उत्तर भारत और उत्तर भारतीयों के बारे में आपके क्या विचार हैं?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मित्र मैं आपसे एक बात कहूं आपके हाथ में पांच उंगली हैं और क्योंकि आपकी मध्यमा और पदमा बहुत ज्यादा काम आती आप की अनामिका उंगली को मैं काट दूं तो क्या आप कटवा लेंगे दर्द तो वही होगा जय पदमा को काटा जाए तो भी दर्द वही होगा बदमाश पर दूंगा और चाय आप हमेशा को काटे तो भी वही होगा शायद काटे तो भीतर भारत और दक्षिण पूर्व पश्चिम भारत हम सब लोग इस प्रकार से नाम आपस में ना बटे ना बाटे क्योंकि हम सब मूल रूप से भारतीय हैं उत्तर भारत को दक्षिण भारत का नक्शा एकमात्र भारतीय हैं नामपुर के हैं नाम पश्चिम के नाम उत्तर के हैं हम पश्चिम के हैं ना हम हिंदू है ना मुसलमान हैं ना हम ब्राह्मण हैं ना बढ़िया प्रकारची हमको जातिवाद क्षेत्रवाद और आशावाद और धर्म बाद के संकीर्ण दायरों से बाहर निकलकर किए सिर्फ भारत के बारे में सोचना चाहिए मारपीट के बारे में चिंतन करना चाहिए भारत विकास के रास्ते क्लास की चाहिए और भारत विकास के लिए हमें सहयोग देना चाहिए क्योंकि राष्ट्रीय चाहिए हमारा सबसे बड़ा धर्म है राष्ट्रीय तैयारी सब छोड़ी जाती है राष्ट्रीय ताकि हमारा एकमात्र कर्तव्य है गिफ्ट भारतीय नागरिकता मूल कर्तव्य होना चाहिए भारी होना चाहिए भारत का विकास हम सबका विकास है भारत का हित ही हमारा हित चाय हम आपस में कितने भी लड़ ले चाहे हम आपस में कितना भी विरोध कर ले लेकिन देश का दुश्मन हमारा दुश्मन है वह हमारा ही कभी नहीं हो सकता है जो देश का दुश्मन है तो देश में अस्थिरता पैदा करना चाहते हैं जो देश को बर्बाद करना चाहते हैं वह चाहे कहीं का भी हो वह हमारा दुश्मन है इसलिए मित्रों एकता की बात करो बहुत अच्छे हो प्रभात के सभी लोग अच्छे हैं क्या दक्षिण क्यों हो क्या पूर्व की ओर से उत्तर क्यों हैं सभी भारतीय सकते हैं सत्यम शिवम सुंदरम की भावना से युक्त है दया धर्म से युक्त है एकमात्र भारतीय आता है जो सब चल रहा है

mere mitra main aapse ek baat kahun aapke hath mein paanch ungli hain aur kyonki aapki madhyama aur padama bahut zyada kaam aati aap ki anamika ungli ko main kaat doon toh kya aap katva lenge dard toh wahi hoga jai padama ko kaata jaaye toh bhi dard wahi hoga badamash par dunga aur chai aap hamesha ko kaate toh bhi wahi hoga shayad kaate toh bheetar bharat aur dakshin purv paschim bharat hum sab log is prakar se naam aapas mein na bate na baate kyonki hum sab mul roop se bharatiya hain uttar bharat ko dakshin bharat ka naksha ekmatra bharatiya hain nampur ke hain naam paschim ke naam uttar ke hain hum paschim ke hain na hum hindu hai na muslim hain na hum brahman hain na badhiya prakarachi hamko jaatiwad kshetravad aur ashavad aur dharm baad ke sankirn dayaron se bahar nikalkar kiye sirf bharat ke bare mein sochna chahiye maar peet ke bare mein chintan karna chahiye bharat vikas ke raste class ki chahiye aur bharat vikas ke liye hamein sahyog dena chahiye kyonki rashtriya chahiye hamara sabse bada dharm hai rashtriya taiyari sab chodi jaati hai rashtriya taki hamara ekmatra kartavya hai gift bharatiya nagarikta mul kartavya hona chahiye bhari hona chahiye bharat ka vikas hum sabka vikas hai bharat ka hit hi hamara hit chai hum aapas mein kitne bhi lad le chahen hum aapas mein kitna bhi virodh kar le lekin desh ka dushman hamara dushman hai vaah hamara hi kabhi nahi ho sakta hai jo desh ka dushman hai toh desh mein asthirata paida karna chahte hain jo desh ko barbad karna chahte hain vaah chahen kahin ka bhi ho vaah hamara dushman hai isliye mitron ekta ki baat karo bahut acche ho prabhat ke sabhi log acche kya dakshin kyon ho kya purv ki aur se uttar kyon hain sabhi bharatiya sakte hain satyam shivam sundaram ki bhavna se yukt hai daya dharm se yukt hai ekmatra bharatiya aata hai jo sab chal raha hai

