आपको क्या लगता है कि महाभारत में क्या गलत है?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

5:08
Play

Likes  181  Dislikes    views  3610
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

2:01
Play

Likes  62  Dislikes    views  2072
WhatsApp_icon
user

Balram prajapati

Poet And Self Employee

0:39
Play

Likes  10  Dislikes    views  261
WhatsApp_icon
user
0:39
Play

Likes  9  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Shashi

Author, Spiritual Blogger

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत को अगर जवाब का कथा के अलावा किस अधिवेशन में कैसे जीना चाहिए आज के समय में बहुत सारी चीजें उचित और अनुचित हमको सरिता से हर एक चीज से प्रेरणा लेने के लिए उन चीजों को सकारात्मक बहुत सारी चीजें होती है जो उस समय उस संदर्भ में अच्छी होती हैं तो हमको नहीं चाहिए कोई भी किताब पढ़ने में बंदर देखना तो बकरी होता है भगवान कृष्ण ने क्या किया शर्म क्यों थे वापी में क्या चाहिए सारी बातें कुछ समय के अनुकूल थी और यह जीवन दर्शाती है बहुत सारे जो उसने थे वह अपनी एकता को प्ले कर रहे हैं कभी मुश्किल कभी कभी हमको जाना नहीं की सारी चीजें उसका हिसाब से

mahabharat ko agar jawab ka katha ke alava kis adhiveshan mein kaise jeena chahiye aaj ke samay mein bahut saree cheezen uchit aur anuchit hamko sarita se har ek cheez se prerna lene ke liye un chijon ko sakaratmak bahut saree cheezen hoti hai jo us samay us sandarbh mein achi hoti hain toh hamko nahi chahiye koi bhi kitab padhne mein bandar dekhna toh bakri hota hai bhagwan krishna ne kya kiya sharm kyon the vaapee mein kya chahiye saree batein kuch samay ke anukul thi aur yah jeevan darshatee hai bahut saare jo usne the vaah apni ekta ko play kar rahe hain kabhi mushkil kabhi kabhi hamko jana nahi ki saree cheezen uska hisab se

महाभारत को अगर जवाब का कथा के अलावा किस अधिवेशन में कैसे जीना चाहिए आज के समय में बहुत सार

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1293
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको क्या लगता है कि मैं बस में क्या झूठ महाभारत में गलत तो ऐसा लगता है कि जो वाकया हुआ था द्रोपदी ने दुर्योधन को बोला था कि जमीन और पानी में अंतर क्यों नहीं शेखपुरी मां-बाप का कारण द्रोपदी के संवाद पूरी महाभारत का का जाएगा कि जो कि यह कहा ऐसा हुआ उसके बाद सो जुआ खेलने की जो रोती हुई थी और पांडवों ने अपनी दोस्ती को अपनी पत्नी को जुए में लगा दिया था मेरे को लगता है कि नहीं होना चाहिए और आपके लिए तो बिल्कुल गलत

aapko kya lagta hai ki main bus mein kya jhuth mahabharat mein galat toh aisa lagta hai ki jo vakaya hua tha draupadi ne duryodhan ko bola tha ki jameen aur paani mein antar kyon nahi shekhpuri maa baap ka karan draupadi ke samvaad puri mahabharat ka ka jaega ki jo ki yah kaha aisa hua uske baad so jua khelne ki jo roti hui thi aur pandavon ne apni dosti ko apni patni ko jue mein laga diya tha mere ko lagta hai ki nahi hona chahiye aur aapke liye toh bilkul galat

आपको क्या लगता है कि मैं बस में क्या झूठ महाभारत में गलत तो ऐसा लगता है कि जो वाकया हुआ था

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1229
WhatsApp_icon
user

Rasbihari Pandey

लेखन / कविता पाठ

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में कुछ भी गलत नहीं जितनी कथाएं हैं उन्हें अगर हम आत्मसात करें तो हमें कुछ न कुछ सीखने को मिलता है महाभारत और 18 पुराणों की रचना करने वाले वेदव्यास ने बहुत परिश्रम के साथ इन ग्रंथों की रचना की है इसलिए इसमें कमेंट ढूंढना हमारी अज्ञानता है हमें इनमें से गुण और उद्देश्यों को ढूंढना चाहिए

mahabharat mein kuch bhi galat nahi jitni kathaen hain unhe agar hum aatmsat kare toh hamein kuch na kuch sikhne ko milta hai mahabharat aur 18 purano ki rachna karne waale vedvyas ne bahut parishram ke saath in granthon ki rachna ki hai isliye isme comment dhundhana hamari agyanata hai hamein inme se gun aur udyeshyon ko dhundhana chahiye

