हिंदू धर्म के बारे में हिंदुओं की सबसे बड़ी गलतफहमी क्या है?...


user

Shashi

Author, Spiritual Blogger

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से हिंदू धर्म के बारे में सबसे बड़ी ग्रंथि करने का तरीका है हमको साथ पूर्ण ढंग से देखना चाहिए और अच्छे लोग अच्छी कंपनी इन दूध को उसी तरह से देखते हैं एक रास्ते की तरह आपके किसी एक गंतव्य स्थान पर नहीं जाता है आपको किसी भी नियम और कानून पारित कर चुकी सबसे ज्यादा रखो बहुत सारी दुकान

mere hisab se hindu dharam ke bare mein sabse badi granthi karne ka tarika hai hamko saath purn dhang se dekhna chahiye aur acche log achi company in doodh ko usi tarah se dekhte hain ek raste ki tarah aapke kisi ek gantavya sthan par nahi jata hai aapko kisi bhi niyam aur kanoon paarit kar chuki sabse zyada rakho bahut saree dukaan

मेरे हिसाब से हिंदू धर्म के बारे में सबसे बड़ी ग्रंथि करने का तरीका है हमको साथ पूर्ण ढंग

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1188
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Achary Dhruv sashtri

Achary and Youtuber

2:21

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सर्वप्रथम तो आप यह जान लीजिए कि हिंदू कोई धर्म नहीं है हिंदुओं का धर्म है सनातन धर्मा वास्तव पर सबसे बड़ी गलतफहमी सनातन संस्कृति में हिंदू धर्म के लोगों में एक ही है महात्मा गांधी जी ने 153 किया ईश्वर अल्लाह तेरो नाम सबको सम्मति दे भगवान रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम जो हम भगवान को अल्लाह और आज के साथ खड़ा करते हैं सही बात तो यह है कि भगवान की समानता और भगवान के बराबर किसी भी अन्य धर्म के मानने वाले चाहे वह अल्लाह हो चाहे जीजा जी से क्यों अन्य कोई भी हो क्योंकि अब किसी भी धर्म के देवता को देखेंगे तो उनका सब का संदेश रहता है कि आप किसी भी तरह केवल अपने धर्म वालों को मानो हो या किसी को अपने दिल में किसी भी तरह मिलाओ अपने धर्म का उपदेश तो लेकिन हमारे भगवान श्रीराम को सजा जो भी हो सब का एक ही विदेश रहा है वास्तव में धर्म की जो परिभाषा धर्म के 10 लक्षण है परोपकाराय पुण्य पेपर पेज नंबर पर धर्म है जो सबके मंगल की कामना करें सब के सब नेता चाहे चाहे किसी भी जात धर्म का हो छोटे बड़े का आदर करें वह धर्म है अब विचार करिए जिस धर्म में हमारे भगवान राम जी कहते हैं पुत्र बधू भगिनी सुत नारी सुन सठिया कन्या संचारी इन्हें को दृष्टि ब्लॉक का जोइता यदि कुछ बात ना होई और कुछ अन्य शहरों में इनको दृष्टिकोण के साथ सब कुछ हो करता है तो फिर यह और भगवान राम जी एक कैसे हो सकते इसीलिए हमारे हिंदू को एक समझते हैं और वह हमको एक नहीं समझते हैं तो सबको आज के समय में सबको समाज के हिसाब से ही दृष्टि रखने में ही कल्याण है यह मेरा अपना निजी मत अगर कुछ सही नहीं लगे तो क्षमा प्रार्थी हूं जय श्री राम

