उपनिषदों, वेदांत और वेदों में क्या अंतर है?...


user

Akhil

Yoga Expert

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद भारतीय संस्कृति के सबसे पुरातन ग्रंथ हैं वेदों को अपौरूषेय कहा जाता है यानी कि किसी भी पुरुष ने वेदों को नहीं लिखा वेदों में जो भी मंत्र हैं वह इशू द्वारा ध्यान की अवस्था में प्राप्त किया हुआ ज्ञान है मुख्यतः चार वेद है ऋग्वेद सामवेद यजुर्वेद और अथर्ववेद वेदों में अद्वित के सिद्धांत को बताया गया है यानी कि एक सकते हैं इसको ब्रह्मा कहा जाता है हर वेद के चार भाग हैं मंत्र संहिता ब्राह्मण आरण्यक और उपनिषद पहले भागों में कर्मकांड बताया गया है यानी कि किसी फल की प्राप्ति के लिए यज्ञ करना मंत्र वेद के आखरी भाग यानी उपनिषद में ज्ञान कांड की बात बताई गई है यानी कि परम सत्य को कैसे जाने परम सत्य क्या है उपनिषद वेद के आखिरी भाग हैं जिसमें परम सत्य को जानने की विधि बताई गई है मुख्यतः 10 उपनिषद है ईशा केन कटर मुंडक मांडू के तहत रहते श्रेया प्रश्न बंद हो गया और ब्रदर निगम इसके बाद आता है वेदांत वेदांत दो शब्दों से मिलकर बना है वेद और अंत यानी वेदांत वेदों के अंतिम वेद के जो आखिरी ज्ञान है वेदों का जो परम ज्ञान है उसको वेदांत कहते हैं उपनिषदों में विवेक 2 का आखिरी कहानी परम ज्ञान बताया गया है इसलिए उपनिषद भी एक वेदांत का हिस्सा है और वेदांत के अंदर भगवत गीता और ब्रह्म सूत्र भी आते हैं तो यह है वेद उपनिषद और वेदांत के बीच का अंतर

ved bharatiya sanskriti ke sabse puratan granth hain vedo ko apaurushey kaha jata hai yani ki kisi bhi purush ne vedo ko nahi likha vedo me jo bhi mantra hain vaah issue dwara dhyan ki avastha me prapt kiya hua gyaan hai mukhyata char ved hai rigved samved yajurved aur atharvaved vedo me adwit ke siddhant ko bataya gaya hai yani ki ek sakte hain isko brahma kaha jata hai har ved ke char bhag hain mantra sanhita brahman aranyak aur upanishad pehle bhaagon me karmakand bataya gaya hai yani ki kisi fal ki prapti ke liye yagya karna mantra ved ke aakhri bhag yani upanishad me gyaan kaand ki baat batai gayi hai yani ki param satya ko kaise jaane param satya kya hai upanishad ved ke aakhiri bhag hain jisme param satya ko jaanne ki vidhi batai gayi hai mukhyata 10 upanishad hai isha cane Cutter mundak mandu ke tahat rehte shreya prashna band ho gaya aur brother nigam iske baad aata hai vedant vedant do shabdon se milkar bana hai ved aur ant yani vedant vedo ke antim ved ke jo aakhiri gyaan hai vedo ka jo param gyaan hai usko vedant kehte hain upnishadon me vivek 2 ka aakhiri kahani param gyaan bataya gaya hai isliye upanishad bhi ek vedant ka hissa hai aur vedant ke andar bhagwat geeta aur Brahma sutra bhi aate hain toh yah hai ved upanishad aur vedant ke beech ka antar

वेद भारतीय संस्कृति के सबसे पुरातन ग्रंथ हैं वेदों को अपौरूषेय कहा जाता है यानी कि किसी भी

Romanized Version
Likes  348  Dislikes    views  3057
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!