क्या आपको लगता है अब्दुल्ला परिवार के साथ कश्मीर में सही बर्ताव हुआ या नहीं?...


user

Minhaj Ahmed

Journalist

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब्दुल्ला परिवार के लोग वहां के साथ गलत हुआ है कि पहले अब्दुल्ला फैमिली ही के लोगों ने कश्मीर को हिंदुस्तान के साथ मिलाया था अब्दुल्ला फैमिली वह भी इंसान हैं इस मुल्क के शहरी हैं एमपी हैं वह इंसानों वाला शुरू के साथ तालों में बंद कर दे कोई आत्मा शुद्ध होता है

abdullah parivar ke log wahan ke saath galat hua hai ki pehle abdullah family hi ke logo ne kashmir ko Hindustan ke saath milaya tha abdullah family vaah bhi insaan hain is mulk ke shahri hain mp hain vaah insano vala shuru ke saath taalon mein band kar de koi aatma shudh hota hai

अब्दुल्ला परिवार के लोग वहां के साथ गलत हुआ है कि पहले अब्दुल्ला फैमिली ही के लोगों ने कश्

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  865
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसे कि आज की चर्चा का विषय है क्या आपको लगता है कि अब्दुल्ला परिवार के साथ कश्मीर में सही बढ़ता हुआ है या नहीं है तक बताना चाहेंगे कि पर्सनल ओपिनियन की अगर बात करें तो मुझे तो सही लगता है क्योंकि जिस तरह से इनकी हुकूमत रही है इतने सालों तक पहले इनके बाप दादों से लेकर अब तक जो इनके बारे में अकूत संपत्ति कट्टी हो गई है इन्होंने कश्मीरियों के लिए कुछ नहीं किया यह सिर्फ उसका एक प्रकांड अच्छा बना कर चलाते रहें अपने खुद के बच्चे इनके बाहर पढ़ते हैं विदेश में जाकर पढ़ते हैं जो एक लाइफस्टाइल दूसरे लोगों का होता है वही इन्होंने अपने बच्चों को दिया है और पहनावा देखिए कुछ भी देखिए वह सारी चीजें इनकी बिल्कुल ही अलग है जुदा है जो इनकी सोच है जो इन्होंने अपने बच्चों को दी है उसके कंपेयर करिए और जो इन्होंने जूस कश्मीरियों को दी है उसमें कंपेयर करिए तो जमीन आसमान का फर्क है फिर चाहे सिर्फ अब्दुल्ला परिवार हो या फिर अलगाववादी नेता हूं उन सब की जो सोच है वह दोगली रही है कश्मीरियों के लग रही है और अपने लिए अलग रही है और अल्टीमेटली सबने अपने-अपने लिए पैसे कमाए हैं नोट छापे हैं उन्होंने तस्वीरों के लिए जो काम करना चाहिए था उस हिसाब से एक परसेंट भी नहीं किया है तो जवाब उनके साथ बढ़ता हो रहा है वह उसी के लायक है धन्यवाद

dekhe jaise ki aaj ki charcha ka vishay hai kya aapko lagta hai ki abdullah parivar ke saath kashmir mein sahi badhta hua hai ya nahi hai tak bataana chahenge ki personal opinion ki agar baat kare toh mujhe toh sahi lagta hai kyonki jis tarah se inki hukumat rahi hai itne salon tak pehle inke baap dadon se lekar ab tak jo inke bare mein akut sampatti kethi ho gayi hai inhone kashmiriyon ke liye kuch nahi kiya yah sirf uska ek prakaand accha bana kar chalte rahein apne khud ke bacche inke bahar padhte hain videsh mein jaakar padhte hain jo ek lifestyle dusre logo ka hota hai wahi inhone apne baccho ko diya hai aur pahanava dekhiye kuch bhi dekhiye vaah saree cheezen inki bilkul hi alag hai juda hai jo inki soch hai jo inhone apne baccho ko di hai uske compare kariye aur jo inhone juice kashmiriyon ko di hai usme compare kariye toh jameen aasman ka fark hai phir chahen sirf abdullah parivar ho ya phir alagaavavaadee neta hoon un sab ki jo soch hai vaah dogli rahi hai kashmiriyon ke lag rahi hai aur apne liye alag rahi hai aur altimetli sabane apne apne liye paise kamaye hain note chaape hain unhone tasviron ke liye jo kaam karna chahiye tha us hisab se ek percent bhi nahi kiya hai toh jawab unke saath badhta ho raha hai vaah usi ke layak hai dhanyavad

