaenge toh hum prasann mudra mein aapke chehre par tez rahega

यह क्या आपके प्रश्न पूछा है कि मुझे वाक्यों को शुरू करना चाहिए तो आपकी जो भी उम्र हो 10 20

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1158
WhatsApp_icon
user

Rajkumar Koree

Founder & Director - Fitstop Fitness Studio

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप योग शुरू नहीं करना चाहते तो फिर लाइफ में क्या करना चाहते हैं आप शरीर को फिट बनाने के लिए कुछ ना कुछ करें अगर आप योग करते हैं तो आप कहीं भी उसे कर सकते हैं इसलिए आपको योग करना भी तो जरूरी है अगर आप वर्कआउट करते हैं जिम जिम आप बाहर जाकर नहीं जा सकते यह तो आप कहीं नहीं कर सकते हैं इसलिए यह सब चलता है

agar aap yog shuru nahi karna chahte toh phir life mein kya karna chahte hain aap sharir ko fit banane ke liye kuch na kuch kare agar aap yog karte hain toh aap kahin bhi use kar sakte hain isliye aapko yog karna bhi toh zaroori hai agar aap workout karte hain gym gym aap bahar jaakar nahi ja sakte yah toh aap kahin nahi kar sakte hain isliye yah sab chalta hai

अगर आप योग शुरू नहीं करना चाहते तो फिर लाइफ में क्या करना चाहते हैं आप शरीर को फिट बनाने क

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  747
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए तो देखिए योग जीवन में काफी महत्व रखता है कारण है कि हमारे परिवेश में ऐसी परिस्थितियां धीरे-धीरे बन रही है कि मनुष्य तनावग्रस्त होते जा रहा है दूसरी बात खुद ऑक्सीजन हमें नहीं लगता है कि हम हिंदुस्तान में शुद्ध ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में किसी भी जगह पर आ गया हो तो लुक एट चुराए यह हो गया है तो इन सारी विकृतियों से बचने के लिए हमें योगा की आवश्यकता है अगर आप तनाव ग्रसित हैं या रोग मुक्त हो गए रोग मुक्त होना है आपको तनाव मुक्त होना है आपको शरीर को ब्लैक लेबल बनाना है तनाव रहित बनाना है तो आपके लिए योग की आवश्यकता है इसलिए आप ही नहीं एक व्यक्ति को जीवन का एक अभिन्न अंग योग को समझ लेना चाहिए अपने जीवन के क्रियाकलाप में योग को भी जोड़ लेना चाहिए धन्यवाद

aapka question hai mujhe yoga kyon shuru karna chahiye toh dekhiye yog jeevan mein kaafi mahatva rakhta hai karan hai ki hamare parivesh mein aisi paristhiyaann dhire dhire ban rahi hai ki manushya tanaavgrast hote ja raha hai dusri baat khud oxygen hamein nahi lagta hai ki hum Hindustan mein shudh oxygen paryapt matra mein kisi bhi jagah par aa gaya ho toh look ate churaye yah ho gaya hai toh in saree vikritiyon se bachne ke liye hamein yoga ki avashyakta hai agar aap tanaav grasit hain ya rog mukt ho gaye rog mukt hona hai aapko tanaav mukt hona hai aapko sharir ko black lebal banana hai tanaav rahit banana hai toh aapke liye yog ki avashyakta hai isliye aap hi nahi ek vyakti ko jeevan ka ek abhinn ang yog ko samajh lena chahiye apne jeevan ke kriyakalap mein yog ko bhi jod lena chahiye dhanyavad

आपका क्वेश्चन है मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए तो देखिए योग जीवन में काफी महत्व रखता है

