जब सड़क दुर्घटना होती है या लोग झगड़ रहे होते हैं तो अन्य लोग भीड़ लगा कर मदद करने के बजाय देखते रहते हैं- आपकी राय?...


play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

3:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि आजकल हमारे पास ऐसे ही व्हाट्सएप पर सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो देखते हैं जहां पर कोई घायल भरा पड़ा हुआ है या कोई लड़ाई वगैरह हो रही है या किसी से प्यार किया है और फिजिकली खान पहुंचा रहा है हानि पहुंचा रहा है तो उसकी वीडियो सम को देखते हैं तो यह सही बात नहीं है बजाय इसके क्या वीडियो बनाएं आपको तो यह देखना चाहिए कि अभी उस इंसान की साजिश की दुर्घटना हो गई है उसको मैं कैसे जल्दी से जल्दी राहत पहुंचा हूं तो सबसे पहले एक एग्जांपल लेते अगर मान लीजिए किसी की सड़के दुर्घटना हो गई है तो आप वहां पर खड़े होकर देखेंगे यहां को कुछ करना होगा सबसे पहले ही मिलेगी वहीं के वहीं आपको फॉर स्टेट देना पड़ेगा फर्स्ट एड देने का मतलब यह होता है कि मान लीजिए उसको गहरी चोट लगे माली के बहुत खून निकल रहा है तो आपको सबसे पहले वही पर उसको फोन उसका खून रोकना पड़ेगा क्योंकि अधिकतर लोग साले दुर्घटना में इसलिए मर जाते हैं क्योंकि उसके शरीर से बहुत ज्यादा खून निकाल एक इंसान के शरीर में करीब पांच साडे साडे 5 लीटर तक का कौन होता है और उसमें से अगर मान लीजिए 60% खोलने निकल जाता है तो उसके होने के चांसेस बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं इसीलिए अगर दुर्घटना होती तो सबसे पहले उसे फॉर स्टेट दीजिए और इमीडीएटली उसके बाद उसे हॉस्पिटल पहुंचाने का इंतजाम किए थे वीडियो वगैरह छोड़िए और दूसरी बात अगर मनीष इतनी मार पिटाई हो रही है ऐसा कुछ और है और कोई किसी पर हटा कर रहे हैं ऐसा कुछ और है तो वह वीडियो बनाएंगे आप सोचेंगे कि उसकी मदद कैसे करें तू सोच ले कि आप अकेले नहीं होते तो और भी लोग होते हैं बल्कि वहां पर भीड़ आ जाती हैं और यह भीड़ की भी यह हिम्मत नहीं होती कि वह जाकर उसी को रोका दे और रोक सके बड़ी विडंबना की बात है हां यह हो सकता है कि उनके हाथ में औजार हो वही रहोगे लेकिन फिर भी मेरे हिसाब से भीड़ में बहुत दम होता है और उसको वह चाहिए कि उस आदमी के जिसके पिटाई हो रही है उसको उसको बचा ले और एक तो ऐसा कुछ भी ना होने दें बजाय इसके कि वह वीडियो बनाए थे इलेक्शन 2013 उसको अस्पताल पहुंचाते हैं तो पुलिस के सो जाता है यह हो जाते हो जाते हम से पूछताछ की जाएगी वगैरा-वगैरा ऐसा कुछ भी नहीं है अब कुछ होता क्यों नहीं आ डेफिनिटी को याद से पूछेगा लेकिन आपको इसमें परेशान होने की जरूरत नहीं से कोई दिक्कत परेशानी की बात नहीं है क्योंकि आपने किसी की जान बचाई आशा दूसरी बात है जब किसी की मार पिटाई बगैरा से कुछ होती है तो आप दूसरों की सहायता से उसको रोकने की कोशिश कर सकते हैं देख सकते हैं कि आप इस तरीके से और वहां पर इंटरफेयर करके उसको और रुकवा दे इसका मतलब चोट खाते हैं और आप ही गायब हो जाए और काम करने बुद्धिमानी से काम करना चाहिए अगर आसपास पुलिस स्टेशन है तो उनको बुला लीजिए अगर प्रशासन एवं को जो भी आपको लगता है कि उनके चूहे किसी भी तरीके से आप इसको रोक सकते हैं तो आपको दर्शन के लिए प्रयास करना चाहिए रोकने का किसी भी चीज में होता है कि वह चीज अगर हो रही है सामने तो मोस्ट एप्रुपरिएट एक्शन क्या होना चाहिए हमारी तरफ से हमें वह कहना से कहीं पर भी मोस्ट एप्रुपरिएट एक्शन यह नहीं होता कि भैया उस समय एक वीडियो बनाएं उसका कोई फायदा नहीं है वहां पर किसी की जान जा रही है लाइफ एंड डेथ का सिचुएशन है वहां पर आप वीडियो बना रहे हैं तो यह कोई बुद्धिमानी नहीं है सोच कर देखिए आप किसी के घर परिवार को उजड़ने से बचा सकते हैं आपके पास यह मौका है आपको यह ऑफिस यूनिटी मिलती है तो मेरे हिसाब से अपनी पूरी जान लगा देनी चाहिए उस मौके में आए तो अपनी अपनी तरफ से पूरी पूरा सहयोग करने का

