क्या हार्दिक पण्ड्या को बार बार सफलता मिलने से घमंड हो गया है?...


play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या हार्दिक पंड्या को बार-बार सो जा मेरे से कमर में हो गया होता

kya hardik pandya ko baar baar so ja mere se kamar mein ho gaya hota

क्या हार्दिक पंड्या को बार-बार सो जा मेरे से कमर में हो गया होता

Romanized Version
Likes  311  Dislikes    views  4441
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बात यह है कि सफलता की गर्मी जो होती है कुछ दिन घर पर रहती है लेकिन जब इंसान और डाउनफॉल खाने लगता है तो उसे समझ में आता है उसने कहा गलती की हार्दिक पांडे की बात करें तो कॉफी विद करण शो मैंने कहा कि सारी बातें कह दी थी जो मेरे ख्याल से सही भी उनके हिसाब से अगर सही थी तो अच्छी बात है कुछ चीजें पब्लिक गुड्स क्लोज करने लायक या फिर भी तौर तरीके से डिस्कस करने वाली होती है मुझे लगता है इस तरह का फैसला जड़ का उपयोग करना है भले ही मेरे हिसाब से अमेरिका सिस्टर अनुसार नहीं था मुझे थोड़ा अलग ही 231 अलग टाइप का व्यवहार लगाओ उस शो में तो मेरा यह मानना है कि घमंड तो हो गया है अच्छी बात है लेकिन घमंड पॉजिटिव हो तो ज्यादा बढ़िया होगा अगर नेगेटिव कमेंट है तो बहुत ही खराब है क्योंकि नेगेटिव समझना किसी का भला हुआ है ना होगा अगर पॉजिटिव घमंड है तो उसे इंस्पायरर भी हो सकती है पॉजिटिव घमंडी हो गया कि जिस तरह हार्दिक अपनी शक्ल की स्टोरी बताएं कि किस तरह उन्होंने क्रिकेट को पैसे चुन के सबसे आगे रखकर क्रिकेट का जहां तक पहुंचाकर बेस्ट एटीट्यूड के साथ घमंड के साथ अगर मेरा मानना है ना कि वह आज सेलिब्रिटी बन जाए तो न किया जाए ऐसे सोच में जाकर के ऐसे ऐसे शब्दों का प्रयोग करें जिससे लोग उन्हीं का मजाक

vicky baat yah hai ki safalta ki garmi jo hoti hai kuch din ghar par rehti hai lekin jab insaan aur downfall khane lagta hai toh use samajh mein aata hai usne kaha galti ki hardik pandey ki baat kare toh coffee with karan show maine kaha ki saree batein keh di thi jo mere khayal se sahi bhi unke hisab se agar sahi thi toh achi baat hai kuch cheezen public goods close karne layak ya phir bhi taur tarike se discs karne wali hoti hai mujhe lagta hai is tarah ka faisla jad ka upyog karna hai bhale hi mere hisab se america sister anusaar nahi tha mujhe thoda alag hi 231 alag type ka vyavhar lagao us show mein toh mera yah manana hai ki ghamand toh ho gaya hai achi baat hai lekin ghamand positive ho toh zyada badhiya hoga agar Negative comment hai toh bahut hi kharab hai kyonki Negative samajhna kisi ka bhala hua hai na hoga agar positive ghamand hai toh use inspayarar bhi ho sakti hai positive ghamandi ho gaya ki jis tarah hardik apni shakl ki story bataye ki kis tarah unhone cricket ko paise chun ke sabse aage rakhakar cricket ka jaha tak pahunchakar best attitude ke saath ghamand ke saath agar mera manana hai na ki vaah aaj celebrity ban jaaye toh na kiya jaaye aise soch mein jaakar ke aise aise shabdon ka prayog kare jisse log unhi ka mazak

विकी बात यह है कि सफलता की गर्मी जो होती है कुछ दिन घर पर रहती है लेकिन जब इंसान और डाउनफॉ

Romanized Version
Likes  641  Dislikes    views  7925
WhatsApp_icon
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

3:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट की अगर बात करें तो उसमें काफी सारे ऐसे ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने सफलता की ऊंचाइयों को छुआ है फिर भी वह जमीन से जुड़े रहे हैं उनका जो आप लोगों से बात करने का उनका तरीका है वह भी काफी जमीन से जुड़ा हुआ है पर यहां पर यह बात है कि हार्दिक पंड्या को बार-बार सफलता मिलती है जिसके कारण उनका जो एटीट्यूड है उनका बर्तन है लोगों के साथ उसमें काफी बदलाव देखने को मिला है और सफलता मिलने से उनमें घमंड आ गया है यह बात तो कहीं ना कहीं जाकर सच लगती है मुझे क्योंकि आप क्या है कि जब आदमी को अपने जीवन में अचानक से वह सफल हो जाता या फिर रात में सफलता जाती है और उसको नाम और उनसे मिलने लगता है तो मेरे ख्याल से कहीं ना कहीं ऐसा हो जाता है बहुत ही कम वक्त में यह बंदा आ गया आ गया है जिसके कारण उसमें घमंड आ गया कि उसने आज स्ट्रगल है जो देखी ही नहीं है और सीधा उसके हाथ में एक बहुत ही सफलता पहुंच चुकी है जिसके कारण हॉस्टल क्या होता है वही उसको पता नहीं है और इसके कारण ही उसमें घमंड आ जाता है हार्दिक पंड्या के विषय में भी ऐसा ही है कि क्रिकेट में वो अच्छा नाम कर रहा है आईपीएल में उन्होंने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है टेस्ट वनडे हो वह हर एक में अच्छा प्रदर्शन करता रहता है जिनके कारण उनके बर्तन में कब बदलाव देखने को मिला है घमंड आ गया है मेरे ख्याल से यह चीज नहीं होनी चाहिए हमारे पास काफी ऐसे भारत के क्रिकेटर है या तो फिर दूसरी कंट्री के क्रिकेटर से जिनको आप मिलो तो उनसे बात करो तो आपको ऐसा लगता है कि इतनी इतनी बड़ी हस्ती होने के बावजूद संपूर्ण तो जमीन से जुड़ा हुआ आदमी है यह इतना बड़ा क्रिकेटर है इतनी अच्छी बैटिंग कर अच्छी बोलिंग करता है और क्रिकेट के रैंकिंग में भी उसका नंबर प्रमुख स्थान पर है फिर भी कहीं ना कहीं आप से बात करोगे तो आपको ऐसा लगेगा कि ना नहीं बात करने की स्टाइल है बात करने का तरीका है बड़ों को कैसे मान देते मान सम्मान देते हैं छोटों के साथ किस तरह से बात करते हैं या कुछ अलग ही दिखेगा और उसी के कारण लोगों में भी उनके प्रति आदर भाव बना रहता है कि हर क्रिकेटर अगर ऐसा है तो हर एक नहीं हो सकते काफी अच्छी अच्छी क्रिकेट अभी हमारे पास है जो बहुत ही एकदम जमीन से जुड़े हुए हैं उनका एकदम डाउन टू अर्थ बोल सकते हम उसको तो मेरे ख्याल से हार्दिक पंड्या को शिकायत जल्दी से सफलता मिल गई है उन्होंने स्ट्रगल देखा ही नहीं है इसके कारण ही उनको एक घमंड आ गया है उनकी वाणी बर्तन में और यह सब को दिख रहा है और यह मीडिया पर भी सामने बात काफी सारी आ गई थी एक शो में भी उन्होंने कहा कुछ टिप्पणियां की थी जिसके कारण हो विवाद में फंसे थे सफलता हाथ लग गई है जिसके कारण वह घमंडी हो गए हैं

cricket ki agar baat kare toh usme kaafi saare aise aise cricketer hain jinhone safalta ki unchaiyon ko chhua hai phir bhi vaah jameen se jude rahe hain unka jo aap logo se baat karne ka unka tarika hai vaah bhi kaafi jameen se juda hua hai par yahan par yah baat hai ki hardik pandya ko baar baar safalta milti hai jiske karan unka jo attitude hai unka bartan hai logo ke saath usme kaafi badlav dekhne ko mila hai aur safalta milne se unmen ghamand aa gaya hai yah baat toh kahin na kahin jaakar sach lagti hai mujhe kyonki aap kya hai ki jab aadmi ko apne jeevan mein achanak se vaah safal ho jata ya phir raat mein safalta jaati hai aur usko naam aur unse milne lagta hai toh mere khayal se kahin na kahin aisa ho jata hai bahut hi kam waqt mein yah banda aa gaya aa gaya hai jiske karan usme ghamand aa gaya ki usne aaj struggle hai jo dekhi hi nahi hai aur seedha uske hath mein ek bahut hi safalta pohch chuki hai jiske karan hostel kya hota hai wahi usko pata nahi hai aur iske karan hi usme ghamand aa jata hai hardik pandya ke vishay mein bhi aisa hi hai ki cricket mein vo accha naam kar raha hai IPL mein unhone bahut accha pradarshan kiya hai test oneday ho vaah har ek mein accha pradarshan karta rehta hai jinke karan unke bartan mein kab badlav dekhne ko mila hai ghamand aa gaya hai mere khayal se yah cheez nahi honi chahiye hamare paas kaafi aise bharat ke cricketer hai ya toh phir dusri country ke cricketer se jinako aap milo toh unse baat karo toh aapko aisa lagta hai ki itni itni badi hasti hone ke bawajud sampurna toh jameen se juda hua aadmi hai yah itna bada cricketer hai itni achi batting kar achi bowling karta hai aur cricket ke ranking mein bhi uska number pramukh sthan par hai phir bhi kahin na kahin aap se baat karoge toh aapko aisa lagega ki na nahi baat karne ki style hai baat karne ka tarika hai badon ko kaise maan dete maan sammaan dete hain choton ke saath kis tarah se baat karte hain ya kuch alag hi dikhega aur usi ke karan logo mein bhi unke prati aadar bhav bana rehta hai ki har cricketer agar aisa hai toh har ek nahi ho sakte kaafi achi achi cricket abhi hamare paas hai jo bahut hi ekdam jameen se jude hue hain unka ekdam down to arth bol sakte hum usko toh mere khayal se hardik pandya ko shikayat jaldi se safalta mil gayi hai unhone struggle dekha hi nahi hai iske karan hi unko ek ghamand aa gaya hai unki vani bartan mein aur yah sab ko dikh raha hai aur yah media par bhi saamne baat kaafi saree aa gayi thi ek show mein bhi unhone kaha kuch tippaniyaan ki thi jiske karan ho vivaad mein fanse the safalta hath lag gayi hai jiske karan vaah ghamandi ho gaye hain