महाभारत में कुछ भी गलत नहीं जितनी कथाएं हैं उन्हें अगर हम आत्मसात करें तो हमें कुछ न कुछ स

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  297
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में गलत क्या है कुछ भी गलत नहीं है हां महाभारत की कथाओं में जिन पात्रों ने गलतियां की वह तो आपके सामने स्पष्ट है गलत है द्रोपदी के वस्त्रों का हरण गलत टाइप पांडवों के साथ छल कपट धन्यवाद

mahabharat mein galat kya hai kuch bhi galat nahi hai haan mahabharat ki kathao mein jin patron ne galtiya ki vaah toh aapke saamne spasht hai galat hai draupadi ke vastron ka haran galat type pandavon ke saath chhal kapat dhanyavad

महाभारत में गलत क्या है कुछ भी गलत नहीं है हां महाभारत की कथाओं में जिन पात्रों ने गलतियां

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  1212
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत अतीत की बात थी अब महाभारत में क्या गलत था क्या सही था यह आज के समय में भी व्यक्ति विशेष की जो रेसिंग पावर है ग्रहण करने की क्षमता है उस पर निर्भर करता है आज भी कुछ लोग होंगे जिसको शकुनी सही लगता है या दुर्योधन सही लगता है या धरती लगता है और बहुत सारे ऐसे भी लोग हैं जो कि अर्जुन को सही समझते हैं तो क्या सही था क्या गलत था यह व्यक्ति विशेष की सोच पर उसकी ग्रहण क्षमता पर निर्भर करता है आप महाभारत को किस रूप में देखते हैं आपको उसमें क्या ठीक चीज अच्छी लगती है और उसमें से क्या आप ग्रहण कर सकते हैं अपना सकते हैं यह ज्यादा महत्वपूर्ण है बजाए इसके कि हम उस में गलतियां ढूंढते रहे इतिहास गलतियां ढूंढने के लिए नहीं बल्कि गलतियों से सीखने के लिए होता है तो महाभारत से हमको क्या सीखना है इस पर ज्यादा जोर दिया जाना चाहिए जो गलत हुआ क्यों हो चुका उसको अब बदला नहीं जा सकता तो उसकी थानेदार करने से हमको कुछ भी हासिल नहीं होगा बस हम अपने आप को इतना याद रखें कि हम नीतियां ऐसी गलतियां नहीं करेंगे उन गलतियों से कुछ सीखेंगे और हम आगे बढ़ते जाएंगे शुभकामनाएं

mahabharat ateet ki baat thi ab mahabharat me kya galat tha kya sahi tha yah aaj ke samay me bhi vyakti vishesh ki jo racing power hai grahan karne ki kshamta hai us par nirbhar karta hai aaj bhi kuch log honge jisko shakuni sahi lagta hai ya duryodhan sahi lagta hai ya dharti lagta hai aur bahut saare aise bhi log hain jo ki arjun ko sahi samajhte hain toh kya sahi tha kya galat tha yah vyakti vishesh ki soch par uski grahan kshamta par nirbhar karta hai aap mahabharat ko kis roop me dekhte hain aapko usme kya theek cheez achi lagti hai aur usme se kya aap grahan kar sakte hain apna sakte hain yah zyada mahatvapurna hai bajaye iske ki hum us me galtiya dhoondhate rahe itihas galtiya dhundhne ke liye nahi balki galatiyon se sikhne ke liye hota hai toh mahabharat se hamko kya sikhna hai is par zyada jor diya jana chahiye jo galat hua kyon ho chuka usko ab badla nahi ja sakta toh uski thanedaar karne se hamko kuch bhi hasil nahi hoga bus hum apne aap ko itna yaad rakhen ki hum nitiyan aisi galtiya nahi karenge un galatiyon se kuch sikhenge aur hum aage badhte jaenge subhkamnaayain

महाभारत अतीत की बात थी अब महाभारत में क्या गलत था क्या सही था यह आज के समय में भी व्यक्ति

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1713
WhatsApp_icon
user
1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में क्षेत्र का संबोधन हां जी गोदारा इतना कोई गलत नहीं चलेगा तो बताया गया एक सांड के माध्यम से बताया गया है उनके थी बड़ी गलती थी शासन ने जो हर स्तर पर आती है तो पल्लू पकड़ कर देखो सपना और विक्की अग्रवाल होता है उससे बोला था और उसने जो बताया था कुछ भी नहीं चलता है 3:00 बजे तथा उनके बच्चे पढ़ते हुए बार-बार हो रहा था परंतु जो है कुछ मन में कुछ से विकास की अंतिम है शेष में जो कुछ प्रकार की पालकी यात्रा गई थी क्योंकि उन्होंने जाम कर दिया इससे नाराज होकर खेतों में नारियों का सम्मान करना चाहिए और नारी बर्थडे पर भारी पूज्यंते तत्र देवता रमंते नारी तुम केवल श्रद्धा हो विश्वास ना करो जीवन के सुंदर समतल हरी-भरी वादियों के सम्मान को ठेस नहीं पहुंचेगी इसी कारण है हमारे नारियों के समान रिस्पेक्ट और उनके पुत्र है सम्मान होना चाहिए जो शिक्षा आवश्यकता प्रतीत होंगे धन्यवाद

