इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार हैं?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है इस्कॉन के बारे में मेरे पास कोई नकारात्मक विचार नहीं है वह राधा कृष्ण कृष्ण जी को मानते हैं सिर्फ मलिक उसने जो मानता है अच्छा बात है अच्छी चीज है ठीक है तो उसमें नकारात्मकता वाली कोई बात नहीं

iskcon ke bare mein aapke kya nakaratmak vichar hai iskcon ke bare mein mere paas koi nakaratmak vichar nahi hai vaah radha krishna krishna ji ko maante hain sirf malik usne jo manata hai accha baat hai achi cheez hai theek hai toh usme nakaratmakta wali koi baat nahi

इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है इस्कॉन के बारे में मेरे पास कोई नकारात्मक

Romanized Version
Likes  346  Dislikes    views  4363
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

2:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड आफ्टरनून लाइफ बहुत छोटी है अगर हम नकारात्मक चीजें ढूंढते रहेंगे तो बहुत सारी नकारात्मक चीजें ही आपको दिखाई देगी फिर इस्कॉन के बारे में भी अगर आपके मन में संदेह है तो बहुत सारे नकारात्मक विचार ही आएंगे देखे इस्कॉन एक ऐसा इंस्टिट्यूशन है जो बहुत सारे लोगों को गरीब बच्चों को खाना खिला रहा है और बहुत अनेक कार्य कर रहा है तो उसमें नेगेटिविटी ढूंढते हुए अपना वक्त क्यों जाया करें रात भर आप उसमें भी पॉजिटिविटी ढूंढ के आप योगदान कीजिएगा उनके खयालों के लिए उनकी विचारधाराओं के लिए कौन है आजकल जो नेगेटिव काम नहीं कर रहे हैं हर कोई कर रहे तो यह कम से कम इन का एक प्रयास है कि कम से कम स्कूल जाने वाले बच्चों को एक वक्त का खाना यह लोग फ्री में खिला रहे हैं इस दिन तो अगर देखा जाएगा तो हर चीजों में नकारात्मक नकारात्मक भी होता है विचार और सकारात्मक भी होते हैं अपना जीवन के नकारात्मक और सकारात्मक के विचारों में ना बताइएगा बाहर निकलेगा इंजनों से और जो अच्छा है उसको चूस कर के आगे बढ़िए गा इस्कॉन में भी कुछ अच्छा है या है बहुत सारी अच्छाइयां है इसे हर एक इसमें अच्छा ही ढूंढेगा नकारात्मक ढूंढते बैठोगे तो आप खुद एक नेगेटिव इंसान बन जाओगे और लाइफ में आप कभी आगे नहीं बढ़ पाओगे तो यह मेरी सलाह है कि आप इस्कॉन में नकारात्मक चीजें ढूंढने से विचार ढूंढने से अच्छा उनकी अच्छाइयां देखिएगा और आगे बढ़िए गा वह जिस मित्र पर जॉब खाना वह बच्चों को जो खिला रहे हैं फ्री भोजन से बच्चों को खिला रहे हैं गांव-गांव में जाकर उसमें आप योगदान जोड़िए गा नेक विचार है उनको फॉलो कीजिएगा अगर आप उसमें भी गलती ढूंढोगे तो हर चीज में आपको नकारात्मक विचार मिलेंगे तो जिंदगी एक नकारात्मक की बनी रहेगी तो माय डियर फ्रेंड्स ऑफ ट्रिपिंग और नेगेटिव उससे आगे देखने की कोशिश कीजिएगा जिंदगी पॉजिटिव बहुत है इस्कॉन में भी बहुत थ्री पॉजिटिव है अगर हम उन्हें पॉजिटिव एंगल से देखकर तो आई हो मैंने मेरी राय बताइए आप को थैंक यू वेरी मच इफ यू लाइक इट प्लीज़ अक्सर थैंक यू