देखे जैसे कि आज की चर्चा का विषय है क्या आपको लगता है कि अब्दुल्ला परिवार के साथ कश्मीर मे

Romanized Version
Likes  430  Dislikes    views  5503
WhatsApp_icon
play
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सही बर्ताव हो रहा है यह बर्ताव साल 70 साल पहले होना चाहिए था यह लोग केवल और केवल लुटेरे हैं चोली में इनको देश से कोई मतलब नहीं है ना मुस्लिमों से मतलब है ना हिंदुओं से मतलब है कि लुटेरे हैं और लुटेरे के साथ जो व्यवहार होना चाहिए अभी भी कम हो रहा है ठीक है धन्यवाद

bilkul sahi bartaav ho raha hai yah bartaav saal 70 saal pehle hona chahiye tha yah log keval aur keval lutere hain choli mein inko desh se koi matlab nahi hai na muslimo se matlab hai na hinduon se matlab hai ki lutere hain aur lutere ke saath jo vyavhar hona chahiye abhi bhi kam ho raha hai theek hai dhanyavad

बिल्कुल सही बर्ताव हो रहा है यह बर्ताव साल 70 साल पहले होना चाहिए था यह लोग केवल और केवल ल

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  2540
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

2:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कश्मीर में चाहे अब्दुल्ला परिवार हो या भारत के किसी और कोने में कोई दूसरा परिवार जो भी बढ़ता हुआ है यह बिल्कुल भी गलत हुआ है गलत इसलिए हुआ है क्योंकि संविधान के अनुसार हम सभी जानते हैं कि किसी भी मानव भारत में किसी भी इंसान के अधिकारों का हनन करना अधिकारों को छीनने मारना और यह बहुत ही गलत है इसमें संविधान भी इस बात की जो है मानने के लिए तैयार नहीं है इस बात की गवाही नहीं रहता और ठीक है आप कुछ लोग सोचते हैं कि अब्दुल्ला परिवार के साथ में जो भी हुआ कश्मीर में एकदम सही हुआ है आप सूची ठीक अब्दुल्ला परिवार के साथ में कश्मीर में हुआ सही हुआ यदि यही बात किसी दूसरी प्रदेश में जो है किसी और परिवार के साथ में हो जाए या किसी एक प्रश्न व्यक्ति के साथ में हो जाए तो सोचिए कितना खराब हो गया कि ना पूरा होगा जैसे कि मैं उदाहरण देख कर आपको समझाता हूं कि एक बार आई एम अभी हाल ही में मामला उठा था कि आसिफा रेप कांड के बारे में हम सभी जानते हम सभी ने सुना भी था कितना ज्यादा हो-हल्ला इस पर मचा था तो उसमें पूरे भारत की जनता ने आक्रोश जताया था और अपनी जो है दुख को जताया था इसी तरीके से अनन्या केस हुआ था या रेप केस हुआ था उसमें भी पूरे भारत की जनता ने रोष दिखाया था और जो है पूरी द भारत की जनता ने उसको मानवीय प्रवृत्ति यह मानो कि जो है नीच सोच को के खिलाफ आवाज उठाई थी यह दो ऐसे उदाहरण है जिसके वह समझा सकता हूं कि गलत काम गलत सोच किसी भी व्यक्ति के साथ करना है चाहे वह मुस्लिम हो या हिंदू हो या किसी भी वर्ग का हो हकीकत में संविधान के खिलाफ है मालवीय मानवता के खिलाफ यहां पर अब्दुल्ला परिवार कश्मीर में ठीक है मुस्लिम है तो कुछ लोग यह सोचते हैं बिल्कुल सही हुआ उनके साथ मानवता के अनुसार गलत होगा लेकिन फिर भी कुछ लोग कह रहे हैं कि इससे यह मानवीय प्रवृत्ति यह गलत है तो यह एकदम संविधान का खून का ना हुआ भारत के नियम उसूलों का खून करना हुआ भारत की सभ्यता का भारत की परंपरा का खून करने जैसा है क्योंकि उन अब्दुल्ला परिवार के क्या कश्मीर के अब्दुल्ला परिवार जैसे जितने भी नेता हैं वहां की जनता हम को घरों में कैद करके रखना एक कानूनी जुर्म है तो यही गलत हुआ थैंक यू

