सनातन धर्म दुनिया भर में क्यों फैल रहा है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

4:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि सनातन धर्म में कुछ सिद्धांत बेमिसाल सिद्धांत हैं अकाट्य सिद्धांत हैं जैसे देखो हमारे मुर्दों को हिंदू धर्म में सनातन धर्म में जलाया जाता है क्योंकि हम हिंदुओं का विश्वास होता है कि मानव का शरीर पंच भौतिक तत्वों से बना हुआ है आकाश पृथ्वी जल वायु और अग्नि को जलाने पर यह पंच भौतिक तत्व इन पंच भौतिक तत्व में विलीन हो जाते हैं तो देख लीजिए आज संसार में जो देश हमारे हिंदू धर्म का विरोध करते थे आज उनको कोरोनावायरस के कारण मुर्दों को जलाने की विधि का ही प्रयोग किया जा रहा है ईसाई और बोनस कंट्रीज जहां पर हिंदू धर्म का विरोध होता था आज भी बाध्य हैं और कोरोनावायरस को समाप्त करने के लिए मर जाऊं को चला रहे हैं दूसरा हिंदू धर्म में तुम देखते हो ऐसा सत्य अहिंसा अस्तेय ब्रह्मचर्य आदि गीत जो गुण हैं वह अन्य धर्मों में आपको नहीं मिलते हैं क्योंकि आप देखते हो कि आज मानव को आपस में लड़ने की आवश्यकता नहीं है कि हम धर्मांध होकर की लड़ाई धर्म का प्रसार प्रचार करने की लड़ाई लिए लड़े क्योंकि कोई भी धर्म हिंसा का समर्थन नहीं है सभी धर्म एकता की कहते हैं लेकिन दुर्भाग्य है कि मुकदमा की स्वार्थी मानव धर्म का चोला पहनकर के अपनी व्यक्तिगत विचारों को स्वार्थों को धर्म की परिभाषा में डाल देता है इसलिए झगड़े वाली हो रहे हैं तुम देखते हो हिंदू धर्म का पालन करता है उस को बढ़ावा देना चाहता है तो तुम देख लीजिए आज विश्व के समस्त देश एक दूसरे से प्रेम रखते हुए इस कोरोना वायरस से जूझ रहे हैं और एक दूसरे की सहायता कर रहे हैं कि कैसे भी संक्रमण इसका रुक जाए और मानवता का विनाश होने से बच जाएं तो कई बातें ऐसी हैं जो हिंदू धर्म की बहुत अच्छी हैं जिनको विश्व सम्मान दे रहा है हम देखो हम भारतीय संस्कृति के मानने वाले हिंदू धर्म को मानते हैं आज हमारे धर्म में श्रेष्ठ था नहीं होती आध्यात्मिक ऊंचाइयां नहीं होती हमारे पूर्वजों के द्वारा योगी जो समस्याएं हैं उनका फल नहीं होता कोई आज विदेश के आने वाले यह लोग अमेरिका फ्रांस इंग्लैंड के आने वाले लोग अपनी-अपनी कल चलें छोड़ करके भारतीय संस्कृति का पालन करते हुए आज भी सनातन धर्म हिंदू धर्म की पद्धतियों को अपनाते हुए आप देखिए उसका कॉलिंग कर रहे हैं आपको कभी देखना है तो मथुरा वृंदावन गोवर्धन इन लाखों में आएं यहां देखेंगे आप कितने ही हजारों लोग अंग्रेज लोग अपने देशों को छोड़कर की अपनी कल्चर को छोड़कर के भारतीय कल्चर का पालन कर रहे हैं और राधे कृष्णा राधे कृष्णा का क्या वर्क करते हुए आपको मिल जाएंगे उनको देखते हुए हम भारतीयों को बेहद शर्म आती है कि वह देखो जो वेस्टर्न कल्चर को जोगवादी वेस्टर्न कल्चर को त्याग आए वहां से और आज भी हमारी भारतीय संस्कृति को अपनाए हुए हैं हिंदू धर्म का पालन कर रहे हैं यज्ञ कर रहे हैं भजनों का दान कर रहे हैं और एक हम हिंदू हैं जो हिंदुस्तान के रहने वाले भारतीय संस्कृति के जानकार हैं किंतु हम लोग हम और हमारी औलादे न्यू जेनरेशन वेस्टर्न कल्चर का फॉर्मिंग कर रही हैं

