भगवान कृष्ण के बारे में सबसे ग़लत धारणाएँ क्या है?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यही कि उनकी 1800 नियति सबसे बुरी यही गलत धारणाएं के 1008 रानियां थी उनको पत्नी की तरह देते बिल्कुल गलत है बस पत्नी वाला सम्मान दिया था कि वह पूर्ण हैं उनमें कोई कमी नहीं है जब इंसान होता है तो किसी की उसको आ सकता नहीं होती यह इस्तेमाल करने की याद छूने की सबसे बड़ी सब की जड़ धारणा है कि उनकी 1000 रानी हम तो भी नहीं कर सकते साथी यह सब गलत धारणा बनी रहती हैं इसी में सभी लोग पड़े रहते हैं और संभव यही जगह जगी हुई है ना मैंने काफी बार कई लोगों के मुंह से सुना है कि 1000 रनिया थी तो मैं दो नहीं शादी कर सकता सरासर गलत है क्यों रानियां थी क्योंकि उन लोगों लोगों का कोई शादी करने वाला आज उनको नरकासुर की कथा नरकासुर दोस्तों ना उसके माता और रानियों को जनजातियों को कोई अपनाने वाला नहीं था मैं घर परिवार कोई नहीं था अपनाने वाला भगवान कृष्ण वही तो दयालु होते हैं उनको क्या यह दुनिया को आग लगा दी उन्होंने कहा कि तुम मेरी पटवानी बन के रहोगी मेरी रानियां बच्चे को खाना खिलाने बस मतलब आप समझ रहे हो मैं क्या कहना चाहता हूं मतलब सहवास करो इसका मतलब थोड़ी हुआ आप भी आपकी रक्षा करना आपके खाना खर्चा उठाना यह सब करना मेरी हुई अब आपके मरने की आवश्यकता नहीं है वह लोग मरने के लिए बस इसीलिए उनको सा मुद्रा पुरानी अपनाने के लिए बाजार रातरानी ठीक है यही गलत धारणा सकती है कि उनके उनके की रानियां हैं तो कैसे होता होगा और फलाना ढिकाना तो ऐसा सोचने की तैयार करता नहीं क्योंकि वह भगवान उन्हें कोई कमी नहीं है और वह एक ऐसे ही सर देते मात्र एक ईश्वर कृष्ण भगवान ही ऐसे थे जिन्होंने अपनी इंद्रियों को वश में रखना किसी ने भी अपने इंद्रियों को वश में नहीं रख पाए कोई भी बोली भी नहीं करते समझे सिर्फ कृष्ण भगवान

yahi ki unki 1800 niyati sabse buri yahi galat dharnae ke 1008 raaniyan thi unko patni ki tarah dete bilkul galat hai bus patni vala sammaan diya tha ki vaah purn hain unmen koi kami nahi hai jab insaan hota hai toh kisi ki usko aa sakta nahi hoti yah istemal karne ki yaad chhune ki sabse badi sab ki jad dharana hai ki unki 1000 rani hum toh bhi nahi kar sakte sathi yah sab galat dharana bani rehti hain isi mein sabhi log pade rehte hain aur sambhav yahi jagah jagi hui hai na maine kafi baar kai logon ke mooh se suna hai ki 1000 rania thi toh main do nahi shadi kar sakta sarasar galat hai kyon raaniyan thi kyonki un logon logon ka koi shadi karne vala aaj unko narakasur ki katha narakasur doston na uske mata aur raniyon ko janjatiyon ko koi apnane vala nahi tha main ghar parivar koi nahi tha apnane vala bhagwan krishna wahi toh dayalu hote hain unko kya yah duniya ko aag laga di unhone kaha ki tum meri patvani ban ke rahogi meri raaniyan bacche ko khana khilane bus matlab aap samajh rahe ho main kya kehna chahta hoon matlab sahavas karo iska matlab thodi hua aap bhi aapki raksha karna aapke khana kharcha uthaana yah sab karna meri hui ab aapke marne ki avashyakta nahi hai vaah log marne ke liye bus isliye unko sa mudra purani apnane ke liye bazaar ratrani theek hai yahi galat dharana sakti hai ki unke unke ki raaniyan hain toh kaise hota hoga aur falana dhikana toh aisa sochne ki taiyar karta nahi kyonki vaah bhagwan unhe koi kami nahi hai aur vaah ek aise hi sir dete matra ek ishwar krishna bhagwan hi aise the jinhone apni indriyon ko vash mein rakhna kisi ne bhi apne indriyon ko vash mein nahi rakh paye koi bhi boli bhi nahi karte samjhe sirf krishna bhagwan

यही कि उनकी 1800 नियति सबसे बुरी यही गलत धारणाएं के 1008 रानियां थी उनको पत्नी की तरह देते

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  269
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kesharram

Teacher

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण के बारे में सबसे गलत धारणा है क्या है दोस्तों आपको पता है कि भगवान कृष्ण के साथ में प्रेम पूर्वक व्यवहार किया था और किसलिए दोस्तों उससे तेज का गलत प्रयोग करते हुए हमारे तो विचारक है वह अलग-अलग अपने हिसाब से कमेंट कर रहे हैं 200 आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे धन

bhagwan krishna ke bare mein sabse galat dharana hai kya hai doston aapko pata hai ki bhagwan krishna ke saath mein prem purvak vyavhar kiya tha aur kisliye doston usse tez ka galat prayog karte hue hamare toh vicharak hai vaah alag alag apne hisab se comment kar rahe hain 200 asha karta hoon mere dwara di gayi jaankari se aap santusht honge dhan

भगवान कृष्ण के बारे में सबसे गलत धारणा है क्या है दोस्तों आपको पता है कि भगवान कृष्ण के सा

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  348
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!