भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया?...


user

Manish Dev

Motivational Speaker, Yoga-Meditation Guide, Spiritualist, Psycho-analyst, Astrologer, Spiritual Healer, Life Coach

4:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने दुनिया क्यों बनाई दुनिया का निर्माण किया यह प्रश्न है तो बंधु यह जान लो कि दुनिया है क्या पहले तो यह समझो कि दुनिया क्या है आपकी नजर में दुनिया क्या है आप भगवान कृष्ण दुनिया क्यों बनाई भगवान कृष्ण स्वयं तो कभी कहा नहीं कि मैंने दुनिया बने लेकिन आप यहां प्रश्न कर रहे हैं कि कृष्ण ने दुनिया क्यों बनाई तो आप पहले तो यह समझना जरूरी है कि दुनिया आप किसको कह रहे हैं दुनिया का अर्थ बहुत कुछ हो सकता है एक तो दुनिया यह संसार संसार में रिश्ते नाते परिवार घर परिवार आप इसको दुनिया कहते हैं आपकी इच्छाएं आपके कामनाएं तो एक छोटे से शब्द में मैं कहना चाहूंगा छोटे से वाक्य में मैं कहना चाहूंगा कि क्रिया और प्रतिक्रिया एक्शन और रिएक्शन यही प्रकृति है प्रतिक्रिया से ही प्रकृति बनी है तो क्रिया और प्रतिक्रिया जहां पर भी होगा वहां दुनिया होगी जिसे आप दुनिया कह रहे हैं जिसमें सुख दुख होगा उसमें लाभ हानि होगी जय पराजय होगा मान अपमान होगा सारी चीजें उसमें होगी कोई ऊंचा उठ रहा होगा कोई नीचे गिर रहा होगा उठापटक चलती रहेगी जहां यह सब चले बस वही दुनिया यह बनाई नहीं है यह तो बन गई है किसी ने नहीं बनाई या बन गई है यह कैसे बन गई है जब रोशनी ना होना सामने आपने सुना होगा शास्त्रों का एक बहुत पुराना बहुत प्रचलित उदाहरण है कि अंधेरे में अगर रश्मि दिखाई देते दिखाई दे तो वह साथ लगने लग जाती लगता है कि सांप सांप है नहीं है तो रखी है कभी किसकी है कभी प्रकाश की है अगर प्रकाश प्रगट हो जाए वहां पर कहीं से लाइट आ जाए बिजली आ जाए और बल्ब जल जाए कि ब्लैक जलजा हैलोजन जल जाए एलईडी चल जाए कुछ जल जाए तो क्या होगा कि वह दिख जाएगा कि है क्या रखती है यह सांवरिया का भाव रहा है भ्रम वश दुनिया का भाषा के कारण अज्ञान के कारण अविद्या के कारण अविद्या के कारण दुनिया की अनुभूति हो रही है सरकार की अनुभूति विद्या का नाश होगा चित्र निर्मल होगा चित्र पड़े हुए वृत्तियों का निरोध हो जाएगा तब जाकर प्रिय दुनिया में रहने वाली आप के समर्थन में रहेगा और दुनिया में क्या होता है क्या नहीं होता है आप इसके लिए कभी चिंतित नहीं होंगे चिंता कभी नहीं करेंगे इसलिए स्वयं को जानिए सदृश टू स्वरूप व्यवस्था ना योगश्चित्त वृत्ति निरोधा योगसूत्र क्या कह रहा है पतंजलि का योग यही तो कह रहा निरोध कर दो फिर तुम्हारा स्वरूप तुम्हारे सामने होगा सातवें हो जाए इसमें समझ लीजिए जान लीजिए कि किस प्रकार से एक है दुनिया बनाई किसीने नहीं प्रिया प्रतिक्रिया रूप में हमारे सामने हैं और जब हम इस क्रिया प्रतिक्रिया से अपने आपको अलग करना शुरू कर देंगे तो फिर सारी चीजें तारा रहस्य भी सामने आ जाएगा हम दृष्टा मात्र हैं लेकिन हम डस्टर ना होकर हम भोक्ता हो जाते हैं और जब भोक्ता हो जाते हैं तो उसमें भी हम भोक्ता भी नहीं हो जाते हम बोलते हो कि हम पर भी भव्य बन जाते ना समझते आ जाती है जब स्वयं भाग्य बन जाते हैं तो इससे बचना है इससे बचना है और क्रिया प्रतिक्रिया से बचना है श्री कृष्ण ने कहा कि दिल्ली ही शकुनी मामा दूर है कैसे पार निकलोगे नाम एवं पते बाय अमिताभ टंकी के एकाग्रता को व्यक्त करो प्रभु के स्मरण में एकाग्रता को विकसित करो उनके अलावा दूसरा कोई मन में भावना हो प्रभु भाग के अलावा प्रभु के प्रति शक्ति है उस गांव के अलावा कोई दूसरा भाग मन में ना आए तब जाकर यह स्पष्ट हो जाएगा कि दुनिया कहां से आई किस प्रकार

