ट्रम्प जूनियर ने कहा है कि सबसे गरीब भारतीयों के चेहरे पर मुस्कुराहट है।क्या पैसे खुशी से संबंधित है?...


user

Sefali

Media-Ad Sales

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रक यूनियन ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कान है दिखा जाए प्यार इमोशंस रिस्पेक्ट जो खुशियां देती है जो सेटिस्फेक्शन आपको देती है लेवल का जब आपके पास किसी का साथ होता है हर सिचुएशन से लड़ने का मगर पैसा भी इंपोर्टेंट होता है जहां पर सरवाइवल की बात आती है और परिवार का पूरा ध्यान रख रहे हैं आप को परिवार का एक सदस्य आपके ऊपर डिपेंड नेट है उनकी खुशी उनके खाने पीने उनके रहने का सारा चीज आपको ध्यान रखना है भोजपुरी लक्ष्मी आपके ऊपर है पैसा बहुत ज्यादा जरूरी है और जिस तरह से दुनिया चल रही है बहुत बड़ा रोल प्ले करता है ऐसा नहीं है कि पैसा का महत्व बहुत कम है बहुत बड़ा है और हर कोई इंसान इतना जो मेहनत कर रहा है या फिर सरवाइव करने की कोशिश कर रहा हूं पैसे के लिए ही

truck union ne kaha ki sabse garib bharatiya ke chehre par muskaan hai dikha jaaye pyar emotional respect jo khushiya deti hai jo setisfekshan aapko deti hai level ka jab aapke paas kisi ka saath hota hai har situation se ladane ka magar paisa bhi important hota hai jaha par servival ki baat aati hai aur parivar ka pura dhyan rakh rahe hain aap ko parivar ka ek sadasya aapke upar depend net hai unki khushi unke khane peene unke rehne ka saara cheez aapko dhyan rakhna hai bhojpuri laxmi aapke upar hai paisa bahut zyada zaroori hai aur jis tarah se duniya chal rahi hai bahut bada roll play karta hai aisa nahi hai ki paisa ka mahatva bahut kam hai bahut bada hai aur har koi insaan itna jo mehnat kar raha hai ya phir survive karne ki koshish kar raha hoon paise ke liye hi

ट्रक यूनियन ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कान है दिखा जाए प्यार इमोशंस रिस्पे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  6
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां पैसे खुशी से संबंधित है पर एक हद तक ना हद से ज्यादा ना हद से कम जो व्यक्ति जिस जगह संतुष्ट हो जाता है वहीं से खुश रहना शुरू कर देता है या कहें कि उसकी मुस्कुराहट वहीं से चालू हो जाती फिर वह फर्क नहीं पड़ता है कि वह गरीब है या अमीर धन्यवाद

haan paise khushi se sambandhit hai par ek had tak na had se zyada na had se kam jo vyakti jis jagah santusht ho jata hai wahi se khush rehna shuru kar deta hai ya kahein ki uski muskurahat wahi se chaalu ho jaati phir vaah fark nahi padta hai ki vaah garib hai ya amir dhanyavad

हां पैसे खुशी से संबंधित है पर एक हद तक ना हद से ज्यादा ना हद से कम जो व्यक्ति जिस जगह संत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत दिन काम आना रहता है कि पैसा हो तो खुशी भी होती है पर मेरे हिसाब से यह गलत है यह मैं तो नहीं मानती किसी बहुत बार यह भी होता है कि लोगों के पास पैसा होता है फिर वो एकदम खुश नहीं रहते बल्कि उनका लाइव साड़ी रहता है कि कि लाइफ में और भी सारी चीजें हैं जो खुशी देती है काम ली है लव है रिलेशनशिप है अपना काम से भी बहुत जन को खुशी मिलती है कि पैसा सब कुछ नहीं है पैसा हो या ना हो अब आप फिर भी खुश रह सकते हो

bahut din kaam aana rehta hai ki paisa ho toh khushi bhi hoti hai par mere hisab se yah galat hai yah main toh nahi maanati kisi bahut baar yah bhi hota hai ki logo ke paas paisa hota hai phir vo ekdam khush nahi rehte balki unka live saree rehta hai ki ki life mein aur bhi saree cheezen hain jo khushi deti hai kaam li hai love hai Relationship hai apna kaam se bhi bahut jan ko khushi milti hai ki paisa sab kuch nahi hai paisa ho ya na ho ab aap phir bhi khush reh sakte ho

बहुत दिन काम आना रहता है कि पैसा हो तो खुशी भी होती है पर मेरे हिसाब से यह गलत है यह मैं त

