रामायण के कुछ चौंकाने वाले रहस्य क्या हैं?...


play
user
1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण में चौकाने वाले राष्ट्रीय कई है और उसे पढ़कर समझना बड़ा ही कठिन है इतना सरल नहीं है फिर भी रामायण में कई चीजें ऐसी आई है जिसे कि अगर हम पढ़े जाने समझे तो हमें पता चलेगा कि उस काल में सतयुग में ही रामायण लिखने वाले बाल्मिक तुलसीदास जी उन्होंने कलयुग के बारे में ऐसी बातें लिख दिया प्रतीत हो रही है उस काल में रामायण में भी कई ऐसे शब्द हिंदी के थे जो कि आज अंग्रेजी के शब्द के रूप में आते हैं सोने जाते हैं एक शब्द तुलसीकृत रामायण में आया है यूथ यूथ यूथ यूथ मतलब माई कहा जाता था युवाओं का लोगों का समूह ढूंढो और आज भी अंग्रेजी में यूथ यूथ युवाओं को कहा जाता है इसी प्रकार से रामायण काल में ही लिख दिया था ऐसा समय आएगा कि जब लोग एक दूसरे को मारेंगे काटेंगे और अंश को दाना चुगना पड़ेगा और कौवा मोती झुकेगा इस प्रकार की बातें उस समय नहीं कह दी गई थी विद्वानों के द्वारा जो कि आज सत्य प्रतीत हो रही है तो ऐसे हमारे धार्मिक ग्रंथों में आने वाली है

ramayana mein chaukane waale rashtriya kai hai aur use padhakar samajhna bada hi kathin hai itna saral nahi hai phir bhi ramayana mein kai cheezen aisi I hai jise ki agar hum padhe jaane samjhe toh hamein pata chalega ki us kaal mein satayug mein hi ramayana likhne waale balmik tulsidas ji unhone kalyug ke bare mein aisi batein likh diya pratit ho rahi hai us kaal mein ramayana mein bhi kai aise shabd hindi ke the jo ki aaj angrezi ke shabd ke roop mein aate hain sone jaate hain ek shabd tulasikrit ramayana mein aaya hai youth youth youth youth matlab my kaha jata tha yuvaon ka logo ka samuh dhundho aur aaj bhi angrezi mein youth youth yuvaon ko kaha jata hai isi prakar se ramayana kaal mein hi likh diya tha aisa samay aayega ki jab log ek dusre ko marenge katenge aur ansh ko dana chugna padega aur kauwa moti jhukega is prakar ki batein us samay nahi keh di gayi thi vidvaano ke dwara jo ki aaj satya pratit ho rahi hai toh aise hamare dharmik granthon mein aane wali hai

रामायण में चौकाने वाले राष्ट्रीय कई है और उसे पढ़कर समझना बड़ा ही कठिन है इतना सरल नहीं है

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1997
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!