sarvapratham toh aap yah jaan lijiye ki hindu koi dharam nahi hai hinduon ka dharam hai sanatan dharma vaastav par sabse badi galatfahamee sanatan sanskriti mein hindu dharam ke logon mein ek hi hai mahatma gandhi ji ne 153 kiya ishwar allah tharo naam sabko sammati de bhagwan raghupati raghav rajaram patit paavan sitaram jo hum bhagwan ko allah aur aaj ke saath khada karte hain sahi baat toh yah hai ki bhagwan ki samanata aur bhagwan ke barabar kisi bhi anya dharam ke manane waale chahen vaah allah ho chahen jija ji se kyon anya koi bhi ho kyonki ab kisi bhi dharam ke devta ko dekhenge toh unka sab ka sandesh rehta hai ki aap kisi bhi tarah keval apne dharam walon ko maano ho ya kisi ko apne dil mein kisi bhi tarah milao apne dharam ka updesh toh lekin hamare bhagwan shriram ko saza jo bhi ho sab ka ek hi videsh raha hai vaastav mein dharam ki jo paribhasha dharam ke 10 lakshan hai paropkaray punya paper page number par dharam hai jo sabke mangal ki kaamna karen sab ke sab neta chahen chahen kisi bhi jaat dharam ka ho chhote bade ka aadar karen vaah dharam hai ab vichar kariye jis dharam mein hamare bhagwan ram ji kehte hain putra badhu bhagini sut nari sun sathiya kanya sanchari inhen ko drishti block ka joita yadi kuch baat na hoi aur kuch anya shaharon mein inko drishtikon ke saath sab kuch ho karta hai toh phir yah aur bhagwan ram ji ek kaise ho sakte isliye hamare hindu ko ek samajhte hain aur vaah hamko ek nahi samajhte hain toh sabko aaj ke samay mein sabko samaaj ke hisab se hi drishti rakhne mein hi kalyan hai yah mera apna niji mat agar kuch sahi nahi lage toh kshama prarthi hoon jai shri ram

सर्वप्रथम तो आप यह जान लीजिए कि हिंदू कोई धर्म नहीं है हिंदुओं का धर्म है सनातन धर्मा वास्

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

Tejnath sahu

Social Worker

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू धर्म के बारे में हिंदू की सबसे गलत बड़ी गलतफहमी यह है कि उनको यह नहीं पता कि पूर्ण परमात्मा कौन है गीता जी में स्पष्ट रूप से मना किया है कि त्रिगुणी प्रभु का भक्ति नहीं करना चाहिए और त्रिगुणी भक्ति है रजोगुण ब्रह्मा सद्गुण विष्णु और तमोगुण शंकर जी के भक्ति के लिए स्पष्ट मना किया है लेकिन हम क्या कर रहे हैं इन्हीं को भगवान जान करके कंप्लीट भगवान जान करके गुड्डी चढ़दी में लगे हुए हैं जिससे मैं कोई लाभ नहीं मिलता है जबकि इन भगवानों से भी ऊपर कोई और भगवान है जिसे पूर्ण परमात्मा करते हैं जिसके बारे में गीता जी में बता रहे हैं कि उस पूर्ण परमात्मा की शरण में जाओ जहां जाने के बाद मनुष्य द्वारा धरती पर नहीं आता वह पूर्ण मोक्ष की यूपीएस के बारे में आप संत रामपाल जी महाराज जी के विचारों को सुनें उनके शास्त्र प्रमाणित सत्संग सुने जोगी स्पष्ट बता रहे हैं रोज आता है शाम 7:30 बजे साधना चैनल पर और अधिक जानकारी के लिए पढ़ें उनके लिखे पुस्तक ज्ञान गंगा पुस्तक वाप निशुल्क प्राप्त करने के लिए अपना नाम पता मोबाइल नंबर हमारे व्हाट्सएप नंबर 740 से 15 से 20 दिनों के अंदर बिना किसी डिलीवरी चार्ज पूजा दिया जाता है

hindu dharam ke bare mein hindu ki sabse galat badi galatfahamee yah hai ki unko yah nahi pata ki purn paramatma kaun hai geeta ji mein spasht roop se mana kiya hai ki triguni prabhu ka bhakti nahi karna chahiye aur triguni bhakti hai rajogun brahma sadgun vishnu aur tamogun shankar ji ke bhakti ke liye spasht mana kiya hai lekin hum kya kar rahe hain inhin ko bhagwan jaan karke complete bhagwan jaan karke guddi chadhadi mein lage hue hain jisse main koi labh nahi milta hai jabki in bhagavanon se bhi upar koi aur bhagwan hai jise purn paramatma karte hain jiske bare mein geeta ji mein bata rahe hain ki us purn paramatma ki sharan mein jao jahan jaane ke baad manushya dwara dharti par nahi aata vaah purn moksha ki UPS ke bare mein aap sant rampal ji maharaj ji ke vicharon ko sunen unke shastra pramanit satsang sune jogi spasht bata rahe hain roj aata hai shaam 7 30 baje sadhna channel par aur adhik jaankari ke liye padhen unke likhe pustak gyaan ganga pustak vap nishulk prapt karne ke liye apna naam pata mobile number hamare whatsapp number 740 se 15 se 20 dino ke andar bina kisi delivery charge puja diya jata hai

हिंदू धर्म के बारे में हिंदू की सबसे गलत बड़ी गलतफहमी यह है कि उनको यह नहीं पता कि पूर्ण प

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!