आप दशहरा कैसे मनाते हैं? इस त्योहार का आप के लिए क्या महत्व है?...


user
1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरा पर्व पर अगर मोबाइल धर्म की जीत असत्य पर सत्य की जीत के रूप में मनाया जाता है भगवान श्री राम के द्वारा रावण का वध कर माता सीता को लंका से वापस लाकर लाने की खुशी में यह त्योहार मनाया जाता है इस दिन लोग रावण का पुतला जलाते हैं और कई लोग रावण को बड़ा ही पंडित माझा ने भी मानते हैं और फिर दिन दशहरे में रावण के पुतले को नहीं चलाते हैं यहां तक कि उसकी पूजा-अर्चना करते हैं अदा अलग-अलग जगह पर दशहरे का लालच आ गया आ गया है कि आने वाले उनके अगले दिन तक जनता जन्म रावण रावण के बारे में मान्यता है और अलग-अलग सोच विचार से भारत में सूर्य के प्रतीक के रूप में

dussehra parv par agar mobile dharm ki jeet asatya par satya ki jeet ke roop mein manaya jata hai bhagwan shri ram ke dwara ravan ka vadh kar mata sita ko lanka se wapas lakar lane ki khushi mein yah tyohar manaya jata hai is din log ravan ka putalaa jalate hain aur kai log ravan ko bada hi pandit majha ne bhi maante hain aur phir din dussehra mein ravan ke putale ko nahi chalte hain yahan tak ki uski puja archana karte hain ada alag alag jagah par dussehra ka lalach aa gaya aa gaya hai ki aane waale unke agle din tak janta janam ravan ravan ke bare mein manyata hai aur alag alag soch vichar se bharat mein surya ke prateek ke roop mein

दशहरा पर्व पर अगर मोबाइल धर्म की जीत असत्य पर सत्य की जीत के रूप में मनाया जाता है भगवान

Romanized Version
Likes  97  Dislikes    views  1939
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरा सब्जियों का त्योहार है दशहरे पर शस्त्र पूजन किया जाता है और दूसरा समय यह भी है इस दिन श्री राम ने रावण को मारा था और विजय प्राप्त हुई थी यह त्यौहार एक प्रतीकात्मक इसको हर्षिता प्रयोग बताइए कि मानव को अपनी बुराई रूपी शत्रुओं को अपने दोस्तों की जानवरों को मारना चाहिए और अपनी नियमित करना चाहिए और जो अपने देश में जो शहीद हुए हैं उनको अगर के गुण विकसित करनी चाहिए यह बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है यह एक अन्याय पर अधर्म पर न्याय और धर्म की जीत का प्रतीक है इसलिए त्यौहार के दिन हमें अपने दोषों को दूर करने का संकल्प लेना चाहिए लोगों से मधुर संबंध बनाने चाहिए अच्छे व्यवहार रखनी चाहिए इस बात का सूचक है राहुल और काम दोनों मानव के अंदर विद्यमान मेरांबी है ब्राह्मण भी है जो उसके दो से उसका राहुल टू के जूस के गुण हैं वो राम का रूप है कि सीमा लंबे रावण अधिक हावी हो जाता है उसके दोस्त मानव में बहुत होते हैं ऐसे लोग बलात्कार करते हैं मर्डर करते हैं फोन करते हैं किडनैपिंग करते हैं गंदे कार्य करते हैं क्योंकि उनका जो बंदर का रावण को इतना हावी हो चुका है उसके अंदर की जो तो उसमें वह तो पूरा दूल्हा बना देते हैं और अंदर का जो असली नाम है वह नष्ट हो चुका है ग्रुप हो चुका है जबकि किसी किसी मानव में गुणसूत्र सदाचारी है तब तक चलने वाला व्रत या धर्म पर चलता है ईमानदारी से प्यार करता है परोपकार करता है सी भाषा एकता की भावना है इसका मतलब है उसके अंदर पैदा हुआ है उसने अंदर ही अंदर अपने दोस्त रूपी रूपी रावण को मार डाला है