good afternoon life bahut choti hai agar hum nakaratmak cheezen dhoondhate rahenge toh bahut saree nakaratmak cheezen hi aapko dikhai degi phir iskcon ke bare mein bhi agar aapke man mein sandeh hai toh bahut saare nakaratmak vichar hi aayenge dekhe iskcon ek aisa instityushan hai jo bahut saare logo ko garib baccho ko khana khila raha hai aur bahut anek karya kar raha hai toh usme negativity dhoondhate hue apna waqt kyon jaya kare raat bhar aap usme bhi positivity dhundh ke aap yogdan kijiega unke khayalo ke liye unki vichardharaon ke liye kaun hai aajkal jo Negative kaam nahi kar rahe hain har koi kar rahe toh yah kam se kam in ka ek prayas hai ki kam se kam school jaane waale baccho ko ek waqt ka khana yah log free mein khila rahe hain is din toh agar dekha jaega toh har chijon mein nakaratmak nakaratmak bhi hota hai vichar aur sakaratmak bhi hote hain apna jeevan ke nakaratmak aur sakaratmak ke vicharon mein na bataiega bahar niklega injanon se aur jo accha hai usko chus kar ke aage badhiye ga iskcon mein bhi kuch accha hai ya hai bahut saree achaiya hai ise har ek isme accha hi dhundhega nakaratmak dhoondhate baithoge toh aap khud ek Negative insaan ban jaoge aur life mein aap kabhi aage nahi badh paoge toh yah meri salah hai ki aap iskcon mein nakaratmak cheezen dhundhne se vichar dhundhne se accha unki achaiya dekhiega aur aage badhiye ga vaah jis mitra par job khana vaah baccho ko jo khila rahe hain free bhojan se baccho ko khila rahe hain gaon gaon mein jaakar usme aap yogdan joodiye ga neck vichar hai unko follow kijiega agar aap usme bhi galti dhundhoge toh har cheez mein aapko nakaratmak vichar milenge toh zindagi ek nakaratmak ki bani rahegi toh my dear friends of tripping aur Negative usse aage dekhne ki koshish kijiega zindagi positive bahut hai iskcon mein bhi bahut three positive hai agar hum unhe positive Angle se dekhkar toh I ho maine meri rai bataye aap ko thank you very match if you like it please aksar thank you

गुड आफ्टरनून लाइफ बहुत छोटी है अगर हम नकारात्मक चीजें ढूंढते रहेंगे तो बहुत सारी नकारात्मक

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  3107
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Sharma

Spiritual and Motivational Speaker

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप सभी को जय माता की आपने पूछा है कि इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है तो देखिए हमारी सनातन संस्कृति में शुरू से ही यह कहा गया है कि जीवन जीने के लिए आवश्यक है सकारात्मक विचार पॉजिटिविटी एक अच्छे व्यक्ति के लक्षण होते हैं एक सदाचरण वाले व्यक्ति के लक्षण होते हैं कि गलत से गलत चीज में से ही अच्छी चीज प्राप्त करले से गलत चीज में से भी अगर कुछ अच्छी चीज अच्छा ज्ञान प्राप्त हो रहा है तो उसको प्राप्त करने में कोई भी बुराई नहीं है और उसकी गलत चीजों को ना देखते हुए उसकी अच्छाइयों को हमेशा देखना चाहिए रह गई बात बात इस्कॉन की तो इस्कॉन जो संस्था है और भक्ति का भगवान श्री कृष्ण के प्रेम का और भक्ति का प्रचार करने में तन मन धन से लगी हुई है और भी प्रकल्प जनसेवा के लोगों की मदद के चलते ही रहते हैं तू नकारात्मकता का तो कोई प्रश्न ही नहीं उठता है और यह निर्भर करता है हमारे दृष्टिकोण पर अगर हमारा दृष्टिकोण ही नकारात्मक है नेगेटिविटी से भरा हुआ है तो हम अच्छी से अच्छी चीज में भी बुराई ढूंढ ही लेंगे निकाल ही लेंगे और अगर हमारा दृष्टिकोण पॉजिटिव है सकारात्मक है तो हम बुरी से बुरी चीज में भी अच्छा हीरो नहीं लेंगे इसलिए आवश्यकता है अपने विचारों को सकारात्मक रखना अपने दृष्टिकोण को सकारात्मक रखते हुए अपने जीवन को सही मार्ग प्रगतिशील करते