क्रिकेट की अगर बात करें तो उसमें काफी सारे ऐसे ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने सफलता की ऊंचाइयो

Romanized Version
Likes  199  Dislikes    views  2432
WhatsApp_icon
user

Rahul Agrawal

Career Counsellor

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी मैं नहीं मानता कि हार्दिक पांड्या को सफलता मिलने से बार-बार सफलता मिलने से घमंड हो गया है मुझे नहीं लगता कि आपको ऐसा क्यों लगता है अगर आप उनकी कॉफी विद करण के एपिसोड के बारे में उसके बाद से ऐसा बोल रहे हैं तो आप बिल्कुल गलत बोल रहे कि कॉफी विद करण में हार्दिक पांड्या से गलती जरूर हुई उन्हें वह सब चीजें नहीं चाहिए थी कि उन्होंने वहां कह दिया लेकिन कई बार खिलाड़ियों से गलती हो जाती है इंसान हमें यह लगता है कि खिलाड़ी है तो वह गलती नहीं कर सकते क्यों नहीं कर सकते आप से हम से भी कई बार ऐसी जगह में कुछ ऐसी चीजें निकल जाती है तो नहीं निकलनी चाहिए वही गलती हार्दिक पांड्या हार्दिक पांड्या को घमंड आ गया है यह कहना बिल्कुल गलत होगा उस खिलाड़ी ने जबर्दस्त मेहनत की है बहुत हम्बल बैकग्राउंड से वह खिलाड़ी आया है और आज अगर वह टीम इंडिया एक सुपरस्टार है हार्दिक पांड्या के बिना टीम इंडिया कंप्लीट नहीं हो सकती जो बैलेंस वह प्रोवाइड करते हैं ना साथ नंबर में आकर दो एक ऑलराउंडर का को एक उनके पास है उसके बिना हो ही नहीं सकता स्वर में से निकाल देते हैं कि पता नहीं चलता उस 10 ओवर में 203 विकेट ले जाते हैं 30 40 बॉल में 50 साल तक आसानी से कर जाते हैं ऐसा प्लेयर टीम इंडिया के लिए बहुत ही कम समय बहुत ही सहारा समय के बाद आए इरफान पठान की बाद से टीम इंडिया को यह कमी खल रही थी और हार्दिक पांड्या नहीं पूरी की है अभी वह चोट से जूझ रहे हैं दिल्ली वह मिलता ग्राम में अपने वीडियोस दावते किस तरीके से उस जिम में एक्सरसाइज करने अपने आपको वापस रिपीट कर रहे हैं तो यार बंदा बहुत डेडिकेटेड आदमी है और अच्छी खासी मेहनत कर दे अपने देश के लिए अपने लिए तो ऐसा बोलना बिल्कुल गलत होगा मैं इससे बिल्कुल भी सहमत नहीं है

