भारत के खजुराहो मंदिरों में इतनी कामुकता क्यों है?...


user

Karan Janwa

Automobile Engineer

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की सेक्स करने पर कहा था कि 10 मई को फिल्म सत्या पवन कामयानी एक्स निवास ने अपनी इनकी पूर्ति के लिए उनको मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए उस मंदिर का निर्माण किया गया था जब भारत में मुद्रा जलने में क्या कमी होती जा रही थी और पंजाब का मंदिर है वह वह नहीं बताता है कि इससे भगवान के पास हर कोई नहीं जा सकता है भगवान के मंदिर के अंदर जाने के लिए आपको बिल्कुल पक्का होना चाहिए भगवान के दर्शन कर पाएंगे कामुकता किसी वस्तु में नहीं होती है कामुक्त अपने शरीर में ही होती है तो वह तो सिर्फ पत्थर ही पत्थर की मूर्तियां हैं उनमें कामुकता नहीं है मूर्तिकला एक कला है उसको देखकर अपनी आंखों से ओके

aaj ki sex karne par kaha tha ki 10 may ko film satya pawan kamayani x niwas ne apni inki purti ke liye unko margdarshan prapt karne ke liye us mandir ka nirmaan kiya gaya tha jab bharat mein mudra jalne mein kya kami hoti ja rahi thi aur punjab ka mandir hai vaah vaah nahi batata hai ki isse bhagwan ke paas har koi nahi ja sakta hai bhagwan ke mandir ke andar jaane ke liye aapko bilkul pakka hona chahiye bhagwan ke darshan kar payenge kamukata kisi vastu mein nahi hoti hai kamukt apne sharir mein hi hoti hai toh vaah toh sirf patthar hi patthar ki murtiya hain unmen kamukata nahi hai murtikala ek kala hai usko dekhkar apni aankho se ok

आज की सेक्स करने पर कहा था कि 10 मई को फिल्म सत्या पवन कामयानी एक्स निवास ने अपनी इनकी पूर

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  260
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के खजुराहो मंदिरों को 10 वीं शताब्दी में मनाया गया बनाया गया था और उसके अंदर मनुष्य की कामुकता सेक्स के अंदर दर्शाया गया है 10 वीं शताब्दी के मंदिर 10 वीं शताब्दी में विश्व का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर कंबोडिया में भी बनाया गया था

bharat ke khajuraho mandiro ko 10 vi shatabdi mein manaya gaya banaya gaya tha aur uske andar manushya ki kamukata sex ke andar darshaya gaya hai 10 vi shatabdi ke mandir 10 vi shatabdi mein vishwa ka sabse bada hindu mandir cambodia mein bhi banaya gaya tha

भारत के खजुराहो मंदिरों को 10 वीं शताब्दी में मनाया गया बनाया गया था और उसके अंदर मनुष्य क

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1779
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिट्टू उस उस काल में जिसका आदमी खजुराहो मंदिर बने हैं उस काल में राजाओं का जो पेपर पूर्ण जीवन था उसमें सुरासुंदरी का बहुत अधिक प्रयोग देश में सुख शांति थी सुख शांति थी तो राजाओं को कामुकता बनाने के लिए मंदिरों के निर्माण किए गए क्योंकि उसमें जो तुम्हें देखे हैं उनमें विभिन्न प्रकार के आसन हैं आसनों का प्रयोग संभोग में किया जाता है तो उस भूत और एक कामुकता का दौर था राजाओं में सुरासुंदरी का बहुत अधिक प्रचलन था बीएफ ऐश्वर्या में डूबे हुए थे कि शांति का काल था उन्हें कोई ऐसी अटैक होने वाली बात नहीं थी और उस दौर में कलाई अपने चरमोत्कर्ष सीमा पर थी यदि खजुराहो के मंदिरों को जो आपने वहां की गुफाएं देखे हैं उन गुफाओं को मैं देख कर आया हूं अभी बाकी स्थापत्य कला उनकी स्तुत्य है वह कलाकार धनजी हैं उन्होंने एक एक पत्थर की चट्टान काटकर के बनाए उन्हें कई जोर नहीं देख सकते आप कैसे सुंदर बनाएं हैं दर्शनीय हैं और उसका में क्योंकि वह बहुत ज्यादा था इसलिए राजा दुख का मुकदमा हुआ करते थे इसलिए उस पर आप हिंदी का प्रयोग ज्यादा

bittu us us kaal mein jiska aadmi khajuraho mandir bane hain us kaal mein rajaon ka jo paper purn jeevan tha usme surasundari ka bahut adhik prayog desh mein sukh shanti thi sukh shanti thi toh rajaon ko kamukata banane ke liye mandiro ke nirmaan kiye gaye kyonki usme jo tumhe dekhe hain unmen vibhinn prakar ke aasan hain aasanon ka prayog sambhog mein kiya jata hai toh us bhoot aur ek kamukata ka daur tha rajaon mein surasundari ka bahut adhik prachalan tha bf aishwarya mein doobe hue the ki shanti ka kaal tha unhe koi aisi attack hone wali baat nahi thi aur us daur mein kalaai apne charamotkarsh seema par thi yadi khajuraho ke mandiro ko jo aapne wahan ki gufayen dekhe hain un gufaon ko main dekh kar aaya hoon abhi baki sthaapaty kala unki stutya hai vaah kalakar dhanji hain unhone ek ek patthar ki chattan katkar ke banaye unhe kai jor nahi dekh sakte aap kaise sundar banaye hain darshaneey hain aur uska mein kyonki vaah bahut zyada tha isliye raja dukh ka mukadma hua karte the isliye us par aap hindi ka prayog zyada

