अगर रिश्‍ता भावनात्‍मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके फिर से जीव‍ित होने की संभावना न हो तो तलाक दिया जा सकता है। क्या आप सुप्रीम कोर्ट के इस फ़ैसले से सहमत हैं?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:20
Play

Likes  343  Dislikes    views  2609
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

जसवन्त कटारिया

वकील, कानूनी सलाहकार

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर रिश्ता दोनों पक्षों में पूरी तरह से या भावनात्मक रूप से मिट जाता है तो साथ रहने की गुंजाइश बिल्कुल नहीं रहती तब तक हम एक दूसरे पर विश्वास करते हैं तभी तक रिश्ता कायम रहता है आप इस संदर्भ में तलाक ले सकते हैं

dekhiye agar rishta dono pakshon me puri tarah se ya bhavnatmak roop se mit jata hai toh saath rehne ki gunjaiesh bilkul nahi rehti tab tak hum ek dusre par vishwas karte hain tabhi tak rishta kayam rehta hai aap is sandarbh me talak le sakte hain

देखिए अगर रिश्ता दोनों पक्षों में पूरी तरह से या भावनात्मक रूप से मिट जाता है तो साथ रहने

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1370
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका बिजनेस रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसे फिर जीवित होने की संभावना ना हो तो तलाक दिया जा सकता है कि आपसे और 2 साल शादी नहीं हुआ तो आप तलाक ले सकते हैं इसके लिए 6 महीने का समय दिया जाएगा उसके बीच में भी आपके बीच में कोई जिक्र नहीं बनता नहीं होता है तो आप तो तलाक तलाक ले सकते हैं धन्यवाद

aapka business rishta bhavnatmak roop se puri tarah mar jaaye aur use phir jeevit hone ki sambhavna na ho toh talak diya ja sakta hai ki aapse aur 2 saal shaadi nahi hua toh aap talak le sakte hain iske liye 6 mahine ka samay diya jaega uske beech me bhi aapke beech me koi jikarr nahi banta nahi hota hai toh aap toh talak talak le sakte hain dhanyavad

आपका बिजनेस रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसे फिर जीवित होने की संभावना ना हो

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  2179
WhatsApp_icon
user

fighter

Counselor & Coach

1:49
Play

Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Rajesh Rana

Educator, Lawyer

0:44
Play

Likes  84  Dislikes    views  2109
WhatsApp_icon
user

Meena

Advocate

7:59
Play

Likes  18  Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर रास्ता भावनात्मक रूप से पर अगर स्टार भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके फिर से जीवित होने की संभावना ना हो तो तलाक दिया जा सकता है क्या आप सुप्रीम करके इसे समझ ही नहीं बची है

agar rasta bhavnatmak roop se par agar star bhavnatmak roop se puri tarah mar jaaye aur uske phir se jeevit hone ki sambhavna na ho toh talak diya ja sakta hai kya aap supreme karke ise samajh hi nahi bachi hai

अगर रास्ता भावनात्मक रूप से पर अगर स्टार भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके फिर से ज

Romanized Version
Likes  234  Dislikes    views  6022
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निदेशक किया है आज की चर्चा का विषय है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह से मर जाए और उसे फिर से जीवित होने की संभावना ना हो तो तलाक दिया जा सकता है क्या सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सहमत हैं तो कहना चाहूंगा कि बिल्कुल यह फैसला काफी हद तक सही है कि जब कोई रिश्ते के अंदर ना तो कोई रिस्पेक्ट बची है ना कोई अपनापन बचा है ना कोई केयर है कुछ भी नहीं है तो वहां पर ऐसे रिश्ते को एक पोज किधर लेकर के चलने से अच्छा है कि उस रिश्ते से खुशी-खुशी दोनों पार्टनर अलग हो जाए ज्यादा अच्छा रहेगा धन्यवाद

nideshak kiya hai aaj ki charcha ka vishay hai agar rishta bhavnatmak roop se puri tarah se mar jaaye aur use phir se jeevit hone ki sambhavna na ho toh talak diya ja sakta hai kya supreme court ke faisle se sahmat hain toh kehna chahunga ki bilkul yah faisla kaafi had tak sahi hai ki jab koi rishte ke andar na toh koi respect bachi hai na koi apnapan bacha hai na koi care hai kuch bhi nahi hai toh wahan par aise rishte ko ek pawege kidhar lekar ke chalne se accha hai ki us rishte se khushi khushi dono partner alag ho jaaye zyada accha rahega dhanyavad

