अभिमन्यु को मारने के अलावा, महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा किए गए अन्य दोष क्या हैं?...


play
user
1:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौरव में सिर्फ अभिमन्यु कोई छल से नहीं मारा था बाकी महाभारत के अंदर कौरवों ने जितना भी काम किया सब उनका दोस्त का युद्ध करना सबसे बड़ा दोष था उनका की एक तो उन्होंने पांडवों का राज्य जल से हड़प लिया उसके बाद में उन्हें अज्ञातवास पर भेजा और जब अज्ञातवास में भी उन्हें कई जगह मारने की कोशिश करी और उनके विभाग चक्र बनाया उन को जलाकर मार डालने की कोशिश करें और फिर भी जब वे नंबरी और वापिस आए और अपना राज नहीं दिया और उनसे युद्ध क्यों ने धमकी दी फिर क्या युद्ध में भी सारे राजाओं को अपनी तरफ कर लिया और कृष्ण भगवान की सेना को भी अपनी ओर मिला लिया सिर्फ पांडव सेना और भगवान कृष्ण पांडवों के साथ थे और फिर उन्होंने सारा युद्ध किया और अभिमन्यु को हमारा कई लोगों को उन्होंने चल से मारा महाभारत युद्ध में कौरवों ने एक नई अनेकानेक चलता बन चुकी है

gaurav mein sirf abhimanyu koi chhal se nahi mara tha baki mahabharat ke andar kauravon ne jitna bhi kaam kiya sab unka dost ka yudh karna sabse bada dosh tha unka ki ek toh unhone pandavon ka rajya jal se hadap liya uske baad mein unhe agyatavas par bheja aur jab agyatavas mein bhi unhe kai jagah maarne ki koshish kari aur unke vibhag chakra banaya un ko jalakar maar dalne ki koshish kare aur phir bhi jab ve numbari aur vaapas aaye aur apna raj nahi diya aur unse yudh kyon ne dhamki di phir kya yudh mein bhi saare rajaon ko apni taraf kar liya aur krishna bhagwan ki sena ko bhi apni aur mila liya sirf pandav sena aur bhagwan krishna pandavon ke saath the aur phir unhone saara yudh kiya aur abhimanyu ko hamara kai logo ko unhone chal se mara mahabharat yudh mein kauravon ne ek nayi anekanek chalta ban chuki hai

गौरव में सिर्फ अभिमन्यु कोई छल से नहीं मारा था बाकी महाभारत के अंदर कौरवों ने जितना भी काम

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  2017
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहा गया है कि जब युधिष्ठिर जुए में राज पाठ हार गए तो सबसे बड़ी गलती उन्होंने अपने पारिवारिक महिला की जो चीर हरण किया यह तो सबसे बड़ी गलती यह थी महाभारत के युद्ध का कारण यह भी रहा है और बंधुओं को मार दिया इन्होंने पूरे खानदान को खत्म कर दिया इस प्रकार तो बहुत सारे दोस्त हैं लेकिन वो एक धर्म युद्ध था

kaha gaya hai ki jab yudhishthir jue mein raj path haar gaye toh sabse badi galti unhone apne parivarik mahila ki jo chir haran kiya yah toh sabse badi galti yah thi mahabharat ke yudh ka karan yah bhi raha hai aur bandhuon ko maar diya inhone poore khandan ko khatam kar diya is prakar toh bahut saare dost hain lekin vo ek dharm yudh tha

कहा गया है कि जब युधिष्ठिर जुए में राज पाठ हार गए तो सबसे बड़ी गलती उन्होंने अपने पारिवारि