ki aajkal hamare paas aise hi whatsapp par social media par aise video dekhte hai jaha par koi ghayal bhara pada hua hai ya koi ladai vagera ho rahi hai ya kisi se pyar kiya hai aur physically khan pohcha raha hai hani pohcha raha hai toh uski video some ko dekhte hai toh yah sahi baat nahi hai bajay iske kya video banaye aapko toh yah dekhna chahiye ki abhi us insaan ki saajish ki durghatna ho gayi hai usko main kaise jaldi se jaldi rahat pohcha hoon toh sabse pehle ek example lete agar maan lijiye kisi ki sadake durghatna ho gayi hai toh aap wahan par khade hokar dekhenge yahan ko kuch karna hoga sabse pehle hi milegi wahi ke wahi aapko for state dena padega first aid dene ka matlab yah hota hai ki maan lijiye usko gehri chot lage maali ke bahut khoon nikal raha hai toh aapko sabse pehle wahi par usko phone uska khoon rokna padega kyonki adhiktar log saale durghatna mein isliye mar jaate hai kyonki uske sharir se bahut zyada khoon nikaal ek insaan ke sharir mein kareeb paanch saade saade 5 litre tak ka kaun hota hai aur usme se agar maan lijiye 60 kholne nikal jata hai toh uske hone ke chances bahut zyada badh jaate hai isliye agar durghatna hoti toh sabse pehle use for state dijiye aur imidietali uske baad use hospital pahunchane ka intajam kiye the video vagera chodiye aur dusri baat agar manish itni maar pitai ho rahi hai aisa kuch aur hai aur koi kisi par hata kar rahe hai aisa kuch aur hai toh vaah video banayenge aap sochenge ki uski madad kaise kare tu soch le ki aap akele nahi hote toh aur bhi log hote hai balki wahan par bheed aa jaati hai aur yah bheed ki bhi yah himmat nahi hoti ki vaah jaakar usi ko roka de aur rok sake baadi widambana ki baat hai haan yah ho sakta hai ki unke hath mein aujar ho wahi rahoge lekin phir bhi mere hisab se bheed mein bahut dum hota hai aur usko vaah chahiye ki us aadmi ke jiske pitai ho rahi hai usko usko bacha le aur ek toh aisa kuch bhi na hone de bajay iske ki vaah video banaye the election 2013 usko aspatal pahunchate hai toh police ke so jata hai yah ho jaate ho jaate hum se puchhtaach ki jayegi vagaira vagaira aisa kuch bhi nahi hai ab kuch hota kyon nahi aa definiti ko yaad se puchhega lekin aapko isme pareshan hone ki zarurat nahi se koi dikkat pareshani ki baat nahi hai kyonki aapne kisi ki jaan bachai asha dusri baat hai jab kisi ki maar pitai bagaira se kuch hoti hai toh aap dusro ki sahayta se usko rokne ki koshish kar sakte hai dekh sakte hai ki aap is tarike se aur wahan par intarafeyar karke usko aur rukvaa de iska matlab chot khate hai aur aap hi gayab ho jaaye aur kaam karne budhhimani se kaam karna chahiye agar aaspass police station hai toh unko bula lijiye agar prashasan evam ko jo bhi aapko lagta hai ki unke chuhe kisi bhi tarike se aap isko rok sakte hai toh aapko darshan ke liye prayas karna chahiye rokne ka kisi bhi cheez mein hota hai ki vaah cheez agar ho rahi hai saamne toh most eprupariet action kya hona chahiye hamari taraf se hamein vaah kehna se kahin par bhi most eprupariet action yah nahi hota ki bhaiya us samay ek video banaye uska koi fayda nahi hai wahan par kisi ki jaan ja rahi hai life and death ka situation hai wahan par aap video bana rahe hai toh yah koi budhhimani nahi hai soch kar dekhiye aap kisi ke ghar parivar ko ujadane se bacha sakte hai aapke paas yah mauka hai aapko yah office unity milti hai toh mere hisab se apni puri jaan laga deni chahiye us mauke mein aaye toh apni apni taraf se puri pura sahyog karne ka

