IAS, IFS, IRS और IPS अधिकारियों के लिए एक ही परीक्षा (UPSC) क्यों होती है?...


play
user

Smita Patne

Founder, PBI INSTITUTE NAGPUR

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आई एस आई एस एफ आई आर एस और आईपीएस ऑफिसर के लिए जो एग्जाम होती है यह इस एग्जाम की जो रिलीज हुई है वह तो ग्रेजुएशन है दूसरी बात यहां पे जो पूछती आप अप्लाई करने वाले हो यह सारी पोस्ट एक ही लेवल की है और सेकंड सिंह जो एग्जाम कंडक्ट हो रही है वह यूपीएससी द्वारा ही कंडक्ट होती है इसी वजह से इनसे लिए एक ही एग्जाम कंडक्ट की जाती है

I s I s f I rss s aur ips officer ke liye jo exam hoti hai yah is exam ki jo release hui hai vaah toh graduation hai dusri baat yahan pe jo puchti aap apply karne waale ho yah saree post ek hi level ki hai aur second Singh jo exam conduct ho rahi hai vaah upsc dwara hi conduct hoti hai isi wajah se inse liye ek hi exam conduct ki jaati hai

आई एस आई एस एफ आई आर एस और आईपीएस ऑफिसर के लिए जो एग्जाम होती है यह इस एग्जाम की जो रिलीज

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  1943
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

5:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि कीजिए जो प्रश्न आप पर है क्या यह सही है पैसा या 10 आईपीएस अधिकारियों के लिए की परीक्षा क्यों होती है तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि यह जितनी भी सेवाएं हैं यह ऊपर से भले आपको अलग दिखाई दे लेकिन यह एक इंटीग्रेटेड एक्शन एक संबंधित भारत की सेवाएं हैं क्योंकि यह सारी सेवाएं कहीं न कहीं भारत को भारत के अपने आदर्श को भारत के जो एक जनतांत्रिक मारकर जोगन तांत्रिक समाजवादी और जो एक मुख्य है उसको मजबूत करने का प्रयास करते हैं उतने पर जो आपके प्रेम बल में लिखा हुआ है इन तमाम मूल्यों को इन सेवाओं के द्वारा परिपूर्ति की जाती है प्रशासन के द्वारा प्रकृति की जाती है और इसी अनुरूप हमारे नेतागण विधानसभा में लोकसभा में अपनी नीतियों को बनाते हैं और नीतियों के कारण इनके जिम्मे होता है अब प्रशासन के बहुत सारे पहलू हैं प्रशासन में आप तो आप कहीं पर शक्ति की आवश्यकता होती है कहीं पर आपको अभी काश की आवश्यकता होती है कई बार आप भी खास करेंगे तभी तो कोई किसी या कोई उद्योग लगाएंगे तो किसी के लिए विकास क्या हो सकता है तो विकास कर्मचारी आपको उपलब्ध है और विकास जब हो जाएगा तो उससे जो आय प्राप्त होगी उस आई का थोड़ा सा हिस्सा सरकार को चाहिए तो सरकार को गुस्सा वह प्राप्त करने के लिए हमारे अधिकारी होंगे किसी भी क्षेत्र का हो किसी भी तरीके से संबंधित हों तो इसी प्रकार से गम देश को चलाने के लिए हमको तमाम प्रकार के पैसों की आवश्यकता होती है तमाम विभागों की आवश्यकता होती इन विभागों पर बैठकर जो हमारे जॉब सेल्स ऑफिसर हैं वह यूपीएससी के द्वारा चुने जाते हैं उनका यह मकसद होता है कि जब हमने एक सामान्य कार्य को कर रहे होते उनको दिए गए कार्य उसके सबसे अधिक देश हित का काम भी है जो समन्वित रूप से उनके सामने आता है इसलिए यूपीएससी की सेवा यूपीएससी सिर्फ सब तभी सभी पदों के लिए से पिक्सर्त परीक्षा ही नहीं रहती बल्कि आगे जवाब जाते हैं प्रशासनिक कार्यों को अंजाम देते हैं और समस्याओं पर प्राप्त होने वाले प्रशिक्षण नहीं आप की पोस्टिंग को देखते हैं तो आप देखेंगे एक ही ऑफिसर जो हैं व्हो आईएस ऑफिसर कभी गृह मंत्रालय में जाकर जो पुलिस संबंधित कार्य को करते हैं कभी हमारे पुलिस सेवा के जो ऑफिसर से हैं वह और कभी जाकर कनाडा के हाई कमीशंस में जाकर आपकी सेवा को प्रदान करते हैं कभी उनकी जेब तो उनका ही सही है लेकिन वह कभी-कभी अन्य प्रशासनिक विकास कार्यों में भी शामिल हो जाते हैं कभी किसी मंत्री के साथ हुए टैटू जाते हैं कभी किसी विशेष मिशन में चले जाते हैं तो वह कभी जब आयकर अधिकारियों को आप देखेंगे आईडी अधिकारियों को आप देखेंगे वह अधिकारी जो है वह किसी विशेष मिशन में आईपीएस की रोल अदा करते कई आयुष किलो लता करते हैं तो यह सारी जोशी ने वह यह दिखाता है कि यह सभी जितने भी हमारे अधिकारीगण हैं उनका जो लक्ष्य है वह जो ऊपर का लक्ष्य वह तो अपनी ही पार्टी पाक पेंट के अनुरूप उनका कार्य करना है लेकिन जो उनका विशेष लक्ष्य इस देश को ऊपर उठाना है और उसके लिए उनको रजिस्टर भी लाना है उनके लियोन को और गति को एकता और अनुशासन में भी रखना है इसके लिए उनको विकास का कार्य भी करना है कि यह तमाम प्रकार के गुण होने चाहिए यूपीएससी की परीक्षा लेती है जिससे कि यह तमाम प्रकार के व्यक्तित्व में कहीं ना कहीं नजर आ जाए और बात के वर्षों में संबंधित तैयार संबंधित प्रशिक्षण देकर उनको और निकाला जाता है यही एक वजह है कि यूपीएससी सभी परीक्षाओं सभी तरह के जो हमारे चुने चुने जाने वाले ऑफिसर से उनकी परीक्षा सम्मानित रूप से लेती है जहां तक आप देखते हैं कि आई एफ एस इंडियन फॉरेस्ट सर्विस इन ए फॉरेस्ट सर्विस में जाहिर सी बात है कि आपको से समाज से लेना देना कम है आपको जलवायु से आपको जलवायु परिवर्तन से प्रदूषण से पर्यावरण से और जानवरों से और वह जो हमारा इकोसिस्टम है उस से ले लेना है साइंस के विद्यार्थियों को विशेष रूप से वहां पर एंट्री मिलती है और साथ में आप क्योंकि समाज के उससे क्योंकि जानवरों के साथ या जो हमारे पशु पक्षी हैं उनके साथ जमा समाज का वह मुद्दा एक कल्चरल मुद्दा ना होकर एक कर आजा वैज्ञानिक माताजी वैज्ञानिक मुद्दा या आपसे कह लीजिए कि वह पारिस्थितिकी मुद्दा ज्यादा है इसलिए इस तरह का कुछ तो हम यूपीएससी के माध्यम से उनकी ट्रेनिंग कुछ अलग प्रकार की होती है ऐसे नहीं होती किसी प्रकार से या सैन्य अधिकारियों को अगर आप देखेंगे तो सेंड अधिकारियों की ट्रेनिंग है कि वह समाज को बिल्कुल देश की रक्षा के लिए विशेष रूप से नियुक्त किए जाते हैं उनकी जो ट्रेनिंग होती है वह सामरिक महत्व की ज्यादा होती है और सामाजिक महत्व की कम होती है तो उसी इसी वजह से उनकी ट्रेनिंग उनके सिलेक्शन भी यूपीएससी अलग रूप से करती है हालांकि उनकी टेबल पर नियुक्ति यूपीएससी करें जिम्मा है लेकिन वह बिल्कुल अलग तरीके से की जाती है उसके लिए अलग प्रकार प्रशिक्षण अलग प्रकार के पूरी की पूरी टीम वर्क है तो जाहिर सी बात है कि जय महिंद्र सर्विस हो तो वहीं इसकी भी प्रकार की उनका विकास से लेना देना है लेकिन स्ट्रक्चर विकास देश का तो इसके लिए भीड़ में अलग से चिकित्सा की जहां तक बात है और डॉक्टरों की नियुक्ति भी यूपीसी करती है वह वाला परीक्षा के द्वारा करती है लेकिन यह जो परीक्षा आपने पूछा है यह सारी परीक्षाएं इंटीग्रेटेड होल का हिस्सा है इसलिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के अंतर्गत उनकी समन्वित रूप से सम्मिलित रूप से परीक्षा ली जाती है और आदमी के व्यक्तित्व का पता कहता है कि आखिर मिलन विकास के विभिन्न कार्यों में किस प्रकार अपनी योगदान को दे सकते हैं उनको चुन कर संबंधित प्रशिक्षण देते हैं

