भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता तो कैसा होता?...


play
user

Dr.Pavan Mishra

Naturopath Doctor | Physician

0:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता सिर्फ एक चीज मानी जाती एक धर्म होता है इंसानियत का धर्म एक जात होते इंसान की जात तो कभी झगड़े वगैरह नहीं होते सब लोग एक दूसरे का साथ दे रहे होते इस तरह से विश्वास होता है यहां पर

bharat mein agar jati dharm nahi hota sirf ek cheez maani jaati ek dharm hota hai insaniyat ka dharm ek jaat hote insaan ki jaat toh kabhi jhagde vagera nahi hote sab log ek dusre ka saath de rahe hote is tarah se vishwas hota hai yahan par

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता सिर्फ एक चीज मानी जाती एक धर्म होता है इंसानियत का धर्म ए

Romanized Version
Likes  115  Dislikes    views  1651
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होंगे तो समझ लीजिए भारतीय एकता को कोई छोड़ने वाला नहीं भारत में जाति धर्म ने भारतीय राष्ट्रीयता से बढ़कर कोई धर्म नहीं होना चाहिए राष्ट्रीय 10 पास तो कोई जाति नहीं होनी

bharat mein agar jati dharm nahi honge toh samajh lijiye bharatiya ekta ko koi chodne vala nahi bharat mein jati dharm ne bharatiya rastriyata se badhkar koi dharm nahi hona chahiye rashtriya 10 paas toh koi jati nahi honi

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होंगे तो समझ लीजिए भारतीय एकता को कोई छोड़ने वाला नहीं भारत मे

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1248
WhatsApp_icon
user

Ashok Clinic

Sexologist

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर भारत में जाति धर्म नहीं होता तो कैसा होता कि बहुत अच्छा होता है यह आदमी बड़ी बदमाश चीज है जो मंदिर मस्जिद गुरुद्वारा चर्च अपने-अपने पकोड़े अपने अपने धर्म स्थल बनाए बैठा है इंसान के बस में होता बहुत कुछ खराब कर देता यह सिर्फ डिजनी है जो हमें खराब कर रही है स्पेशली हिंदुस्तान को खराब कर रही है हम किसी को भी पसंद लेते हैं किसी को अपनी पसंद के उसके कर्म को देखकर जबकि वास्तव में यह सच्चाई है हर इंसान इंसान की बन कर रहे तो सबसे अच्छा धर्म में से एक दूसरे का मान सम्मान करें सब से प्रेम करें इसको कहते हैं ना रामराज्य होता कहा था उस जमाने में ऐसा कुछ दुनिया सोती थी मुझे बताइए उसके क्या नहीं लगा हुआ और जैक पंडित जी हफ्ते क्या लगा सुपर को हम नहीं समझते हैं जो हमारी सफाई करता है गंदगी साफ करता है और 15 खाली धर्म के नाम पर ही ले लेगी तो पेट फुला कर घूम रहे हैं कैसा लगता है ऐसी सब्जियों में ऐसा नहीं होना चाहिए आदमी को इंसान बनकर रहना चाहिए अच्छा अच्छा अच्छा अच्छा करना चाहिए

agar bharat mein jati dharm nahi hota toh kaisa hota ki bahut accha hota hai yah aadmi badi badamash cheez hai jo mandir masjid gurudwara church apne apne pakode apne apne dharm sthal banaye baitha hai insaan ke bus mein hota bahut kuch kharab kar deta yah sirf disney hai jo hamein kharab kar rahi hai speshli Hindustan ko kharab kar rahi hai hum kisi ko bhi pasand lete hain kisi ko apni pasand ke uske karm ko dekhkar jabki vaastav mein yah sacchai hai har insaan insaan ki ban kar rahe toh sabse accha dharm mein se ek dusre ka maan sammaan kare sab se prem kare isko kehte hain na ramrajya hota kaha tha us jamane mein aisa kuch duniya soti thi mujhe bataye uske kya nahi laga hua aur jack pandit ji hafte kya laga super ko hum nahi samajhte hain jo hamari safaai karta hai gandagi saaf karta hai aur 15 khaali dharm ke naam par hi le legi toh pet phula kar ghum rahe hain kaisa lagta hai aisi sabjiyon mein aisa nahi hona chahiye aadmi ko insaan bankar rehna chahiye accha accha accha accha karna chahiye

अगर भारत में जाति धर्म नहीं होता तो कैसा होता कि बहुत अच्छा होता है यह आदमी बड़ी बदमाश चीज

