IPS / IRS की तुलना में भारतीय वन सेवा को निम्न सेवा क्यों माना जाता है?...


play
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

3:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने पूछा कि आईपीएस और आईआरएस की तुलना में भारतीय वन सेवा है सबसे पहले तो मैं आपको क्लियर करना चाहूंगा ऐसे कोई सर्विस न्यूनतम देसी ऐसे कोई मानने का जो धरना है बिल्कुल गलत है इस तर्क को भी सोचना नहीं चाहिए भारत सरकार द्वारा पार्लिमेंट का कमेंट बनाकर सर्विस क्रिएट किया जाता है जिसमें तीनों ऑल इंडिया सर्विस होती है पुलिस और बाकी सेंट्रल सर्विसेज होती है जिसमें 1820 प्रकार का क्लास वन सर्विस आ जाते इंडियन फॉरेन सर्विस सर्विस से इंडियन कस्टम सर्विसेज इसको कभी सीएससीसर्विस बोला जाता है अकाउंट सेविंग रेलवे सर्विसेज उसमें सभी से रेलवे अकाउंट सर्विस से रेलवे ट्रैफिक सभी से रेलवे पर्सनल सर्विस इंडियन डिफेंस अकाउंट्स अभी से इंडियन डिफेंस इस्टेट सर्विस सेंटर तो मैंने बताया तीनों ऑल इंडिया सोशल मीडिया संस्थानों का पे स्केल से में को कैसे एक दूसरे से निर्णय होगा वरना मुझे भी समझ में नहीं आ रहा है और जानते हो क्या यार ऐसे और भी सिविल सर्विसेज ऑल इंडिया सैनी से दोनों में कंपैरिजन कोई करने का भी जरूरी नहीं है तीनों अलग-अलग सर्विस से तीनों काला काला करे कतरे तीनों का अलग-अलग इंडियन पुलिस के अनुसार काम होता है उनका लौंडे को मेंटेन करने में जिला प्रशासन को हेल्प करना और उनके साथ पुलिस पोस्ट होती है इसका इंडियन फॉरेस्ट ऑफिसर का रोल रहता है कि आपके जो वन संपदा है जो पैसे से नेचुरल रिसोर्स हमारे पास उसके कस्टोडियन धूप में उसके प्रदर्शन करना है उसको विकास करना और आपके पर्यावरण सरंक्षण के काम में ध्यान देना और उसके सांसद बनने पानी को रखरखाव करना बचाना बचाना उनको और ब्लैक फॉरेस्ट केक और कंजूस राकेश को पालन करना उनके पास फर्स्टोस्पोर्ट्स होती है फर्स्ट क्लास टॉपर्स होती है सरकार का उसको सही करना सरासर गलत है उसमें कोई बहस नहीं है इट्स टोटली बेसलेस आपका जो अंतिम संस्कार पर आप जो भी सजा सकते हो कई बार इंडियन फॉरेन सर्विस जबकि सबसे ऊपर माना जाता था कुछ साल पहले अभी फॉरेन सर्विस बहुत सारे नीचे जो मेरठ में आते हो उसका ऑप्शन देते हैं कुछ आपके आईपीएस को पीछे रहते हैं यार इसको आगे देते हैं कोई रेलवे चकवा देते थे वह दिन आप उसको जरूर यह बात सही है कि नहीं चाहता है क्योंकि यह मुख्यधारा में जो कि प्रशासन की रोशनी बढ़ाए तेरे को किसी भी डिपार्टमेंट में हो जा सकते हैं और ब्रेड से लेकर भारत का उत्सव इसको सभी का नंबर वन चहते बाकी सभी सर्विस जो है बिल्कुल बराबर है उसमें कोई भी अंतर नहीं है आपके जहां पर चाहे से आपका मेरठ के अनुसार जा सकते धन्यवाद

namaskar aapne poocha ki ips aur IRS ki tulna mein bharatiya van seva hai sabse pehle toh main aapko clear karna chahunga aise koi service ninuntam desi aise koi manne ka jo dharna hai bilkul galat hai is tark ko bhi sochna nahi chahiye bharat sarkar dwara Parliament ka comment banakar service create kiya jata hai jisme tatvo all india service hoti hai police aur baki central services hoti hai jisme 1820 prakar ka kashi van service aa jaate indian foreign service service se indian custom services isko kabhi siesasisarvis bola jata hai account saving railway services usme sabhi se railway account service se railway traffic sabhi se railway personal service indian defence accounts abhi se indian defence estate service center toh maine bataya tatvo all india social media sansthano ka pe scale se mein ko kaise ek dusre se nirnay hoga varna mujhe bhi samajh mein nahi aa raha hai aur jante ho kya yaar aise aur bhi civil services all india saini se dono mein kampairijan koi karne ka bhi zaroori nahi hai tatvo alag alag service se tatvo kaala kaala kare katare tatvo ka alag alag indian police ke anusaar kaam hota hai unka launde ko maintain karne mein jila prashasan ko help karna aur unke saath police post hoti hai iska indian forest officer ka roll rehta hai ki aapke jo van sampada hai jo paise se natural resource hamare paas uske custodian dhoop mein uske pradarshan karna hai usko vikas karna aur aapke paryavaran sanrakshan ke kaam mein dhyan dena aur uske saansad banne paani ko rakharakhav karna bachaana bachaana unko aur black forest cake aur kanjus rakesh ko palan karna unke paas farstosports hoti hai first kashi toppers hoti hai sarkar ka usko sahi karna sarasar galat hai usme koi bahas nahi hai its totally baseless aapka jo antim sanskar par aap jo bhi saza sakte ho kai baar indian foreign service jabki sabse upar mana jata tha kuch saal pehle abhi foreign service bahut saare niche jo meerut mein aate ho uska option dete hai kuch aapke ips ko peeche rehte hai yaar isko aage dete hai koi railway chakava dete the vaah din aap usko zaroor yah baat sahi hai ki nahi chahta hai kyonki yah mukhyadhara mein jo ki prashasan ki roshni badhae tere ko kisi bhi department mein ho ja sakte hai aur bread se lekar bharat ka utsav isko sabhi ka number van chahate baki sabhi service jo hai bilkul barabar hai usme koi bhi antar nahi hai aapke jaha par chahen se aapka meerut ke anusaar ja sakte dhanyavad

नमस्कार आपने पूछा कि आईपीएस और आईआरएस की तुलना में भारतीय वन सेवा है सबसे पहले तो मैं आपको

Romanized Version
Likes  378  Dislikes    views  3830
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!