Romanized Version
Likes  147  Dislikes    views  1363
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब मन्नू को मारने के अलावा महाभारत के युद्ध में कौरवों ने अपनी चलती है तो शुरु से आप देखें तो दूध की दामिनी के द्वारा पास से भगवान उसमें भी क्वेश्चन का पट्टा यूपी शकुनि पाशा अपने-अपने मौत मारता भी छल कपट दिया गया पांडवों को बुरी तरह से हराया गया उत्सव व सुशील ने गया द्रोपती को अपमानित किया गया यह सब कुछ अरे आप एक बात बताइए पहला धर्म प्रश्न बिल्कुल सही था द्रोपती का जब युधिष्ठिर पहले अपने आप को हार गया पांचों भाइयों को हार गया तो उनको उसको अपनी पत्नी द्रौपदी को दांव पर लगाने का क्या अकरा रुपए गुलाम हो गया लेकिन सब सभी चलते हैं फिर अब मंडे को मारने में चंद किया गया फिर आप देखें तो मैं युद्ध में भी क्षण काफी कपट का प्रयोग लिया गया आप सोचें कि 7 महारथियों ने मिलकर के यह कंपनी को मारा था तो यह सब बिछड़ था बट इसमें सभी महारथी शामिल के कारण भी शामिल था यह लाचारी भी शामिल थे यह कृपाचार्य भी शामिल थे दुर्योधन था एक दुर्योधन का जीजा वह भी शामिल था इस मिलते हैं और मैं सूत्रों छल कपट की शुरुआती महाभारत द्रौपदी युग से ही हुई है क्योंकि द्वापर युग में ही महाभारत का युद्ध हुआ था तो उससे पहले सतयुग में प्रीता में छल कपट यूज़ नहीं होता था ना इंसान इंसान के छल कपट से के बारे में जानता था ना चल कपट करते थे डॉक्टर के बाद में छल कपट वुमन हर जगह होने लगा और यह इसके द्वारा भी विजय प्राप्त कर लेना भी विजय मानी जाती थी कि परीक्षण कपट से भी उसने जीत लिया इसी के ऊपर एक कहावत बन गई एवरीथिंग इस पॉसिबल इन बार एंड इन लव इट इज राइट इन बार एंडिंग लाभ और छल और कपट की प्रतिमूर्ति थे इसी के परिणाम स्वरूप श्री कृष्ण ने उनको अपनी नीतियों के द्वारा मृत्यु को ग्रास बना दिया मन में भी कई बार जब उनको बनवास हुआ था उस वनवास के दौरान भी विरोध में कई बार उनके साथ छल कपट किया उन्हें बार-बार अपमानित करने का प्रयास किया बार-बार उन्हें मारने का प्रयास किया लक्ष्य ग्रह में भी है जब गए थे तो वहां भी उनको जमाने का प्रयास किया गया वह सब कौरवों की चाल में थी तो इस प्रकार से आप यह पाएंगे कि कौरवों ने छल कपट ज्यादा यूज किया था इसलिए उसने कहा था कि भाई तुम अन्याय पर हो अधर्म पर हो असत्य पर चल रहे हो इसलिए तुम सब की मृत्यु निश्चित

ab mennu ko maarne ke alava mahabharat ke yudh mein kauravon ne apni chalti hai toh shuru se aap dekhen toh doodh ki damini ke dwara paas se bhagwan usme bhi question ka patta up shakuni pasha apne apne maut maarta bhi chhal kapat diya gaya pandavon ko buri tarah se haraya gaya utsav va sushil ne gaya draupadi ko apmanit kiya gaya yah sab kuch are aap ek baat bataye pehla dharm prashna bilkul sahi tha draupadi ka jab yudhishthir pehle apne aap ko haar gaya panchon bhaiyo ko haar gaya toh unko usko apni patni draupadi ko dav par lagane ka kya akara rupaye gulam ho gaya lekin sab sabhi chalte hain phir ab monday ko maarne mein chand kiya gaya phir aap dekhen toh main yudh mein bhi kshan kaafi kapat ka prayog liya gaya aap sochen ki 7 maharthiyon ne milkar ke yah company ko mara tha toh yah sab bichhad tha but isme sabhi maharathi shaamil ke karan bhi shaamil tha yah lachari bhi shaamil the yah kripacharya bhi shaamil the duryodhan tha ek duryodhan ka jija vaah bhi shaamil tha is milte hain aur main sootron chhal kapat ki shuruati mahabharat draupadi yug se hi hui hai kyonki dwapar yug mein hi mahabharat ka yudh hua tha toh usse pehle satayug mein prita mein chhal kapat use nahi hota tha na insaan insaan ke chhal kapat se ke bare mein jaanta tha na chal kapat karte the doctor ke baad mein chhal kapat woman har jagah hone laga aur yah iske dwara bhi vijay prapt kar lena bhi vijay maani jaati thi ki parikshan kapat se bhi usne jeet liya isi ke upar ek kahaavat ban gayi everything is possible in baar and in love it is right in baar ending labh aur chhal aur kapat ki pratimurti the isi ke parinam swaroop shri krishna ne unko apni nitiyon ke dwara mrityu ko grass bana diya man mein bhi kai baar jab unko banvaas hua tha us vanvas ke dauran bhi virodh mein kai baar unke saath chhal kapat kiya unhe baar baar apmanit karne ka prayas kiya baar baar unhe maarne ka prayas kiya lakshya grah mein bhi hai jab gaye the toh wahan bhi unko jamane ka prayas kiya gaya vaah sab kauravon ki chaal mein thi toh is prakar se aap yah payenge ki kauravon ne chhal kapat zyada use kiya tha isliye usne kaha tha ki bhai tum anyay par ho adharma par ho asatya par chal rahe ho isliye tum sab ki mrityu nishchit