dussehra sabjiyon ka tyohar hai dussehra par shastra pujan kiya jata hai aur doosra samay yah bhi hai is din shri ram ne ravan ko mara tha aur vijay prapt hui thi yah tyohar ek pratikatmak isko harshita prayog bataye ki manav ko apni burayi rupee shatruo ko apne doston ki jaanvaro ko marna chahiye aur apni niyamit karna chahiye aur jo apne desh mein jo shaheed hue hain unko agar ke gun viksit karni chahiye yah burayi par acchai ki jeet ka prateek hai yah ek anyay par adharma par nyay aur dharm ki jeet ka prateek hai isliye tyohar ke din hamein apne doshon ko dur karne ka sankalp lena chahiye logo se madhur sambandh banane chahiye acche vyavhar rakhni chahiye is baat ka suchak hai rahul aur kaam dono manav ke andar vidyaman merambi hai brahman bhi hai jo uske do se uska rahul to ke juice ke gun hain vo ram ka roop hai ki seema lambe ravan adhik haavi ho jata hai uske dost manav mein bahut hote hain aise log balatkar karte hain murder karte hain phone karte hain kidnaiping karte hain gande karya karte hain kyonki unka jo bandar ka ravan ko itna haavi ho chuka hai uske andar ki jo toh usme vaah toh pura dulha bana dete hain aur andar ka jo asli naam hai vaah nasht ho chuka hai group ho chuka hai jabki kisi kisi manav mein gunasutra sadachari hai tab tak chalne vala vrat ya dharm par chalta hai imaandaari se pyar karta hai paropkaar karta hai si bhasha ekta ki bhavna hai iska matlab hai uske andar paida hua hai usne andar hi andar apne dost rupee rupee ravan ko maar dala hai

दशहरा सब्जियों का त्योहार है दशहरे पर शस्त्र पूजन किया जाता है और दूसरा समय यह भी है इस दि

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1246
WhatsApp_icon
play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए क्या महत्व है महत्व तो मैं देखती हूं तो अपने मन की बुराई खत्म करनी चाहिए जैसे राम रावण को मारता है वैसे हमें अपने आप को ही अपने अंदर की प्रक्रिया एक संकल्प लेना चाहिए कि मैं अपने अंदर की बुराइयां 1 साल के अंदर ही अंदर दोबारा कभी नहीं अगर ऐसे हर इंसान कुछ नहीं लगेगा तो बस सिर्फ राम रावण को मारता है वह कथा देखने जाते इंस्ट्रूमेंट करते हैं राम रावण को मार लेता है और सिर्फ अपना चली भी ट्राई करके वापस आ जाते फाफड़ा जलेबी दिखाइए लेकिन अपने अंजन के मन के विकारों को मारिए ठीक है मन में जो खराब विचार है उनको मारी और जो अच्छा है उसको और बढ़ावा दीजिए और आगे अच्छे

aap dussehra kaise manate hain is tyohar ka aapke liye kya mahatva hai mahatva toh main dekhti hoon toh apne man ki burayi khatam karni chahiye jaise ram ravan ko maarta hai waise hamein apne aap ko hi apne andar ki prakriya ek sankalp lena chahiye ki main apne andar ki buraiyan 1 saal ke andar hi andar dobara kabhi nahi agar aise har insaan kuch nahi lagega toh bus sirf ram ravan ko maarta hai vaah katha dekhne jaate instrument karte hain ram ravan ko maar leta hai aur sirf apna chali bhi try karke wapas aa jaate fafda jalebi dikhaaiye lekin apne anjan ke man ke vikaron ko mariye theek hai man mein jo kharab vichar hai unko mari aur jo accha hai usko aur badhawa dijiye aur aage acche

आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए क्या महत्व है महत्व तो मैं देखती हूं तो अपन

Romanized Version
Likes  285  Dislikes    views  6303
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए क्या महत्व है लिखिए जो दशहरा लोग हैं हम सुबह लक्ष्मी जी का जो सिक्का होता है उसे सबसे पहले सुबह उसके दर्शन करते हैं तो करो पहले उसके दर्शन करते हैं फिर बाद में हम उठते और हमारे यहां पर जो मंदिर का देव दर्शन करते हैं और हमारी जो हथियार हैं ध्यान रखिए हमारे जो जो अगर कोई बंदूक है या कोई हथियार है या हमारे साधन जो है जिससे हम आते जाते हैं उसका और हमारे जो मशीनें हैं उसका हम अवश्य पूजा करते हैं बहनें भाई को विजय दिवस के रूप में टीका लगाती हैं हमको टीका लगता है और हम भाइयों के लिए वह शुभकामनाएं देते हैं और एक दूसरे को सुविधा दी जाती है और बहनों को कोई न कोई हम गिफ्ट देते हैं फिर बाद में हम भगवान की पूजा करके और अपना कार्य जो शुरू करते हैं और शाम को जब रावण दहन होता है अगर समय होता है तो हम जाकर उसके दर्शन करते हैं और सब लोग हमारे देश के जो है हमारे शहर की जनता है पहुंचकर वह देखती है दर्शन करती है इस तरह से बुराई के ऊपर अच्छाई की जो विजय है उसको विजय दिवस के रूप में दशहरी धन्यवाद ऑल द बेस्ट हैप्पी दशहरा