निदेशक किया है आज की चर्चा का विषय है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह से मर जाए और उस

Romanized Version
Likes  424  Dislikes    views  5381
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिल्कुल सही बात है सस्ता पूरी तरीके से भावनात्मक रूप से मर जाए उसको कैसे ना जीने की उम्मीद है तो तो उसको आप तलाक दे करके कुछ तो तलाक दे सकते हैं और कुछ दिन महीनों साल के लिए आप दोहरा सकते उससे यह होगा कि जो भावना खत्म हुई है और रिश्ते में फिर से को ना वह हमने बन सकती हैं बनने की उम्मीद है ऑफिस से रिश्ता कायम हो सकता है थैंक यू

ji haan bilkul sahi baat hai sasta puri tarike se bhavnatmak roop se mar jaaye usko kaise na jeene ki ummid hai toh toh usko aap talak de karke kuch toh talak de sakte hain aur kuch din mahinon saal ke liye aap dohra sakte usse yah hoga ki jo bhavna khatam hui hai aur rishte mein phir se ko na vaah humne ban sakti hain banne ki ummid hai office se rishta kayam ho sakta hai thank you

जी हां बिल्कुल सही बात है सस्ता पूरी तरीके से भावनात्मक रूप से मर जाए उसको कैसे ना जीने की

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1824
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके फिर से जीवित होने की संभावना ना हो तो तलाक दिया जा सकता है जी नहीं रिश्ता कभी भी भावनात्मक रूप से खत्म नहीं होता है जब तक हम धरती पर रहते हैं तब तक हमारा भाव हमारे मन में रहता ही है अगर आप किसी के साथ प्यार करते हो या किसी से आपकी शादी हुई है शादी के बहुत टाइम आपने साथ में बिताए हैं और उसके बाद कुछ दरार पड़ जाती है कुछ झगड़ा हो जाता है तो उसके बाद इंसान इंसान से बोलता नहीं है इसका मतलब यह नहीं कि उसका भाव खत्म हो गया नहीं भाव हमेशा रहता है और उस भाव को बचाने के लिए थोड़ा सा कोशिश भी करना चाहिए उस इसका मतलब आप अपने रिश्ते को बचाइए रिश्ते को खत्म मत करिए क्योंकि अधिकतर अनमोल होते हैं रिश्तो की रक्षा की जाती है और रक्षा करने के लिए आपको हो सकता है कि झुकना पड़े और झुकने से आपकी महानता कम नहीं होगी तो आप रुको यह मत सोचो कि अगला हमारे आगे झुकेगा तभी मैं झुक लूंगा नहीं आप जाकर झुको और अपने भाव को व्यक्त करो भाव को व्यक्त करोगे तो अगला भी यही चाहता है कि हम भी अपने भाव को व्यक्त करें अगला भी अपने भाव को व्यक्त करेगा दोनों लोग एक दूसरे को सॉरी बोलो सॉरी बोलने के बाद क्या होगा कि आपका रिश्ता बचेगा और रिश्ता फिर से शुरू हो जाएगा और आपके जीवन में खुशहाली आ जाएगी धन्यवाद

aapka sawaal hai agar rishta bhavnatmak roop se puri tarah mar jaaye aur uske phir se jeevit hone ki sambhavna na ho toh talak diya ja sakta hai ji nahi rishta kabhi bhi bhavnatmak roop se khatam nahi hota hai jab tak hum dharti par rehte hain tab tak hamara bhav hamare man mein rehta hi hai agar aap kisi ke saath pyar karte ho ya kisi se aapki shadi hui hai shadi ke bahut time aapne saath mein bitae hain aur uske baad kuch daraar pad jaati hai kuch jhadna ho jata hai toh uske baad insaan insaan se bolta nahi hai iska matlab yah nahi ki uska bhav khatam ho gaya nahi bhav hamesha rehta hai aur us bhav ko bachane ke liye thoda sa koshish bhi karna chahiye us iska matlab aap apne rishte ko bachaiye rishte ko khatam mat kariye kyonki adhiktar anmol hote hain rishto ki raksha ki jaati hai aur raksha karne ke liye aapko ho sakta hai ki jhukna pade aur jhukane se aapki mahanata kam nahi hogi toh aap ruko yah mat socho ki agla hamare aage jhukega tabhi main jhuk lunga nahi aap jaakar jhuko aur apne bhav ko vyakt karo bhav ko vyakt karoge toh agla bhi yahi chahta hai ki hum bhi apne bhav ko vyakt kare agla bhi apne bhav ko vyakt karega dono log ek dusre ko sorry bolo sorry bolne ke baad kya hoga ki aapka rishta bachega aur rishta phir se shuru ho jaega aur aapke jeevan mein khushahali aa jayegi dhanyavad