aap sabhi ko jai mata ki aapne poocha hai ki iskcon ke bare mein aapke kya nakaratmak vichar hai toh dekhiye hamari sanatan sanskriti mein shuru se hi yah kaha gaya hai ki jeevan jeene ke liye aavashyak hai sakaratmak vichar positivity ek acche vyakti ke lakshan hote hain ek sadacharan waale vyakti ke lakshan hote hain ki galat se galat cheez mein se hi achi cheez prapt karle se galat cheez mein se bhi agar kuch achi cheez accha gyaan prapt ho raha hai toh usko prapt karne mein koi bhi burayi nahi hai aur uski galat chijon ko na dekhte hue uski acchhaiyon ko hamesha dekhna chahiye reh gayi baat baat iskcon ki toh iskcon jo sanstha hai aur bhakti ka bhagwan shri krishna ke prem ka aur bhakti ka prachar karne mein tan man dhan se lagi hui hai aur bhi prakalp jansewa ke logo ki madad ke chalte hi rehte hain tu nakaratmakta ka toh koi prashna hi nahi uthata hai aur yah nirbhar karta hai hamare drishtikon par agar hamara drishtikon hi nakaratmak hai negativity se bhara hua hai toh hum achi se achi cheez mein bhi burayi dhundh hi lenge nikaal hi lenge aur agar hamara drishtikon positive hai sakaratmak hai toh hum buri se buri cheez mein bhi accha hero nahi lenge isliye avashyakta hai apne vicharon ko sakaratmak rakhna apne drishtikon ko sakaratmak rakhte hue apne jeevan ko sahi marg pragatisheel karte

आप सभी को जय माता की आपने पूछा है कि इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है तो दे

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  1364
WhatsApp_icon
user

Mr. Abhay Upadhyaya

Thinker , Mind Motivator, Psychologist

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है देखिए अगर हम नकारात्मक विचारों के ऊपर बात करेंगे तो हम भी नकारात्मक हो जाएंगे हमें किसी भी चीज के बारे में या किसी भी व्यक्ति के बारे में उसके जो पॉजिटिव एटीट्यूड सोते हैं जो उसके पॉजिटिव गुण होते हैं उस पर ध्यान देना चाहिए ना कि हमें उसकी नेगेटिव चीजों पर ध्यान देना चाहिए अगर आपके अंदर बार-बार किसी की गलतियां देखने का आदत है किसी की कमियों को देखने का आदत है तो धीरे-धीरे वह कमियां आपके जीवन का हिस्सा बन जाएंगे तो मैं तो भाई आपसे यही कहना चाहता हूं अब यह मुझे पता नहीं कि किसी बहन ने पूछा या किसी भाई ने पूछा है मैं अब मैं आपको यह बात बताना चाहता हूं कि आप जो देखते हैं ना वही आपके जीवन में शामिल होने लगता है अगर आप हर व्यक्ति में उसके गुण देखेंगे तो आपके आते रहेंगे अगर आप किसी व्यक्ति की गलतियां देखेंगे तो उसकी गलतियां आपके अंदर आते रहेंगे तो क्या जरूरत है कि कौन क्या कर रहा है कौन सा मंदिर क्या कर रहा है कौन से साधु क्या कर रहा है कौन से संत क्या कर रहा है कौन से लोग क्या कर रहे हैं इससे कोई मतलब नहीं है आप अपने जीवन में क्या कर रहे हैं आप इससे मतलब रखें आप सुधरे दुनिया सुधरे हैं ना सुधरे यह कहावत है हम सुधरेंगे जग सुधरेगा आप अपने अंदर पहले अच्छे विचार लाइए और दूसरे लोग क्या कर रहे हैं इस पर आप गलत मतलब धारणा मत रखिए हम यह मानते हैं कि वह लोग कुछ महीनों में गलत हो सकते हैं हो सकते हैं गलत लेकिन आपको गलत चीजों को या वाइट कर देना होता है अगर आप बार-बार किसी गलत चीज का चिंतन करेंगे तो वह गलत चीज है आपके जिंदगी का हिस्सा बन जाएंगे और आप की एक आदत हो जाएगी गलत चिंतन करना और जिस व्यक्ति को एक बार गलत चिंतन करने की आदत हो जाती है ना वह बार-बार बार-बार वही चिंतन करता रहता है जिसके कारण उस अंदर मानसिक विकार उत्पन्न हो जाते हैं तो अगर आप अपने मस्तिष्क को स्वस्थ रखना चाहते हैं अपने सभी को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो किसी के बारे में भी चाहे वह मंदिर हो चाहे वह व्यक्ति हो आप नेगेटिव थॉट्स निकाल दें यही आपके लिए भलाई है

