कुछ महान रहस्य हैं जो विज्ञान क्रैक नहीं कर पाया?...


user

BK Vishal

Rajyoga Trainer

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखा जाए तो विज्ञान असल में किसी भी रिश्ते को नहीं खोल पाया आध्यात्मिकता के तो किसी भी व्यक्ति तक विज्ञान की पांच नहीं बन पाई और प्रकृति के भी इतने रहते हैं जो विज्ञान के पास से बाहर है जन्म और मृत्यु के सिद्धांतों विज्ञान विज्ञान नहीं समझ पाया आत्मा के रूप स्वरूप को नहीं समझ पाया कर्म की फिलॉसफी को विज्ञान नहीं समझ पाया परमात्मा और उसकी योजनाओं को विज्ञान नहीं समझ पाया

dekha jaaye toh vigyan asal me kisi bhi rishte ko nahi khol paya aadhyatmikta ke toh kisi bhi vyakti tak vigyan ki paanch nahi ban payi aur prakriti ke bhi itne rehte hain jo vigyan ke paas se bahar hai janam aur mrityu ke siddhanto vigyan vigyan nahi samajh paya aatma ke roop swaroop ko nahi samajh paya karm ki philosophy ko vigyan nahi samajh paya paramatma aur uski yojnao ko vigyan nahi samajh paya

देखा जाए तो विज्ञान असल में किसी भी रिश्ते को नहीं खोल पाया आध्यात्मिकता के तो किसी भी व्य

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1451
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

anand pandey

Yoga Trainer & YouTuber #Anand_R_Techno

0:19
Play

Likes  4  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विज्ञान हमें सपने आने का कारण नहीं बता सकता कि हमें सपने क्यों आते हैं विज्ञान हमें यह नहीं बता सकता कि इस सम्मान के अंत के बाद क्या होगा विज्ञान हमें नहीं बता सकता किस विज्ञान इस ब्रह्मांड की उत्पत्ति से पहले क्या था विज्ञान हमें किसी भी वैज्ञानिक तथ्य पर प्रमाणित नहीं कर सकता कि ईश्वर या अलौकिक शक्ति है या नहीं विज्ञान यह नहीं बता सकता कि वैसे तो हम सभी जानते हैं कि विज्ञान पुनर्जन्म के सिद्धांत को नहीं मानता लेकिन विज्ञान की प्रमाणित नहीं कर सकता है कि अगर इंसान का शरीर बढ़ जाता है तो आत्मा कहां जाती है क्योंकि कोई भी चीज कभी मरती नहीं है विज्ञान के ऊर्जा संरक्षण के नियम के अनुसार और सांस्कृतिक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित होती है कभी खत्म नहीं होती इंसान की शरीर की ऊर्जा जिसे हम आत्मा कहते हैं या वह जो कुछ भी हूं वह कहां जाती है उसका क्या होता है विज्ञान यह सारी बातें नहीं बता सकता

vigyan hamein sapne aane ka karan nahi bata sakta ki hamein sapne kyon aate hain vigyan hamein yah nahi bata sakta ki is sammaan ke ant ke baad kya hoga vigyan hamein nahi bata sakta kis vigyan is brahmaand ki utpatti se pehle kya tha vigyan hamein kisi bhi vaigyanik tathya par pramanit nahi kar sakta ki ishwar ya alaukik shakti hai ya nahi vigyan yah nahi bata sakta ki waise toh hum sabhi jante hain ki vigyan punarjanm ke siddhant ko nahi manata lekin vigyan ki pramanit nahi kar sakta hai ki agar insaan ka sharir badh jata hai toh aatma kahaan jaati hai kyonki koi bhi cheez kabhi marti nahi hai vigyan ke urja sanrakshan ke niyam ke anusaar aur sanskritik roop se dusre roop mein parivartit hoti hai kabhi khatam nahi hoti insaan ki sharir ki urja jise hum aatma kehte hain ya vaah jo kuch bhi hoon vaah kahaan jaati hai uska kya hota hai vigyan yah saree batein nahi bata sakta

विज्ञान हमें सपने आने का कारण नहीं बता सकता कि हमें सपने क्यों आते हैं विज्ञान हमें यह नही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!