मेरे मित्र मैं आपसे एक बात कहूं आपके हाथ में पांच उंगली हैं और क्योंकि आपकी मध्यमा और पदमा

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1396
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तर भारत और उत्तर भारतीयों के बारे में आपके क्या विचार है चाहे उत्तर भारत को उत्तर भारतीय हो पश्चिम भारत में पश्चिम भारतीय हो कोई भी साइड की दिशा हो ओके चाहे वह भारतीय हो या ना हो इंसान हमेशा उसके संस्कारों से जाना जाता है अगर उसके संस्कार अच्छे मिले उसमें ग्रह अच्छे से किए हैं तो वो आगे बढ़ सकता है ठीक है तो उसमें इंडियन है या नहीं है उससे कोई फर्क नहीं पड़ता बस उसके संस्कार संस्कार उसकी रहनी करनी भूख ऐसी उस पर ही डिपेंड है उसके सोच उसकी विचार कैसे हैं उस पर भी डिपेंड है ओके बाय

uttar bharat aur uttar bharatiyon ke bare mein aapke kya vichar hai chahen uttar bharat ko uttar bharatiya ho paschim bharat mein paschim bharatiya ho koi bhi side ki disha ho ok chahen vaah bharatiya ho ya na ho insaan hamesha uske sanskaron se jana jata hai agar uske sanskar acche mile usme grah acche se kiye hain toh vo aage badh sakta hai theek hai toh usme indian hai ya nahi hai usse koi fark nahi padta bus uske sanskar sanskar uski rehni karni bhukh aisi us par hi depend hai uske soch uski vichar kaise hain us par bhi depend hai ok bye

उत्तर भारत और उत्तर भारतीयों के बारे में आपके क्या विचार है चाहे उत्तर भारत को उत्तर भारती

Romanized Version
Likes  446  Dislikes    views  5354
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे आप हैं कि उत्तर भारत और उत्तर भारती के बारे में आपके क्या विचार लिख उत्तर भारत पर एक खुद अपने आप में दिशा है सही उत्तर भारतीयों के बारे में तो वह जो दक्षिण के लोग हैं उनसे थोड़े लगे हैं दक्षिण भारतीय जाएंगे जो थोड़े बहुत लोग हैं उनसे थोड़ा हटके और वहां की भाषाएं मैं कुछ फर्क है दूसरी बात यह है कि वहां की कस्टडी है वह और छुट्टियों से थोड़ी सी अलग है थोड़ी टाटा भी उत्तर भारतीयों पर के

dekhe aap hain ki uttar bharat aur uttar bharati ke bare mein aapke kya vichar likh uttar bharat par ek khud apne aap mein disha hai sahi uttar bharatiyon ke bare mein toh vaah jo dakshin ke log hain unse thode lage hain dakshin bharatiya jaenge jo thode bahut log hain unse thoda hatake aur wahan ki bhashayen main kuch fark hai dusri baat yah hai ki wahan ki custody hai vaah aur chhuttiyon se thodi si alag hai thodi tata bhi uttar bharatiyon par ke

देखे आप हैं कि उत्तर भारत और उत्तर भारती के बारे में आपके क्या विचार लिख उत्तर भारत पर एक

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  640
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तर भारत के लोग अच्छे हैं और ईमानदार हैं बहुत ज्यादा परिश्रमी है मैं तूने अच्छा ही समझती हूं और मेरे बहुत सारे मित्र उत्तर भारतीय हैं तो जो है मुझे उनके साथ रहना अच्छा लगता है उनके बारे में विचार हैं

uttar bharat ke log acche hain aur imaandaar hain bahut zyada parishrami hai tune accha hi samajhti hoon aur mere bahut saare mitra uttar bharatiya hain toh jo hai mujhe unke saath rehna accha lagta hai unke bare mein vichar hain

उत्तर भारत के लोग अच्छे हैं और ईमानदार हैं बहुत ज्यादा परिश्रमी है मैं तूने अच्छा ही समझती

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  324
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!