aapne poocha hai iskcon ke bare me aapke kya nakaratmak vichar hai dekhiye agar hum nakaratmak vicharon ke upar baat karenge toh hum bhi nakaratmak ho jaenge hamein kisi bhi cheez ke bare me ya kisi bhi vyakti ke bare me uske jo positive attitude sote hain jo uske positive gun hote hain us par dhyan dena chahiye na ki hamein uski Negative chijon par dhyan dena chahiye agar aapke andar baar baar kisi ki galtiya dekhne ka aadat hai kisi ki kamiyon ko dekhne ka aadat hai toh dhire dhire vaah kamiyan aapke jeevan ka hissa ban jaenge toh main toh bhai aapse yahi kehna chahta hoon ab yah mujhe pata nahi ki kisi behen ne poocha ya kisi bhai ne poocha hai main ab main aapko yah baat batana chahta hoon ki aap jo dekhte hain na wahi aapke jeevan me shaamil hone lagta hai agar aap har vyakti me uske gun dekhenge toh aapke aate rahenge agar aap kisi vyakti ki galtiya dekhenge toh uski galtiya aapke andar aate rahenge toh kya zarurat hai ki kaun kya kar raha hai kaun sa mandir kya kar raha hai kaun se sadhu kya kar raha hai kaun se sant kya kar raha hai kaun se log kya kar rahe hain isse koi matlab nahi hai aap apne jeevan me kya kar rahe hain aap isse matlab rakhen aap sudhre duniya sudhre hain na sudhre yah kahaavat hai hum sudhrenge jag sudhrega aap apne andar pehle acche vichar laiye aur dusre log kya kar rahe hain is par aap galat matlab dharana mat rakhiye hum yah maante hain ki vaah log kuch mahinon me galat ho sakte hain ho sakte hain galat lekin aapko galat chijon ko ya white kar dena hota hai agar aap baar baar kisi galat cheez ka chintan karenge toh vaah galat cheez hai aapke zindagi ka hissa ban jaenge aur aap ki ek aadat ho jayegi galat chintan karna aur jis vyakti ko ek baar galat chintan karne ki aadat ho jaati hai na vaah baar baar baar baar wahi chintan karta rehta hai jiske karan us andar mansik vikar utpann ho jaate hain toh agar aap apne mastishk ko swasth rakhna chahte hain apne sabhi ko swasth rakhna chahte hain toh kisi ke bare me bhi chahen vaah mandir ho chahen vaah vyakti ho aap Negative thoughts nikaal de yahi aapke liye bhalai hai

आपने पूछा है इस्कॉन के बारे में आपके क्या नकारात्मक विचार है देखिए अगर हम नकारात्मक विचारो

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस्कॉन के बारे में क्वेश्चन तो कोई नकारात्मक विचार नहीं है हालांकि दो तीन चीजें थोड़ी अच्छी नहीं लगी वह यह है कि प्रभु खुदा का वहां पर का संस्कार नहीं करेगी के समाधि दी गई तो यह बात अच्छी नहीं लगी तो किसी यूज़र ने यह भी कहा कि संतों की दाह संस्कार नहीं करते हैं समाधि दी जाती है तो यह गलत बात है संतों की समाधि नहीं दाह संस्कार भी किया जाता है हिंदू रीति रिवाज के अनुसार दाह संस्कार ही करना चाहिए भगवान कृष्ण ने वैसा ही किया था और भी कई बड़े संतोष जनानी दाह संस्कार करवाया अपना यह बात थोड़ी अच्छी नहीं लगी कि प्रोगोद आया वहां के जो चंद है वह समाधि ले रहे हैं जमीन में उन्हें उनको दफनाया जा रहा है यह बात अच्छी नहीं लगी