ki kijiye jo prashna aap par hai kya yah sahi hai paisa ya 10 ips adhikaariyo ke liye ki pariksha kyon hoti hai toh main aapko bataana chahunga ki yah jitni bhi sevayen hain yah upar se bhale aapko alag dikhai de lekin yah ek integrated action ek sambandhit bharat ki sevayen hain kyonki yah saree sevayen kahin na kahin bharat ko bharat ke apne adarsh ko bharat ke jo ek janatantrik marakar jogan tantrika samajwadi aur jo ek mukhya hai usko mazboot karne ka prayas karte hain utne par jo aapke prem bal mein likha hua hai in tamaam mulyon ko in sewaon ke dwara paripurti ki jaati hai prashasan ke dwara prakriti ki jaati hai aur isi anurup hamare netagan vidhan sabha mein lok sabha mein apni nitiyon ko banate hain aur nitiyon ke karan inke jimme hota hai ab prashasan ke bahut saare pahaloo hain prashasan mein aap toh aap kahin par shakti ki avashyakta hoti hai kahin par aapko abhi kash ki avashyakta hoti hai kai baar aap bhi khas karenge tabhi toh koi kisi ya koi udyog lgaenge toh kisi ke liye vikas kya ho sakta hai toh vikas karmchari aapko uplabdh hai aur vikas jab ho jaega toh usse jo aay prapt hogi us I ka thoda sa hissa sarkar ko chahiye toh sarkar ko gussa vaah prapt karne ke liye hamare adhikari honge kisi bhi kshetra ka ho kisi bhi tarike se sambandhit hon toh isi prakar se gum desh ko chalane ke liye hamko tamaam prakar ke paison ki avashyakta hoti hai tamaam vibhagon ki avashyakta hoti in vibhagon par baithkar jo hamare job sales officer hain vaah upsc ke dwara chune jaate hain unka yah maksad hota hai ki jab humne ek samanya karya ko kar rahe hote unko diye gaye karya uske sabse adhik desh hit ka kaam bhi hai jo samanvit roop se unke saamne aata hai isliye upsc ki seva upsc sirf sab tabhi sabhi padon ke liye se piksart pariksha hi nahi rehti balki aage jawab jaate hain prashaasnik kaaryon ko anjaam dete hain aur samasyaon par prapt hone waale prashikshan nahi aap ki posting ko dekhte hain toh aap dekhenge ek hi officer jo hain vo ias officer kabhi grah mantralay mein jaakar jo police sambandhit karya ko karte hain kabhi hamare police seva ke jo officer se hain vaah aur kabhi jaakar canada ke high kamishans mein jaakar aapki seva ko pradan karte hain kabhi unki jeb toh unka hi sahi hai lekin vaah kabhi kabhi anya prashaasnik vikas kaaryon mein bhi shaamil ho jaate hain kabhi kisi mantri ke saath hue tattoo jaate hain kabhi kisi vishesh mission mein chale jaate hain toh vaah kabhi jab aaykar adhikaariyo ko aap dekhenge id adhikaariyo ko aap dekhenge vaah adhikari jo hai vaah kisi vishesh mission mein ips ki roll ada karte kai aayush kilo lata karte hain toh yah saree joshi ne vaah yah dikhaata hai ki yah sabhi jitne bhi hamare adhikarigan hain unka jo lakshya hai vaah jo upar ka lakshya vaah toh apni hi party pak paint ke anurup unka karya karna hai lekin jo unka vishesh lakshya is desh ko upar uthaana hai aur uske liye unko register bhi lana hai unke leone ko aur gati ko ekta aur anushasan mein bhi rakhna hai iske liye unko vikas ka karya bhi karna hai ki yah tamaam prakar ke gun hone chahiye upsc ki pariksha leti hai jisse ki yah tamaam prakar ke vyaktitva mein kahin na kahin nazar aa jaaye aur baat ke varshon mein sambandhit taiyar sambandhit prashikshan dekar unko aur nikaala jata hai yahi ek wajah hai ki upsc sabhi parikshao sabhi tarah ke jo hamare chune chune jaane waale officer se unki pariksha sammanit roop se leti hai jahan tak aap dekhte hain ki I f s indian forrest service in a forrest service mein jaahir si baat hai ki aapko se samaaj se lena dena kam hai aapko jalvayu se aapko jalvayu parivartan se pradushan se paryaavaran se aur jaanvaro se aur vaah jo hamara ecosystem hai us se le lena hai science ke vidyarthiyon ko vishesh roop se wahan par entry milti hai aur saath mein aap kyonki samaaj ke usse kyonki jaanvaro ke saath ya jo hamare pashu pakshi hain unke saath jama samaaj ka vaah mudda ek cultural mudda na hokar ek kar aajad vaigyanik mataji vaigyanik mudda ya aapse keh lijiye ki vaah paristhitikee mudda zyada hai isliye is tarah ka kuch toh hum upsc ke madhyam se unki training kuch alag prakar ki hoti hai aise nahi hoti kisi prakar se ya sainya adhikaariyo ko agar aap dekhenge toh send adhikaariyo ki training hai ki vaah samaaj ko bilkul desh ki raksha ke liye vishesh roop se niyukt kiye jaate hain unki jo training hoti hai vaah samarik mahatva ki zyada hoti hai aur samajik mahatva ki kam hoti hai toh usi isi wajah se unki training unke selection bhi upsc alag roop se karti hai halanki unki table par niyukti upsc karen jimma hai lekin vaah bilkul alag tarike se ki jaati hai uske liye alag prakar prashikshan alag prakar ke puri ki puri team work hai toh jaahir si baat hai ki jai mahindra service ho toh wahin iski bhi prakar ki unka vikas se lena dena hai lekin structure vikas desh ka toh iske liye bheed mein alag se chikitsa ki jahan tak baat hai aur doctoron ki niyukti bhi UPC karti hai vaah vala pariksha ke dwara karti hai lekin yah jo pariksha aapne poocha hai yah saree parikshaen integrated hole ka hissa hai isliye bharatiya prashaasnik seva ke antargat unki samanvit roop se smmilit roop se pariksha li jaati hai aur aadmi ke vyaktitva ka pata kahata hai ki aakhir milan vikas ke vibhinn kaaryon mein kis prakar apni yogdan ko de sakte hain unko chun kar sambandhit prashikshan dete hain