dekhi main nahi manata ki hardik pandya ko safalta milne se baar baar safalta milne se ghamand ho gaya hai mujhe nahi lagta ki aapko aisa kyon lagta hai agar aap unki coffee with karan ke episode ke bare mein uske baad se aisa bol rahe hain toh aap bilkul galat bol rahe ki coffee with karan mein hardik pandya se galti zaroor hui unhe vaah sab cheezen nahi chahiye thi ki unhone wahan keh diya lekin kai baar khiladiyon se galti ho jaati hai insaan hamein yah lagta hai ki khiladi hai toh vaah galti nahi kar sakte kyon nahi kar sakte aap se hum se bhi kai baar aisi jagah mein kuch aisi cheezen nikal jaati hai toh nahi nikalani chahiye wahi galti hardik pandya hardik pandya ko ghamand aa gaya hai yah kehna bilkul galat hoga us khiladi ne jabardast mehnat ki hai bahut humble background se vaah khiladi aaya hai aur aaj agar vaah team india ek superstar hai hardik pandya ke bina team india complete nahi ho sakti jo balance vaah provide karte hain na saath number mein aakar do ek allrounder ka ko ek unke paas hai uske bina ho hi nahi sakta swar mein se nikaal dete hain ki pata nahi chalta us 10 over mein 203 wicket le jaate hain 30 40 ball mein 50 saal tak aasani se kar jaate hain aisa player team india ke liye bahut hi kam samay bahut hi sahara samay ke baad aaye irfan pathan ki baad se team india ko yah kami khal rahi thi aur hardik pandya nahi puri ki hai abhi vaah chot se joojh rahe hain delhi vaah milta gram mein apne videos davate kis tarike se us gym mein exercise karne apne aapko wapas repeat kar rahe hain toh yaar banda bahut dedicated aadmi hai aur achi khasee mehnat kar de apne desh ke liye apne liye toh aisa bolna bilkul galat hoga main isse bilkul bhi sahmat nahi hai

देखी मैं नहीं मानता कि हार्दिक पांड्या को सफलता मिलने से बार-बार सफलता मिलने से घमंड हो गय

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1023
WhatsApp_icon
user

Aman Shukla Cricketer

Cricketer | Sports Coach

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या डी पढ़ने को बार-बार सफलता मिलने से कम आना चाहिए कि हां अगर उसके अंदर घर होगा उसके अंदर होगा कि मैं ऐसे कर सकता हूं तभी तो अगर आपको वह हर जगह इतना बड़ा पेड़ है जैसा कहिए क्या उसको पूरे इंडिया का ऑटोग्राफ देने को घमंड नहीं आता है उसके पास टाइम नहीं रहता बताइए उसको प्रैक्टिस करनी है अब घमंड घमंड घमंड नहीं होता है तो उसका वर्क क्या है इंडिया को जीता ना मीलाल ना अपनी बैटिंग से उसके फिर से क्या मतलब है तो उसकी कुछ भी से क्या मतलब बताइए उसके सामने सेटिंग करवा रहे हो वह दे

kya d padhne ko baar baar safalta milne se kam aana chahiye ki haan agar uske andar ghar hoga uske andar hoga ki main aise kar sakta hoon tabhi toh agar aapko vaah har jagah itna bada ped hai jaisa kahiye kya usko poore india ka autograph dene ko ghamand nahi aata hai uske paas time nahi rehta bataiye usko practice karni hai ab ghamand ghamand ghamand nahi hota hai toh uska work kya hai india ko jita na milal na apni batting se uske phir se kya matlab hai toh uski kuch bhi se kya matlab bataiye uske saamne setting karva rahe ho vaah de

क्या डी पढ़ने को बार-बार सफलता मिलने से कम आना चाहिए कि हां अगर उसके अंदर घर होगा उसके अंद

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी-कभी हम को घमंड में और व्यवहार में कन्फ्यूजन हो जाता है लेकिन उनका व्यवहार ही इस तरीके का है एक-एक व्यक्ति के चूर होता है गेम को देखने का एक खेल को देखने का एक जिस तरह होता है उसी तरीके से रीयल लाइफ में भी जीता है जैसे राहुल द्रविड़ को देखेंगे आप तो खेल में भी सौम्यता थी एक शालीनता थी तो जिस तरह के खेल में शालीनता से चिड़ियों के बाहर भी तो हार्दिक पांडे का गीत सुनाए ग्रह से में थोड़ा वह अटैकिंग गेम खेलते हैं क्रिकेट का गेम चैटिंग करें बॉलिंग करें कोई भी खेल खेले तो इसी के साथ जोर की मानसिकता है वह बाहर भी आती है आप डिफरेंस नहीं कर सकती किसी व्यक्ति को के तीन जगह की तलाश करें जब तक कि बहुत अच्छा नेता ना हो तो आपको दिखता है वह घमंड नहीं है घमंड हो भी सकता है उनके अगर नजरिया है तो और वैसे भी वह अगर इस जगह पर हैं तो वह डिजर्ट भी करते हैं क्योंकि उन्होंने काफी छोटी शुरू किया था धीरे-धीरे करके रणजी ट्रॉफी खेला रणजी ट्रॉफी के बाद 1 नेशनल टीम में जगह बनाई और निफ्टी में बहुत अच्छी जगह बनाई मुझे लगता है कि शायद उनकी सफलता का कारण हो सकता है घमंड हर एक शब्द को मुझे लगता नहीं घमंड घमंड को म्यूट से अलग रखना चाहिए आपकी क्या राय है आपके कमेंट में दीजिए