dekhiye kashmir mein chahen abdullah parivar ho ya bharat ke kisi aur kone mein koi doosra parivar jo bhi badhta hua hai yah bilkul bhi galat hua hai galat isliye hua hai kyonki samvidhan ke anusaar hum sabhi jante hain ki kisi bhi manav bharat mein kisi bhi insaan ke adhikaaro ka hanan karna adhikaaro ko chhinne marna aur yah bahut hi galat hai isme samvidhan bhi is baat ki jo hai manne ke liye taiyar nahi hai is baat ki gawaahi nahi rehta aur theek hai aap kuch log sochte hain ki abdullah parivar ke saath mein jo bhi hua kashmir mein ekdam sahi hua hai aap suchi theek abdullah parivar ke saath mein kashmir mein hua sahi hua yadi yahi baat kisi dusri pradesh mein jo hai kisi aur parivar ke saath mein ho jaaye ya kisi ek prashna vyakti ke saath mein ho jaaye toh sochiye kitna kharab ho gaya ki na pura hoga jaise ki main udaharan dekh kar aapko samajhaata hoon ki ek baar I M abhi haal hi mein maamla utha tha ki asifa rape kaand ke bare mein hum sabhi jante hum sabhi ne suna bhi tha kitna zyada ho halla is par macha tha toh usme poore bharat ki janta ne aakrosh jataya tha aur apni jo hai dukh ko jataya tha isi tarike se ananya case hua tha ya rape case hua tha usme bhi poore bharat ki janta ne rosh dikhaya tha aur jo hai puri the bharat ki janta ne usko manviya pravritti yah maano ki jo hai neech soch ko ke khilaf awaaz uthayi thi yah do aise udaharan hai jiske vaah samjha sakta hoon ki galat kaam galat soch kisi bhi vyakti ke saath karna hai chahen vaah muslim ho ya hindu ho ya kisi bhi varg ka ho haqiqat mein samvidhan ke khilaf hai malaviya manavta ke khilaf yahan par abdullah parivar kashmir mein theek hai muslim hai toh kuch log yah sochte hain bilkul sahi hua unke saath manavta ke anusaar galat hoga lekin phir bhi kuch log keh rahe hain ki isse yah manviya pravritti yah galat hai toh yah ekdam samvidhan ka khoon ka na hua bharat ke niyam usulon ka khoon karna hua bharat ki sabhyata ka bharat ki parampara ka khoon karne jaisa hai kyonki un abdullah parivar ke kya kashmir ke abdullah parivar jaise jitne bhi neta hain wahan ki janta hum ko gharon mein kaid karke rakhna ek kanooni jurm hai toh yahi galat hua thank you

देखिए कश्मीर में चाहे अब्दुल्ला परिवार हो या भारत के किसी और कोने में कोई दूसरा परिवार जो