अब मन्नू को मारने के अलावा महाभारत के युद्ध में कौरवों ने अपनी चलती है तो शुरु से आप देखें

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1212
WhatsApp_icon
user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अभिमन्यु को मारने के अलावा महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा किया जाने वाला अन्य अन्य दोस्त क्या है तो आपको बता दें कि महाभारत की युद्ध के दौरान कौरवों में ने अभिमन्यु को गिर के मार डाला था इसके साथ ही द्रोपती के 5 पुत्र थे उनकी पांच पुत्रों को भी रात में सोते समय कृपाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा ने उनकी हत्या कर दी थी

aapka prashna hai abhimanyu ko maarne ke alava mahabharat yudh me kauravon dwara kiya jaane vala anya anya dost kya hai toh aapko bata de ki mahabharat ki yudh ke dauran kauravon me ne abhimanyu ko gir ke maar dala tha iske saath hi draupadi ke 5 putra the unki paanch putron ko bhi raat me sote samay kripacharya ke putra ashvatthaama ne unki hatya kar di thi

आपका प्रश्न है अभिमन्यु को मारने के अलावा महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा किया जाने वाला अ

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  399
WhatsApp_icon
user
4:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

करूंगा और कोई ऐसा कोई है नहीं दिमाग से करते वहां पर जो है बहुत दूर तक निकल रहे थे अपने गाने के साथ उन्हें जो है उससे ज्यादा किसी का पीछा करने कन्हैया युद्ध कर दी के साथ रहने का समय लेकिन वह नहीं माने और चर्चा करते हो और उसमें भी मैं कोई सहदेव की रक्षा करने में सफल नहीं हो पा रही थी काम करने से किसी को दिया नहीं था तो फिर तो सभी बात माने पति वैद्य सभी महानुभाव का तरीका से पराजय का सामना करना पड़ा प्रतिक्रिया दी है काबू नहीं रख सकी वाले सभी प्रकार के जो एक प्रकार की घटना क्रम सभी कोई आदेश लगा और अर्जी देने से बसपा को जानते थे कि मजबूरी में सुधार का जो है उनसे युद्ध हुआ था और अभिमन्यु को जोश चढ़ाने के लिए व्यवस्था के साथ-साथ सभी नेता और उनके व्यक्तिगत नाम किया और उनको पसंद किए और करनी है उनको समर्पित करने जा रहे थे तो वालों ने उन्हें रोक दिया था कि प्रभाकरण को श्रद्धांजलि दी सब कुछ है जो सहयोग प्राप्त नहीं हो सकता कल उठकर चले गए दूध जो खेत के लिए उत्तरदायित्व का लगाया जान के लिए थे या माना गया उसके पीछे जो है मैं उसको अगले दिन जाइए और समय कसम खाई थी अब तक दर्द का बात नहीं कर लेंगे अगर भाई इसमें जो है कल लेकर ज्यादा बात नहीं कर सके वह नहीं समझ में नहीं अकेले शपथ खाई थी और यह है अगले दिन माई एकदम दत्त का पिक्चर करते हुए पाए और जवान होने लगी तो जो है जगत राज फुल करो जी बन आया करो चाहे बहुत जल्दी शंका नहीं कर पा रहे थे भगवान श्री कृष्ण लीला बस्ती हुए श्री भगवान को कर दिया जिससे जो भेजे थे वापस से निकलकर और दिन को है किताबों में लगेगी तुम्हें समाधि की जाए जो उद्योग करती हूं जो खाई भी पूरा करें और किस भगवान लीला भेजो वापस जयपुरी भगवान पैदा कर दिया और उसे नजर से बाहर आ चुके थे और अगर तू भी तो कॉलेज में उनको माना था उन्होंने अपना जवान कसम खाई थी जो ऑनलाइन लिया था उसको पूरा किया और अस्पताल के दर्द की वजह से बदला लिया और लेकिन बात तो करना चाहिए यह तो कथा जो भी बड़ा नेता वह वास्तविकता को सरकार से इसके लिए सभी अधिकारी था उनका इष्ट देवता अर्जुन जी का केवल समय शहर में पता था क्षमा ले बाबा रो ले सचेत किया था और वह नहीं माने औरंगाबाद जबरदस्ती गए करीब रहने वाला पिता पुत्र जगदीश गायक और दूसरी बार ऑनलाइन है उसको मानने के लिए उत्तरदाई ठहराया ठहराया जी ने उनकी रक्षा की कथा यह पतंजलि नहीं देनी थी और उसके पीछे करने को जिम्मेदार मानते हुए हमले करने का बात करने की शपथ लेने लगे थे तो के सवालों ने याद दिलाया कल नहीं जगजीवन का दवाई खाने नहीं आया था तो क्यों नहीं अभी के साथ लेकर चलने का जवाब नहीं कर पा रहे थे जो जल भगवान श्री कृष्ण सीरियल का दिया था और वहां पर सबसे ज्यादा गया तो फिर पैदा करके जो अर्जुन को अपना पूरा पूरा करने का एप्स प्रिया चाहिए थैंक यू धन्यवाद

