महाभारत में नकुल और सहदेव का क्या योगदान है, क्योंकि वे कभी अर्जुन, भीम और युधिष्ठिर जितने चर्चित नहीं थे?...


user

Saurabh Bhardwaj

Writer & Film Director

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस संदर्भ में कहूंगा कि महाभारत में पांचो इन लोगों का जो नाम था युधिष्ठिर भीम अर्जुन नकुल सहदेव इन पांचों को पांडव कहा जाता था और पांडव की जहां तक बात आती है तो एक ही शब्द में पांचो प्रसिद्ध थे के पांडव है अलग-अलग बात की थी बात की गुण और विशेषताएं हर किसी में होती हैं और हर जगह उन्हें प्रजेंट करने के अवसर अलग-अलग मिलते डिस्ट्रिक्ट धर्म राष्ट्रीय टीम के पहलवान थे अर्जुन तेंदुलकर थे नकुल नकुल और सहदेव क्षेत्र बहुत बड़े थे तलवारबाजी करते थे करते थे गुड स्वार्थ लव कुश कि हम जानते हैं कि हम सिर्फ इतवार की पिक्चर चाहिए पढ़ पाए हैं इसके वजह से बेहतर है कि हम इनकी बातों को सुनते हैं नकुल सहदेव की बातें नहीं सुनता नहीं हम आपके लिए बहुत ही कम लोग जानते हैं ना कुछ सदैव का नाम भी कुछ छुपा हुआ नहीं है उचित है

dekhiye is sandarbh me kahunga ki mahabharat me paancho in logo ka jo naam tha yudhishthir bhim arjun nakul sahdev in panchon ko pandav kaha jata tha aur pandav ki jaha tak baat aati hai toh ek hi shabd me paancho prasiddh the ke pandav hai alag alag baat ki thi baat ki gun aur visheshtayen har kisi me hoti hain aur har jagah unhe present karne ke avsar alag alag milte district dharm rashtriya team ke pahalwan the arjun tendulkar the nakul nakul aur sahdev kshetra bahut bade the talavarbaji karte the karte the good swarth love kush ki hum jante hain ki hum sirf itvaar ki picture chahiye padh paye hain iske wajah se behtar hai ki hum inki baaton ko sunte hain nakul sahdev ki batein nahi sunta nahi hum aapke liye bahut hi kam log jante hain na kuch sadaiv ka naam bhi kuch chupa hua nahi hai uchit hai

देखिए इस संदर्भ में कहूंगा कि महाभारत में पांचो इन लोगों का जो नाम था युधिष्ठिर भीम अर्जुन

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह सत्य है कि नकुल और सहदेव उतने योद्धा नहीं थे लेकिन नकुल जो था वो तलवारबाजी में बहुत एक्सपर्ट व्हाट्सएप जो था वह घोड़ों की सार संभाल करने में शादी के कार्य में बहुत अच्छा यह सत्य है कि कुंती के तीन पत्ते mo3 देवों के हैं युधिष्ठिर धर्मराज से हैं भीम पवन देव से अर्जुन देवराज केंद्र से है नकुल सहदेव दोनों अश्विनी कुमारों के पुत्र हैं और उनकी माता माद्री है लेकिन उन नकुल सहदेव सोते भी वही होने के बावजूद भी उन्होंने कभी अपने भाइयों का साथ नहीं छोड़ा और कभी अपने व्यवहार से यह सो नहीं किया कि अर्जुन भीम युधिष्ठिर तुमने हमारे सौतेले भाइयों मोटी तीनों भी उसे जान से ज्यादा दोनों को जान से ज्यादा चाहते थे यही कारण था कि अब डिस्टर्ब से जब इन चारों भाइयों के युधिष्ठिर यक्ष के द्वारा प्रश्नों के उत्तर गलत देने पर इनकी मृत्यु हो गई थी पब्लिक ने कहा था कि तुम किसी एक भाई को जलाकर चाहत चालो तो उसने कहा कि मेरा सबसे छोटा भाई नकुल जिंदा हो जाए तो यह पूछा था कि तुम अपने भाई भीम अर्जुन को छोड़ कर के तुम आखिर नकुल को क्यों जिंदा करना चाहते हो तो वहां भी युधिष्ठिर ने कहा था कि मैं उनकी मां का रह जाऊंगा और माधवी मां का मेरी का नकुल जीवित रह जाएगा उस पर प्रसन्न होकर की गिफ्ट में चारों भाइयों को जिंदा किया था