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  1223
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ मन के लिए स्वस्थ शरीर के लिए स्वस्थ दिमाग के लिए और अपने जीवन को बिल्कुल एक क्या कहते हैं सफल बनाने के लिए निरोग बनाने के लिए अच्छा बनाने के लिए सुकून के लिए योग कर रहा है किया जाता है और आप भी करें धन्यवाद

swasth rehne ke liye swasthya man ke liye swasthya sharir ke liye swasthya dimag ke liye aur apne jeevan ko bilkul ek kya kehte hain safal banane ke liye nirog banane ke liye accha banane ke liye sukoon ke liye yog kar raha hai kiya jata hai aur aap bhi kare dhanyavad

स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ मन के लिए स्वस्थ शरीर के लिए स्वस्थ दिमाग के लिए और अपने जीवन को

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  639
WhatsApp_icon
play
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

2:42

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए बहुत अच्छा प्रश्न है आप का योग आज की दिनचर्या में बहुत ही जरूरी है जैसा कि हम जानते हैं आज शारीरिक रोग तो हावी है ही इसके साथ ही मानसिक रोग भी बहुत हावी है तनाव डिप्रेशन जैसी समस्याएं आज आम सी हो गई हैं समय के साथ साथ आप जानते हैं कि मनोविकार कितनी तेजी से बढ़े हैं इसलिए योग हम हमें संपूर्ण स्वास्थ्य देता है शरीर के साथ-साथ मानसिक और बौद्धिक स्वास्थ्य भी देता है बहुत से ऐसे लोग हैं शारीरिक या मानसिक आप जानते हैं जीवन भर उसकी दवाई हमें खानी पड़ती हैं लेकिन अगर आप योग को दिनचर्या में शामिल कर लेते हैं तो उन दवाओं से तो बच ही सकते हैं और होने वाले भविष्य में रोगों से भी बचा जा सकता है योग एक प्रिकॉशन के तौर पर आपके लिए वर्क करता है आपके शरीर मन बुद्धि को बलिष्ट बनाता है आपको नकारात्मक विचारों से सकारात्मकता की तरफ ले जाता है आपके अंदर एक पेशेंस आता है योग शास्त्रों में पांच विकार बताए हैं काम क्रोध लोभ मोह अहंकार योग सीधा-सीधा इन पर वर्क करता है इन पर नियंत्रण बनाता है इनको बैलेंस करता है इसलिए योग जो है वह जीवन का अंग बनाना बहुत ही अधिक जरूरी है शुगर ब्लड प्रेशर थायराइड जोड़ों के दर्द रीढ़ की हड्डी के दर्द यह दर्द यह सब समस्याएं ऐसी हैं जिनमें हम दवाई खा खा कर परेशान हो जाते हैं फिर भी हम इन रोगों से छुटकारा नहीं पा पाते मगर अगर योग हम प्रतिदिन करते हैं तो हमें जो एक सकारात्मकता मिलती है तो यह क्रिटिकल रोग हमारे ऊपर हावी नहीं होते और हम इन रोगों से मानसिक तौर पर लड़ पाते हैं फेस कर पाते हैं इसलिए मैं कहूंगा कि योग को जरूर शामिल करें योग के बिना जीवन अधूरा है यह मेरा भी बहुत लंबे समय का अनुभव है हरि ओम