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1604
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि अब्दुल्ला परिवार के साथ तस्वीर में सही बढ़ता हुआ या नहीं जब कलम 370 को हटाने का संसद में प्रस्ताव पारित हुआ तू उसके बाद जो कश्मीर की जो हालत थी उसमें अब्दुल्ला परिवार उमर अब्दुल्ला और फारूक अब्दुल्लाह दोनों पिता-पुत्र जो कि दोनों चीफ मिनिस्टर रह चुके हैं और तीसरी महबूबा मुफ्ती उनका जो नजरबंद किया गया और उनको जिसको कहते हैं एक तरफ से नजर में रखा थे और जेल में रखा गया था खुद उनके निवास कोई पढ़ने में रखा गया इस तरीके से तो उनके साथ चाहिए खराब बर्ताव नहीं है क्योंकि ऐसा डर था कि वह लोग इससे कलम के विरोध में 370 हटाने के विरोध में आम जनता को अपने निवेदन उसे अशांति फैलाने में सहायक हो सकते थे इसलिए सरकार ने यह फैसला लिया कि इनको नजरबंद किया जाए क्योंकि यह अभी तक इन्होंने यह तीन परिवारों ने अभी तक यही कार्य किया है और 370 के कलम की वजह से ही यह तीन परिवार हमेशा अपना जो राजकरण के लिए रूम का चलता रहा है और पाकिस्तान और हमारी भारत सरकार के बीच में यह सब खेल कर उन्होंने अपनी बहुत सारी प्रॉपर्टी बनाई हुई है जो कि सर्वविदित है लेकिन इस किस्से में अशांति ना फैलाएं इसलिए जरूरत थी कि इनको नजरबंद किया जाए और जो सरकार ने कदम लिया वह बिल्कुल सही लिया उनके साथ बढ़ता हुआ है और कोई उनको कुछ भी किसी तरह का हर्ट नहीं किया गया बस वायलेंस को रोकने के लिए सरकार ने जो कदम उठाए हम सबको इसका समर्थन करना चाहिए क्योंकि तीन परिवार यह जो है तीन चार लोग को सदर नजरबंद किया और उसे वहां पर कितने समय में एक भी गोली नहीं चली कोई भी पत्थरबाजों यही बताता है कि सरकार ने जो किया वह बहुत ही अच्छा किया और व्यवहार भी इन लोगों के साथ बहुत अच्छा हुआ और आज की तारीख में उनको छोड़ भी दिया गया है इसी टाइप के साथ ही आम जनता में अशांति फैलाने लायक कोई भी बयान वह नोट और आशा है क्यों ऐसा ही करेंगे क्योंकि जो सलामत नहीं कि वह हट गई है और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बन गया है लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश हो इस तरफ से बहुत ही अच्छी दिशा में हो रहा है तो इन लोगों को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए और सरकार के लड़कों का पालन अवश्य करना चाहिए जय हिंद

kya aapko lagta hai ki abdullah parivar ke saath tasveer mein sahi badhta hua ya nahi jab kalam 370 ko hatane ka sansad mein prastaav paarit hua tu uske baad jo kashmir ki jo halat thi usme abdullah parivar umar abdullah aur farooq Abdullah dono pita putra jo ki dono chief minister reh chuke hai aur teesri mahbuba mufti unka jo najaraband kiya gaya aur unko jisko kehte hai ek taraf se nazar mein rakha the aur jail mein rakha gaya tha khud unke niwas koi padhne mein rakha gaya is tarike se toh unke saath chahiye kharab bartaav nahi hai kyonki aisa dar tha ki vaah log isse kalam ke virodh mein 370 hatane ke virodh mein aam janta ko apne nivedan use ashanti felane mein sahayak ho sakte the isliye sarkar ne yah faisla liya ki inko najaraband kiya jaaye kyonki yah abhi tak inhone yah teen parivaron ne abhi tak yahi karya kiya hai aur 370 ke kalam ki wajah se hi yah teen parivar hamesha apna jo rajyakaran ke liye room ka chalta raha hai aur pakistan aur hamari bharat sarkar ke beech mein yah sab khel kar unhone apni bahut saree property banai hui hai jo ki sarvavidit hai lekin is kisse mein ashanti na failaen isliye zarurat thi ki inko najaraband kiya jaaye aur jo sarkar ne kadam liya vaah bilkul sahi liya unke saath badhta hua hai aur koi unko kuch bhi kisi tarah ka heart nahi kiya gaya bus violence ko rokne ke liye sarkar ne jo kadam uthye hum sabko iska samarthan karna chahiye kyonki teen parivar yah jo hai teen char log ko sadar najaraband kiya aur use wahan par kitne samay mein ek bhi goli nahi chali koi bhi pattharbajon yahi batata hai ki sarkar ne jo kiya vaah bahut hi accha kiya aur vyavhar bhi in logo ke saath bahut accha hua aur aaj ki tarikh mein unko chod bhi diya gaya hai isi type ke saath hi aam janta mein ashanti felane layak koi bhi bayan vaah note aur asha hai kyon aisa hi karenge kyonki jo salamat nahi ki vaah hut gayi hai aur kashmir bharat ka abhinn ang ban gaya hai ladakh kendra shasit pradesh ho is taraf se bahut hi achi disha mein ho raha hai toh in logo ko koi apatti nahi honi chahiye aur sarkar ke ladko ka palan avashya karna chahiye jai hind