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम जूनियर ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कुराहट है उन्होंने मेरा पर्सनल मानना है कि पैसा खुशी से ज्यादा रिलेटेड नहीं है ऐसा इसलिए क्योंकि बहुत छोटे बच्चों को मैंने बहुत बार देखा है कि उनके पास पहनने को कपड़े नहीं होते चप्पल नहीं होती पैरों में पहनने को पर वह बहुत खुश होते हैं उसी के साथ खेल रहे होते और अपने बचपन कंप्लीटली एंजॉय कर रहे होते हैं हालांकि जिससे लोग बड़े होते जाते हैं वैसे वैसे ही खुशी कम होती जाती है और पैसे पाने की जो इच्छा है वह बढ़ती जाती है क्योंकि पैसे के बिना वैसे तो लाइफ में कुछ भी पॉसिबल नहीं है बचपन होता है जिसमें पैसे की इंपोर्टेंट होती नहीं होती उसके बाद तो पैसे की इंपोर्टेंस खुशी को पागल कर ही लेती है पर फिर भी हम भारतीयों में ऐसे कुछ कमाल के के लिए जींस जींस हो गया कमाल का हमारा जरूर होता है कि हम हर प्रॉब्लम से हंसी खुशी से निकल जाते हैं और पैसों को इतनी इंपॉर्टेंस नहीं दिखाती पर जितना जैसे पहले था तब पैसे फिर भी बिल्कुल इंपॉर्टेंट नहीं थे जितना कि आज है आज तो Facebook के बिना काम चलता ही नहीं है पर मेरे साथ से शिरडी की फिर भी पैसे और खुशी रिलेटिव नहीं है ज्यादा हां रिलेटिव है पर उसने उस एक्सीडेंट तक नहीं है कि बिना पैसों के खुश नहीं रह सकता इंसान

vikram junior ne kaha ki sabse garib bharatiya ke chehre par muskurahat hai unhone mera personal manana hai ki paisa khushi se zyada related nahi hai aisa isliye kyonki bahut chote baccho ko maine bahut baar dekha hai ki unke paas pahanne ko kapde nahi hote chappal nahi hoti pairon mein pahanne ko par vaah bahut khush hote hain usi ke saath khel rahe hote aur apne bachpan completely enjoy kar rahe hote hain halaki jisse log bade hote jaate hain waise waise hi khushi kam hoti jaati hai aur paise paane ki jo iccha hai vaah badhti jaati hai kyonki paise ke bina waise toh life mein kuch bhi possible nahi hai bachpan hota hai jisme paise ki important hoti nahi hoti uske baad toh paise ki importance khushi ko Pagal kar hi leti hai par phir bhi hum bharatiyon mein aise kuch kamaal ke ke liye jeans jeans ho gaya kamaal ka hamara zaroor hota hai ki hum har problem se hansi khushi se nikal jaate hain aur paison ko itni importance nahi dikhati par jitna jaise pehle tha tab paise phir bhi bilkul important nahi the jitna ki aaj hai aaj toh Facebook ke bina kaam chalta hi nahi hai par mere saath se shirdi ki phir bhi paise aur khushi relative nahi hai zyada haan relative hai par usne us accident tak nahi hai ki bina paison ke khush nahi reh sakta insaan

विक्रम जूनियर ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कुराहट है उन्होंने मेरा पर्सनल मा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
user

Ambuj Singh

Media Professional

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि ट्रंप जूनियर ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कुराहट है ताकत कर रही है कि जिंदगी में पैसा ही सब कुछ नहीं यहां पैसा जरूरत है पर अंत नहीं है मनीष नीड नॉट इन द शैल इसीलिए पैसे के पीछे भी हमेशा नहीं भागना चाहिए क्योंकि कुछ समय बाद आप पैसे का अहमियत तो खुशी से नहीं कंपेर कर सकते हैं इसी कांटेक्ट में मैं आपको जगजीत सिंह का एक ग़ज़ल है गाने के रूप में किसे बोलूंगा कि जैसे उन्होंने कहा काफी मीनिंग फुल है वह जिसमें आप बचपन की उस बात को किसी और चीज से कम पर नहीं कर सकते हैं हैं उनके गाने के पहले लाइन ऐसे कि मुझे लौटा दो वह बचपन की यादें हैं वह बचपन के वो जब अपने नानी के यहां जाते हैं या वह बचपन में वह कश्ती बनाते हैं जो बनाकर वह पानी में तो उन सब चीजों का

jaisa ki trump junior ne kaha ki sabse garib bharatiya ke chehre par muskurahat hai takat kar rahi hai ki zindagi mein paisa hi sab kuch nahi yahan paisa zarurat hai par ant nahi hai manish need not in the shall isliye paise ke peeche bhi hamesha nahi bhaagna chahiye kyonki kuch samay baad aap paise ka ahamiyat toh khushi se nahi compare kar sakte hain isi Contact mein main aapko jagjeet Singh ka ek gazal hai gaane ke roop mein kise boloonga ki jaise unhone kaha kaafi meaning full hai vaah jisme aap bachpan ki us baat ko kisi aur cheez se kam par nahi kar sakte hain hain unke gaane ke pehle line aise ki mujhe lauta do vaah bachpan ki yaadain hain vaah bachpan ke vo jab apne naani ke yahan jaate hain ya vaah bachpan mein vaah kashti banate hain jo banakar vaah paani mein toh un sab chijon ka

जैसा कि ट्रंप जूनियर ने कहा कि सबसे गरीब भारतीय के चेहरे पर मुस्कुराहट है ताकत कर रही है क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  43
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!