क्या आप आज भी गांधी जी की किसी विचार को अपने जीवन में फ़ॉलो करते हैं? क्यूँ?...


user

Nitish Kumar

RRB Railway JE

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या आप आज भी गांधीजी की किसी विचार को अपने जीवन में फॉलो करते हैं और कहा मैं कह सकता हूं कि मैं गांधीजी के उस विचार को फॉलो करता हूं जो उल्लू उन्होंने कहा था कि वह अपने दुश्मन को भी इज्जत करते थे इसी विचार को मानता हूं और मैं अपने दुश्मन को भी इज्जत करता हूं

aapka sawaal hai kya aap aaj bhi gandhiji ki kisi vichar ko apne jeevan mein follow karte hain aur kaha main keh sakta hoon ki main gandhiji ke us vichar ko follow karta hoon jo ullu unhone kaha tha ki vaah apne dushman ko bhi izzat karte the isi vichar ko manata hoon aur main apne dushman ko bhi izzat karta hoon

आपका सवाल है क्या आप आज भी गांधीजी की किसी विचार को अपने जीवन में फॉलो करते हैं और कहा मैं

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  257
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी कुछ समय पहले जब मैं गांधी आश्रम गया था साबरमती में तो वहां पर एक होर्डिंग पर लिखा हुआ था क्रीम संसार की सबसे प्रबल से प्रबल शक्ति होने के बावजूद सबसे नंबर से नंबर सकती है इतनी बड़ी बात माननी पड़ी थी और मुझे लगता है कि शायद यह सबसे स्ट्रांग बात उन्होंने कही थी और उस को मैं फॉलो करना चाहिए क्योंकि प्रीमियम किया जो आपको किसी और व्यक्ति से किसी और जानवर से किसी भी पेड़ से किसी भी चीज से दुनिया की आपको अटैच करती है उसका आपकी तरफ अट्रैक्ट करती है प्रेमी वह चीज है जो अंततः समस्याओं को हल करने के काम आती है प्रेमी वह चीज है जिसकी कारण भारत को निशुल्क तालीम आजादी मिली आपस में सभी भारतीय प्रेम करते थे उन्हें मुक्ति बनो अंग्रेज हमारे देश में सिलाई करने के लिए आए थे वह जब बाद में फेल के बहुत ज्यादा हो गए तो गांधीजी ने अहिंसा का रास्ता अपनाया प्रेम का रास्ता अपनाया और उस रास्ते से हमें एक ऐसा संदेश दिया जिसे दुनिया आज फॉलो कर रही है और सभी दुनिया में यूनिटी मिशन का गठन हुआ उसके बाद बंद हो गए तो वह भी गांधीजी की नीति को फॉलो करते आ रहे तो हम भी अपने जीवन में शांति का रास्ता प्रेम करो अपना सबसे अच्छा रास्ता है और उसी रास्ते से शायद मानवता का संसार का बना हो सकता है आपको कोई और कोर्ट पसंद हो तो वह कमेंट में जरूर डालें बहुत-बहुत धन्यवाद

abhi kuch samay pehle jab main gandhi ashram gaya tha sabarmati mein toh wahan par ek hoarding par likha hua tha cream sansar ki sabse prabal se prabal shakti hone ke bawajud sabse number se number sakti hai itni badi baat maanani padi thi aur mujhe lagta hai ki shayad yah sabse strong baat unhone kahi thi aur us ko main follow karna chahiye kyonki premium kiya jo aapko kisi aur vyakti se kisi aur janwar se kisi bhi ped se kisi bhi cheez se duniya ki aapko attach karti hai uska aapki taraf attract karti hai premi vaah cheez hai jo antatah samasyaon ko hal karne ke kaam aati hai premi vaah cheez hai jiski karan bharat ko nishulk talim azadi mili aapas mein sabhi bharatiya prem karte the unhe mukti bano angrej hamare desh mein silai karne ke liye aaye the vaah jab baad mein fail ke bahut zyada ho gaye toh gandhiji ne ahinsa ka rasta apnaya prem ka rasta apnaya aur us raste se hamein ek aisa sandesh diya jise duniya aaj follow kar rahi hai aur sabhi duniya mein unity mission ka gathan hua uske baad band ho gaye toh vaah bhi gandhiji ki niti ko follow karte aa rahe toh hum bhi apne jeevan mein shanti ka rasta prem karo apna sabse accha rasta hai aur usi raste se shayad manavta ka sansar ka bana ho sakta hai aapko koi aur court pasand ho toh vaah comment mein zaroor Daalein bahut bahut dhanyavad

अभी कुछ समय पहले जब मैं गांधी आश्रम गया था साबरमती में तो वहां पर एक होर्डिंग पर लिखा हुआ

