जब रावण ने सीता को छुआ भी नहीं था तो रावण को एक बहुत ही क्रूर चरित्र के रूप में क्यों दिखाया गया?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

का वनडे सीतापुर में हुआ था हुआ था उसका कारण यह था कि सीता परम शक्ति दुर्गा का अवतार है इसलिए उसे छूना संभव हो सका लेकिन आप तीन प्रकार के होते हैं मानसिक वाचिक और मानसिक पाप है जब आपने किसी का अहित चिंतन किया है इसी के पूरी करने के लिए आप विचार बना रहे हो आप चिंतन भी कर रहे हो तो वह मानसिक पाप है बातचीत पाप पर है जब आप किसी को शराब दे रहे हो उसका अहित करने के लिए कह रहे हो उसके बाद उसका पूरा हो ऐसा कह रहे हो उसको गाली दे रहे हो उसका अपमान कर रहे हो तो यह बात है बाबा चुपचाप है और का एक बाप होता है जब किसी अपने शरीर के द्वारा आप किसी को हानि पहुंचा रहे हो किसी टाइप कर रहे हो किसी को बर्बाद करने का प्रयास कर रहे हो तो मैं आपका का एक पाप है क्योंकि रावण ने यह तीनों ही बात किए हैं रावण से सीता का अपहरण करने का उसने विचार बनाया यह मानसिक पाप से हरण करके लाया यह पाप और उसने सीता को अपनी संपत्ति रूप में स्वीकार करने के लिए कहा यूज़ का काय बातचीत और मानसिक प्रकार का अपराध है इसलिए रावण की अधोगति हुई थी रावण पाप का रूप माना जाता है रावण एक बुराई का रूप माना जाता है यही कारण है कि हम दशहरा पर सभी भारतीय बुराई पर भलाई की विजय के रूप में दशहरा क्यों मनाते हैं

ka oneday sitapur me hua tha hua tha uska karan yah tha ki sita param shakti durga ka avatar hai isliye use chhuna sambhav ho saka lekin aap teen prakar ke hote hain mansik vachik aur mansik paap hai jab aapne kisi ka ahit chintan kiya hai isi ke puri karne ke liye aap vichar bana rahe ho aap chintan bhi kar rahe ho toh vaah mansik paap hai batchit paap par hai jab aap kisi ko sharab de rahe ho uska ahit karne ke liye keh rahe ho uske baad uska pura ho aisa keh rahe ho usko gaali de rahe ho uska apman kar rahe ho toh yah baat hai baba chupchap hai aur ka ek baap hota hai jab kisi apne sharir ke dwara aap kisi ko hani pohcha rahe ho kisi type kar rahe ho kisi ko barbad karne ka prayas kar rahe ho toh main aapka ka ek paap hai kyonki ravan ne yah tatvo hi baat kiye hain ravan se sita ka apahran karne ka usne vichar banaya yah mansik paap se haran karke laya yah paap aur usne sita ko apni sampatti roop me sweekar karne ke liye kaha use ka kya batchit aur mansik prakar ka apradh hai isliye ravan ki adhogati hui thi ravan paap ka roop mana jata hai ravan ek burayi ka roop mana jata hai yahi karan hai ki hum dussehra par sabhi bharatiya burayi par bhalai ki vijay ke roop me dussehra kyon manate hain

का वनडे सीतापुर में हुआ था हुआ था उसका कारण यह था कि सीता परम शक्ति दुर्गा का अवतार है इसल

Romanized Version
Likes  353  Dislikes    views  5585
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रावण ने सीता को शुभा नहीं था लेकिन रावण ने पर नारी का हरण किया था इसलिए रावण को मारा गया वह सतयुग के जमाने में किसी स्त्री को चुना था इसलिए रावण हरण करके बहुत बड़ा पाप किया था और सीता स्वयं माता लक्ष्मी का स्वरूप थी उनका हरण करना तो और भी अत्यंत गलत बात

ravan ne sita ko shubha nahi tha lekin ravan ne par nari ka haran kiya tha isliye ravan ko mara gaya vaah satayug ke jamane mein kisi stree ko chuna tha isliye ravan haran karke bahut bada paap kiya tha aur sita swayam mata laxmi ka swaroop thi unka haran karna toh aur bhi atyant galat baat

रावण ने सीता को शुभा नहीं था लेकिन रावण ने पर नारी का हरण किया था इसलिए रावण को मारा गया व