कि कीजिए जो प्रश्न आप पर है क्या यह सही है पैसा या 10 आईपीएस अधिकारियों के लिए की परीक्षा

Romanized Version
Likes  140  Dislikes    views  2799
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इन सबके लिए परीक्षा तो एक होती मगर यह क्वेश्चन और पेपर वह थोड़े अलग अलग हटकर बनाए जाते हैं जो सबसे हार्ड क्वेश्चन पेपर आता है वह इसका जिसमें ऑल वर्ल्ड क्विज क्वेश्चन पूछा जाता है उसकी पीढ़ी के अंदर या आप मैच में देना तो उसका जब मेंस एग्जाम होगा वह भी इतना हर्ट होगा क्या पकड़ जब तक पूरी मेहनत से पढ़कर नहीं समझती आपके पास मिल पाएंगे

in sabke liye pariksha toh ek hoti magar yah question aur paper vaah thode alag alag hatakar banaye jaate hain jo sabse hard question paper aata hai vaah iska jisme all world Quiz question poocha jata hai uski peedhi ke andar ya aap match mein dena toh uska jab mains exam hoga vaah bhi itna heart hoga kya pakad jab tak puri mehnat se padhakar nahi samajhti aapke paas mil payenge

इन सबके लिए परीक्षा तो एक होती मगर यह क्वेश्चन और पेपर वह थोड़े अलग अलग हटकर बनाए जाते हैं

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  672
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि यह एग्जामिनेशन एग्जाम है और यह पोस्ट क्लास वन पोस्ट कहो है

kyonki yah examination exam hai aur yah post class van post kaho hai

क्योंकि यह एग्जामिनेशन एग्जाम है और यह पोस्ट क्लास वन पोस्ट कहो है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!