kabhi kabhi hum ko ghamand mein aur vyavhar mein confusion ho jata hai lekin unka vyavhar hi is tarike ka hai ek ek vyakti ke chur hota hai game ko dekhne ka ek khel ko dekhne ka ek jis tarah hota hai usi tarike se riyal life mein bhi jita hai jaise rahul dravid ko dekhenge aap toh khel mein bhi saumyata thi ek shalinata thi toh jis tarah ke khel mein shalinata se chidiyon ke bahar bhi toh hardik pandey ka geet sunaye grah se mein thoda vaah attacking game khelte hain cricket ka game chatting kare bowling kare koi bhi khel khele toh isi ke saath jor ki mansikta hai vaah bahar bhi aati hai aap difference nahi kar sakti kisi vyakti ko ke teen jagah ki talash kare jab tak ki bahut accha neta na ho toh aapko dikhta hai vaah ghamand nahi hai ghamand ho bhi sakta hai unke agar najariya hai toh aur waise bhi vaah agar is jagah par hain toh vaah dijart bhi karte hain kyonki unhone kaafi choti shuru kiya tha dhire dhire karke ranji trophy khela ranji trophy ke baad 1 national team mein jagah banai aur nifti mein bahut achi jagah banai mujhe lagta hai ki shayad unki safalta ka karan ho sakta hai ghamand har ek shabd ko mujhe lagta nahi ghamand ghamand ko mute se alag rakhna chahiye aapki kya rai hai aapke comment mein dijiye

कभी-कभी हम को घमंड में और व्यवहार में कन्फ्यूजन हो जाता है लेकिन उनका व्यवहार ही इस तरीके

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1159
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या हार्दिक पंड्या को बार-बार तत्वों का मिलने से घमंड हो गए हैं अरे नहीं दोस्तों पंड्या को घमंड नहीं हुआ है वह अभी नादान है नासमझ जैसे-जैसे उनको इस खेल में को डलते जाएंगे वैसे-वैसे उनमें सूझबूझ आती रहेगी तब उनको पता चलेगा अभी तो बच्चे की तरह खेल रहे हैं और उनको खेलने दीजिए और जिस प्रकार का वह भी है वह कर रहे हैं उनको शायद पता नहीं है कि यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट है इसमें आपने देखा होगा कि बहुत बड़े-बड़े नाम के लोग इसमें आए थे और शायद पता नहीं चला उनको हो कि वह कब हुई वहां से चले गए दोस्तों मैं बात करता हूं सौरव गांगुली की जिनका जलवा मैदान में आप देखते थे विश्व में उनको दादा के नाम से पुकारते थे क्या हुआ उन दादू का कुछ नहीं वह दोस्तों सेवा को देख लीजिए वीरेंद्र जी सेवा जो मुल्तान के सुल्तान के लाते थे क्या हुआ दोस्तों उनका वही हाल क्यों क्योंकि जब वह आए थे तो आपको पता है पहला शतक दोहरा शतक याद करा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बने थे उसने दोस्तों इस देश के मशहूर क्रिकेटर जिसको हम ऑलराउंडर के नाम से जानते हैं युवराज सिंह सबके चहेते सबके दिलों में थाने वाले क्या हुआ दोस्तों उनका पता है आपको जो भी उन्होंने विश्वकप 2011 का दिल आया था तो किस प्रकार से उनकी अहम भूमिका रही और आज दोस्तों क्या हुआ उनको एक मैच खेलने नहीं दिया हमारी गवर्नमेंट तो अभी पंड्या है वह नासमझ है उनको पता नहीं है कि यह यहां पर जितने दिन हम दामाद गिरी कर रहे हैं वह ठीक से कर करते जाए तो अच्छी बात है सब से मिलकर करें और एक अच्छा संदेश दें ताकि आने वाले समय में एक मिसाल बने और मैं तो यह कहता हूं कि अभी नादान बच्चा है खेलने की उम्र है उसको खेलने खाने दीजिए जैसे जैसे समय पलता जाएगा ठोकर खाते जाएंगे वैसे-वैसे उनको सॉलिड होते चले जाएंगे और आशा करता हूं कि यह स्थिति में बने रहें धन्यवाद दोस्तों