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  834
WhatsApp_icon
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल मैं आप लोगों को वह महात्मा गांधी के बारे में आपका जो प्रश्न है बहुत ही अच्छा प्रश्न उस परिचित बताना चाहता हूं कि महात्मा गांधी जी के बारे में लोग बहुत गलत गलत सोचते हैं अभी मैंने आने वाली जो पिछली 2 अक्टूबर गई उस पर भी देखा लोगों ने गांधी जी के विचारों का और गांधी जी का बहुत ही खंडन किया है लोगों को वही लोग हैं जिनके अंदर ज्ञान की कमी है गांधी जी के गांधी जी कौन है समझना चाहिए गांधी जी द्वारा लिखित या गांधी जी द्वारा बनाई गई चीजों को समझना चाहिए उनके आंदोलन जो रहे उनका देश के प्रति जो समर्पण भाव रहा और उन्होंने देश के लिए जो कार्य किया देश के आजादी के लिए नहीं बोलना चाहिए गांधीजी एक बहुत ही अच्छे दर्शन शास्त्री थे उनका एक तो आप जीवन का विचार है मैं उसे बहुत ज्यादा फॉलो करता हूं गांधीजी का विचार था कि वह कार्य को समाप्त करेंगे बिना हिंसा की एक बहुत ही अच्छा कार्य था जिसे मैं अपने जीवन में उतारना चाहता हूं मैं कभी भी हिंसा से दूर रहता हूं और अहिंसा वादी गांधी जी की सोच को सलाम करता हूं और अपने रास्ते पर का सम्मान करता हूं और मैं अपने जीवन में सदैव अहिंसा वादी ही बनने की कोशिश करता हूं इंसान से बहुत दूर रहता हूं

bilkul main aap logo ko vaah mahatma gandhi ke bare mein aapka jo prashna hai bahut hi accha prashna us parichit bataana chahta hoon ki mahatma gandhi ji ke bare mein log bahut galat galat sochte hain abhi maine aane wali jo pichali 2 october gayi us par bhi dekha logo ne gandhi ji ke vicharon ka aur gandhi ji ka bahut hi khandan kiya hai logo ko wahi log hain jinke andar gyaan ki kami hai gandhi ji ke gandhi ji kaun hai samajhna chahiye gandhi ji dwara likhit ya gandhi ji dwara banai gayi chijon ko samajhna chahiye unke andolan jo rahe unka desh ke prati jo samarpan bhav raha aur unhone desh ke liye jo karya kiya desh ke azadi ke liye nahi bolna chahiye gandhiji ek bahut hi acche darshan shastri the unka ek toh aap jeevan ka vichar hai use bahut zyada follow karta hoon gandhiji ka vichar tha ki vaah karya ko samapt karenge bina hinsa ki ek bahut hi accha karya tha jise main apne jeevan mein utarana chahta hoon main kabhi bhi hinsa se dur rehta hoon aur ahinsa wadi gandhi ji ki soch ko salaam karta hoon aur apne raste par ka sammaan karta hoon aur main apne jeevan mein sadaiv ahinsa wadi hi banne ki koshish karta hoon insaan se bahut dur rehta hoon

बिल्कुल मैं आप लोगों को वह महात्मा गांधी के बारे में आपका जो प्रश्न है बहुत ही अच्छा प्रश्

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  704
WhatsApp_icon
user

Divya

Digital media journalist

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल जो भी हिस्ट्री पढ़ते हैं या ऑनलाइन हम देखते हैं उसमें बहुत से लोग अब ऐसे भी आ गए हैं जिनको लगता है कि गांधी जी ने जो भी बातें बोली इंडिया की फ्रीडम स्ट्रगल को आगे बढ़ाया वह ठीक नहीं था इसलिए बहुत से लोग हैं जो कि काफी जी को पसंद नहीं करते हैं लेकिन मुझे लगता है कि उनका फोन बैलेंस और पीस लविंग विचार जो था वह मेरे लिए सबसे ज्यादा मायने रखता है क्योंकि आजकल हमारे जो व्हाट्सएप पर जिस तरह के फारवर्ड जाते हैं या फिर ऑनलाइन सोशल मीडिया पर जितना लोग एक दूसरे को सेंड देते हैं गंदी बातें करते हैं उसकी वायलेंस ऑफ सोशल मीडिया बहुत ज्यादा बढ़ गई है क्या होते हैं उनको कोई भी देख नहीं सकता इसलिए वह अपने यूजरनेम के पीछे छुप कर लो कुछ भी बोल देते हैं तो मुझे लगता है कि आइडिया ऑफिस में लोग साथ मिलकर एक साथ आराम से खुशी से प्यार से रह सकते हैं लोग खत्म होती जा रही है आप खुद देख लीजिए व्हाट्सएप पर आते होंगे जहां पर लोग बोलते हैं अरे इस देश को बॉयकॉट कर दो यह देश इंडिया के साथ अच्छा नहीं था यह भी था मोदी थाबोर करते हैं लड़ाई करते हैं इतना ज्यादा भाई लाइफ में आ चुका है हर एक को मुझे लगता है कि दादी जी के अंदर है विदाई दिवस पर चलें और हमें देखें कि नॉन वायलेंस से अगर इतने बड़े देश को आजादी मिल सकती है हमारी थोड़ी सी बैठे हो सकती है