आपका सवाल है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके फिर से जीवित होने की संभा

Romanized Version
Likes  217  Dislikes    views  4354
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान वालों से भावनात्मक रूप से सहमत हैं लेकिन तलाक आपको जो देना है वह आपको तीन बार तलाक बोलकर नहीं लेकिन कानूनी विधि विधान पूर्वक आपको अगर तलाक लेना चाहते हैं तो इस तरीके से लीजिए लेकिन लिखिए एक बार आप अपनी तलाक के इस तरह पर जरूर करिए क्योंकि भावनात्मक रिश्ता जो होता है वह भावनात्मक तरीके से अगर प्रयास करेंगे तो आपको वैसा ही रिस्पांस मिलता इसलिए आप एक बार और शिकवे आश्चर्य हो सकता है कि आपको ओके जी ओके नहीं मिलता है सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के हिसाब से आपको तलाक

pakistan walon se bhavnatmak roop se sahmat hain lekin talak aapko jo dena hai vaah aapko teen baar talak bolkar nahi lekin kanooni vidhi vidhan purvak aapko agar talak lena chahte hain toh is tarike se lijiye lekin likhiye ek baar aap apni talak ke is tarah par zaroor kariye kyonki bhavnatmak rishta jo hota hai vaah bhavnatmak tarike se agar prayas karenge toh aapko waisa hi response milta isliye aap ek baar aur shikve aashcharya ho sakta hai ki aapko ok ji ok nahi milta hai supreme court ki guideline ke hisab se aapko talak

पाकिस्तान वालों से भावनात्मक रूप से सहमत हैं लेकिन तलाक आपको जो देना है वह आपको तीन बार तल

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1165
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

6:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा मैं एक बात पूछना चाहूंगा मैं आपसे पूछ लूंगा तो आपको अपने आप को दर्द होता ही नहीं चाहे आप लड़की है कि लड़का है और सारा तो लड़कियों को कुलपति का पता ही नहीं और लड़का है तो अपनी पत्नी के बताए लेकिन मैं आपसे बात ही नहीं हो सकता हूं आपको बुरा लगे मैं सच्चाई करना क्योंकि अली बेटे कभी एक हाथ से नहीं बजती है खाली को समझती है मैं आपकी बात बड़ी करता हूं हंड्रेड परसेंट कभी पार्ट 2 सीए आपके पड़ोस में ही लेकिन मैं कभी बात को सहमत नहीं हो सकता हूं कि बुरी कंडीशन बन जाए कि आप की तलाक की डाइवोर्स की नौबत बन जाए उसमें कई बजे दोस्त आपका भी है अपने दोस्त नहीं है नहीं हो सकते हैं ताली दोनों हाथ से बजती है एक हाथ से ताली नहीं बजती है यदि पार्टी अभी तो यह नौबत डाइवोर्स वाली रहेगी भारतीय संस्कृति के मानने वाले हैं भगवान ने जैसा तुम्हें लिखा उसे तुमने हो उसके साथ जीवन गुजारने के लिए उचित है क्योंकि कितनी बड़ी होती है कभी सोचो तो वो आपकी शादी होगी आप गंदे वीडियो नहीं आपका जीवन की लड़की है अत्यंत कठिन हो पुत्र पुरे विश्वास के नंगे लोग किस्मत के भ्रष्ट लोगों यह समाज के बंधु आप कुछ भी लिख देंगे परे परे की 50 सुमन चल लगाएंगे मेरे दोस्त मैं नहीं चाहता कि तुम्हारी जिंदगी बस से पत्थर बने भगवान तो वे सद्बुद्धि दे और अपने पति या पत्नी के साथ एडिट कर जाएगा प्रेम में बहुत बड़ी ताकत होती है बहुत बड़ी ताकत होती बबलू में बहुत बड़ी ताकत होती है श्रीराम ने तो तुम सोचो कि माता कौशल्या की खेती पर 14 वर्ष तक बनवास जिला की मुखिया मुखिया कितनी संकटों को जिला स्तरीय शिक्षण और उसी को मतों से बढ़कर दर्जा दिया जब चित्रकूट तो मिलने गई तो श्रीराम ने अपने सारे प्रेम को सारी माता के समान उसकी प्यार किया और अंत में किसी को कुछ आता पूरा दुख के आंसू निकले पर कैपिटा तीर कमान से निकला हुआ वह बचन जवान से एक कविता उसमें माफी खफा तुम सोचो कभी तुम्हारी यादें होंगी या हुए पर क्या प्रभाव पड़ेगा जीवन मृत्यु हो जाएगा क्योंकि जब तुम बोलोगे उनका लालन-पालन कैसे करोगे यह समाज की अच्छे अच्छे दिनों में साथ हैं लेकिन बुरे दिनों में हमारा खुद का साया तुम्हारे खुद के परी तुम्हारा साथ नहीं रहेगी जिंदगी बहुत कठिन होगा जीवनसाथी जीवन को कुर्ता कलेक्शन लक्षणों को सर्वाधिक का पर्याय होता है इसलिए अपने प्रेम को अपनी भावनाओं को अपने सफर को जगाओ और अपने पति या पत्नी और बच्चन के खाई अभी तुम्हारे पति में है तो वह भी छूट जाएगी और यदि तुम मेरी हो तो उसे भी छोड़ो जागो जंपर की तैयारी है यह जो उसके अट्रैक्शन है यह केवल चार नियम होते हैं यह तरीका कॉपी है लेकिन तुम रियलिटी प्रीत करी थी कभी साथ नहीं देगी तुम डांस करो भावनाओं को जीवित करो प्रेम तो जागृत करो यदि समर्थन होता है क्या होता है अच्छे-अच्छे सुधर जाते हैं जब मर्द सुधर जाते हैं तो तुम सोचो तो वह तो इंसान सुधर जाएगा उसके भटके हुए कपड़े वापस श्री कृष्ण द्वारा मालाखेड़ी