kya hardik pandya ko baar baar tatvon ka milne se ghamand ho gaye hain are nahi doston pandya ko ghamand nahi hua hai vaah abhi nadan hai nasamajh jaise jaise unko is khel mein ko dalate jaenge waise waise unmen sujhbujh aati rahegi tab unko pata chalega abhi toh bacche ki tarah khel rahe hain aur unko khelne dijiye aur jis prakar ka vaah bhi hai vaah kar rahe hain unko shayad pata nahi hai ki yah antararashtriya cricket hai isme aapne dekha hoga ki bahut bade bade naam ke log isme aaye the aur shayad pata nahi chala unko ho ki vaah kab hui wahan se chale gaye doston main baat karta hoon saurav ganguly ki jinka jalwa maidan mein aap dekhte the vishwa mein unko dada ke naam se pukarte the kya hua un dadu ka kuch nahi vaah doston seva ko dekh lijiye virendra ji seva jo multan ke sultan ke laate the kya hua doston unka wahi haal kyon kyonki jab vaah aaye the toh aapko pata hai pehla shatak dohra shatak yaad kara shatak lagane waale ballebaaz bane the usne doston is desh ke mashoor cricketer jisko hum allrounder ke naam se jante hain yuvraj Singh sabke chahete sabke dilon mein thane waale kya hua doston unka pata hai aapko jo bhi unhone vishwacup 2011 ka dil aaya tha toh kis prakar se unki aham bhumika rahi aur aaj doston kya hua unko ek match khelne nahi diya hamari government toh abhi pandya hai vaah nasamajh hai unko pata nahi hai ki yah yahan par jitne din hum damaad giri kar rahe hain vaah theek se kar karte jaaye toh achi baat hai sab se milkar kare aur ek accha sandesh de taki aane waale samay mein ek misal bane aur main toh yah kahata hoon ki abhi nadan baccha hai khelne ki umr hai usko khelne khane dijiye jaise jaise samay palta jaega thokar khate jaenge waise waise unko solid hote chale jaenge aur asha karta hoon ki yah sthiti mein bane rahein dhanyavad doston

क्या हार्दिक पंड्या को बार-बार तत्वों का मिलने से घमंड हो गए हैं अरे नहीं दोस्तों पंड्या क

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप कोशिश करेंगे क्या हार्दिक पांडे को बार-बार सफलता मिलने से गमन हो गए देखें उसमें उनकी गलती नहीं लेकिन जब कोई नहीं रहा है आदमी को एक अच्छी पोजीशन पर जाता है या छत पर जाता है या अचानक से माना जाता है तो उस अंदर गमन अपने आप ही आ जाता है यह कोई अपने आप नहीं लाता एक प्रकृति गेहुआ एक ऐसी चीज है जो कि अपने आप इंसान के अंदर आने लगती है जैसे जैसा बच्चन जितेंद्र लगता है लगता है

aap koshish karenge kya hardik pandey ko baar baar safalta milne se gaman ho gaye dekhen usme unki galti nahi lekin jab koi nahi raha hai aadmi ko ek achi position par jata hai ya chhat par jata hai ya achanak se mana jata hai toh us andar gaman apne aap hi aa jata hai yah koi apne aap nahi lata ek prakriti gehua ek aisi cheez hai jo ki apne aap insaan ke andar aane lagti hai jaise jaisa bachchan jitendra lagta hai lagta hai

आप कोशिश करेंगे क्या हार्दिक पांडे को बार-बार सफलता मिलने से गमन हो गए देखें उसमें उनकी गल

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  633
WhatsApp_icon
user

aryan

Health consultant(09717895167)

4:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं इस बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं मेरा यह मानना है कि क्रिकेट जैसे एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के खेल में किसी को भी अगर अपनी राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलता है तो यह इसके लिए बहुत ही एक स्वप्न साकार होने जैसा होता है यह बहुत ही आसान नहीं है जहां हमारे भारत देश में ही देख लो करोड़ों बच्चे जो हैं क्रिकेट में अपना भविष्य आजमाने के लिए लक आजमाने के लिए दिन रात लगे हुए होते हैं मेहनत करते हैं स्टेडियम में जा कए किलोमीटर घर से जाकर क्रिकेट स्टेडियम में जाकर क्रिकेट का खेल सीखते हैं और यदि किसी खिलाड़ी को खेल में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिल जाता तो उसके लिए बहुत ही बड़ी बात होती है जैसा कि आप जानते हैं कि हार्दिक पांड्या और उनके भाई भी हैं बड़े भाई ने क्रुनल पंड्या यह दोनों ही गुजरात से बिलॉन्ग करते हैं और अमूमन दोनों का ही सिलेक्शन जो है दोनों ही हमारी भारतीय क्रिकेट टीम है जो ए टीम है उसमें दोनों को ही खेलने का मौका मिला है अक्टूबर 2016 में हार्दिक पांड्या की को भारतीय क्रिकेट टीम के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम जो है हमारी टीम उसके साथ खेलने का मौका मिला था कई बारी क्या होता है कि यह बहुत ही जोशीले खिलाड़ी है बहुत ही ज्यादा ऑप्टिमिस्ट खिलाड़ी हैं और भारत के लिए यह घर पर मौला का किरदार अदा करते हैं और कई मौकों पर इन्होंने अपने आप को प्रूफ भी किया है जैसा कि आप जानते हैं कि चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और पाकिस्तान आपस में में उनका मुकाबला हुआ था तो हार्दिक पांडे ने 43 बॉल में 76 रन की तूफानी तूफानी पारी खेली थी जिसमें उन्होंने छह बहुत ही शानदार छक्के लगाए थे और अपने आपको ऐसे कठिन परिस्थिति में जब बहुत ही गेम का बहुत ही टेंशन पीरियड चल रहा था वहां पर उन्होंने अपने आप को प्रूव किया था हार्दिक पांडे कैसे ऑलराउंडर है जो बल्ले के साथ-साथ गेम से भी बहुत ही अच्छी भूमिका निभाते हैं और कई मौकों पर बहुत ही महत्वपूर्ण साझेदारी को जो कि भारत के लिए आक्रामक और खतरनाक होती जा रही होती है उसमें यह बहुत ही ब्रेकअप दिलाते हैं जिससे कि भारत को उस खेल में दोबारा आने में बड़ी ही सफलता मिलती है यह कहना क्यों हार्दिक पांडे को घमंड हो गया है इस बात से बिल्कुल भी मैं सहमत नहीं हूं क्योंकि कई बार जब सफलताएं मिलती हैं आजकल क्रिकेट का गेम हो या कोई भी खेल हो जब सफलता मिलती है तो किसी भी खिलाड़ी का जो आत्मविश्वास है वह बहुत ही बुलंदियों पर पहुंच जाता है वह आत्मविश्वास इस प्रकार से अपना शो करते हैं जैसे कि क्रिकेट के मैदान में डांस करना हो या किस किसी तरह की कोई एक्टिंग करना हो तो कई बार ही हम उसको मिसअंडरस्टैंड करके यह समझ ले लगता है कि यह खिलाड़ी जो है घमंड हो गया है जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है हार्दिक पांडे ने अब तक वनडे और टेस्ट दोनों में ही वनडे टेस्ट दोनों तीनों ही फॉर्मेट में भारत का अभी तक उन्होंने प्रतिनिधित्व किया है वनडे में अभी तक हार्दिक पांडे ने 45 वनडे मैच खेले हैं जिन्होंने दिन में उन्होंने 116 की स्ट्राइक रेट से 731 रन बनाए और उनका औसत लगभग 30 का रहा है उन्होंने वनडे मैच में 44 विकेट भी लिए हैं तो दोनों ही तरह से उन्होंने गेंद और बल्ले से भारत को की काफी जो है उन्होंने बहुत ही मजबूती भारत की टीम को प्रदान की सॉरी मैं नहीं समझता कि हार्दिक पांडे जैसा खिलाड़ी जो कि बहुत ही मैदान परंतु जस्टिस रहता है बहुत ही ऊर्जावान रहता है उसमें किसी भी प्रकार का जो है घमंड उसमें आया है खिलाड़ी बहुत ही फ्रॉम सिंह है भारत के लिए और बहुत ही लंबी लंबी रेस का घोड़ा है भारत की क्रिकेट टीम के लिए बहुत ही अच्छा सुनहरा खिलाड़ी है धन्यवाद