kyonki sanatan dharm me kuch siddhant BEMISAL siddhant hain akatya siddhant hain jaise dekho hamare murdon ko hindu dharm me sanatan dharm me jalaya jata hai kyonki hum hinduon ka vishwas hota hai ki manav ka sharir punch bhautik tatvon se bana hua hai akash prithvi jal vayu aur agni ko jalane par yah punch bhautik tatva in punch bhautik tatva me vileen ho jaate hain toh dekh lijiye aaj sansar me jo desh hamare hindu dharm ka virodh karte the aaj unko coronavirus ke karan murdon ko jalane ki vidhi ka hi prayog kiya ja raha hai isai aur bonus countries jaha par hindu dharm ka virodh hota tha aaj bhi badhya hain aur coronavirus ko samapt karne ke liye mar jaaun ko chala rahe hain doosra hindu dharm me tum dekhte ho aisa satya ahinsa astey brahmacharya aadi geet jo gun hain vaah anya dharmon me aapko nahi milte hain kyonki aap dekhte ho ki aaj manav ko aapas me ladane ki avashyakta nahi hai ki hum dharmandh hokar ki ladai dharm ka prasaar prachar karne ki ladai liye lade kyonki koi bhi dharm hinsa ka samarthan nahi hai sabhi dharm ekta ki kehte hain lekin durbhagya hai ki mukadma ki swaarthi manav dharm ka chola pehankar ke apni vyaktigat vicharon ko swarthon ko dharm ki paribhasha me daal deta hai isliye jhagde wali ho rahe hain tum dekhte ho hindu dharm ka palan karta hai us ko badhawa dena chahta hai toh tum dekh lijiye aaj vishwa ke samast desh ek dusre se prem rakhte hue is corona virus se joojh rahe hain aur ek dusre ki sahayta kar rahe hain ki kaise bhi sankraman iska ruk jaaye aur manavta ka vinash hone se bach jayen toh kai batein aisi hain jo hindu dharm ki bahut achi hain jinako vishwa sammaan de raha hai hum dekho hum bharatiya sanskriti ke manne waale hindu dharm ko maante hain aaj hamare dharm me shreshtha tha nahi hoti aadhyatmik unchaiyan nahi hoti hamare purvajon ke dwara yogi jo samasyaen hain unka fal nahi hota koi aaj videsh ke aane waale yah log america france england ke aane waale log apni apni kal chalen chhod karke bharatiya sanskriti ka palan karte hue aaj bhi sanatan dharm hindu dharm ki paddhatiyon ko apanate hue aap dekhiye uska Calling kar rahe hain aapko kabhi dekhna hai toh mathura vrindavan govardhan in laakhon me aaen yahan dekhenge aap kitne hi hazaro log angrej log apne deshon ko chhodkar ki apni culture ko chhodkar ke bharatiya culture ka palan kar rahe hain aur radhe krishna radhe krishna ka kya work karte hue aapko mil jaenge unko dekhte hue hum bharatiyon ko behad sharm aati hai ki vaah dekho jo western culture ko jogvadi western culture ko tyag aaye wahan se aur aaj bhi hamari bharatiya sanskriti ko apnaye hue hain hindu dharm ka palan kar rahe hain yagya kar rahe hain bhajanon ka daan kar rahe hain aur ek hum hindu hain jo Hindustan ke rehne waale bharatiya sanskriti ke janakar hain kintu hum log hum aur hamari aulade new generation western culture ka forming kar rahi hain

क्योंकि सनातन धर्म में कुछ सिद्धांत बेमिसाल सिद्धांत हैं अकाट्य सिद्धांत हैं जैसे देखो हमा

Romanized Version
Likes  432  Dislikes    views  7606
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया भर में फैल रहा है क्योंकि एक अच्छा धर्म है सबको समझने वाला धर्म है और सब का तारणहार धर्म का मार्ग दिखाता है इस पर दुनिया भर में

duniya bhar mein fail raha hai kyonki ek accha dharm hai sabko samjhne vala dharm hai aur sab ka taranahar dharm ka marg dikhaata hai is par duniya bhar mein

दुनिया भर में फैल रहा है क्योंकि एक अच्छा धर्म है सबको समझने वाला धर्म है और सब का तारणहार

Romanized Version
Likes  105  Dislikes    views  2104
WhatsApp_icon
user

Achary Dhruv sashtri

Achary and Youtuber

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सनातन धर्म के 1 सबसे बड़ी विशेषता सनातन धर्म मानव जीवन जीने की कला है सनातन धर्म कभी किसी को दुख पहुंचाने की बात नहीं करता है सनातन धर्म खुशी प्रकृति को नष्ट करने की बात नहीं करता है सनातन धर्म ही एकमात्र ऐसा धर्म है जो पूरे प्रकृति को ही देवता समझ करके पूजिता प्रकृति की रक्षा करता है अगर संपूर्ण विश्व के लोग सनातन धर्म की बातों को केवल स्वीकार कर ले यह सनातन धर्म कहता है कि जल जल भी हमारे देवता है पवन देवता है वृक्ष हमारे देवता है तो यह सब से प्रकृति की रक्षा होती है और प्रकृति की रक्षा करना मानव का प्रथम धर्म मानव तभी तक सुरक्षित प्रकृति सुरक्षित है इसलिए जो अच्छा इंसान होगा वह निश्चित रूप से सनातन धर्म को स्वीकार करेगा और सुना कुंदन की बातों को अपना आएगा और जो अच्छे लोग हैं वह किसी भी धर्म किसी भी जात में किसी भी देश में कहीं भी हो सकते हैं इसीलिए सनातन धर्म को लोग स्वीकार कर रहे हैं और आगे भी करेंगे और वैसे भी सब की जननी है सनातन धर्म तो वैसे भी अगर कोई अपने मां बाप को स्वीकार कर दें इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है जय श्री राम