bhagwan krishna ne duniya kyon banai duniya ka nirmaan kiya yah prashna hai toh bandhu yah jaan lo ki duniya hai kya pehle toh yah samjho ki duniya kya hai aapki nazar me duniya kya hai aap bhagwan krishna duniya kyon banai bhagwan krishna swayam toh kabhi kaha nahi ki maine duniya bane lekin aap yahan prashna kar rahe hain ki krishna ne duniya kyon banai toh aap pehle toh yah samajhna zaroori hai ki duniya aap kisko keh rahe hain duniya ka arth bahut kuch ho sakta hai ek toh duniya yah sansar sansar me rishte naate parivar ghar parivar aap isko duniya kehte hain aapki ichhaen aapke kamanaen toh ek chote se shabd me main kehna chahunga chote se vakya me main kehna chahunga ki kriya aur pratikriya action aur reaction yahi prakriti hai pratikriya se hi prakriti bani hai toh kriya aur pratikriya jaha par bhi hoga wahan duniya hogi jise aap duniya keh rahe hain jisme sukh dukh hoga usme labh hani hogi jai parajay hoga maan apman hoga saari cheezen usme hogi koi uncha uth raha hoga koi niche gir raha hoga uthapatak chalti rahegi jaha yah sab chale bus wahi duniya yah banai nahi hai yah toh ban gayi hai kisi ne nahi banai ya ban gayi hai yah kaise ban gayi hai jab roshni na hona saamne aapne suna hoga shastron ka ek bahut purana bahut prachalit udaharan hai ki andhere me agar rashmi dikhai dete dikhai de toh vaah saath lagne lag jaati lagta hai ki saap saap hai nahi hai toh rakhi hai kabhi kiski hai kabhi prakash ki hai agar prakash pragat ho jaaye wahan par kahin se light aa jaaye bijli aa jaaye aur bulb jal jaaye ki black jalaja halogen jal jaaye LED chal jaaye kuch jal jaaye toh kya hoga ki vaah dikh jaega ki hai kya rakhti hai yah sanwariya ka bhav raha hai bharam vash duniya ka bhasha ke karan agyan ke karan avidya ke karan avidya ke karan duniya ki anubhuti ho rahi hai sarkar ki anubhuti vidya ka naash hoga chitra nirmal hoga chitra pade hue vrittiyon ka nirodh ho jaega tab jaakar priya duniya me rehne wali aap ke samarthan me rahega aur duniya me kya hota hai kya nahi hota hai aap iske liye kabhi chintit nahi honge chinta kabhi nahi karenge isliye swayam ko janiye sadrish to swaroop vyavastha na yogashchitt vriti nirodha yogsutra kya keh raha hai patanjali ka yog yahi toh keh raha nirodh kar do phir tumhara swaroop tumhare saamne hoga satve ho jaaye isme samajh lijiye jaan lijiye ki kis prakar se ek hai duniya banai kisi ne nahi priya pratikriya roop me hamare saamne hain aur jab hum is kriya pratikriya se apne aapko alag karna shuru kar denge toh phir saari cheezen tara rahasya bhi saamne aa jaega hum drishta matra hain lekin hum distr na hokar hum bhokta ho jaate hain aur jab bhokta ho jaate hain toh usme bhi hum bhokta bhi nahi ho jaate hum bolte ho ki hum par bhi bhavya ban jaate na samajhte aa jaati hai jab swayam bhagya ban jaate hain toh isse bachna hai isse bachna hai aur kriya pratikriya se bachna hai shri krishna ne kaha ki delhi hi shakuni mama dur hai kaise par nikloge naam evam pate bye amitabh tanki ke ekagrata ko vyakt karo prabhu ke smaran me ekagrata ko viksit karo unke alava doosra koi man me bhavna ho prabhu bhag ke alava prabhu ke prati shakti hai us gaon ke alava koi doosra bhag man me na aaye tab jaakar yah spasht ho jaega ki duniya kaha se I kis prakar