dekhiye main is baat se bilkul bhi sahmat nahi mera yah manana hai ki cricket jaise ek antararashtriya sthar ke khel mein kisi ko bhi agar apni rashtriya team ka pratinidhitva karne ka mauka milta hai toh yah iske liye bahut hi ek swapn saakar hone jaisa hota hai yah bahut hi aasaan nahi hai jaha hamare bharat desh mein hi dekh lo karodo bacche jo hain cricket mein apna bhavishya ajamane ke liye luck ajamane ke liye din raat lage hue hote hain mehnat karte hain stadium mein ja kye kilometre ghar se jaakar cricket stadium mein jaakar cricket ka khel sikhate hain aur yadi kisi khiladi ko khel mein apne desh ka pratinidhitva karne ka mauka mil jata toh uske liye bahut hi badi baat hoti hai jaisa ki aap jante hain ki hardik pandya aur unke bhai bhi hain bade bhai ne krunal pandya yah dono hi gujarat se Belong karte hain aur amuman dono ka hi selection jo hai dono hi hamari bharatiya cricket team hai jo a team hai usme dono ko hi khelne ka mauka mila hai october 2016 mein hardik pandya ki ko bharatiya cricket team ke antararashtriya cricket team jo hai hamari team uske saath khelne ka mauka mila tha kai baari kya hota hai ki yah bahut hi joshile khiladi hai bahut hi zyada aptimist khiladi hain aur bharat ke liye yah ghar par maula ka kirdaar ada karte hain aur kai maukon par inhone apne aap ko proof bhi kiya hai jaisa ki aap jante hain ki champions trophy ke final mein bharat aur pakistan aapas mein mein unka muqabla hua tha toh hardik pandey ne 43 ball mein 76 run ki tufani tufani paari kheli thi jisme unhone cheh bahut hi shandar chakke lagaye the aur apne aapko aise kathin paristithi mein jab bahut hi game ka bahut hi tension period chal raha tha wahan par unhone apne aap ko prove kiya tha hardik pandey kaise allrounder hai jo balle ke saath saath game se bhi bahut hi achi bhumika nibhate hain aur kai maukon par bahut hi mahatvapurna sajhedari ko jo ki bharat ke liye aakraman aur khataranaak hoti ja rahi hoti hai usme yah bahut hi breakup dilate hain jisse ki bharat ko us khel mein dobara aane mein badi hi safalta milti hai yah kehna kyon hardik pandey ko ghamand ho gaya hai is baat se bilkul bhi main sahmat nahi hoon kyonki kai baar jab safalataen milti hain aajkal cricket ka game ho ya koi bhi khel ho jab safalta milti hai toh kisi bhi khiladi ka jo aatmvishvaas hai vaah bahut hi bulandiyon par pohch jata hai vaah aatmvishvaas is prakar se apna show karte hain jaise ki cricket ke maidan mein dance karna ho ya kis kisi tarah ki koi acting karna ho toh kai baar hi hum usko misandarastaind karke yah samajh le lagta hai ki yah khiladi jo hai ghamand ho gaya hai jabki aisa bilkul bhi nahi hai hardik pandey ne ab tak oneday aur test dono mein hi oneday test dono tatvo hi format mein bharat ka abhi tak unhone pratinidhitva kiya hai oneday mein abhi tak hardik pandey ne 45 oneday match khele hain jinhone din mein unhone 116 ki strike rate se 731 run banaye aur unka ausat lagbhag 30 ka raha hai unhone oneday match mein 44 wicket bhi liye hain toh dono hi tarah se unhone gend aur balle se bharat ko ki kaafi jo hai unhone bahut hi majbuti bharat ki team ko pradan ki sorry main nahi samajhata ki hardik pandey jaisa khiladi jo ki bahut hi maidan parantu justice rehta hai bahut hi urjavan rehta hai usme kisi bhi prakar ka jo hai ghamand usme aaya hai khiladi bahut hi from Singh hai bharat ke liye aur bahut hi lambi lambi race ka ghoda hai bharat ki cricket team ke liye bahut hi accha sunehra khiladi hai dhanyavad

देखिए मैं इस बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं मेरा यह मानना है कि क्रिकेट जैसे एक अंतरराष्ट्रीय

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हार्दिक पांड्या को बार-बार टीम इंडिया में टीम इंडिया में मौका मिलने मिला और उन्होंने उनको घमंड नहीं है कि वह मैच में खेलेंगे या नहीं उनको बस उनको साथ में या छठे स्थान पर उतारा जा सकता है जिससे वह घमंडी भी नहीं है और वह अपनी जब मारते हैं तो छक्कों की छड़ी लगाते हैं जब ऑस्ट्रेलिया का मैच हो रहा था तभी तभी एडम जांपा की गेंदों पर उन्होंने 3 छक्के लगाए थे और जब पाकिस्तान से मैच था तब उन्होंने बहुत अच्छी शानदार पारी जैसे उन्हें कोई घमंड नहीं है और घमंड भी रहेगा ना रहे नारायणा रहेगा

hardik pandya ko baar baar team india mein team india mein mauka milne mila aur unhone unko ghamand nahi hai ki vaah match mein khelenge ya nahi unko bus unko saath mein ya chhathe sthan par utara ja sakta hai jisse vaah ghamandi bhi nahi hai aur vaah apni jab marte hain toh chakkon ki chadi lagate hain jab austrailia ka match ho raha tha tabhi tabhi edm jampa ki gendon par unhone 3 chakke lagaye the aur jab pakistan se match tha tab unhone bahut achi shandar paari jaise unhe koi ghamand nahi hai aur ghamand bhi rahega na rahe narayana rahega

हार्दिक पांड्या को बार-बार टीम इंडिया में टीम इंडिया में मौका मिलने मिला और उन्होंने उनको

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो हार्दिक पांडे है उसका पूरा नेचर ही ऐसा है कि वो बचपन से ही करता रहता है मुझे लगता है कि वह कभी जो बचपन से एक न होता है ना लोगों का

likhe jo hardik pandey hai uska pura nature hi aisa hai ki vo bachpan se hi karta rehta hai mujhe lagta hai ki vaah kabhi jo bachpan se ek na hota hai na logo ka

लिखे जो हार्दिक पांडे है उसका पूरा नेचर ही ऐसा है कि वो बचपन से ही करता रहता है मुझे लगता

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!