karunga aur koi aisa koi hai nahi dimag se karte wahan par jo hai bahut dur tak nikal rahe the apne gaane ke saath unhe jo hai usse zyada kisi ka picha karne kanhaiya yudh kar di ke saath rehne ka samay lekin vaah nahi maane aur charcha karte ho aur usme bhi main koi sahdev ki raksha karne me safal nahi ho paa rahi thi kaam karne se kisi ko diya nahi tha toh phir toh sabhi baat maane pati vaidhy sabhi mahanubhav ka tarika se parajay ka samana karna pada pratikriya di hai kabu nahi rakh saki waale sabhi prakar ke jo ek prakar ki ghatna kram sabhi koi aadesh laga aur arji dene se BSP ko jante the ki majburi me sudhaar ka jo hai unse yudh hua tha aur abhimanyu ko josh chadhane ke liye vyavastha ke saath saath sabhi neta aur unke vyaktigat naam kiya aur unko pasand kiye aur karni hai unko samarpit karne ja rahe the toh walon ne unhe rok diya tha ki prabhakaran ko shraddhaanjali di sab kuch hai jo sahyog prapt nahi ho sakta kal uthakar chale gaye doodh jo khet ke liye uttardayitva ka lagaya jaan ke liye the ya mana gaya uske peeche jo hai main usko agle din jaiye aur samay kasam khai thi ab tak dard ka baat nahi kar lenge agar bhai isme jo hai kal lekar zyada baat nahi kar sake vaah nahi samajh me nahi akele shapath khai thi aur yah hai agle din my ekdam dutt ka picture karte hue paye aur jawaan hone lagi toh jo hai jagat raj full karo ji ban aaya karo chahen bahut jaldi shanka nahi kar paa rahe the bhagwan shri krishna leela basti hue shri bhagwan ko kar diya jisse jo bheje the wapas se nikalkar aur din ko hai kitabon me lagegi tumhe samadhi ki jaaye jo udyog karti hoon jo khai bhi pura kare aur kis bhagwan leela bhejo wapas jaypuri bhagwan paida kar diya aur use nazar se bahar aa chuke the aur agar tu bhi toh college me unko mana tha unhone apna jawaan kasam khai thi jo online liya tha usko pura kiya aur aspatal ke dard ki wajah se badla liya aur lekin baat toh karna chahiye yah toh katha jo bhi bada neta vaah vastavikta ko sarkar se iske liye sabhi adhikari tha unka isht devta arjun ji ka keval samay shehar me pata tha kshama le baba ro le sachet kiya tha aur vaah nahi maane aurangabad jabardasti gaye kareeb rehne vala pita putra jagdish gayak aur dusri baar online hai usko manne ke liye uttardai thehraya thehraya ji ne unki raksha ki katha yah patanjali nahi deni thi aur uske peeche karne ko zimmedar maante hue hamle karne ka baat karne ki shapath lene lage the toh ke sawalon ne yaad dilaya kal nahi jagjivan ka dawai khane nahi aaya tha toh kyon nahi abhi ke saath lekar chalne ka jawab nahi kar paa rahe the jo jal bhagwan shri krishna serial ka diya tha aur wahan par sabse zyada gaya toh phir paida karke jo arjun ko apna pura pura karne ka apps priya chahiye thank you dhanyavad

करूंगा और कोई ऐसा कोई है नहीं दिमाग से करते वहां पर जो है बहुत दूर तक निकल रहे थे अपने गान