भगवान कृष्ण ने दुनिया क्यों बनाई दुनिया का निर्माण किया यह प्रश्न है तो बंधु यह जान लो कि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
23 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bantu Sharma

Social Worker

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया इसका निर्माण करने वाला पूरी अलग है यह व्यवस्था बहुत अलग से क्योंकि भगवान कृष्ण जब पैदा हुए तो दुनिया तो उससे पहले भी थी

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya iska nirmaan karne vala puri alag hai yah vyavastha bahut alag se kyonki bhagwan krishna jab paida hue toh duniya toh usse pehle bhi thi

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया इसका निर्माण करने वाला पूरी अलग है यह व्यवस्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

4:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया की सारी दुनिया को दुनिया का सबसे सुंदर प्रतीक है क्या नाम है तुम्हारा वह बातें समझाने के लिए दुनिया रचने वाला अलग नहीं कर सकता है नूरेला कितने प्रतिशत मिलेगा खुदा ने दुनिया बनाई दुनिया कितनी दूर दुनिया को देखने का अर्थ है दुनिया दुनिया दुनिया दुनिया कराई जा रही है लगातार हो रही है और बनाने वाला दुनिया दुनिया दुनिया

duniya ki saree duniya ko duniya ka sabse sundar prateek hai kya naam hai tumhara vaah batein samjhane ke liye duniya rachne vala alag nahi kar sakta hai nurela kitne pratishat milega khuda ne duniya banai duniya kitni dur duniya ko dekhne ka arth hai duniya duniya duniya duniya karai ja rahi hai lagatar ho rahi hai aur banane vala duniya duniya duniya

दुनिया की सारी दुनिया को दुनिया का सबसे सुंदर प्रतीक है क्या नाम है तुम्हारा वह बातें समझा

Romanized Version
Likes  438  Dislikes    views  4777
WhatsApp_icon
play
user
0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ईश्वर ने पृथ्वी पर पृथ्वी का नव निर्माण कर मानव का निर्माण किया ताकि प्रभु भक्ति लोकल और मानव दुनियाभर में प्रेम और सौहार्द्र का परिचय दे सके तथा इस धरा पर भगवान को भी अवतार लेना था तभी उनके बिछाकर उतार ले सके और दुनिया का निर्माण में भगवान ने दुनिया का निर्माण

ishwar ne prithvi par prithvi ka nav nirmaan kar manav ka nirmaan kiya taki prabhu bhakti local aur manav duniyabhar mein prem aur sauhardra ka parichay de sake tatha is dhara par bhagwan ko bhi avatar lena tha tabhi unke bichakar utar le sake aur duniya ka nirmaan mein bhagwan ne duniya ka nirmaan

ईश्वर ने पृथ्वी पर पृथ्वी का नव निर्माण कर मानव का निर्माण किया ताकि प्रभु भक्ति लोकल और म

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1969
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता में श्रीकृष्ण ने कहा j9bs मंदार इसलिए सब कुछ मैंने बनाया भगवान धर्म के अनुसार सप्ताह मूल्य स्तर भगवत गीता को मानते हैं तो उसे साथ के जो है भगवान श्री कृष्ण लीला

bhagwat geeta me shrikrishna ne kaha j9bs mandar isliye sab kuch maine banaya bhagwan dharm ke anusaar saptah mulya sthar bhagwat geeta ko maante hain toh use saath ke jo hai bhagwan shri krishna leela