beta main ek baat poochna chahunga main aapse puch lunga toh aapko apne aap ko dard hota hi nahi chahen aap ladki hai ki ladka hai aur saara toh ladkiyon ko kulapati ka pata hi nahi aur ladka hai toh apni patni ke bataye lekin main aapse baat hi nahi ho sakta hoon aapko bura lage main sacchai karna kyonki ali bete kabhi ek hath se nahi bajati hai khaali ko samajhti hai aapki baat badi karta hoon hundred percent kabhi part 2 ca aapke pados mein hi lekin main kabhi baat ko sahmat nahi ho sakta hoon ki buri condition ban jaaye ki aap ki talak ki divorce ki naubat ban jaaye usme kai baje dost aapka bhi hai apne dost nahi hai nahi ho sakte hain tali dono hath se bajati hai ek hath se tali nahi bajati hai yadi party abhi toh yah naubat divorce wali rahegi bharatiya sanskriti ke manne waale hain bhagwan ne jaisa tumhe likha use tumne ho uske saath jeevan gujarne ke liye uchit hai kyonki kitni badi hoti hai kabhi socho toh vo aapki shadi hogi aap gande video nahi aapka jeevan ki ladki hai atyant kathin ho putra poore vishwas ke nange log kismat ke bhrasht logo yah samaj ke bandhu aap kuch bhi likh denge pare pare ki 50 suman chal lagayenge mere dost main nahi chahta ki tumhari zindagi bus se patthar bane bhagwan toh ve sadbuddhi de aur apne pati ya patni ke saath edit kar jaega prem mein bahut badi takat hoti hai bahut badi takat hoti babaloo mein bahut badi takat hoti hai shriram ne toh tum socho ki mata kaushalya ki kheti par 14 varsh tak banvaas jila ki mukhiya mukhiya kitni sankaton ko jila stariy shikshan aur usi ko maton se badhkar darja diya jab chitrakoot toh milne gayi toh shriram ne apne saare prem ko saree mata ke saman uski pyar kiya aur ant mein kisi ko kuch aata pura dukh ke aasu nikle par capita teer kamaan se nikala hua vaah bachan jawaan se ek kavita usme maafi khafa tum socho kabhi tumhari yaadain hongi ya hue par kya prabhav padega jeevan mrityu ho jaega kyonki jab tum bologe unka lalan palan kaise karoge yah samaj ki acche acche dino mein saath hain lekin bure dino mein hamara khud ka saya tumhare khud ke pari tumhara saath nahi rahegi zindagi bahut kathin hoga jeevansathi jeevan ko kurta collection lakshano ko sarvadhik ka paryay hota hai isliye apne prem ko apni bhavnao ko apne safar ko jagao aur apne pati ya patni aur bachchan ke khai abhi tumhare pati mein hai toh vaah bhi chhut jayegi aur yadi tum meri ho toh use bhi chodo jaago jumper ki taiyari hai yah jo uske attraction hai yah keval char niyam hote hain yah tarika copy hai lekin tum reality prateet kari thi kabhi saath nahi degi tum dance karo bhavnao ko jeevit karo prem toh jagrit karo yadi samarthan hota hai kya hota hai acche acche sudhar jaate hain jab mard sudhar jaate hain toh tum socho toh vaah toh insaan sudhar jaega uske bhatke hue kapde wapas shri krishna dwara malakhedi