iskcon ke bare mein question toh koi nakaratmak vichar nahi hai halaki do teen cheezen thodi achi nahi lagi vaah yah hai ki prabhu khuda ka wahan par ka sanskar nahi karegi ke samadhi di gayi toh yah baat achi nahi lagi toh kisi user ne yah bhi kaha ki santo ki daah sanskar nahi karte hain samadhi di jaati hai toh yah galat baat hai santo ki samadhi nahi daah sanskar bhi kiya jata hai hindu riti rivaaj ke anusaar daah sanskar hi karna chahiye bhagwan krishna ne waisa hi kiya tha aur bhi kai bade santosh janani daah sanskar karvaya apna yah baat thodi achi nahi lagi ki progod aaya wahan ke jo chand hai vaah samadhi le rahe hain jameen mein unhe unko dafnaya ja raha hai yah baat achi nahi lagi

इस्कॉन के बारे में क्वेश्चन तो कोई नकारात्मक विचार नहीं है हालांकि दो तीन चीजें थोड़ी अच्छ

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Rahul

Motivation ki machine

2:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो स्कूल के बारे में नेगेटिव विचार रखता है वह सबसे बड़ा मूर्ख है क्योंकि वह अपनी दहिया तुम बुद्धि के कारण ऐसा सोच रहा है कि यह लोग गलत है वह गलत है भाई एक बार आप पहले उस चीज को रिचार्ज कीजिए उस चीज को जानिए कि वह चीज क्या बता रहे हैं क्या नहीं बताया फिर आप अपना तर्क दीजिए इस सबसे बड़ी प्रॉब्लम है हिंदुस्तान में आध्यात्म से संबंधित कोई बात होती है तो ऐसे मुंह खुलने लगते हैं जैसे वरिष्ठ कुछ पता हो बहुत ही के लिए पर सब कुछ पता होने के बाद भी चुप रहते हैं कहीं कोई डाउट ना हो जाए कि मेरी बेजती ना हो जाकर मैंने मुंह खोल दिया तो अध्यात्म में अपने आप को धुरंधर समझते हैं तो इसमें मेरी रिक्वेस्ट पहले आप पीएफ के बारे में बोलने से पहले उसी को जानिए उस चीज को पहले रिसर्च कीजिए फिर आप उस चीज के बारे में अपनी राय दीजिए और एक और बात इस्कॉन में आप अगर इस्कॉन के भक्तों के प्रति आप कुछ भी गलत बोलते हैं वह सबसे बड़ा अपराध होता है उसको बोलते हैं वैष्णव अपराध तू ही भगवान कृष्ण के भक्तों के प्रति किया गया अपराध सबसे बड़ा पाप होता है कभी माफ नहीं किया जाता और इन चीजों को पहले आप आध्यात्मिक नॉलेज की लीजिए फिर आप कुछ बोलिए समाज में लोग नशा करते हैं दारू के ठेके खोलते हैं क्लब क्लब स्कूल है तो इतनी चीजों की जब कोई कुछ बोलते हैं तब कुछ नहीं बोलते आप इतनी आपने पब्लिकली खोल रखी है नशा वाली चीजें शरीर को बर्बाद करने वाली चीजें है नर्क भेजने वाली चीजों की आपने परमिशन दे रखी है उन चीजों के बारे में लोगों की राय कभी भी नहीं आएगी सामने उसमें तो लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे क्योंकि उसमें अपनी इंद्र क्लिप भी जुड़ी हुई है और स्कूल की जब बात आती है तो लोग अपना मतलब कि देखते कि इससे संबंधित इसमें हमारी इंद्र तृप्ति वाली कोई बात नहीं है उसका विरोध करने लगता है यह कहां की सोच ही भैया है पहले आप थोड़ा चीजों को समझ में इस्कॉन ने हमारे पूरे समाज को बचाया है नशे की तरफ जाने से गलत काम करने से मा का पतन करनी चाहिए स्कूल ने बचाया तो पहले आप उन चीजों को पहले समझ कैसे जानते फिर आप अपनी राय दीजिए एक बार आप खुद स्कूल में जाइए फिर आप वहां पर जानिए यू अक्षर में क्या होता है कि हमें कलयुग है कलयुग में लोग धर्म की निंदा करेंगे अधर्म के साथ देंगे अगर आपके मन में उनके प्रति नेगेटिव भावना कृष्णा आपका दोस्त नहीं है कलयुग का प्रभाव है आपकी बुद्धि पर जो आप धर्म के प्रति विरोध कर रहे और अधर्म का साथ दे रहे हैं तो थोड़ा पहले बुद्धि लगाइए इतिहास उठाकर देख लीजिए अधर्म का साथ दोगे तुम्हारा भी विनाश हो जाएगा पतन हो जाएगा तो थोड़ा समझ भी इन चीजों को ले कृष्णा