भगवत गीता में श्रीकृष्ण ने कहा j9bs मंदार इसलिए सब कुछ मैंने बनाया भगवान धर्म के अनुसार सप

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सृष्टि में कर्म का महत्व देने के लिए कर्म को श्रेष्ठ बताने के लिए और अपने अपने कर्तव्य का निर्धारण के लिए सृष्टि की रचना भगवान कृष्ण जी की

shrishti me karm ka mahatva dene ke liye karm ko shreshtha batane ke liye aur apne apne kartavya ka nirdharan ke liye shrishti ki rachna bhagwan krishna ji ki

सृष्टि में कर्म का महत्व देने के लिए कर्म को श्रेष्ठ बताने के लिए और अपने अपने कर्तव्य का

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण जीने के लिए किया है इंसान जीव जंतु जिंदगी जीता है उसका निर्माण किया है मेरे पास दूसरी का पता नहीं ठीक है

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan jeene ke liye kiya hai insaan jeev jantu zindagi jita hai uska nirmaan kiya hai mere paas dusri ka pata nahi theek hai

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण जीने के

Romanized Version
Likes  286  Dislikes    views  7365
WhatsApp_icon
user
1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया पहली बात तो यह प्रश्न ही गलत है भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया है सिर्फ पालन करता है इसके लिए सच जानने के लिए आप देखें देवी भागवत की शक्ल 123 जहां पर शंकर जी बोलते हैं कि हे जग जननी आपकी जगत माता है जगत करता है विष्णु जी और ब्रह्मा जी आप से पैदा हुए हैं तो क्या मैं आपकी संतान नहीं हूं यानी कि दुर्गा जी के बेटे हैं ब्रह्मा विष्णु महेश विष्णु जी को हम कैसे दुनिया का निर्माण करता मानचित्र विश्वजीत दुर्गा जी से पैदा हुए कि ब्रह्मा जी हमें पैदा करते हैं विष्णु जी पालन करता है और शंकर जी संघार करता हूं तो मेरे हिसाब से तो यह प्रश्न ही गलत है कि भगवान विष्णु ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya pehli baat toh yah prashna hi galat hai bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya hai sirf palan karta hai iske liye sach jaanne ke liye aap dekhen devi bhagwat ki shakl 123 jaha par shankar ji bolte hain ki hai jag janani aapki jagat mata hai jagat karta hai vishnu ji aur brahma ji aap se paida hue hain toh kya main aapki santan nahi hoon yani ki durga ji ke bete hain brahma vishnu mahesh vishnu ji ko hum kaise duniya ka nirmaan karta manchitra vishwajeet durga ji se paida hue ki brahma ji hamein paida karte hain vishnu ji palan karta hai aur shankar ji sanghar karta hoon toh mere hisab se toh yah prashna hi galat hai ki bhagwan vishnu ne is duniya ka nirmaan kyon kiya

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया पहली बात तो यह प्रश्न ही गलत है भगवान कृष्ण

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user
1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया यह प्रश्न है सब से यह बात क्लियर कर देते हैं कि भगवान कृष्ण ने कोई दुनिया नहीं बनाई सबसे पहले हमारे इस ब्रह्मांड को शापित माना गया है कि नशे में माना गया है क्योंकि यहां किसी भी प्रकार का सुख नहीं है जैसे कई तरह की बीमारियां लगना एक आदमी को और 14 लाख योनियों का भुगतान करना फिर अपने पेट पालने से लेकर कई तरह की दुर्घटनाग्रस्त हो जाना या सुख का एक पल का भी स्थानीय है इसलिए शिक्षा फिल्म तू भी कहा जाता है भगवान के असंख्य ब्रह्मांड में से यह वह स्थान है जो कि स्थापित होने के कारण मिला है और हम यहां आए कैसे फंसे कैसे प्रश्न यह है कि इस सवाल का जवाब आपको सच में चाहिए तो मैं आपको ज्ञान गंगा बुक पढ़ने के लिए पुर करता हूं इसे आपको सृष्टि रचना से लेकर यहां तक का सारा ज्ञान हो जाएगा धन्यवाद