कि आजकल हमारे पास ऐसे ही व्हाट्सएप पर सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो देखते हैं जहां पर कोई घायल

Romanized Version
Likes  577  Dislikes    views  8250
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब सड़क दुर्घटना होती है तो अन्य लोग भीड़ लगाकर मदद करने के बजाय देखते रहते हैं आपकी राय काफी लोग मैंने देखें और पूरा करवाने भी जाते हैं दोनों प्रकार के हैं देखने में मजा आता है

jab sadak durghatna hoti hai toh anya log bheed lagakar madad karne ke bajay dekhte rehte hain aapki rai kaafi log maine dekhen aur pura karwane bhi jaate hain dono prakar ke hain dekhne mein maza aata hai

जब सड़क दुर्घटना होती है तो अन्य लोग भीड़ लगाकर मदद करने के बजाय देखते रहते हैं आपकी राय क

Romanized Version
Likes  375  Dislikes    views  4560
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब वह सड़क दुर्घटना होती है या लोग झगड़ रहे होते हैं तो अन्य लोग भीड़ लगाकर मदद करने के बजाय देखते रहते हैं जी हां यह बहुत ही सही बात है कि लोग भी बचाव करने से कतराते हैं वह सोचते हैं कि पुलिस हमें भी परेशान करेगी ना नाक में कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ेंगे आपको गवाही देने जानी पड़ेगी इसलिए वह लोग बताओ से इसी तरह दुर्घटना के समय जो होता है तो वह लोग दुर्घटना में लोगों की मदद कभी कभी नहीं दिखते हैं लेकिन आजकल जागृति आ गई है क्योंकि सरकार ने कायदा बना दिया है कि दुर्घटना के समय अगर किसी को हॉस्पिटल पहुंचाया जाता है तो पहुंचाने वाले से कोई भी उसको परेशान नहीं करता है पुलिस डिपार्टमेंट और उसकी तरह ना करता है उसको ऐसे ही जाने दिया जाता है इसलिए अब लोग और हिम्मत दिखाने लगे हैं लेकिन कुछ लोग बच के निकल भी जाते हैं और आजकल नया ट्रेंड चला हुआ है कोई भी दुर्घटना जब होती है या कोई लोग झगड़ रहे होते हैं तो लोग तमाशबीन बनकर खड़े होते हैं और उसके बाद उसका सब लोग वीडियो उतार के दुर्घटना अगर एक हुई है तो लोग वीडियो बना रहे हो कि दुर्घटना के समय की जो हताहत हुए हैं जो लोगों करार हैदर से उसका वीडियो बनाते हैं बहुत ही मान्यता के लिए शर्मनाक बात है और इसे हमें अपनी मानसिकता को बदलने की जरूरत है हमें वीडियो बनाने के बजाय लोगों की मदद करनी चाहिए उस समय हम लोग को हम इंसान हैं हमारे साथ भी ऐसा हो सकता है हमारे साथ भी दुर्घटना घट सकती है हमारे साथ भी कुछ भी हो सकता है आज दूसरे के साथ हुआ है क्या कभी नहीं होगा अवश्य होता है कभी ना कभी हो जाता है तब दूसरे लोग वीडियो बनाएंगे और दूसरे लोग आपका बीच-बचाव नहीं करेंगे आप दुर्घटना कभी नहीं होंगे सच कोई बात नहीं है इसलिए हमें वीडियो बनाने से बचना चाहिए और मदद करनी चाहिए यही हमारा मानवता का धर्म है जो कि हम इंसान हैं अगर इंसान के इंसान काम नहीं आएगा तो कौन आएगा भारत में खड़ा हुआ अगर कोई पशु है तो क्या हुआ इंसान की मदद करेगा इसलिए हम इंसान इंसान को इंसानियत के धर्म के साथ हमें अवश्य मदद धन्यवाद