haan yah satya hai ki nakul aur sahdev utne yodha nahi the lekin nakul jo tha vo talavarbaji me bahut expert whatsapp jo tha vaah ghodon ki saar sambhaal karne me shaadi ke karya me bahut accha yah satya hai ki kuntee ke teen patte mo3 Devon ke hain yudhishthir Dharamraj se hain bhim pawan dev se arjun devraj kendra se hai nakul sahdev dono ashwini kumaron ke putra hain aur unki mata madri hai lekin un nakul sahdev sote bhi wahi hone ke bawajud bhi unhone kabhi apne bhaiyo ka saath nahi choda aur kabhi apne vyavhar se yah so nahi kiya ki arjun bhim yudhishthir tumne hamare sautele bhaiyo moti tatvo bhi use jaan se zyada dono ko jaan se zyada chahte the yahi karan tha ki ab disturb se jab in charo bhaiyo ke yudhishthir yaksh ke dwara prashnon ke uttar galat dene par inki mrityu ho gayi thi public ne kaha tha ki tum kisi ek bhai ko jalakar chahat chalo toh usne kaha ki mera sabse chota bhai nakul zinda ho jaaye toh yah poocha tha ki tum apne bhai bhim arjun ko chhod kar ke tum aakhir nakul ko kyon zinda karna chahte ho toh wahan bhi yudhishthir ne kaha tha ki main unki maa ka reh jaunga aur madhvi maa ka meri ka nakul jeevit reh jaega us par prasann hokar ki gift me charo bhaiyo ko zinda kiya tha

हां यह सत्य है कि नकुल और सहदेव उतने योद्धा नहीं थे लेकिन नकुल जो था वो तलवारबाजी में बहुत

Romanized Version
Likes  507  Dislikes    views  5685
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में नकुल सहदेव को लेकर गए थे लेकिन उनके पास जो एक स्पेशल विद्यार्थी वही जो आने वाला भविष्य है उसको पहले ही जान लेते थे इतने विद्वान से वह नकुल और सहदेव उन्हें मालूम पड़ जाता था कि अब क्या होने वाला है लेकिन किसी को बता नहीं सकते थे बस यही है कि इतनी सारी विद्या होते हुए भी उनको सब कुछ मालूम था मैं कल 10:00 बजे को लेकर मैं किसी को बता नहीं सकते थे और बाकी के तीनों भाइयों के साथ साथ साथी गाना

mahabharat mein nakul sahdev ko lekar gaye the lekin unke paas jo ek special vidyarthi wahi jo aane vala bhavishya hai usko pehle hi jaan lete the itne vidhwaan se vaah nakul aur sahdev unhe maloom pad jata tha ki ab kya hone vala hai lekin kisi ko bata nahi sakte the bus yahi hai ki itni saree vidya hote hue bhi unko sab kuch maloom tha main kal 10 00 baje ko lekar main kisi ko bata nahi sakte the aur baki ke tatvo bhaiyo ke saath saath sathi gaana

महाभारत में नकुल सहदेव को लेकर गए थे लेकिन उनके पास जो एक स्पेशल विद्यार्थी वही जो आने वाल

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1361
WhatsApp_icon
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

युधिष्ठिर भीम और अर्जुन से महाराज पांडु के पत्नी कुंती के पुत्र थे और नकुल और सहदेव महाराज पांडु के नीचे पत्नी माद्री के पुत्र थे तो नकुल और सहदेव थे वह वह उनके बड़े भाइयों की रिश्ता करते थे और नकुल तलवारबाजी में निपुणता और सहदेव घुड़सवारी में निपुण था अर्जुन तीरंदाजी में भी मजा में और युधिष्ठिर बल्लेबाजी में परफेक्ट है तो वैसे भी उनका योगदान तो रहा है लेकिन बड़े भाई होने के नाते इनको सदा हाईवे किया गया है

yudhishthir bhim aur arjun se maharaj pandu ke patni kuntee ke putra the aur nakul aur sahdev maharaj pandu ke niche patni madri ke putra the toh nakul aur sahdev the vaah vaah unke bade bhaiyo ki rishta karte the aur nakul talavarbaji mein nipunata aur sahdev ghudsavaari mein nipun tha arjun teerandazi mein bhi maza mein aur yudhishthir ballebaji mein perfect hai toh waise bhi unka yogdan toh raha hai lekin bade bhai hone ke naate inko sada highway kiya gaya hai

युधिष्ठिर भीम और अर्जुन से महाराज पांडु के पत्नी कुंती के पुत्र थे और नकुल और सहदेव महाराज

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user

सुरेश चंद आचार्य

Social Worker ( Self employed )