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya yah prashna hai sab se yah baat clear kar dete hain ki bhagwan krishna ne koi duniya nahi banai sabse pehle hamare is brahmaand ko shaapit mana gaya hai ki nashe me mana gaya hai kyonki yahan kisi bhi prakar ka sukh nahi hai jaise kai tarah ki bimariyan lagna ek aadmi ko aur 14 lakh yoniyon ka bhugtan karna phir apne pet palne se lekar kai tarah ki durgatanaagrast ho jana ya sukh ka ek pal ka bhi sthaniye hai isliye shiksha film tu bhi kaha jata hai bhagwan ke asankhya brahmaand me se yah vaah sthan hai jo ki sthapit hone ke karan mila hai aur hum yahan aaye kaise fanse kaise prashna yah hai ki is sawaal ka jawab aapko sach me chahiye toh main aapko gyaan ganga book padhne ke liye pur karta hoon ise aapko shrishti rachna se lekar yahan tak ka saara gyaan ho jaega dhanyavad

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया यह प्रश्न है सब से यह बात क्लियर कर देते है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने दुनिया का निर्माण क्यों किया भगवान विष्णु ब्रह्मा महेश दुनिया से अब तक चल रही है भगवान ब्रह्मा भगवान विष्णु तथा महेश द्वारा यह तन सारी जिंदगी तथा मानवता की परंपरा चलती आ रही है उनके द्वारा ही यह निर्माण किया गया है और उनके द्वारा ही इनका पालन हो रहा है और उनके द्वारा ही इनकी सुरक्षा हो रही है के माध्यम से किया तथा अच्छे-अच्छे सामान्य गुणों के द्वारा अपने विद्यमान असफलताओं को अच्छे से निर्माण कर सकें तथा प्रकृति का नियम तथा उसे अपने द्वारा मां के दर्शन प्राप्त कर लें यही इसलिए भगवान कृष्ण भगवान ब्रह्मा भगवान ने पृथ्वी का निर्माण किया है

bhagwan krishna ne duniya ka nirmaan kyon kiya bhagwan vishnu brahma mahesh duniya se ab tak chal rahi hai bhagwan brahma bhagwan vishnu tatha mahesh dwara yah tan saari zindagi tatha manavta ki parampara chalti aa rahi hai unke dwara hi yah nirmaan kiya gaya hai aur unke dwara hi inka palan ho raha hai aur unke dwara hi inki suraksha ho rahi hai ke madhyam se kiya tatha acche acche samanya gunon ke dwara apne vidyaman asafaltaon ko acche se nirmaan kar sake tatha prakriti ka niyam tatha use apne dwara maa ke darshan prapt kar le yahi isliye bhagwan krishna bhagwan brahma bhagwan ne prithvi ka nirmaan kiya hai

भगवान कृष्ण ने दुनिया का निर्माण क्यों किया भगवान विष्णु ब्रह्मा महेश दुनिया से अब तक चल र

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया को भगवान ब्रह्मा जी ने उत्पन्न किया है उन्होंने बनाया है और इसमें विभिन्न प्रकार के जो उनके पुत्र हैं माना उन्होंने सहयोग किया है आपको कहना ही पूरी तरह से गलत है ब्रह्मा जी ने बनाया है संसार को और उन्हें के सरस्वती इसमें में प्रेरणा देती है कैसे बनाना है क्या करना है यह सब उनके द्वारा रचित संसार है

duniya ko bhagwan brahma ji ne utpann kiya hai unhone banaya hai aur isme vibhinn prakar ke jo unke putra hain mana unhone sahyog kiya hai aapko kehna hi puri tarah se galat hai brahma ji ne banaya hai sansar ko aur unhe ke saraswati isme me prerna deti hai kaise banana hai kya karna hai yah sab unke dwara rachit sansar hai

दुनिया को भगवान ब्रह्मा जी ने उत्पन्न किया है उन्होंने बनाया है और इसमें विभिन्न प्रकार के