mahabharat me kshetra ka sambodhan haan ji godara itna koi galat nahi chalega toh bataya gaya ek saand ke madhyam se bataya gaya hai unke thi badi galti thi shasan ne jo har sthar par aati hai toh pallu pakad kar dekho sapna aur vicky agrawal hota hai usse bola tha aur usne jo bataya tha kuch bhi nahi chalta hai 3 00 baje tatha unke bacche padhte hue baar baar ho raha tha parantu jo hai kuch man me kuch se vikas ki antim hai shesh me jo kuch prakar ki paalakee yatra gayi thi kyonki unhone jam kar diya isse naaraj hokar kheton me nariyon ka sammaan karna chahiye aur nari birthday par bhari pujyante tatra devta ramante nari tum keval shraddha ho vishwas na karo jeevan ke sundar samtal hari bhari vadiyon ke sammaan ko thes nahi pahunchegi isi karan hai hamare nariyon ke saman respect aur unke putra hai sammaan hona chahiye jo shiksha avashyakta pratit honge dhanyavad

महाभारत में क्षेत्र का संबोधन हां जी गोदारा इतना कोई गलत नहीं चलेगा तो बताया गया एक सांड

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  501
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं तो यही कहूंगा कि महाभारत में सब अपनी जगह की बात है यानी कि अभिमन्यु मारा गया और सबसे पहली यह तो मुझे पता है उतना ही मैं बोलूंगा और एक स्त्री के पास पास पति नहीं हो सकते हैं द्रौपदी कितने पति थे पांच पति थे उसमें पांच पति पुण्य था और इस समय कोई कर ले तो अपराध हो जाएगा यह कौन सा है

main toh yahi kahunga ki mahabharat mein sab apni jagah ki baat hai yani ki abhimanyu mara gaya aur sabse pehli yah toh mujhe pata hai utana hi main boloonga aur ek stree ke paas paas pati nahi ho sakte hain draupadi kitne pati the paanch pati the usme paanch pati punya tha aur is samay koi kar le toh apradh ho jaega yah kaun sa hai

मैं तो यही कहूंगा कि महाभारत में सब अपनी जगह की बात है यानी कि अभिमन्यु मारा गया और सबसे प

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में बहुत पूरी की पूरी राजनीति है उसमें क्या गलत है क्या सही है यह तो बहुत बड़े ज्ञानी आदमी से ही डिसाइड करना होता है और वो कर पाएंगे क्योंकि महाभारत एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें युद्ध के साथ-साथ राजनीति का भी प्रयोग किया गया है वह सारे राजनीति का प्रयोग किया गया है जो एक नॉर्मल पॉलिटिक्स में होता है तो सब दुनिया की सबसे बड़ी राजनीति की किताब कहा जाए तो वह महाभारत है और इसमें क्या गलत है क्या सही है तभी शायद होगा जब आप महाभारत को पढ़ेंगे तो महाभारत आप पर बैठे थे या फिर उनके उनको ऑडियो में सुनो तो पूरी महाभारत को समझो फिर खुद आपको पता चल जाएगी कि क्या गलत है क्या

mahabharat mein bahut puri ki puri raajneeti hai usme kya galat hai kya sahi hai yah toh bahut bade gyani aadmi se hi decide karna hota hai aur vo kar payenge kyonki mahabharat ek aisa granth hai jisme yudh ke saath saath raajneeti ka bhi prayog kiya gaya hai vaah saare raajneeti ka prayog kiya gaya hai jo ek normal politics mein hota hai toh sab duniya ki sabse badi raajneeti ki kitab kaha jaaye toh vaah mahabharat hai aur isme kya galat hai kya sahi hai tabhi shayad hoga jab aap mahabharat ko padhenge toh mahabharat aap par baithe the ya phir unke unko audio mein suno toh puri mahabharat ko samjho phir khud aapko pata chal jayegi ki kya galat hai kya

महाभारत में बहुत पूरी की पूरी राजनीति है उसमें क्या गलत है क्या सही है यह तो बहुत बड़े ज्ञ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
aapko kya lagta ; aapko kya lagta hai ; aisa galat ; galat lagta hai ; mahabharat ka waqia ; आपको क्या लगता है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!