aapka prashna hai mujhe yoga kyon shuru karna chahiye bahut accha prashna hai aap ka yog aaj ki dincharya mein bahut hi zaroori hai jaisa ki hum jante hain aaj sharirik rog toh haavi hai hi iske saath hi mansik rog bhi bahut haavi hai tanaav depression jaisi samasyaen aaj aam si ho gayi hain samay ke saath saath aap jante hain ki manovikar kitni teji se badhe hain isliye yog hum hamein sampurna swasthya deta hai sharir ke saath saath mansik aur baudhik swasthya bhi deta hai bahut se aise log hain sharirik ya mansik aap jante hain jeevan bhar uski dawai hamein khaani padti hain lekin agar aap yog ko dincharya mein shaamil kar lete hain toh un dawaon se toh bach hi sakte hain aur hone waale bhavishya mein rogo se bhi bacha ja sakta hai yog ek precaution ke taur par aapke liye work karta hai aapke sharir man buddhi ko balisht banata hai aapko nakaratmak vicharon se sakaraatmakata ki taraf le jata hai aapke andar ek patience aata hai yog shastron mein paanch vikar bataye hain kaam krodh lobh moh ahankar yog seedha seedha in par work karta hai in par niyantran banata hai inko balance karta hai isliye yog jo hai vaah jeevan ka ang banana bahut hi adhik zaroori hai sugar blood pressure thyroid jodo ke dard reedh ki haddi ke dard yah dard yah sab samasyaen aisi hain jinmein hum dawai kha kha kar pareshan ho jaate hain phir bhi hum in rogo se chhutkara nahi paa paate magar agar yog hum pratidin karte hain toh hamein jo ek sakaraatmakata milti hai toh yah critical rog hamare upar haavi nahi hote aur hum in rogo se mansik taur par lad paate hain face kar paate hain isliye main kahunga ki yog ko zaroor shaamil kare yog ke bina jeevan adhura hai yah mera bhi bahut lambe samay ka anubhav hai hari om

आपका प्रश्न है मुझे योगा क्यों शुरू करना चाहिए बहुत अच्छा प्रश्न है आप का योग आज की दिनचर्

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  1652
WhatsApp_icon
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

युवा क्यों शुरू करना चाहिए जिस समय भी आपको या कल आ जाए शुरू कर देना चाहिए क्योंकि योगा से आपका जीवन ज्यादा उत्साहित पूजित और मीनिंग फुल हो जाता है इसलिए योगा जल्दी से जल्दी शुरू करना चाहिए धन्यवाद

yuva kyon shuru karna chahiye jis samay bhi aapko ya kal aa jaaye shuru kar dena chahiye kyonki yoga se aapka jeevan zyada utsaahit pujit aur meaning full ho jata hai isliye yoga jaldi se jaldi shuru karna chahiye dhanyavad

युवा क्यों शुरू करना चाहिए जिस समय भी आपको या कल आ जाए शुरू कर देना चाहिए क्योंकि योगा से

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  2616
WhatsApp_icon
user

Suresh B. Patel

Yoga Instructor

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योगा क्यों शुरू करना चाहिए अगर आप आपकी लाइफ बिल्कुल तंदुरुस्त तरीके से जीना चाहते हैं योगा करना चाहिए क्योंकि नियमित रूप से एक घंटा आप आसन प्राणायाम करेंगे तो शायद ही आपको कोई प्रकार का रोग हो अब बिल्कुल तंदुरुस्त तरीके से आप आपका जीवन व्यतीत कर पाओगे औरतें और आप का अंदर का संतुलन भी बहुत ही अच्छा बने रहे किसी भी विकट परिस्थिति में आप आपका मानसिक संतुलन बनाए रखेंगे आप बिल्कुल शांत रहेंगे आपका गुस्सा भी बहुत अच्छी तरह कम होगा अगर आपके अगर आपको को व्यसन है तो व्यसन भी आपका छूट जाएगा इसलिए जल्दी करिए योगा को अपना यह तो रिप्लाई दीजिए और साथ-साथ परिवार को भी आनंद देख क्योंकि अगर हम तंदूर करेंगे परिवार भी तंदुरुस्त ही रहेगा धन्यवाद

yoga kyon shuru karna chahiye agar aap aapki life bilkul tandurust tarike se jeena chahte hain yoga karna chahiye kyonki niyamit roop se ek ghanta aap aasan pranayaam karenge toh shayad hi aapko koi prakar ka rog ho ab bilkul tandurust tarike se aap aapka jeevan vyatit kar paoge auraten aur aap ka andar ka santulan bhi bahut hi accha bane rahe kisi bhi vikat paristithi mein aap aapka mansik santulan banaye rakhenge aap bilkul shaant rahenge aapka gussa bhi bahut achi tarah kam hoga agar aapke agar aapko ko vyasan hai toh vyasan bhi aapka chhut jaega isliye jaldi kariye yoga ko apna yah toh reply dijiye aur saath saath parivar ko bhi anand dekh kyonki agar hum Tandoor karenge parivar bhi tandurust hi rahega dhanyavad