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  59
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया है जिसने की कह दो कोई कहता है कि भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण किया है वह महामूर्ख है क्योंकि भगवान श्रीकृष्ण से पहले भी यहां कई अन्य अवतार हो चुकी है क्या भगवान श्री कृष्ण ने वासुदेव और अपनी माता देवकी जी को मनाया था जवाब देते समय थोड़ा विवेक दिमाग लगाइए के भगवान कृष्ण जी द्वापर में आए हैं त्रेता में श्री रामचंद्र जी आए हैं और सतयुग में तो साथ-साथ इस पृथ्वी पर ब्रह्मा विष्णु महेश की भी चलते थे

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya hai jisne ki keh do koi kahata hai ki bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kiya hai vaah mahamurkh hai kyonki bhagwan shrikrishna se pehle bhi yahan kai anya avatar ho chuki hai kya bhagwan shri krishna ne vasudev aur apni mata devki ji ko manaya tha jawab dete samay thoda vivek dimag lagaaiye ke bhagwan krishna ji dwapar mein aaye hain treta mein shri ramachandra ji aaye hain aur satayug mein toh saath saath is prithvi par brahma vishnu mahesh ki bhi chalte the

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया है जिसने की कह दो कोई कहता है कि भगवान कृष्ण

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Shri Nirmal Dev Ji

Shirmad Bhagwat Kathaparwekta

2:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया परम प्रिय महानुभव मैं अपने मत के अनुसार कहूंगा कि भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया इस दुनिया का निर्माण इस सृष्टि का निर्माण परमपिता परमात्मा ने किया अब आप कहेंगे परमपिता परमात्मा कौन है परमपिता परमात्मा साकार है इसका कोई रूप ही नहीं है और साकार रूप की परमपिता परमात्मा ने इस सृष्टि का निर्माण किया इस दुनिया का निर्माण किया और कृष्ण यह तो अवतरित हैं भगवान श्री कृष्ण ने यह तो अवतरित हैं जो भगवान नारायण के रूप में भगवान नारायण के एकत्रित के रूप हैं और सृष्टि का कार्य है यह ब्रह्मा विष्णु महेश यह निराकार के रूप में रहकर के दुनिया का पालन कर रहे हैं पोषण कर रहे हैं तो इसी तरह से मैं अपने अंदर प्रभावित भाग को व्यक्त कर रहा हूं जय राधे कृष्ण

prashna hai bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya param priya mahanubhav main apne mat ke anusaar kahunga ki bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya is duniya ka nirmaan is shrishti ka nirmaan parampita paramatma ne kiya ab aap kahenge parampita paramatma kaun hai parampita paramatma saakar hai iska koi roop hi nahi hai aur saakar roop ki parampita paramatma ne is shrishti ka nirmaan kiya is duniya ka nirmaan kiya aur krishna yah toh avtarit hain bhagwan shri krishna ne yah toh avtarit hain jo bhagwan narayan ke roop me bhagwan narayan ke ekatrit ke roop hain aur shrishti ka karya hai yah brahma vishnu mahesh yah nirakaar ke roop me rahkar ke duniya ka palan kar rahe hain poshan kar rahe hain toh isi tarah se main apne andar prabhavit bhag ko vyakt kar raha hoon jai radhe krishna

प्रश्न है भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया परम प्रिय महानुभव मैं अपने मत के

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

Abhimanyu kumar Singh

B.Tech, Bhagwant University

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज तक आपने पूछा था वह नितेश ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया देखिए से सत्य का निर्माण करना और सृष्टि का नाश करना भगवान के हाथ में है किसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए ही इस सृष्टि का निर्माण किया होंगे धन्यवाद

aaj tak aapne poocha tha vaah nitesh ne is duniya ka nirmaan kyon kiya dekhiye se satya ka nirmaan karna aur shrishti ka naash karna bhagwan ke hath me hai kisi uddeshya ki purti ke liye hi is shrishti ka nirmaan kiya honge dhanyavad

आज तक आपने पूछा था वह नितेश ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया देखिए से सत्य का निर्माण कर

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  1215
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया है वह तो पांडवों की ओर से और आपके द्वारा वालों के लिए न्याय हेतु युद्ध किया है पब्लिक को बताया है कि धर्म की जीत होती है और अन्य धर्म का ही हार होती है

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya hai vaah toh pandavon ki aur se aur aapke dwara walon ke liye nyay hetu yudh kiya hai public ko bataya hai ki dharm ki jeet hoti hai aur anya dharm ka hi haar hoti hai

