भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया?...


user

Kesharram

Teacher

3:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया दोस्तों भगवान श्री कृष्ण ने पढ़ते हैं आज बार देश सभी देशों के साथ माली ने जिस समय नेहरु जी ने पंचशील सिद्धांत दिया था आप लोगों को पता भी होगा और उस पंचशील सिद्धांत का उद्देश्य क्या था और फिर वह इनमें गुटनिरपेक्ष किया है तो अगर हम इनकी बात करें और उसी हिसाब से श्रीकृष्ण ने नामक राक्षस का नरसंहार किया और वहां पर आपको पता है कि शक्तिशाली राज्य स्थापित किया और राज्य स्थापित करना मानो की सेवा करना कहलाता है आपको पता है कि धान की प्रजातियों की होगी वहां का राजा बहुत बड़ा होगा और दोस्तों फिर श्री कृष्ण का उद्देश्य था कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग पर क्या है कि मनुष्य दें और अपना जीवन यापन करके और परलोक सिधार गए क्योंकि जो आए हैं उसको तो जाना ही है और इसमें दोस्तों श्रीकृष्ण ने दुनिया का निर्माण भी किया मैं आपको बता देना चाहता हूं कि आपको पता ही होगा शायद आपको नहीं पता होगा इस चीज का लेकिन बाद में दिल्ली के अंदर जो तनोट देवी उन्होंने दोस्तों 1000 बोलने जिसको बोलते हैं हम और वह वहां पर बरसाए गए थे तब उनको एक कॉपी फटने नहीं दिया आपको पता है इस गोले को कौन बनाते हैं डिजाइन बनाते उस गोले को विज्ञान के द्वारा कब बनाया जाता है दोस्तों यह आपने पहले भी एक वीडियो में सुना था कि ब्रह्मांड ब्रह्मांड है क्या पहले तो आप ब्रह्मांड का दिन कीजिए उसके बाद में आपको पता चलेगा कि वास्तव में जो सिद्धांत है वह अपने स्तर पर है और जो हमारे देवी देवता है और उन्होंने मनुष्य का जो निर्माण किया है और उनको अग्रसर की है प्रेरित की एयर कार्य के लिए वह अपनी जगह एक अलग है श्री कृष्ण ने दुनिया का निर्माण आपको ही पता होगा कि ऐसे नहीं किए उन्होंने कहा कि हां यह जो भी जीव जंतु है यहां पर वितरण करें अपना समय व्यतीत करें और उसके बाद में वह यहां इस संसार से परलोक गमन सिद्धार्थ जाए और उनका नामांकन कर सके कि वास्तव में इस संसार के अंदर जो भी आता है उसको कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है दुख सुख उसके जीवन में आते हैं और इस प्रकार से वह क्या है कि क्रियाकलाप करता रहेगा और यह मृत्युलोक चलता रहेगा तो दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी चाहिए शेर और कमेंट करना जय हिंद दोस्तों

bhagwan krishna ne is duniya ka nirmaan kyon kiya doston bhagwan shri krishna ne padhte hain aaj baar desh sabhi deshon ke saath maali ne jis samay nehru ji ne Panchsheel siddhant diya tha aap logon ko pata bhi hoga aur us Panchsheel siddhant ka uddeshya kya tha aur phir vaah inmein gut nirpeksh kiya hai toh agar hum inki baat karen aur usi hisab se shrikrishna ne namak rakshas ka narasanhar kiya aur wahan par aapko pata hai ki shaktishali rajya sthapit kiya aur rajya sthapit karna maano ki seva karna kehlata hai aapko pata hai ki dhaan ki prajatiyo ki hogi wahan ka raja bahut bada hoga aur doston phir shri krishna ka uddeshya tha ki zyada se zyada sankhya mein log par kya hai ki manushya dein aur apna jeevan yaapan karke aur parlok sidhar gaye kyonki jo aaye hain usko toh jana hi hai aur isme doston shrikrishna ne duniya ka nirmaan bhi kiya main aapko bata dena chahta hoon ki aapko pata hi hoga shayad aapko nahi pata hoga is cheez ka lekin baad mein delhi ke andar jo tanot devi unhone doston 1000 bolne jisko bolte hain hum aur vaah wahan par barsaye gaye the tab unko ek copy fatne nahi diya aapko pata hai is gole ko kaun banate hain design banate us gole ko vigyan ke dwara kab banaya jata hai doston yah aapne pehle bhi ek video mein suna tha ki brahmaand brahmaand hai kya pehle toh aap brahmaand ka din kijiye uske baad mein aapko pata chalega ki vaastav mein jo siddhant hai vaah apne sthar par hai aur jo hamare devi devta hai aur unhone manushya ka jo nirmaan kiya hai aur unko agrasar ki hai prerit ki air karya ke liye vaah apni jagah ek alag hai shri krishna ne duniya ka nirmaan aapko hi pata hoga ki aise nahi kiye unhone kaha ki haan yah jo bhi jeev jantu hai yahan par vitaran karen apna samay vyatit karen aur uske baad mein vaah yahan is sansar se parlok gaman siddharth jaaye aur unka namankan kar sake ki vaastav mein is sansar ke andar jo bhi aata hai usko kathinaiyon ka samana karna padta hai dukh sukh uske jeevan mein aate hain aur is prakar se vaah kya hai ki kriyakalap karta rahega aur yah mrityulok chalta rahega toh doston hamare dwara di gayi jaankari chahiye sher aur comment karna jai hind doston

भगवान कृष्ण ने इस दुनिया का निर्माण क्यों किया दोस्तों भगवान श्री कृष्ण ने पढ़ते हैं आज बा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  295
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!