बिट्टू उस उस काल में जिसका आदमी खजुराहो मंदिर बने हैं उस काल में राजाओं का जो पेपर पूर्ण ज

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1370
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  22  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user

Anjali Upadhyay

I Want To Become An Ias Officer

2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खजुराहो छतरपुर जिले में स्थित है छतरपुर में 48 किलोमीटर पहले ही पड़ता है खजुराहो का निर्णय और पास ही स्थित शिव सागर झील के आसपास पुरातन काल में 85 मंदिर थे मगर अब डीसी रह गए हैं खजुराहो के मंदिर शिव कला के आदित्य उदाहरण है खजुराहो के जो मुख्य मंदिर हैं वह पहला है चौसठ योगिनी का मंदिर इस मंदिर के अंदर का आंगन बहुत बड़ा है इसके चारों ओर 65 कमरे थे और अब केवल 35 ही रह गए हैं यह मंदिर नवी शताब्दी का है दूसरा कंदरिया महादेव मंदिर चौसठ योगिनी के मंदिर के उत्तर में स्थित है और सभी मंदिरों से बड़ा है इसका प्रवेश द्वार है वह बुक अच्छा है इस पर देवी-देवताओं गंधर्व आदि की मूर्तियां बनी हुई है इस मंदिर की चित्रकारी और बेल बूटियों का काम आबू के जैन मंदिरों की तरह ही है क्योंकि स्तंभों पर गंगा और यमुना अपने वाहनों मकर और कश्यप सहित विराजित गर्भ गृह में संगमरमर का शिवलिंग है जो दूध की तरह स्वस्थ है मंदिर के उत्तर दक्षिण और पश्चिमी कोने पर उत्तम आधारित बड़े-बड़े आ रहे हैं जिनमें ब्रह्मा विष्णु महेश की मूर्तियां अथवा अनेक अवतारों की मूर्तियां स्थापित हैं मंदिर के सर्वोच्च शिखर पर छोटे पर एक अमृत घट शोभायमान है जो दूसरे से देखने में बड़ा मंगल में मालूम होता है तीसरा है लक्ष्मण मंदिर यह मंदिर तुम कड़ियां महादेव के मंदिर के दक्षिण पूर्व में स्थित है इसकी निर्माण कला की तुलना में भारतवर्ष कोई मंदिर नहीं चढ़ता लक्ष्मण मंदिर के तीनों प्रदक्षिणा पथ है इन मंदिरों के अलावा मतंगेश्वर महादेव का मंदिर हनुमान मंदिर जवान मंदिर दुल्हादेव मंदिर भी दर्शनीय

khajuraho chatarpur jile mein sthit hai chatarpur mein 48 kilometre pehle hi padta hai khajuraho ka nirnay aur paas hi sthit shiv sagar jheel ke aaspass puratan kaal mein 85 mandir the magar ab dc reh gaye hain khajuraho ke mandir shiv kala ke aditya udaharan hai khajuraho ke jo mukhya mandir hain vaah pehla hai chausath yogini ka mandir is mandir ke andar ka aangan bahut bada hai iske charo aur 65 kamre the aur ab keval 35 hi reh gaye hain yah mandir navi shatabdi ka hai doosra kandariya mahadev mandir chausath yogini ke mandir ke uttar mein sthit hai aur sabhi mandiro se bada hai iska pravesh dwar hai vaah book accha hai is par devi devatao gandharv aadi ki murtiya bani hui hai is mandir ki chitrakari aur bell butiyon ka kaam aabu ke jain mandiro ki tarah hi hai kyonki stambho par ganga aur yamuna apne vahanon makar aur kashyap sahit virajit garbh grah mein sangemarmar ka shivling hai jo doodh ki tarah swasth hai mandir ke uttar dakshin aur pashchimi kone par uttam aadharit bade bade aa rahe hain jinmein brahma vishnu mahesh ki murtiya athva anek avataron ki murtiya sthapit hain mandir ke sarvoch shikhar par chote par ek amrit ghat shobhayman hai jo dusre se dekhne mein bada mangal mein maloom hota hai teesra hai lakshman mandir yah mandir tum kadiyan mahadev ke mandir ke dakshin purv mein sthit hai iski nirmaan kala ki tulna mein bharatvarsh koi mandir nahi chadhta lakshman mandir ke tatvo pradakshina path hai in mandiro ke alava matangeshwar mahadev ka mandir hanuman mandir jawaan mandir dulhadev mandir bhi darshaneey

खजुराहो छतरपुर जिले में स्थित है छतरपुर में 48 किलोमीटर पहले ही पड़ता है खजुराहो का निर्णय

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kamukta kamukta mandir ; कामुकता कामुकता मंदिर ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!