क्या दैनिक जीवन में अधिक प्लास्टिक की वस्तुओं का उपयोग करना सुरक्षित है? उनसे हमें दुष्प्रभाव होगा?...


user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान समय में हम बहुत सारी ऐसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं जो कि प्लास्टिक से बनी है और रोज हम इन चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं जिससे हमारे शरीर को बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है हम प्लास्टिक के कप और डिस्पोजेबल में गर्म चीजें लेकर खाना पीना शुरु कर देते हैं लेकिन यह नहीं सोचते कि उन प्लास्टिक में कितने केमिकल हैं और वह हमारे शरीर को कितना नुकसान पहुंचा सकते हैं प्लास्टिक गर्मी और धूप में पिघलती है और उसके साथ ही जो भी उस में केमिकल होता है वह भी हमारे खाने के साथ मिलकर शरीर के अंदर जाता है जिससे कि कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है प्लास्टिक से बने बच्चों के खिलौने उनमें दिन रंगों का उपयोग होता है वह भी बहुत ज्यादा खतरनाक होते हैं प्लास्टिक के बने खिलौनों में जो केमिकल इस्तेमाल किया जाता है उससे बच्चों को काफी नुकसान है और बच्चे उन चीजों को मुंह में लेकर खेलने लगते हैं तो इससे उनके शरीर को इतना नुकसान होता है जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं और प्लास्टिक की बोतल में पानी लेकर रखना और पीना आजकल का फैशन बन गया है लेकिन इन बोतलों में मिले हुए जो केमिकल हैं वह पानी में मिलकर हमारे शरीर के अंदर पहुंच जाते हैं और भी बहुत सारी चीजें हैं जो कि हम इस्तेमाल करते हैं जैसे कि ऐसे प्लेट्स आ गए हैं जो की प्लास्टिक से बने हुए रहते हैं उसी में हम खाना खाते हैं और इन सारी चीजों का इस्तेमाल करने से जो कैंसर की संभावना है वह 90% तक बढ़ जाती है और यह वैज्ञानिकों द्वारा प्रमाणित किया गया है और भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो यह बताते हैं कि प्लास्टिक हमारे लिए ही नहीं हमारे इंवॉल्वमेंट के लिए जानवरों के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक है हमें कोशिश करनी चाहिए कि जितना हो सके उतना प्लास्टिक की चीजों का उपयोग कम करें और इसी से हमारे स्वास्थ्य पर अच्छा असर पड़ेगा और हम सब की इसी में भलाई है

vartmaan samay mein hum bahut saree aisi chijon ka istemal karte hai jo ki plastic se bani hai aur roj hum in chijon ka istemal kar rahe hai jisse hamare sharir ko bahut zyada nuksan ho raha hai hum plastic ke cup aur disposable mein garam cheezen lekar khana peena shuru kar dete hai lekin yah nahi sochte ki un plastic mein kitne chemical hai aur vaah hamare sharir ko kitna nuksan pohcha sakte hai plastic garmi aur dhoop mein pighalati hai aur uske saath hi jo bhi us mein chemical hota hai vaah bhi hamare khane ke saath milkar sharir ke andar jata hai jisse ki cancer ka khatra kaafi badh jata hai plastic se bane baccho ke khilone unmen din rangon ka upyog hota hai vaah bhi bahut zyada khataranaak hote hai plastic ke bane khilaunon mein jo chemical istemal kiya jata hai usse baccho ko kaafi nuksan hai aur bacche un chijon ko mooh mein lekar khelne lagte hai toh isse unke sharir ko itna nuksan hota hai jiski hum kalpana bhi nahi kar sakte hai aur plastic ki bottle mein paani lekar rakhna aur peena aajkal ka fashion ban gaya hai lekin in botalon mein mile hue jo chemical hai vaah paani mein milkar hamare sharir ke andar pohch jaate hai aur bhi bahut saree cheezen hai jo ki hum istemal karte hai jaise ki aise plates aa gaye hai jo ki plastic se bane hue rehte hai usi mein hum khana khate hai aur in saree chijon ka istemal karne se jo cancer ki sambhavna hai vaah 90 tak badh jaati hai aur yah vaigyaniko dwara pramanit kiya gaya hai aur bhi bahut saare aise log hai jo yah batatey hai ki plastic hamare liye hi nahi hamare invalwament ke liye jaanvaro ke liye bahut zyada nukasanadayak hai hamein koshish karni chahiye ki jitna ho sake utana plastic ki chijon ka upyog kam kare aur isi se hamare swasthya par accha asar padega aur hum sab ki isi mein bhalai hai

वर्तमान समय में हम बहुत सारी ऐसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं जो कि प्लास्टिक से बनी है और र

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  41
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
tinex chemical ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!