aap dussehra kaise manate hain is tyohar ka aapke liye kya mahatva hai likhiye jo dussehra log hain hum subah laxmi ji ka jo sikka hota hai use sabse pehle subah uske darshan karte hain toh karo pehle uske darshan karte hain phir baad mein hum uthte aur hamare yahan par jo mandir ka dev darshan karte hain aur hamari jo hathiyar hain dhyan rakhiye hamare jo jo agar koi bandook hai ya koi hathiyar hai ya hamare sadhan jo hai jisse hum aate jaate hain uska aur hamare jo mashinen hain uska hum avashya puja karte hain bahanen bhai ko vijay divas ke roop mein tika lagati hain hamko tika lagta hai aur hum bhaiyo ke liye vaah subhkamnaayain dete hain aur ek dusre ko suvidha di jaati hai aur bahnon ko koi na koi hum gift dete hain phir baad mein hum bhagwan ki puja karke aur apna karya jo shuru karte hain aur shaam ko jab ravan dahan hota hai agar samay hota hai toh hum jaakar uske darshan karte hain aur sab log hamare desh ke jo hai hamare shehar ki janta hai pahuchkar vaah dekhti hai darshan karti hai is tarah se burayi ke upar acchai ki jo vijay hai usko vijay divas ke roop mein dashhari dhanyavad all the best happy dussehra

आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए क्या महत्व है लिखिए जो दशहरा लोग हैं हम सुब

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1156
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरा त्यौहार का सीधी सी परिभाषा है असत्य की उपस्थिति की जीत और आपके ऊपर पुण्य की जीत धर्म की धर्म के ऊपर जीत यही दशहरा त्यौहार का मेन उद्देश्य है ऋषि डिसर्विस पुण्यतिथि

dussehra tyohar ka seedhi si paribhasha hai asatya ki upasthitee ki jeet aur aapke upar punya ki jeet dharm ki dharm ke upar jeet yahi dussehra tyohar ka main uddeshya hai rishi disarvis punyatithi

दशहरा त्यौहार का सीधी सी परिभाषा है असत्य की उपस्थिति की जीत और आपके ऊपर पुण्य की जीत धर्म

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1608
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरे का त्यौहार है बहुत ही खास त्योहार है जिसमें भगवान श्री राम ने रावण का वध किया था कि मनाया जाता है और इस त्यौहार को इस तरीके से मनाया जाता है जैसे भारत में कई स्थानों पर इसमें वाहनों की पूजा की जाती है कोई भी नया वाहन खरीदा जाता है तो उसकी पूजा की जाती है कोई नया इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट जैसे फ्रीज टीवी वॉशिंग मशीन माइक्रोवेव ओवन इन सब की पूजा की जाती है इसके अलावा सोना चांदी डायमंड और प्लैटिनम के गहने या अंगूठियां खरीदी जाती है तो उनकी जो खरीदने का मुहूर्त होता है वह दिखा रहे के टाइम पर होता है इसके अलावा बहुत सारी स्थानों पर दशहरे के दिन रावण को जलाया जाता है और इसका महत्व इसलिए ज्यादा है क्योंकि इस पर इस देव तोहार हमारे लिए यदि खाने का यह दिखाने का प्रतीक है कि बुराई पर भलाई की जीत होती है ओके ही रहती है चाहे बुराई कितनी भी बड़ी विशाल क्यों ना हो एक साधारण से आम मनुष्य के द्वारा भी बुराई हटाई जा सकती है और अच्छाई हमेशा जीती है तो अच्छाई की जीत के लिए ही दशहरे का त्यौहार मनाया जाता है इसके अलावा आप किस तरीके से त्योहार को मनाते हैं कमेंट सचिन बताइए बहुत-बहुत धन्यवाद