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया है वह तो पांडवों की ओर से और आपके द्वारा वाल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अखिलेश शरीर है शरीर के अंदर भी आपने बहुत सारे बैक्टीरिया वगैरह देते हैं मार्शल में आनंद कोशिकाएं हैं तो उठा लीजिए हम सुप्रीम ए दुनिया में भगवान विष्णु के सपने के अंदर है भगवान विष्णु के किरदार है हम जो भी करते हैं वह भगवान विष्णु के अंदर ही कर रहे हैं तो हम उनके सपने से बाहर आ जाएंगे उसके का विनाश हो जाएगा तो अभी तो उन्होंने तो सृष्टि की रचना नहीं की लेकिन हम भगवान के सपने सपने के अंदर ही हम एक अलग ही दुनिया वैसे हम रह रहे हैं वह पवन परदेसी तो कुछ नहीं हम सपने में है और वह अपना काफी सुंदर है जीवन का उद्देश्य है कलर भी सपने में देखते हैं सपने में अपने से भी बेहतर दुनिया बनाना

akhilesh sharir hai sharir ke andar bhi aapne bahut saare bacteria vagera dete hai marshall mein anand koshikayen hai toh utha lijiye hum supreme a duniya mein bhagwan vishnu ke sapne ke andar hai bhagwan vishnu ke kirdaar hai hum jo bhi karte hai vaah bhagwan vishnu ke andar hi kar rahe hai toh hum unke sapne se bahar aa jaenge uske ka vinash ho jaega toh abhi toh unhone toh shrishti ki rachna nahi ki lekin hum bhagwan ke sapne sapne ke andar hi hum ek alag hi duniya waise hum reh rahe hai vaah pawan pardesi toh kuch nahi hum sapne mein hai aur vaah apna kaafi sundar hai jeevan ka uddeshya hai color bhi sapne mein dekhte hai sapne mein apne se bhi behtar duniya banana

अखिलेश शरीर है शरीर के अंदर भी आपने बहुत सारे बैक्टीरिया वगैरह देते हैं मार्शल में आनंद को

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  274
WhatsApp_icon
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कबीरा खड़ा बाजार में सबकी राजा

kabira khada bazaar me sabki raja

कबीरा खड़ा बाजार में सबकी राजा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Mehul Bhai

Social Worker.

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान श्री कृष्णा ने दुनिया का निर्माण क्यों किया यह बिल्कुल गलत है इसका कोई प्रमाण नहीं है कि उसने नहीं भगवान ने यह दुनिया बनाई क्योंकि जो हमारे शास्त्रों में थे उसमें तो कुछ और ही प्रमाण है यह मन मुख्य ऐसा सवाल है कि उसने जी ने निर्माण किया है पृथ्वी का एक गलत बात है क्योंकि आज हम शिक्षित समाज है ना कि अनपढ़ क्योंकि चार वेद आधार पूरा और गीता एवं बाइबिल में भी प्रमाण है कि वह परमात्मा ने किया है पृथ्वी और ब्रह्मांड की रचना और आपको ज्यादा प्रमाणित चाहिए तो आप ज्ञान गंगा पुस्तक मंगवा लीजिए जिसमें आपको सारे प्रमाण मिल जाएंगे कि वह कौन है क्योंकि गीता अध्याय 18 श्लोक 62 65 में श्री कृष्णा अर्जुन को उपदेश दे रहा है कि वह सर्वश्रेष्ठ भगवान पर कोई और है तो उसकी शरण में जा और उसकी शरण में जाने से आपका मुक्त होगा तो सर्वश्रेष्ठ भगवान कोई और है श्री कृष्णा जी नहीं है और और भी आपको जानकर चाहे तो आप ज्ञान गंगा पुस्तक और गीता तेरा ज्ञान अमृत जैसी पुस्तक ऑनलाइन मंगा कि पढ़ सकते हो तो आपका यह भ्रम मिट जाएगा क्योंकि आज हम शिक्षित समाज है इसलिए बोल रहा हूं अनपढ़ रहते तो कोई भी ऐसा मान जाता है