योगा क्यों शुरू करना चाहिए अगर आप आपकी लाइफ बिल्कुल तंदुरुस्त तरीके से जीना चाहते हैं योगा

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  820
WhatsApp_icon
user

Dr. Sonam Mukati

Oral and Dental Surgeon & Yoga Instructor

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योगा जरूरी नहीं कि कोई बीमारी हो इसी वजह से शुरू किया जाए योगा जीवन में कुछ अच्छा करने जीवन को चेयर फुल तरीके से जीने के लिए मेंटल पीस के लिए और कंसंट्रेशन बढ़ाने के लिए बहुत ही तरीकों में बहुत ही फायदेमंद है और इसे कन्हाई चाहिए

yoga zaroori nahi ki koi bimari ho isi wajah se shuru kiya jaaye yoga jeevan mein kuch accha karne jeevan ko chair full tarike se jeene ke liye mental peace ke liye aur kansantreshan badhane ke liye bahut hi trikon mein bahut hi faydemand hai aur ise KANHAAI chahiye

योगा जरूरी नहीं कि कोई बीमारी हो इसी वजह से शुरू किया जाए योगा जीवन में कुछ अच्छा करने जीव

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  1171
WhatsApp_icon
user

Dhananjay Janardan Suryavanshi

Founder & Director - Yogeej Meditation

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर जीवन में कुछ उन्नत करना है अधिक अच्छा करना है तो युवक के माध्यम से हम कर सकते हैं युवा हैं अपने एक जीवन पद्धति होनी चाहिए और हमें जो योग करते हैं लेकिन उसके हम अवैध नहीं रहते तो अपने अनुभूति की कक्षा में अगर हम हर एक चीज लाएंगे तो योगा का अनुभव प्रतिदिन प्रतिफल भी कर सकते हैं युवा के लिए सेपरेट का कुछ करने की जरूरत नहीं है जो अपने शरीर और मन की तरफ ध्यान देकर अगर हम हर चीज का अनुबंधन करेंगे अनुसंधान करेंगे तो युवक 457 होता है

agar jeevan mein kuch unnat karna hai adhik accha karna hai toh yuvak ke madhyam se hum kar sakte hain yuva hain apne ek jeevan paddhatee honi chahiye aur hamein jo yog karte hain lekin uske hum awaidh nahi rehte toh apne anubhuti ki kaksha mein agar hum har ek cheez layenge toh yoga ka anubhav pratidin pratiphal bhi kar sakte hain yuva ke liye separate ka kuch karne ki zarurat nahi hai jo apne sharir aur man ki taraf dhyan dekar agar hum har cheez ka anubandhan karenge anusandhan karenge toh yuvak 457 hota hai

अगर जीवन में कुछ उन्नत करना है अधिक अच्छा करना है तो युवक के माध्यम से हम कर सकते हैं युवा

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  1314
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के द्वारा आप अपने जीवन में शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार के जो सुख हो तन को प्राप्त कर सकते हैं दोनों प्रकार की स्वास्थ्य में प्राप्त कर सकते हैं और योग एक माध्यम है जिसके द्वारा में आध्यात्मिकता की ओर मेडिसिन क्यों शांति की ओर अग्रसर हो सकते हो अपने आपको शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से हो सकता कि आज के समय में आपने देखा होगा कि कितना दिन है कितना प्रदूषण है तो इसके भगत पड़ता है तो हमारी सही को पुनः चार्ज करने के लिए योग बहुत ही अच्छी मध्य में बहुत ही अजीब सी क्रिया है जिसके बारे में सही को फिर से अधिक कर सकती आप योग किया करते हैं तो आपका जो माइंड करने वाले बहुत अच्छा होता है बहुत ही शार्प मेमोरी ज्योति और आपके शरीर की दो थे बहुत ही अच्छी है और मैं बात करूं आज के हमारे जो बस बुजुर्ग लोगों की शारीरिक समस्या है या फिर मानसिक समस्याएं उनको बहुत ही रिलीज देगा क्योंकि आप स्नान करेंगे तो आपका जो मानसिक तनाव है और इसका समापन करेंगे योग में तो आपकी बॉडी के हर हिस्से हर संभाग में एसिडिटी आएगी आपके शरीर बिल्कुल टोना हो जाएगा एक्स्ट्रा सेट हो जाएगा और आपका शरीर मजबूत इन सभी चीजों को देखते हुए हमें अपनों में योग को अपनाना चाहिए और योग की जानकारी जानना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट डब्ल्यू डॉट कॉम पर देख सकते हैं और योग सीखना चाहते हैं तो आप हमारे योग केंद्र फिट योग सेंटर जो कि निर्माण नगर में स्थित ज्वाइन कर सकते हैं धन्यवाद