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री कृष्ण साथियों आपका प्रश्न है महाभारत में नकुल सहदेव का क्या योगदान है देखिए शारीरिक रूप से युद्ध आदि में उनका अर्जुन भीम युधिष्ठिर जितना योगदान भले ही न हो किंतु उनका प्रेरक जीवन रहा है जिससे हमें कई प्रकार की प्रेरणा मिलती है सबसे पहले तो पुत्र के रूप में उनकी माता माद्री नहीं रहते हुए उन्होंने कुंती को अपनी मां से भी ज्यादा चाहा मां का सम्मान किया तो यह माता पुत्र के रिश्ते की प्रेरणा देते हैं दूसरा भाई भाई सौतेले भाई होते हुए भी कभी महाभारत में आपको किसी भी जगह नहीं लगेगा कि वह सोते निभाई है उन्होंने कुंती पुत्रों का बहुत ज्यादा सम्मान किया उनकी हर बात को माना हमेशा उनके पीछे ताकत बनकर खड़े रहे इसी प्रकार वे नकुल तलवार के धनी थे जैसे अर्जुन धनुर्विद्या में प्रवीण थे वैसे ही नकुल की तलवार का कोई सानी नहीं था उस समय और सहदेव सुंदरता के प्रतीक थे महाभारत काल में ऐसा वर्णित बताया जाता है कि सदैव एक प्रकार से कामदेव के स्वरूप थे नकुल सहदेव का बहुत योगदान है जिसे हम कम नहीं कहा जा सकता है युद्धभूमि में भी उन्होंने अच्छा कौशल प्रदर्शन किया महावीर शकुनी और महावीर चलने का वध इनके हाथों ही हुआ इनके योगदान के लिए आपको पूरी महाभारत जानी होगी यह प्रेरणादायक चरित्र थे शारीरिक योगदान भले ही कम हो लेकिन प्रेरणास्पद चरित्र थे नकुल और सहदेव

jai shri krishna sathiyo aapka prashna hai mahabharat me nakul sahdev ka kya yogdan hai dekhiye sharirik roop se yudh aadi me unka arjun bhim yudhishthir jitna yogdan bhale hi na ho kintu unka prerak jeevan raha hai jisse hamein kai prakar ki prerna milti hai sabse pehle toh putra ke roop me unki mata madri nahi rehte hue unhone kuntee ko apni maa se bhi zyada chaha maa ka sammaan kiya toh yah mata putra ke rishte ki prerna dete hain doosra bhai bhai sautele bhai hote hue bhi kabhi mahabharat me aapko kisi bhi jagah nahi lagega ki vaah sote nibhaai hai unhone kuntee putron ka bahut zyada sammaan kiya unki har baat ko mana hamesha unke peeche takat bankar khade rahe isi prakar ve nakul talwar ke dhani the jaise arjun dhanurvidya me praveen the waise hi nakul ki talwar ka koi sani nahi tha us samay aur sahdev sundarta ke prateek the mahabharat kaal me aisa varnit bataya jata hai ki sadaiv ek prakar se kamdev ke swaroop the nakul sahdev ka bahut yogdan hai jise hum kam nahi kaha ja sakta hai yuddhabhumi me bhi unhone accha kaushal pradarshan kiya mahavir shakuni aur mahavir chalne ka vadh inke hathon hi hua inke yogdan ke liye aapko puri mahabharat jani hogi yah preranadayak charitra the sharirik yogdan bhale hi kam ho lekin preranaspad charitra the nakul aur sahdev

जय श्री कृष्ण साथियों आपका प्रश्न है महाभारत में नकुल सहदेव का क्या योगदान है देखिए शारीरि

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user
0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका घर में सब फोटो नकुल सहदेव का कोई अच्छा योगदान भारत में वर्णित नहीं है इसलिए अधिक व्यस्त भाग्यवान आ जाए अर्जुन युधिष्ठिर और फिर यह कुंती पुत्र थे और नकुल सहदेव माधुरी दीक्षित और उन्होंने देवताओं को देख मस्त पहले बात की थी अभी तक तो नहीं और जब कोई बात बिगड़ जाए बड़ा नियम की व्याख्या नहीं अपने लिए धन्यवाद

aapka ghar me sab photo nakul sahdev ka koi accha yogdan bharat me varnit nahi hai isliye adhik vyast bhagyvan aa jaaye arjun yudhishthir aur phir yah kuntee putra the aur nakul sahdev madhuri dixit aur unhone devatao ko dekh mast pehle baat ki thi abhi tak toh nahi aur jab koi baat bigad jaaye bada niyam ki vyakhya nahi apne liye dhanyavad

आपका घर में सब फोटो नकुल सहदेव का कोई अच्छा योगदान भारत में वर्णित नहीं है इसलिए अधिक व्यस

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  425
WhatsApp_icon
user

विनोद

Career Counsellor, Life Coach, Social Worker

0:49
Play

Likes  7  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user

Shivam Bedardi

Actor. Singer

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में नकुल सहदेव का योगदान इसलिए था क्योंकि वह चचेरे भाई भी थे परंतु ओमबीर में थे और हमेशा इतिहास वीरों के नाम को ही बार-बार दौर आती है

mahabharat me nakul sahdev ka yogdan isliye tha kyonki vaah chachere bhai bhi the parantu omabir me the aur hamesha itihas veero ke naam ko hi baar baar daur aati hai

महाभारत में नकुल सहदेव का योगदान इसलिए था क्योंकि वह चचेरे भाई भी थे परंतु ओमबीर में थे और

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user
0:35
Play

Likes  5  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!