बेटा मैं एक बात पूछना चाहूंगा मैं आपसे पूछ लूंगा तो आपको अपने आप को दर्द होता ही नहीं चाहे

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1387
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कसम है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके नीचे जीवित होने की संभावना हो तो तलाक दिया जा सकता है क्या सुप्रीम कोर्ट की इस बात से सहमत सहमत हूं अगर एक दूसरे से कोई भावनात्मक जुड़ाव है ही नहीं और ना उसकी कोई संभावना है क्या फायदा इस घर में रहने का कोई फायदा नहीं है और तनाव होगा उसके बाद लगाई हम बच्चों पर नेगेटिव रहना चाहते हैं कोई जोड़ नहीं है भावनात्मक क्या केवल समाज के डर से समाज के डर से अपनी जिंदगी पूरी खराब कर लो बेटा बाहर निकलोगे इस रिश्ते से तो कुछ जीने की नए सिरे से जीने की कोशिश करूंगा तेरे से कहने का मतलब यह नहीं कि हम दोबारा शादी करके मैं तेरे को दे सकते हो आप अकेले भेजे तब तो लेकिन खुश रहते तनाव रहित होकर जीना बेहतर है क्या भावनात्मक बिना भावनात्मक के रिश्ते में बंधे गाना देंगे आपको

kasam hai agar rishta bhavnatmak roop se puri tarah mar jaaye aur uske niche jeevit hone ki sambhavna ho toh talak diya ja sakta hai kya supreme court ki is baat se sahmat sahmat hoon agar ek dusre se koi bhavnatmak judav hai hi nahi aur na uski koi sambhavna hai kya fayda is ghar me rehne ka koi fayda nahi hai aur tanaav hoga uske baad lagayi hum baccho par Negative rehna chahte hain koi jod nahi hai bhavnatmak kya keval samaj ke dar se samaj ke dar se apni zindagi puri kharab kar lo beta bahar nikloge is rishte se toh kuch jeene ki naye sire se jeene ki koshish karunga tere se kehne ka matlab yah nahi ki hum dobara shaadi karke main tere ko de sakte ho aap akele bheje tab toh lekin khush rehte tanaav rahit hokar jeena behtar hai kya bhavnatmak bina bhavnatmak ke rishte me bandhe gaana denge aapko

कसम है अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए और उसके नीचे जीवित होने की संभावना हो त

Romanized Version
Likes  265  Dislikes    views  3062
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माननीय सुप्रीम कोर्ट में बैठने वाले माननीय न्यायाधीशों ने जो डिसीजन दिया है वह डिसीजन कुछ सोच समझ कर भी दिया होगा अगर रिश्ता भावनात्मक रूप से पूरी तरह मर जाए इसका मतलब यह हुआ कि दोनों के दोनों लोग यानी कि पति का पत्नी जो थे उन्होंने इमोशंस खत्म हो गए हैं उन लोगों के बीच में उन दोनों के बीच में कोई रिलेशन नहीं रहा एक दूसरे से ऑपरेट होने को एक अच्छा तरीका मानते हैं ताकि वह दोनों अपनी अपनी जिंदगी को आजादी से जी सके तो इसमें तलाक दिया जा सकता है इस तरह का फैसला मुझे लगता नहीं कि कहीं भी डिस्प्यूटेड है यह बिल्कुल सहमत होना चाहिए इस फैसले से क्योंकि जब आपको लगता है कि आपका रिश्ता बिल्कुल भी एक जगह पर नहीं है जहां पर आप एक दूसरे को समय दे सकते हैं एक दूसरे से भावनात्मक तरीके से पास आ सकते हैं तो फिर मुझे लगता है कि और अगर दोनों चाहे तो तलाक ले सकते हैं बहुत धन्यवाद

