भगवान कृष्ण नग्न महिलाओं को क्यों देखते थे, उन्हें तंग करते थे, उन पर पत्थर फेंकते थे और नहाते समय उनके कपड़े लेकर भाग जाते थे?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका यह प्रशन है इससे यह तो उसे धोती है के आपने पूर्ण रूप से श्रीमद् भागवत कथा अक्षर इसका आंसर उसी में मिल जाता है जब भगवान ने गोपियों के चीर हरण किए थे तब उनकी उम्र 5 वर्ष की थी आप ही सोचिए हर कोई महिला विश्व शक्ति है कि 5 साल के बच्चा के आगे वह किस प्रकार पर्दा में रहती है तो इसका मतलब यह नहीं हो गया कि वह उस बच्चे को कामवासना है वह स्त्रियों को देख रहा है और पत्थर फेंकने की बात है एक छोटा बालक किसी का और शैतानी तो करता है यह पर उनकी सैलानी से अंगूठियों को आनंद ज्यादा था क्या कोई भी छोटा सा बालक हूं उसे दान करें तो अच्छा लगता है यह किसी के बाद एक्सीडेंट घटना हो तो नफरत होती है और नहाते समय की कपड़े लेकर भाग जाना है यह शिक्षा दी थी कोई भी हो रही हो कहीं बिना कपड़े नहा रहे हो और कोई कपड़े लेकर चला जाए तुम्हारी क्या इज्जत रहेगी और किसी के सामने आ नहीं पाएंगे यह शिक्षा सहित आदि समाज के लिए आज भी कोई नहा कर देख लिया ऐसे कपड़े रख कर कोई जाया जाएगा पता पड़ेगा उसके लिए भगवान श्री राम की राशि गलत नहीं किया है केवल दिमाग की आंखों के विचार कांता है अरे भगवान जब मथुरा गए तुम कुल 11 वर्ष की उम्र थी 11 बरस का उम्र का बच्चा क्या जाने कामवासना चोरों ने महिलाओं के वस्त्र चुराए दे 5 वर्ष की उम्र इसलिए सही दृष्टि से देखिए अपने विचार की दृष्टि से मत देखिए क्योंकि हमारी बुध दूसरे से हम कामवासना के आधीन इसलिए उसी प्रकार दिखाई दे दी है उस 5 साल के बच्चे की दृष्टि से देखिए कि किस प्रकार दिखता है स्त्रियों का आसान तरीका किया जाएगा

aapka yah prashn hai isse yah toh use dhoti hai ke aapne purn roop se shrimad bhagwat katha akshar iska answer usi mein mil jata hai jab bhagwan ne gopiyon ke chir haran kiye the tab unki umr 5 varsh ki thi aap hi sochiye har koi mahila vishwa shakti hai ki 5 saal ke baccha ke aage vaah kis prakar parda mein rehti hai toh iska matlab yah nahi ho gaya ki vaah us bacche ko kaamvasna hai vaah sthreeyon ko dekh raha hai aur patthar fenkne ki baat hai ek chota balak kisi ka aur shaitani toh karta hai yah par unki sailanee se anguthiyon ko anand zyada tha kya koi bhi chota sa balak hoon use daan kare toh accha lagta hai yah kisi ke baad accident ghatna ho toh nafrat hoti hai aur nahaate samay ki kapde lekar bhag jana hai yah shiksha di thi koi bhi ho rahi ho kahin bina kapde naha rahe ho aur koi kapde lekar chala jaaye tumhari kya izzat rahegi aur kisi ke saamne aa nahi payenge yah shiksha sahit aadi samaj ke liye aaj bhi koi naha kar dekh liya aise kapde rakh kar koi jaya jaega pata padega uske liye bhagwan shri ram ki rashi galat nahi kiya hai keval dimag ki aankho ke vichar kaanta hai are bhagwan jab mathura gaye tum kul 11 varsh ki umr thi 11 baras ka umr ka baccha kya jaane kaamvasna choron ne mahilaon ke vastra churaye de 5 varsh ki umr isliye sahi drishti se dekhiye apne vichar ki drishti se mat dekhiye kyonki hamari buddha dusre se hum kaamvasna ke adhin isliye usi prakar dikhai de di hai us 5 saal ke bacche ki drishti se dekhiye ki kis prakar dikhta hai sthreeyon ka aasaan tarika kiya jaega

आपका यह प्रशन है इससे यह तो उसे धोती है के आपने पूर्ण रूप से श्रीमद् भागवत कथा अक्षर इसका

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  525
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!