jo school ke bare mein Negative vichar rakhta hai vaah sabse bada murkh hai kyonki vaah apni dahiya tum buddhi ke karan aisa soch raha hai ki yah log galat hai vaah galat hai bhai ek baar aap pehle us cheez ko recharge kijiye us cheez ko janiye ki vaah cheez kya bata rahe kya nahi bataya phir aap apna tark dijiye is sabse badi problem hai Hindustan mein aadhyatm se sambandhit koi baat hoti hai toh aise mooh khulne lagte hain jaise varishtha kuch pata ho bahut hi ke liye par sab kuch pata hone ke baad bhi chup rehte hain kahin koi doubt na ho jaaye ki meri bejti na ho jaakar maine mooh khol diya toh adhyaatm mein apne aap ko dhurandhar samajhte hain toh isme meri request pehle aap pf ke bare mein bolne se pehle usi ko janiye us cheez ko pehle research kijiye phir aap us cheez ke bare mein apni rai dijiye aur ek aur baat iskcon mein aap agar iskcon ke bhakton ke prati aap kuch bhi galat bolte hain vaah sabse bada apradh hota hai usko bolte hain vaisnav apradh tu hi bhagwan krishna ke bhakton ke prati kiya gaya apradh sabse bada paap hota hai kabhi maaf nahi kiya jata aur in chijon ko pehle aap aadhyatmik knowledge ki lijiye phir aap kuch bolie samaj mein log nasha karte hain daaru ke theke kholte hain club club school hai toh itni chijon ki jab koi kuch bolte hain tab kuch nahi bolte aap itni aapne publicly khol rakhi hai nasha wali cheezen sharir ko barbad karne wali cheezen hai nark bhejne wali chijon ki aapne permission de rakhi hai un chijon ke bare mein logo ki rai kabhi bhi nahi aayegi saamne usme toh log badh chadhakar hissa lenge kyonki usme apni indra clip bhi judi hui hai aur school ki jab baat aati hai toh log apna matlab ki dekhte ki isse sambandhit isme hamari indra tripti wali koi baat nahi hai uska virodh karne lagta hai yah kahaan ki soch hi bhaiya hai pehle aap thoda chijon ko samajh mein iskcon ne hamare poore samaj ko bachaya hai nashe ki taraf jaane se galat kaam karne se ma ka patan karni chahiye school ne bachaya toh pehle aap un chijon ko pehle samajh kaise jante phir aap apni rai dijiye ek baar aap khud school mein jaiye phir aap wahan par janiye you akshar mein kya hota hai ki hamein kalyug hai kalyug mein log dharm ki ninda karenge adharma ke saath denge agar aapke man mein unke prati Negative bhavna krishna aapka dost nahi hai kalyug ka prabhav hai aapki buddhi par jo aap dharm ke prati virodh kar rahe aur adharma ka saath de rahe hain toh thoda pehle buddhi lagaaiye itihas uthaakar dekh lijiye adharma ka saath doge tumhara bhi vinash ho jaega patan ho jaega toh thoda samajh bhi in chijon ko le krishna

जो स्कूल के बारे में नेगेटिव विचार रखता है वह सबसे बड़ा मूर्ख है क्योंकि वह अपनी दहिया तुम

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!