dussehra ka tyohar hai bahut hi khaas tyohar hai jisme bhagwan shri ram ne ravan ka vadh kiya tha ki manaya jata hai aur is tyohar ko is tarike se manaya jata hai jaise bharat mein kai sthano par isme vahanon ki puja ki jaati hai koi bhi naya vaahan kharida jata hai toh uski puja ki jaati hai koi naya electronic Equipment jaise freeze TV washing machine microwave oven in sab ki puja ki jaati hai iske alava sona chaandi diamond aur platinum ke gehne ya anguthiyan kharidi jaati hai toh unki jo kharidne ka muhurt hota hai vaah dikha rahe ke time par hota hai iske alava bahut saree sthano par dussehra ke din ravan ko jalaya jata hai aur iska mahatva isliye zyada hai kyonki is par is dev tohar hamare liye yadi khane ka yah dikhane ka prateek hai ki burayi par bhalai ki jeet hoti hai ok hi rehti hai chahen burayi kitni bhi badi vishal kyon na ho ek sadhaaran se aam manushya ke dwara bhi burayi hatai ja sakti hai aur acchai hamesha jeeti hai toh acchai ki jeet ke liye hi dussehra ka tyohar manaya jata hai iske alava aap kis tarike se tyohar ko manate hain comment sachin bataye bahut bahut dhanyavad

दशहरे का त्यौहार है बहुत ही खास त्योहार है जिसमें भगवान श्री राम ने रावण का वध किया था कि

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  1091
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  4  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Naren khatri

Student And Social Worker

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि आप दशहरा कैसे मनाते इस दीवार का आपके लिए क्या मातहत आपको बता दें कि हम दशहरा को जो रावण होता है उसको उसका पुतला जलाया जाता है और इस प्यार को हम बहुत ही खुशी के साथ मनाते हैं क्योंकि एक बुराई की हार और एक सच्चाई की जीत होती है धन्यवाद

aapka sawaal hai ki aap dussehra kaise manate is deewaar ka aapke liye kya matahat aapko bata de ki hum dussehra ko jo ravan hota hai usko uska putalaa jalaya jata hai aur is pyar ko hum bahut hi khushi ke saath manate hain kyonki ek burayi ki haar aur ek sacchai ki jeet hoti hai dhanyavad

आपका सवाल है कि आप दशहरा कैसे मनाते इस दीवार का आपके लिए क्या मातहत आपको बता दें कि हम दशह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरा असत्य पर सत्य की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत के रूप में मनाया जाता है और दशहरा का त्यौहार विशेषकर भारत में पूर्व के जमाने में क्षत्रिय लोगों के द्वारा बनाया जाता था उन्हें गिरफ्तार के रूप में जीतने की खुशी में रावण पर राम की जीत की खुशी में कैसे बनाते थे आज पूरे देश में से सभी धर्म संप्रदाय के लोग हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं और इसे विजय के प्रतीक के रूप में देखा जाता है

dussehra asatya par satya ki jeet aur adharma par dharm ki jeet ke roop mein manaya jata hai aur dussehra ka tyohar visheshkar bharat mein purv ke jamane mein kshatriya logo ke dwara banaya jata tha unhe giraftar ke roop mein jitne ki khushi mein ravan par ram ki jeet ki khushi mein kaise banate the aaj poore desh mein se sabhi dharm sampraday ke log harshollas ke saath manate hain aur ise vijay ke prateek ke roop mein dekha jata hai

दशहरा असत्य पर सत्य की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत के रूप में मनाया जाता है और दशहरा का त्

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न यह है कि आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए कमाता है तो आप कब तक यहां होगा कि यह त्यौहार असत्य पर सत्य की जीत अहिंसा पर हिंसा की विजय दर्शाता है बताया शक्ति का त्योहार है इस दिन हम लोग पत्थर पूजा भी करते हैं तथा इसी दिन भगवान राम लंका में रावण का वध करके सीता माता के साथ अयोध्या वापस आए थे इसलिए इस दिन हम लोग रावण का पुतला बनाकर उसका दहन भी करते हैं यह त्यौहार असत्य पर सत्य की जीत दर्शाता है धन्यवाद

namaskar aapka prashna yah hai ki aap dussehra kaise manate hain is tyohar ka aapke liye kamata hai toh aap kab tak yahan hoga ki yah tyohar asatya par satya ki jeet ahinsa par hinsa ki vijay darshata hai bataya shakti ka tyohar hai is din hum log patthar puja bhi karte hain tatha isi din bhagwan ram lanka me ravan ka vadh karke sita mata ke saath ayodhya wapas aaye the isliye is din hum log ravan ka putalaa banakar uska dahan bhi karte hain yah tyohar asatya par satya ki jeet darshata hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न यह है कि आप दशहरा कैसे मनाते हैं इस त्यौहार का आपके लिए कमाता है तो आप

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!