jab vaah sadak durghatna hoti hai ya log jhagad rahe hote hain toh anya log bheed lagakar madad karne ke bajay dekhte rehte hain ji haan yah bahut hi sahi baat hai ki log bhi bachav karne se katrate hain vaah sochte hain ki police hamein bhi pareshan karegi na nak mein court ke chakkar lagane padenge aapko gawaahi dene jani padegi isliye vaah log batao se isi tarah durghatna ke samay jo hota hai toh vaah log durghatna mein logo ki madad kabhi kabhi nahi dikhte hain lekin aajkal jagriti aa gayi hai kyonki sarkar ne kayada bana diya hai ki durghatna ke samay agar kisi ko hospital pahunchaya jata hai toh pahunchane waale se koi bhi usko pareshan nahi karta hai police department aur uski tarah na karta hai usko aise hi jaane diya jata hai isliye ab log aur himmat dikhane lage hain lekin kuch log bach ke nikal bhi jaate hain aur aajkal naya trend chala hua hai koi bhi durghatna jab hoti hai ya koi log jhagad rahe hote hain toh log tamashbin bankar khade hote hain aur uske baad uska sab log video utar ke durghatna agar ek hui hai toh log video bana rahe ho ki durghatna ke samay ki jo hatahat hue hain jo logo karar haider se uska video banate hain bahut hi manyata ke liye sharmnaak baat hai aur ise hamein apni mansikta ko badalne ki zarurat hai hamein video banne bajay logo ki madad karni chahiye us samay hum log ko hum insaan hain hamare saath bhi aisa ho sakta hai hamare saath bhi durghatna ghat sakti hai hamare saath bhi kuch bhi ho sakta hai aaj dusre ke saath hua hai kya kabhi nahi hoga avashya hota hai kabhi na kabhi ho jata hai tab dusre log video banayenge aur dusre log aapka beech bachav nahi karenge aap durghatna kabhi nahi honge sach koi baat nahi hai isliye hamein video banane se bachna chahiye aur madad karni chahiye yahi hamara manavta ka dharm hai jo ki hum insaan hain agar insaan ke insaan kaam nahi aayega toh kaun aayega bharat mein khada hua agar koi pashu hai toh kya hua insaan ki madad karega isliye hum insaan insaan ko insaniyat ke dharm ke saath hamein avashya madad dhanyavad

जब वह सड़क दुर्घटना होती है या लोग झगड़ रहे होते हैं तो अन्य लोग भीड़ लगाकर मदद करने के बज

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1389
WhatsApp_icon
user

Rasbihari Pandey

लेखन / कविता पाठ

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है आपको बहुत सारे लोग मदद के लिए भी उसमें आगे आते हैं अभी तो और भारत सरकार ने यह नियम बना दिया है कि अगर आप दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल में ले जाते हैं तो आपको परेशान नहीं किया जाएगा और दिल्ली के आम आदमी पार्टी सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कहा है कि दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति का सारा खर्चा सरकार स्वयं उठाएगी

aisa nahi hai aapko bahut saare log madad ke liye bhi usme aage aate hain abhi toh aur bharat sarkar ne yah niyam bana diya hai ki agar aap durgatanaagrast vyakti ko aspatal mein le jaate hain toh aapko pareshan nahi kiya jaega aur delhi ke aam aadmi party sarkar ke mukhyamantri arvind kejriwal ne bhi kaha hai ki durgatanaagrast vyakti ka saara kharcha sarkar swayam uthayegee