sanatan dharm ke 1 sabse badi visheshata sanatan dharm manav jeevan jeene ki kala hai sanatan dharm kabhi kisi ko dukh pahunchane ki baat nahi karta hai sanatan dharm khushi prakriti ko nasht karne ki baat nahi karta hai sanatan dharm hi ekmatra aisa dharm hai jo poore prakriti ko hi devta samajh karke pujita prakriti ki raksha karta hai agar sampurna vishwa ke log sanatan dharm ki baaton ko keval sweekar kar le yah sanatan dharm kahata hai ki jal jal bhi hamare devta hai pawan devta hai vriksh hamare devta hai toh yah sab se prakriti ki raksha hoti hai aur prakriti ki raksha karna manav ka pratham dharm manav tabhi tak surakshit prakriti surakshit hai isliye jo accha insaan hoga vaah nishchit roop se sanatan dharm ko sweekar karega aur suna kundan ki baaton ko apna aayega aur jo acche log hain vaah kisi bhi dharm kisi bhi jaat mein kisi bhi desh mein kahin bhi ho sakte hain isliye sanatan dharm ko log sweekar kar rahe hain aur aage bhi karenge aur waise bhi sab ki janani hai sanatan dharm toh waise bhi agar koi apne maa baap ko sweekar kar de isme koi aashcharya ki baat nahi hai jai shri ram

सनातन धर्म के 1 सबसे बड़ी विशेषता सनातन धर्म मानव जीवन जीने की कला है सनातन धर्म कभी किसी

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
play
user

Kumar

Social Worker

1:15

Likes  26  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सनातन धर्म सबसे पहले दुनिया में आया है सबसे पहले उसी की शुरुआत को मानता जो सबसे पहले आया है वही उसी का विस्तार सबसे पहले सनातन धर्म अर्थात हिंदू धर्म से बढ़कर कोई धर्म नहीं है मतलब मैं यह नहीं बता रहा हूं सबसे बड़ी धर्म तो मानवता धर्म है धर्म मानवता धर्म जाति सबसे बड़ी इंसानियत है वही तो सब कुछ नहीं है लेकिन मैं बता रहा हूं लिखे पड़ेगी सबसे क्योंकि मैं गीता है गीता मेन शूज दिखाएं अमेरिका में भी जीता मगर जाते समय ऐसा संदेश हुआ है कि आप के हजारों सारे हो जाएंगे आप चाहे तो कुछ सोच रहे हो हिंदू धर्म में कई चीजें लिमिटेड बताइए जैसे बताया गया कि जैसे बताया गया कि अगर आपको मतलब के लिए तो उम्र कम हो जाती है ऐसा हो या ना हो लेकिन वैज्ञानिक तौर पर दक्षिण की ओर पैर करके नहीं अगर उत्तर की ओर सिर करके आप ले लेंगे यानी दक्षिण की ओर पैर करके अब लेट आएंगे तो उत्तर की ओर जो जो तुमने जो है हमें याद कर लेते हैं जो कुछ भी है विज्ञानिक तक से जुड़ा हुआ है इसीलिए उसे सर्वश्रेष्ठ माना गया है हर जगह बनाया जा रहा है सनातन धर्म इसीलिए आप कहीं भी पड़ी है सबसे तेरी बताया जाता है और पहली बात तो मैंने बता दी थी जो पहले आएगा विस्तार उसी का होगा

sanatan dharm sabse pehle duniya mein aaya hai sabse pehle usi ki shuruat ko manata jo sabse pehle aaya hai wahi usi ka vistaar sabse pehle sanatan dharm arthat hindu dharm se badhkar koi dharm nahi hai matlab main yah nahi bata raha hoon sabse badi dharm toh manavta dharm hai dharm manavta dharm jati sabse badi insaniyat hai wahi toh sab kuch nahi hai lekin main bata raha hoon likhe padegi sabse kyonki main geeta hai geeta main shoes dikhaen america mein bhi jita magar jaate samay aisa sandesh hua hai ki aap ke hazaro saare ho jaenge aap chahen toh kuch soch rahe ho hindu dharm mein kai cheezen limited bataye jaise bataya gaya ki jaise bataya gaya ki agar aapko matlab ke liye toh umr kam ho jaati hai aisa ho ya na ho lekin vaigyanik taur par dakshin ki aur pair karke nahi agar uttar ki aur sir karke aap le lenge yani dakshin ki aur pair karke ab late aayenge toh uttar ki aur jo jo tumne jo hai hamein yaad kar lete hain jo kuch bhi hai vigyanik tak se juda hua hai isliye use sarvashreshtha mana gaya hai har jagah banaya ja raha hai sanatan dharm isliye aap kahin bhi padi hai sabse teri bataya jata hai aur pehli baat toh maine bata di thi jo pehle aayega vistaar usi ka hoga

सनातन धर्म सबसे पहले दुनिया में आया है सबसे पहले उसी की शुरुआत को मानता जो सबसे पहले आया ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  270
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!