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1863
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है जरूर आओ नाश्ता कुछ हुआ ही नहीं था तो रावण को एक बहुत क्रूर चरित्र के रूप में क्यों दिखाया गया तो रावण को एक बहुत इंक्लूड चरित्र के रूप में दिखाया गया क्योंकि वह अभिमानी था और उन्होंने पराई स्त्री का अपहरण धोखे से किया शादी मंदोदरी के साथ दोनों ने बलपूर्वक उनके पिता के विरुद्ध जाकर उनसे शादी की थी इसलिए उन्हें क्रूर चरित्र के रूप में दिखाया गया

aapka sawaal hai zaroor aao nashta kuch hua hi nahi tha toh ravan ko ek bahut krur charitra ke roop me kyon dikhaya gaya toh ravan ko ek bahut include charitra ke roop me dikhaya gaya kyonki vaah abhimani tha aur unhone parai stree ka apahran dhokhe se kiya shaadi mandodari ke saath dono ne balapurvak unke pita ke viruddh jaakar unse shaadi ki thi isliye unhe krur charitra ke roop me dikhaya gaya

आपका सवाल है जरूर आओ नाश्ता कुछ हुआ ही नहीं था तो रावण को एक बहुत क्रूर चरित्र के रूप में

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user

Ayush kumar dubey

Actor, Singer, Artist and C E O of (A S S G) Motiviational Speker Lover Of Nation INDIA

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो आई एम आशीष कुमार दुबे आपका प्रश्न है जब रावण ने सीता कुछ हुआ ही नहीं था तो रावण को एक बहुत ही क्रूर चरित्र के रूप में देखा गया बिल्कुल सही बात है रावण ने सीता को तो माता सीता ने एक तिनके के सहारे रावण को श्राप दिया था कि जिस दिन वह माता सीता को टच करेगा या नहीं छोड़ना उसके सर के साथ खड़े हो जाएंगे तोता के कारण रावण ने माता सीता को नहीं छुआ लेकिन गुरुचरित्र के रूप में देखा जाता है कि माता-पिता से पहले कई स्त्रियों के साथ दुर्व्यवहार और कई प्रकार की घटनाओं को अंजाम दिया चरित्र के रूप में देखा जाता है थैंक्यू जय हिंद जय श्री राम

hello I M aashish kumar dubey aapka prashna hai jab ravan ne sita kuch hua hi nahi tha toh ravan ko ek bahut hi krur charitra ke roop mein dekha gaya bilkul sahi baat hai ravan ne sita ko toh mata sita ne ek tinke ke sahare ravan ko shraap diya tha ki jis din vaah mata sita ko touch karega ya nahi chhodna uske sir ke saath khade ho jaenge tota ke karan ravan ne mata sita ko nahi chhua lekin guruchritra ke roop mein dekha jata hai ki mata pita se pehle kai sthreeyon ke saath durvyavahar aur kai prakar ki ghatnaon ko anjaam diya charitra ke roop mein dekha jata hai thainkyu jai hind jai shri ram

हेलो आई एम आशीष कुमार दुबे आपका प्रश्न है जब रावण ने सीता कुछ हुआ ही नहीं था तो रावण को एक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  224
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि रावण को क्रूर चरित्र के रूप में इसलिए दिखाया गया क्योंकि वह कुरूर रूप में था कहने का अर्थ है वह सबसे पहले राक्षस कुल में जन्म लिया था और उसी साल स्वभाव का था और इसलिए उसकी जो स्वभाव है वही चीज को बाल्मीकि जी दर्शाए अपने रामायण में जो रावण वैसा ही था जैसा उसको देसी कैरेक्टर उनकी दिखाया गया

kyonki ravan ko krur charitra ke roop mein isliye dikhaya gaya kyonki vaah kurur roop mein tha kehne ka arth hai vaah sabse pehle rakshas kul mein janam liya tha aur usi saal swabhav ka tha aur isliye uski jo swabhav hai wahi cheez ko balmiki ji darshaye apne ramayana mein jo ravan waisa hi tha jaisa usko desi character unki dikhaya gaya

क्योंकि रावण को क्रूर चरित्र के रूप में इसलिए दिखाया गया क्योंकि वह कुरूर रूप में था कहने

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Anjali Upadhyay

I Want To Become An Ias Officer

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब रावण ने सीता को छुआ भी नहीं था तो रावण को एक बहुत ही पूछ के रूप में इसलिए देखा जाता है क्योंकि उसे इंकार में हो गया था

jab ravan ne sita ko chhua bhi nahi tha toh ravan ko ek bahut hi puch ke roop mein isliye dekha jata hai kyonki use inkar mein ho gaya tha

जब रावण ने सीता को छुआ भी नहीं था तो रावण को एक बहुत ही पूछ के रूप में इसलिए देखा जाता है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

kanha

Study

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि रावण ने सीता का अपहरण किया था इसलिए लावणी क्रूड चरित्र के रूप में दिखाया गया है और रावण वास्तव में एक महान ज्ञानी था

kyonki ravan ne sita ka apahran kiya tha isliye lavani crude charitra ke roop mein dikhaya gaya hai aur ravan vaastav mein ek mahaan gyani tha

क्योंकि रावण ने सीता का अपहरण किया था इसलिए लावणी क्रूड चरित्र के रूप में दिखाया गया है और

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!