प्यार में लड़कियाँ ज़्यादा धोखा देती हैं या लड़के?...


user

Swami Umesh Yogi

Peace-Guru (Global Peace Education)

2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रेम की बात है तो स्त्रियों में भावनात्मक का स्वाभाविक रूप से प्राकृतिक रूप से अधिक होती है परंतु पुरुष बहुत ज्यादा भावात्मक नहीं होता इन कंपैरिजन टो गांव तो हमारे हिंदू समाज में हमारे भारतीय समाज में एक कहावत है कि तरबूज में छोरी गिरेगी या खरगोश छोरी में गिरेगा तो नुकसान खरबूज का ही है तो ज्यादातर धोखा देने का जो किया है जो भाव है जो गलती है वह अधिकतर पुरुषों द्वारा है कि जाते हैं और स्त्रियों को उसका परिणाम दुखद मिलता है हो सकता है कि नहीं विशेष परिस्थितियों में स्त्रियों द्वारा ऐसा निर्णय लिया गया हो जिससे पुरुष को लगे कि धोखा हुआ है पर यदि आप कंप्यूटर से विषय में विचार देखेंगे तो उसके पीछे भी किसी न किसी पुलिस काम कुछ होगा जिससे कि स्त्री विवश होगी ना चाहते हुए भी ऐसा करने के लिए कि जिसे आप धोखा कहते हैं मैं आपसे कहना चाहता हूं क्या प्रेम करते रहिए और प्रेम का आदर कीजिए धोखे जैसा भाव ना आने दीजिए प्रेम पवित्र है और इसको पवित्रता के साथ धारण कीजिए प्रेम परमात्मा का स्वरूप है पाप आत्मा भूत है प्रेम इससे आप क्षणिक सुख भोग रूपए क्षणिक सुख के साथ मत जोड़िए प्रेम कभी मरता नहीं प्रेम अमर है प्रेम शाश्वत है प्रेम सत्य है जय गुरुदेव

prem ki baat hai toh sthreeyon me bhavnatmak ka swabhavik roop se prakirtik roop se adhik hoti hai parantu purush bahut zyada bhavatmak nahi hota in kampairijan toe gaon toh hamare hindu samaj me hamare bharatiya samaj me ek kahaavat hai ki tarabuj me chhori giregi ya khargosh chhori me girega toh nuksan kharbuja ka hi hai toh jyadatar dhokha dene ka jo kiya hai jo bhav hai jo galti hai vaah adhiktar purushon dwara hai ki jaate hain aur sthreeyon ko uska parinam dukhad milta hai ho sakta hai ki nahi vishesh paristhitiyon me sthreeyon dwara aisa nirnay liya gaya ho jisse purush ko lage ki dhokha hua hai par yadi aap computer se vishay me vichar dekhenge toh uske peeche bhi kisi na kisi police kaam kuch hoga jisse ki stree vivash hogi na chahte hue bhi aisa karne ke liye ki jise aap dhokha kehte hain main aapse kehna chahta hoon kya prem karte rahiye aur prem ka aadar kijiye dhokhe jaisa bhav na aane dijiye prem pavitra hai aur isko pavitrata ke saath dharan kijiye prem paramatma ka swaroop hai paap aatma bhoot hai prem isse aap kshanik sukh bhog rupee kshanik sukh ke saath mat jodiye prem kabhi marta nahi prem amar hai prem shashvat hai prem satya hai jai gurudev

प्रेम की बात है तो स्त्रियों में भावनात्मक का स्वाभाविक रूप से प्राकृतिक रूप से अधिक होती

Romanized Version
Likes  328  Dislikes    views  3218
KooApp_icon
WhatsApp_icon
23 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
ladkiyan dhokha ; pyar me dhoka kon deta hai ladka ya ladki ; धोखेबाज नेम अशोक आजकल दिया करो ना प्यार मित्रों ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!