Romanized Version
Likes  324  Dislikes    views  4066
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता तो कैसा होता बहुत ही अच्छा सवाल आपसे पूछा है और मैं आपको इसके लिए बधाई देता हूं कि आपके कम से कम आप के दिमाग में ऐसे ही सोच और अशोक तंवर इसलिए उमरेड उमरेड चिलेशन देता जाति और धर्म इंसान को भगवान ने लिया ऊपर वाले ने बोला करें मेरे गुरु कहे ईसा मसीह के बौद्ध धर्म हमारे बुध भगवान हो या जैन धर्म के मार्ग स्वामियों उनके कोई भी इंसान ब्लू मतलब हमारी ऐसी सोच और हम उस पर विश्वास करते हैं लेकिन अगर हम धर्म को अलग कर दें तो एक कॉमन फैक्टर होता है कि हम इंसान क्योंकि इंसान होता है जब पैदा होता है तभी उसका कोई धर्म हो जाती हो तो सब कुछ होता है अगर हम उसको कॉमन फैक्टर है उसको बिलीव करते करते अगर हम आगे बढ़े नूर इस्लाम ना रहे बुद्धिस्म ना गए जय हिंदुस्तान अंत में मैं यही कहूंगा कि इंसानियत का जो धर्म होता है वही महान होता है धर्म के बारे बंधी हमने पैदा होने के बाद बनाई है और वह पर्सनल इसको सोच हो सकती सबका मालिक एक होता है और वही जो सकती है हमें चलाती है को इस बारे में सोचना चाहिए और दिलीप करना चाहिए भारत में आकर जाति धर्म नहीं होता तो हमारे ऊपर दूसरे जो बाहर के लोग आकर आक्रमण करते जो सोने की चिड़िया हमारा देश कहा जाता था हम को लूट लूट कर नोट कर सकते हमारे मंदिरों को नहीं ले जा सकते थे और हमारे जो उस समय की प्रजाति उसके ऊपर अत्याचार नहीं होता हम जाति और धर्मों में बैठे थे इसीलिए आज चाहे कोई चंगेज खान हो चाहे मुगल शासकों चाहे अंग्रेज शासक 200 साल उम्र की राष्ट्रीय इसीलिए राज्य क्योंकि हम लोग जाति और धर्म में बचे हुए इसलिए यह बहुत बड़ी ताकत होती है कि जाति और धर्म में अगर इंसान नॉरबर्ट है तो भारत नहीं लेकिन कोई भी विश्व का अभी तक कोई भी देश हो वह एकजुट होकर अगर सामना करें तो कोई भी बाहर का शासक आप अपना शासन स्थापित नहीं कर सकता इंफॉर्मेशन विश्व के इतिहास में यह सोचा समझा और अनुभव करने वाला सच साबित हुआ है कि जहां के लोग बैठे हुए हैं वहीं पर भागते लोग आकर शासन करते हैं धन्यवाद जय हिंद

bharat mein agar jati dharm nahi hota toh kaisa hota bahut hi accha sawaal aapse poocha hai aur main aapko iske liye badhai deta hoon ki aapke kam se kam aap ke dimag mein aise hi soch aur ashok tanvar isliye umared umared chileshan deta jati aur dharm insaan ko bhagwan ne liya upar waale ne bola kare mere guru kahe isa masih ke Baudh dharm hamare buddha bhagwan ho ya jain dharm ke marg swamiyon unke koi bhi insaan blue matlab hamari aisi soch aur hum us par vishwas karte hai lekin agar hum dharm ko alag kar de toh ek common factor hota hai ki hum insaan kyonki insaan hota hai jab paida hota hai tabhi uska koi dharm ho jaati ho toh sab kuch hota hai agar hum usko common factor hai usko believe karte karte agar hum aage badhe noor islam na rahe buddhism na gaye jai Hindustan ant mein main yahi kahunga ki insaniyat ka jo dharm hota hai wahi mahaan hota hai dharm ke bare bandhi humne paida hone ke baad banai hai aur vaah personal isko soch ho sakti sabka malik ek hota hai aur wahi jo sakti hai hamein chalati hai ko is bare mein sochna chahiye aur dilip karna chahiye bharat mein aakar jati dharm nahi hota toh hamare upar dusre jo bahar ke log aakar aakraman karte jo sone ki chidiya hamara desh kaha jata tha hum ko loot loot kar note kar sakte hamare mandiro ko nahi le ja sakte the aur hamare jo us samay ki prajati uske upar atyachar nahi hota hum jati aur dharmon mein baithe the isliye aaj chahen koi changez khan ho chahen mughal shaasakon chahen angrej shasak 200 saal umr ki rashtriya isliye rajya kyonki hum log jati aur dharm mein bache hue isliye yah bahut baadi takat hoti hai ki jati aur dharm mein agar insaan norbert hai toh bharat nahi lekin koi bhi vishwa ka abhi tak koi bhi desh ho vaah ekjut hokar agar samana kare toh koi bhi bahar ka shasak aap apna shasan sthapit nahi kar sakta information vishwa ke itihas mein yah socha samjha aur anubhav karne vala sach saabit hua hai ki jaha ke log baithe hue hai wahi par bhagte log aakar shasan karte hai dhanyavad jai hind

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता तो कैसा होता बहुत ही अच्छा सवाल आपसे पूछा है और मैं आपको