bhagwan shri krishna ne duniya ka nirmaan kyon kiya yah bilkul galat hai iska koi pramaan nahi hai ki usne nahi bhagwan ne yah duniya banai kyonki jo hamare shastron mein the usme toh kuch aur hi pramaan hai yah man mukhya aisa sawaal hai ki usne ji ne nirmaan kiya hai prithvi ka ek galat baat hai kyonki aaj hum shikshit samaj hai na ki anpad kyonki char ved aadhar pura aur geeta evam bible mein bhi pramaan hai ki vaah paramatma ne kiya hai prithvi aur brahmaand ki rachna aur aapko zyada pramanit chahiye toh aap gyaan ganga pustak mangwa lijiye jisme aapko saare pramaan mil jaenge ki vaah kaun hai kyonki geeta adhyay 18 shlok 62 65 mein shri krishna arjun ko updesh de raha hai ki vaah sarvashreshtha bhagwan par koi aur hai toh uski sharan mein ja aur uski sharan mein jaane se aapka mukt hoga toh sarvashreshtha bhagwan koi aur hai shri krishna ji nahi hai aur aur bhi aapko jaankar chahen toh aap gyaan ganga pustak aur geeta tera gyaan amrit jaisi pustak online Manga ki padh sakte ho toh aapka yah bharam mit jaega kyonki aaj hum shikshit samaj hai isliye bol raha hoon anpad rehte toh koi bhi aisa maan jata hai

भगवान श्री कृष्णा ने दुनिया का निर्माण क्यों किया यह बिल्कुल गलत है इसका कोई प्रमाण नहीं ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  70
WhatsApp_icon
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Sonu.Singh

jaankaari.Lena

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा प्रश्न है बताने लायक है बताऊंगा जरूर तो भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया कि भगवान श्रीकृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण इसलिए किया कि इस दुनिया में आप जैसे मनुष्य हैं इस दुनिया में देख लो क्या क्या हो रहा है क्या-क्या होता है क्या-क्या होने वाला है और क्या-क्या मिलता है खा लो पी लो इसलिए किया है जय हिंद जय भारत

bahut hi accha prashna hai batane layak hai bataunga zaroor toh bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya ki bhagwan shrikrishna ne is duniya ka nirmaan isliye kiya ki is duniya mein aap jaise manushya hain is duniya mein dekh lo kya kya ho raha hai kya kya hota hai kya kya hone vala hai aur kya kya milta hai kha lo p lo isliye kiya hai jai hind jai bharat

बहुत ही अच्छा प्रश्न है बताने लायक है बताऊंगा जरूर तो भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
user

Ramandeep Singh

Waheguru industry

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण भगवान का निर्माण नहीं किया सही रास्ता दिखाया है जैसे अपने जीवन में चलना है परमात्मा तक पहुंचना है भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण नहीं किया निर्माण सिर्फ परमात्मा ही करता है जो परमपिता सबका गुरु है वही सिर्फ परमात्मा है परमात्मा है और उसी ने ही निर्माण किया है और वही बहिष्कार करेगा

bhagwan krishna bhagwan ka nirmaan nahi kiya sahi rasta dikhaya hai jaise apne jeevan me chalna hai paramatma tak pahunchana hai bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan nahi kiya nirmaan sirf paramatma hi karta hai jo parampita sabka guru hai wahi sirf paramatma hai paramatma hai aur usi ne hi nirmaan kiya hai aur wahi bahishkar karega

भगवान कृष्ण भगवान का निर्माण नहीं किया सही रास्ता दिखाया है जैसे अपने जीवन में चलना है परम

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया का निर्माण भगवान कृष्ण ने नहीं किया भगवान शिव ने किया है परमपिता परमात्मा सदा शिव ने कृष्ण तो सतयुग का पहला राजकुमार है

duniya ka nirmaan bhagwan krishna ne nahi kiya bhagwan shiv ne kiya hai parampita paramatma sada shiv ne krishna toh satayug ka pehla rajkumar hai

दुनिया का निर्माण भगवान कृष्ण ने नहीं किया भगवान शिव ने किया है परमपिता परमात्मा सदा शिव न

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  2  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!