aajkal jo bhi history padhte hain ya online hum dekhte hain usme bahut se log ab aise bhi aa gaye hain jinako lagta hai ki gandhi ji ne jo bhi batein boli india ki freedom struggle ko aage badhaya vaah theek nahi tha isliye bahut se log hain jo ki kaafi ji ko pasand nahi karte hain lekin mujhe lagta hai ki unka phone balance aur peace loving vichar jo tha vaah mere liye sabse zyada maayne rakhta hai kyonki aajkal hamare jo whatsapp par jis tarah ke forward jaate hain ya phir online social media par jitna log ek dusre ko send dete hain gandi batein karte hain uski violence of social media bahut zyada badh gayi hai kya hote hain unko koi bhi dekh nahi sakta isliye vaah apne username ke peeche chup kar lo kuch bhi bol dete hain toh mujhe lagta hai ki idea office mein log saath milkar ek saath aaram se khushi se pyar se reh sakte hain log khatam hoti ja rahi hai aap khud dekh lijiye whatsapp par aate honge jaha par log bolte hain are is desh ko baykat kar do yah desh india ke saath accha nahi tha yah bhi tha modi thabor karte hain ladai karte hain itna zyada bhai life mein aa chuka hai har ek ko mujhe lagta hai ki dadi ji ke andar hai vidai divas par chalen aur hamein dekhen ki non violence se agar itne bade desh ko azadi mil sakti hai hamari thodi si baithe ho sakti hai

आजकल जो भी हिस्ट्री पढ़ते हैं या ऑनलाइन हम देखते हैं उसमें बहुत से लोग अब ऐसे भी आ गए हैं

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  605
WhatsApp_icon
user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैं आज भी घर के चारों को फॉलो करता हूं सबसे पहला विचार है कि मैं उनकी तरह सत्यवादी हूं उस स्वच्छता को पसंद करता हूं अभी कचरा नहीं चलने देता हूं

haan main aaj bhi ghar ke charo ko follow karta hoon sabse pehla vichar hai ki main unki tarah satyawadi hoon us swachhta ko pasand karta hoon abhi kachra nahi chalne deta hoon

हां मैं आज भी घर के चारों को फॉलो करता हूं सबसे पहला विचार है कि मैं उनकी तरह सत्यवादी हूं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

anu dube

Student

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि क्या आप आज भी गांधीजी के किसी विचार को अपने जीवन में फॉलो करते हैं और क्यों समय अपने जीवन में गांधीजी के विचार को बहुत अच्छी सी फॉलो करता हूं सबसे पहली बात तो मैं इस बात को फॉलो करके बोले को मत देखो बुरा मत सुनो और बुरा मत कहो दूसरी बात मुझे गांधी जी के यह बातें अच्छी लगती है कि अपने शत्रु को भी श्रेय दो अपने शत्रु को भी इज्जत करो तो मैं भी अब जीवन में यही करता हूं अपने अपॉजिट साइड वाले व्यक्ति को ही महान बाद आता हूं तथा उसकी भी व्याख्या करता हूं उसकी भी इज्जत करता हूं थैंक यू

aapka sawaal hai ki kya aap aaj bhi gandhiji ke kisi vichar ko apne jeevan mein follow karte hain aur kyon samay apne jeevan mein gandhiji ke vichar ko bahut achi si follow karta hoon sabse pehli baat toh main is baat ko follow karke bole ko mat dekho bura mat suno aur bura mat kaho dusri baat mujhe gandhi ji ke yah batein achi lagti hai ki apne shatru ko bhi shrey do apne shatru ko bhi izzat karo toh main bhi ab jeevan mein yahi karta hoon apne apajit side waale vyakti ko hi mahaan baad aata hoon tatha uski bhi vyakhya karta hoon uski bhi izzat karta hoon thank you

आपका सवाल है कि क्या आप आज भी गांधीजी के किसी विचार को अपने जीवन में फॉलो करते हैं और क्यो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!