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  689
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों इस में पूछा गया और मूल्यों को मारने के अलावा महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा किए गए अन्य दोष क्या है इससे क्या लाभ होते हैं 50 लक्षण का भीम को दुशासन अंदर एवं उनके मामा के कहने पर भी लागू नदी में फेंक देते हैं और दूसरा है जब युधिष्ठिर युवराज बनते हैं स्तनों तो उनको उस में याद कर लेते लक्ष्य ग्रामीण पेयजल योजना में किन संयंत्र स्थित अपने मामा की स्थान है जलाने का षड्यंत्र रचते हैं दूसरों को हंसते देखकर गांव को देख कर कुत्ते को खंड बिजली की कड़क कड़क बन के देवेंद्र को धोखे से हराया जाता है उनकी पत्नी को उनके राज्य को उनको धोखे से आ रहा हूं फिर उनको राजमा इस जमाने में कलेजा जाता है और के पास गांव माता नोट पर यह सारे दोस्त हैं दोस्त हो तो बहुत सारे हैं विदेश ओके ओके दोस्तों गुड नाइट

hello doston is me poocha gaya aur mulyon ko maarne ke alava mahabharat yudh me kauravon dwara kiye gaye anya dosh kya hai isse kya labh hote hain 50 lakshan ka bhim ko dushasan andar evam unke mama ke kehne par bhi laagu nadi me fenk dete hain aur doosra hai jab yudhishthir yuvraj bante hain stanon toh unko us me yaad kar lete lakshya gramin paijaal yojana me kin sanyantra sthit apne mama ki sthan hai jalane ka shadyantra rachate hain dusro ko hansate dekhkar gaon ko dekh kar kutte ko khand bijli ki kadak kadak ban ke devendra ko dhokhe se haraya jata hai unki patni ko unke rajya ko unko dhokhe se aa raha hoon phir unko rajma is jamane me kaleja jata hai aur ke paas gaon mata note par yah saare dost hain dost ho toh bahut saare hain videsh ok ok doston good night

हेलो दोस्तों इस में पूछा गया और मूल्यों को मारने के अलावा महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  40
WhatsApp_icon
user

8947875395a

बिज़नस मेन

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा अभिमन्यु को मारने के अलावा कोई अन्य दोष क्या है उनके बहुत सारे दोस्त से बचपन में उन्होंने पांडवों को जहर देकर मारने की कोशिश की और फिर उन्होंने पांडवों को मारने के लिए लाक्षागृह का निर्माण करवाया जिससे वह बच गए उसके बाद में द्रोपती का भरी सभा में चीरहरण किया जिसे भगवान श्रीकृष्ण ने हमें बचाया तो उनके बहुत से

mahabharat yudh mein kauravon dwara abhimanyu ko maarne ke alava koi anya dosh kya hai unke bahut saare dost se bachpan mein unhone pandavon ko zehar dekar maarne ki koshish ki aur phir unhone pandavon ko maarne ke liye lakshagrih ka nirmaan karvaya jisse vaah bach gaye uske baad mein draupadi ka bhari sabha mein cheerharan kiya jise bhagwan shrikrishna ne hamein bachaya toh unke bahut se

महाभारत युद्ध में कौरवों द्वारा अभिमन्यु को मारने के अलावा कोई अन्य दोष क्या है उनके बहुत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रक्षा करो द्रोपदी का वस्त्रहरण लक्ष्या गडावर द्रोपदी का वस्त्रहरण सबसे बड़ा

raksha karo draupadi ka vastraharan lakshya gadavar draupadi ka vastraharan sabse bada

रक्षा करो द्रोपदी का वस्त्रहरण लक्ष्या गडावर द्रोपदी का वस्त्रहरण सबसे बड़ा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभिमन्यु को मारने के अलावा महाभारत में कौरवों द्वारा एक और दोष हुआ था उन्होंने द्रोपदी पांडव की पत्नी की द्रोपदी का चीर हरण गौरव दुर्योधन द्वारा किया गया

abhimanyu ko maarne ke alava mahabharat mein kauravon dwara ek aur dosh hua tha unhone draupadi pandav ki patni ki draupadi ka chir haran gaurav duryodhan dwara kiya gaya

अभिमन्यु को मारने के अलावा महाभारत में कौरवों द्वारा एक और दोष हुआ था उन्होंने द्रोपदी पां

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
अभिमन्यु महाभारत युद्ध ; महाभारत अभिमन्यु युद्ध ; mahabharat abhimanyu yudh ; महाभारत में अभिमन्यु का युद्ध दिखाओ ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!