ऐसा नहीं है आपको बहुत सारे लोग मदद के लिए भी उसमें आगे आते हैं अभी तो और भारत सरकार ने यह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे सीधी बात यह है कि कोई भी व्यक्ति किसी और व्यक्ति से अपनी पर्सनल दुश्मनी नहीं लेना चाहता सबसे बड़ा कारण यह है जब भी वह देखता है किंतु पक्ष लड़ रहे हैं तो पहले तो से नहीं समझ कौन सही है कौन गलत है दूसरी बात यह है कि जब लड़ाई हो रही होती है तो उन्हें लगता है कि हम किसको समर्थन करें हम किसी एक को समर्थन करेंगे तो दूसरा व्यक्ति से शायद हमारी लड़ाई हम बहुत सामाजिक विक्की और देश में ऐसा होता रहता है कि जब सड़क पर कोई व्यक्ति झगड़ रहे हैं तो हम लोग उनको छुड़ाने की कोशिश करते हैं छोड़ने की कोशिश में ही कभी-कभी और लड़ाई पड़ जाती है इसीलिए हम को समझना चाहिए कि जब भी लोग झगड़ते हैं तो उनको साइड में होने की कोशिश करना चाहिए ट्रैफिक चालू करना चाहिए या पुलिस वालों की मेहंदी चाहिए सड़क दुर्घटना होती है तब हमें लगता है कि हां यह गलत है या महिला है तो उसको ध्यान रखना चाहिए उसकी मदद करनी चाहिए नियमों में बदलाव किया गया सरकार के द्वारा एक्सीडेंट करने की एक्सीडेंट हो जाने के बाद अगर आप किसी मरीज को लेकर पहुंचते दोस्त के लिए आप को रोक नहीं रखना पड़ेगा ना ही आपको इसी तरह की पूछताछ की जाएगी पहले इस तरह के नियम काफी देरी से लोग मदद करने से बचते थे लेकिन अभी नहीं वहां परिवर्तन आ गया है तो मुझे लगता है कि मदद करनी चाहिए हम भी बहुत करते हैं आपकी मर्जी सभी लोग बात करेंगे समाज एक अच्छी तरह चिड़ा राशि की तरफ आगे बढ़ेगा बहुत-बहुत धन्यवाद

sabse seedhi baat yah hai ki koi bhi vyakti kisi aur vyakti se apni personal dushmani nahi lena chahta sabse bada karan yah hai jab bhi vaah dekhta hai kintu paksh lad rahe hain toh pehle toh se nahi samajh kaun sahi hai kaun galat hai dusri baat yah hai ki jab ladai ho rahi hoti hai toh unhe lagta hai ki hum kisko samarthan kare hum kisi ek ko samarthan karenge toh doosra vyakti se shayad hamari ladai hum bahut samajik vicky aur desh mein aisa hota rehta hai ki jab sadak par koi vyakti jhagad rahe hain toh hum log unko chudane ki koshish karte hain chodne ki koshish mein hi kabhi kabhi aur ladai pad jaati hai isliye hum ko samajhna chahiye ki jab bhi log jhagadate hain toh unko side mein hone ki koshish karna chahiye traffic chaalu karna chahiye ya police walon ki mehendi chahiye sadak durghatna hoti hai tab hamein lagta hai ki haan yah galat hai ya mahila hai toh usko dhyan rakhna chahiye uski madad karni chahiye niyamon mein badlav kiya gaya sarkar ke dwara accident karne ki accident ho jaane ke baad agar aap kisi marij ko lekar pahunchate dost ke liye aap ko rok nahi rakhna padega na hi aapko isi tarah ki puchhtaach ki jayegi pehle is tarah ke niyam kaafi deri se log madad karne se bachte the lekin abhi nahi wahan parivartan aa gaya hai toh mujhe lagta hai ki madad karni chahiye hum bhi bahut karte hain aapki marji sabhi log baat karenge samaj ek achi tarah chida rashi ki taraf aage badhega bahut bahut dhanyavad

सबसे सीधी बात यह है कि कोई भी व्यक्ति किसी और व्यक्ति से अपनी पर्सनल दुश्मनी नहीं लेना चाह

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  876
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!