maananeey supreme court mein baithne waale mananiya nyaydhisho ne jo decision diya hai vaah decision kuch soch samajh kar bhi diya hoga agar rishta bhavnatmak roop se puri tarah mar jaaye iska matlab yah hua ki dono ke dono log yani ki pati ka patni jo the unhone emotional khatam ho gaye hain un logo ke beech mein un dono ke beech mein koi relation nahi raha ek dusre se operate hone ko ek accha tarika maante hain taki vaah dono apni apni zindagi ko azadi se ji sake toh isme talak diya ja sakta hai is tarah ka faisla mujhe lagta nahi ki kahin bhi dispyuted hai yah bilkul sahmat hona chahiye is faisle se kyonki jab aapko lagta hai ki aapka rishta bilkul bhi ek jagah par nahi hai jaha par aap ek dusre ko samay de sakte hain ek dusre se bhavnatmak tarike se paas aa sakte hain toh phir mujhe lagta hai ki aur agar dono chahen toh talak le sakte hain bahut dhanyavad

माननीय सुप्रीम कोर्ट में बैठने वाले माननीय न्यायाधीशों ने जो डिसीजन दिया है वह डिसीजन कुछ

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1115
WhatsApp_icon
user

kishore chhabra

Marriage Beuro (SHIVA JODI MAKER)

0:24
Play

Likes  25  Dislikes    views  507
WhatsApp_icon
user

Prakhar Srivastava

IAS Aspirant

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सुप्रीम कोर्ट के फैसले से हम पूरी तरह सहमत हैं कि अगर आप भावनात्मक चीज नहीं बची है दोनों लोगों के बीच में और रहा सब कुछ खत्म हो चुका है एक भावनात्मक रिश्ता था उसके पूरी होने के कोई आसार भी नहीं है उन दोनों को आपस में गए थे दोनों की समझ रहे हैं कि हम दोनों के बीच अब कुछ नहीं बचा है भावनात्मक रिश्ता तो बिल्कुल आ जाइए रिश्ता है शादी कब होगी खत्म कर देना चाहिए और वैसे भी हो जाता है आसानी से अगर दोनों लोग सहमत हो तो रख अगर एक सहमत है और दूसरा सहमत है कि केस लड़ना पड़ता है दोनों लोग आती है तो आपस में बिना कोड जाए नहीं है तो अलग-अलग हो सकते हैं कोई बड़ी बात नहीं है आखिरी फैसला है कोई अच्छी बात है

bilkul supreme court ke faisle se hum puri tarah sahmat hain ki agar aap bhavnatmak cheez nahi bachi hai dono logo ke beech mein aur raha sab kuch khatam ho chuka hai ek bhavnatmak rishta tha uske puri hone ke koi aasaar bhi nahi hai un dono ko aapas mein gaye the dono ki samajh rahe hain ki hum dono ke beech ab kuch nahi bacha hai bhavnatmak rishta toh bilkul aa jaiye rishta hai shadi kab hogi khatam kar dena chahiye aur waise bhi ho jata hai aasani se agar dono log sahmat ho toh rakh agar ek sahmat hai aur doosra sahmat hai ki case ladna padta hai dono log aati hai toh aapas mein bina code jaaye nahi hai toh alag alag ho sakte hain koi badi baat nahi hai aakhiri faisla hai koi achi baat hai

बिल्कुल सुप्रीम कोर्ट के फैसले से हम पूरी तरह सहमत हैं कि अगर आप भावनात्मक चीज नहीं बची है

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1471
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप किराए में सुप्रीम कोर्ट ने जिन तलाक का बिल पास किया है वह शायद के लिए गए दिखे क्योंकि अगर हम बेवजह उसे छोड़े हैं तो हमें सजा हो सकती है या तो स्त्री रंग बताइए आपको छोड़ रहे हैं नहीं तो उसकी सजा काट दिया

aap kiraye mein supreme court ne jin talak ka bill paas kiya hai vaah shayad ke liye gaye dikhe kyonki agar hum bewajah use chode hain toh hamein saza ho sakti hai ya toh stree rang bataiye aapko chod rahe hain nahi toh uski saza kaat diya

आप किराए में सुप्रीम कोर्ट ने जिन तलाक का बिल पास किया है वह शायद के लिए गए दिखे क्योंकि अ

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  693
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!