yog ke dwara aap apne jeevan mein sharirik aur mansik dono prakar ke jo sukh ho tan ko prapt kar sakte hain dono prakar ki swasthya mein prapt kar sakte hain aur yog ek madhyam hai jiske dwara mein aadhyatmikta ki aur medicine kyon shanti ki aur agrasar ho sakte ho apne aapko sharirik aur mansik dono roop se ho sakta ki aaj ke samay mein aapne dekha hoga ki kitna din hai kitna pradushan hai toh iske bhagat padta hai toh hamari sahi ko punh charge karne ke liye yog bahut hi achi madhya mein bahut hi ajib si kriya hai jiske bare mein sahi ko phir se adhik kar sakti aap yog kiya karte hain toh aapka jo mind karne waale bahut accha hota hai bahut hi sharp memory jyoti aur aapke sharir ki do the bahut hi achi hai aur main baat karu aaj ke hamare jo bus bujurg logo ki sharirik samasya hai ya phir mansik samasyaen unko bahut hi release dega kyonki aap snan karenge toh aapka jo mansik tanaav hai aur iska samapan karenge yog mein toh aapki body ke har hisse har sambhag mein acidity aayegi aapke sharir bilkul tona ho jaega extra set ho jaega aur aapka sharir majboot in sabhi chijon ko dekhte hue hamein apnon mein yog ko apnana chahiye aur yog ki jaankari janana chahte hain toh aap hamari website w dot com par dekh sakte hain aur yog sikhna chahte hain toh aap hamare yog kendra fit yog center jo ki nirmaan nagar mein sthit join kar sakte hain dhanyavad

योग के द्वारा आप अपने जीवन में शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार के जो सुख हो तन को प्राप्त क

Romanized Version
Likes  216  Dislikes    views  1324
WhatsApp_icon
user

viresh yogi

Yoga Guru

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें पूछने की बात नहीं है सीधी सी बात है यदि आप लंबे समय तक निरोगी स्वस्थ रहना चाहते हो स्ट्रेस फ्री लाइफ जीना चाहते हो तो आप कोई मौका प्यार करना चाहिए आपने देखा होगा वह उसे योगी पुरुष है जो नित्य प्रति योगाभ्यास करते हैं लंबे समय तक स्वस्थ रहते हैं दीर्घायु रहते हैं उन्हें किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती मेंटली ठीक रहता है stress-free जीवन व्यतीत करते हैं

isme poochne ki baat nahi hai seedhi si baat hai yadi aap lambe samay tak nirogee swasth rehna chahte ho stress free life jeena chahte ho toh aap koi mauka pyar karna chahiye aapne dekha hoga vaah use yogi purush hai jo nitya prati yogabhayas karte hain lambe samay tak swasth rehte hain dirghayu rehte hain unhe kisi prakar ki koi samasya nahi hoti mentally theek rehta hai stress free jeevan vyatit karte hain

इसमें पूछने की बात नहीं है सीधी सी बात है यदि आप लंबे समय तक निरोगी स्वस्थ रहना चाहते हो स

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!