क्या आपको लगता है कि अब्दुल्ला परिवार के साथ तस्वीर में सही बढ़ता हुआ या नहीं जब कलम 370

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1163
WhatsApp_icon
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स और देखिए मुझे तो लगता है यह बिल्कुल सही किया गया क्योंकि अगर यह बाहर होते हैं तो आपको क्या लगता है यह मोदी के फैसले को सपोर्ट करते हैं या गवर्नमेंट का साथ देते इसको एग्जीक्यूट करवाने में इस रूल को एग्जीक्यूट करवाने पर बिल्कुल नहीं यह लोग वहां के लोगों को बाकी लोगों को बढ़ जाते और दंगे करवाते अमित शाह ने जितनी आसानी से इतनी शांति से 370 को हटा दिया इसके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता हम हमेशा यही सोचते थे कि अगर 370 हटे गा तो दंगे होंगे लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ अभी कश्मीर में पूरी शांति है वह सिर्फ इसलिए क्योंकि अब्दुल्ला फैमिली और उनके सपोर्टर्स को उसे अरेस्ट किया गया रे बिल्कुल सही है अगर हम दंगे रोकने के लिए किसी को उसे रेस्ट करना पड़े तो इसमें मुझे नहीं लगता कि मुझ पर गलत है या तो अब्दुल्ला फैमिली को मोदी का सपोर्ट करना चाहिए नहीं तो हाउस अरेस्ट में रहना चाहिए यह सेंट्रल गवर्नमेंट का मुद्दा है स्टेट गवर्नमेंट को उसमें साथ देना पड़ेगा नहीं तो सर्वश्रेष्ठ है

hello friends aur dekhiye mujhe toh lagta hai yah bilkul sahi kiya gaya kyonki agar yah bahar hote hain toh aapko kya lagta hai yah modi ke faisle ko support karte hain ya government ka saath dete isko egjikyut karwane mein is rule ko egjikyut karwane par bilkul nahi yah log wahan ke logo ko baki logo ko badh jaate aur dange karwaate amit shah ne jitni aasani se itni shanti se 370 ko hata diya iske bare mein socha bhi nahi ja sakta hum hamesha yahi sochte the ki agar 370 hate jaayega toh dange honge lekin aisa kuch bhi nahi hua abhi kashmir mein puri shanti hai vaah sirf isliye kyonki abdullah family aur unke supporters ko use arrest kiya gaya ray bilkul sahi hai agar hum dange rokne ke liye kisi ko use rest karna pade toh isme mujhe nahi lagta ki mujhse par galat hai ya toh abdullah family ko modi ka support karna chahiye nahi toh house arrest mein rehna chahiye yah central government ka mudda hai state government ko usme saath dena padega nahi toh sarvashreshtha hai

हेलो फ्रेंड्स और देखिए मुझे तो लगता है यह बिल्कुल सही किया गया क्योंकि अगर यह बाहर होते है

Romanized Version
Likes  96  Dislikes    views  861
WhatsApp_icon
user
0:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो हमारी जानकारी है तो उसके हिसाब से तो बिल्कुल पॉजिटिव हुआ ऐसा ही होना चाहिए

jo hamari jaankari hai toh uske hisab se toh bilkul positive hua aisa hi hona chahiye

जो हमारी जानकारी है तो उसके हिसाब से तो बिल्कुल पॉजिटिव हुआ ऐसा ही होना चाहिए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!