सरकार प्लास्टिक पर बैन लगाने में कहाँ तक सफल हो पायी है?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार प्लास्टिक पर बैन लगाने में कहां तक सफल हो पाएगी सरकार ने प्लास्टिक पर सिंगल न्यूज़ प्लास्टिक पर बैन लगाने का पहले बोला था कि 2 अक्टूबर से गांधी जयंती के दिन से सिंगल ही प्लास्टिक पर हम लगाएंगे लेकिन फिलहाल वर्तमान समय में हमारी इंडियन इंडस्ट्री की हालत देखकर सरकार ने इस पर पुनर्विचार करने के लिए यह कदम को एक कदम पीछे हट गई सरकार उन्होंने जनजागृति के आधार पर इसको रख दिया सिंगल न्यूज़ प्लास्टिक को जनजागृति के जरिए हमें यूज़ नहीं करना चाहिए इसका उपयोग कम करते जाना चाहिए प्लास्टिक इंडस्ट्री उसके ऊपर ज्यादा दबाव 9:00 बजे की खराब होने की संभावना थी और उसकी ऑप्शन में प्लास्टिक के प्रकार के पास फिलहाल कोई अन्य प्रोडक्ट नहीं कि अगर जैसे प्लास्टिक के उपयोग को तुरंत रोक लगा दी जाए बैन कर दिया जाए उसके ऑप्शन में कोई मेटल या कोई ऐसी वस्तु का उपयोग करें कि तुरंत ही वह लोकप्रिय हो जाए और इसी हेलो ऐसा कुछ नहीं हो पाया है इसलिए हमको ऐसे इंडियन सिटीजन सिंगल यूज प्लास्टिक पर उसने खुद ही रोक लगानी होगी और पर्यावरण को बचाने के लिए उसमें अपना सरकार देना चाहिए सरकार का काम है दिल लगाना लेकिन उस पर हम कहां तक हमारी जागृति है वह हमारे ऊपर ही निर्भर करती है इसलिए हमने सोचा कि सरकार प्लास्टिक पर बैन लगाने में सफल हुई है या कम हुई है तो यह अपनी जगह सरकार अपने लेवल पर जो करना चाहती हो वह करेगी लेकिन हम को सोचना चाहिए कि प्लास्टिक 20% है 20% थी उसका उपयोग हो पाता है और बाकी कहां कचरे के रूप में कबाड़ के रूप में आता है कल के लेटेस्ट न्यूज के अनुसार मथुरा में प्लास्टिक रीसायकल करके डीजल बनाने का एक प्रोजेक्ट शुरू हुआ है और सरकार को प्लास्टिक पर बैन लगाने के बजाय प्लास्टिक को रिसाइकल करके और उससे डीजल बनाने का जो जैसा मथुरा में लगा है वैसा भारत के चारों तरफ जहां तक हो सके वह प्रोजेक्ट को अमल में लेना चाहिए ताकि उसे जो प्लास्टिक की चीजों का पूरे कबाड़ का रीसायकल हो सके और उसकी हमें छोड़ दें और हाइड्रोकार्बन भी उसे जो मिले काम आए इसी तरह से उपयोग को रोकने के लिए उपयोग की उपयोगिता करना ज्यादा पाया जाता वहीं सरकार के लिए सफलता होगी धन्यवाद जय हिंद

sarkar plastic par ban lagane mein kahaan tak safal ho payegi sarkar ne plastic par singles news plastic par ban lagane ka pehle bola tha ki 2 october se gandhi jayanti ke din se singles hi plastic par hum lagayenge lekin filhal vartaman samay mein hamari indian industry ki halat dekhkar sarkar ne is par punarvichar karne ke liye yah kadam ko ek kadam peeche hut gayi sarkar unhone janajagriti ke aadhaar par isko rakh diya singles news plastic ko janajagriti ke jariye hamein use nahi karna chahiye iska upyog kam karte jana chahiye plastic industry uske upar zyada dabaav 9 00 baje ki kharab hone ki sambhavna thi aur uski option mein plastic ke prakar ke paas filhal koi anya product nahi ki agar jaise plastic ke upyog ko turant rok laga di jaaye ban kar diya jaaye uske option mein koi metal ya koi aisi vastu ka upyog kare ki turant hi vaah lokpriya ho jaaye aur isi hello aisa kuch nahi ho paya hai isliye hamko aise indian citizen singles use plastic par usne khud hi rok lagani hogi aur paryavaran ko bachane ke liye usme apna sarkar dena chahiye sarkar ka kaam hai dil lagana lekin us par hum kahaan tak hamari jagriti hai vaah hamare upar hi nirbhar karti hai isliye humne socha ki sarkar plastic par ban lagane mein safal hui hai ya kam hui hai toh yah apni jagah sarkar apne level par jo karna chahti ho vaah karegi lekin hum ko sochna chahiye ki plastic 20 hai 20 thi uska upyog ho pata hai aur baki kahaan kachre ke roop mein kabad ke roop mein aata hai kal ke latest news ke anusaar mathura mein plastic risayakal karke diesel banane ka ek project shuru hua hai aur sarkar ko plastic par ban lagane ke bajay plastic ko recycle karke aur usse diesel banane ka jo jaisa mathura mein laga hai waisa bharat ke charo taraf jaha tak ho sake vaah project ko amal mein lena chahiye taki use jo plastic ki chijon ka poore kabad ka risayakal ho sake aur uski hamein chod de aur hydrocarbon bhi use jo mile kaam aaye isi tarah se upyog ko rokne ke liye upyog ki upayogita karna zyada paya jata wahi sarkar ke liye safalta hogi dhanyavad jai hind

सरकार प्लास्टिक पर बैन लगाने में कहां तक सफल हो पाएगी सरकार ने प्लास्टिक पर सिंगल न्यूज़ प

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  1251
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!