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1307
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा होता लेकिन एक बात मैं आपको यहां पर बताना चाहता हूं कि अलग-अलग धर्म की वजह से अलग-अलग कल्चर होने की वजह से अलग-अलग खानपान होने की वजह से अलग होने की वजह से इतनी सारी डायवर्सिटी होने के बावजूद भारत 11 इस तरह का देश है जहां पर सब को आजादी है अपने अपनी चीजों को फॉलो करने कि मुझे लगता है कि सारी दुनिया को दिखाने के लिए यह दुनिया में डांस 30 तारीख कहीं भी नहीं है किसी भी देश में नहीं शायद हमारा देश स्पेशली इतना अच्छा देश है दुनिया में कहीं नहीं है हमारी दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है इसी तरह अपने धर्म को अपनी जाति को फॉलो करने की आजादी हर एक देश में नहीं मिलती जमाल देश में मिलती है इसलिए हमें धन्य हो ना चाहिए कि हम ऐसी धरती में जन्म लिया है जहां पर हमें यह सब आपने धन को खोलो हमें मिलती है सभी चीजों की जनता मिलती है बहुत-बहुत धन्यवाद

bahut accha hota lekin ek baat main aapko yahan par bataana chahta hoon ki alag alag dharm ki wajah se alag alag culture hone ki wajah se alag alag khanpan hone ki wajah se alag hone ki wajah se itni saree dayavarsiti hone ke bawajud bharat 11 is tarah ka desh hai jaha par sab ko azadi hai apne apni chijon ko follow karne ki mujhe lagta hai ki saree duniya ko dikhane ke liye yah duniya mein dance 30 tarikh kahin bhi nahi hai kisi bhi desh mein nahi shayad hamara desh speshli itna accha desh hai duniya mein kahin nahi hai hamari duniya ka sabse bada likhit samvidhan hai isi tarah apne dharm ko apni jati ko follow karne ki azadi har ek desh mein nahi milti jamal desh mein milti hai isliye hamein dhanya ho na chahiye ki hum aisi dharti mein janam liya hai jaha par hamein yah sab aapne dhan ko kholo hamein milti hai sabhi chijon ki janta milti hai bahut bahut dhanyavad

बहुत अच्छा होता लेकिन एक बात मैं आपको यहां पर बताना चाहता हूं कि अलग-अलग धर्म की वजह से अल

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  832
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जाति धर्म तो जरूरी है लेकिन आज से ज्यादा कोई भी चीज हानिकारक होती है वह चांद खरका गांव का विकास हो देश का विकास हो विकास के मार्ग अवरुद्ध अवरुद्ध करती विकास के मार्ग

jati dharm toh zaroori hai lekin aaj se zyada koi bhi cheez haanikarak hoti hai vaah chand kharaka gaon ka vikas ho desh ka vikas ho vikas ke marg avaruddh avaruddh karti vikas ke marg

जाति धर्म तो जरूरी है लेकिन आज से ज्यादा कोई भी चीज हानिकारक होती है वह चांद खरका गांव का

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता तो आज भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होता और दुनिया हर चीज में चाय और टेक्नोलॉजी हो चाहे वह एजुकेशन ओं पॉलिटिक्स हो या फिर किसी अन्य सेक्टरों या फिर पैसे हो हर क्षेत्र में दुनिया का नंबर वन काश होता लेकिन यहां पर तो जातिवाद और धर्म है इसकी वजह से हम आप और सारे लोग इस वजह से घिरे हैं कि हम अपनों को ही देखना चाहते ना कि अगर यदि किसी ऑफिस में 5 राजपूत हैं तो वहां पर राजपूत की चलेगी अगर आने वाला कोई अगर उनके हिसाब से हो उनको कहा जाए कि अगला कैंडिडेट को चूज करना है अगले कर्मचारी के लिए तो वह उनमें 90% गारंटी है कि वह राजपूत जी को ही सुनेंगे ना की किसी दास को या फिर किसी शर्मा जी को और जहां शर्मा जी है तो वह परसेंट शर्मा जी हां क्योंकि हर आदमी जैसा दुनिया में कोई नहीं चाहता है कि मेरे से

bharat mein agar jati dharm nahi hota toh aaj bharat duniya ka sabse shaktishali desh hota aur duniya har cheez mein chai aur technology ho chahen vaah education on politics ho ya phir kisi anya sektaron ya phir paise ho har kshetra mein duniya ka number van kash hota lekin yahan par toh jaatiwad aur dharm hai iski wajah se hum aap aur saare log is wajah se ghire hain ki hum apnon ko hi dekhna chahte na ki agar yadi kisi office mein 5 rajput hain toh wahan par rajput ki chalegi agar aane vala koi agar unke hisab se ho unko kaha jaaye ki agla candidate ko choose karna hai agle karmchari ke liye toh vaah unmen 90 guarantee hai ki vaah rajput ji ko hi sunenge na ki kisi das ko ya phir kisi sharma ji ko aur jaha sharma ji hai toh vaah percent sharma ji haan kyonki har aadmi jaisa duniya mein koi nahi chahta hai ki mere se

भारत में अगर जाति धर्म नहीं होता तो आज भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होता और दुनिया हर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!